झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 04 अप्रैल - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 4 अप्रैल 2020

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 04 अप्रैल

ग्राम पंचायत छापरी रणवास के पांच लोगो को किया क्वाॅरेंटाइ सरपंच सचिव कि रही अहम भुमिका

jhabua news
पारा । क्षेत्र कि ग्राम पंचायत छापरी रणवास मे सरपंच सचिव  व रोजगार सहायक ने मिलकर ग्राम व क्षेत्र के लोगो कि सुरक्षा के मद्दे नजर कोरोना वायरस के चलते राजस्थान के भीलवाडा से मजदुरी वापस लोटो पांच लोगो को क्वारेंटाइन किया। प्राप्त जानकारी के अनुसार के अनुसार पारा क्षेत्र कि ग्राम पंचायत छापरी रणवास के लोग जो कि राजस्थान के भीलवाडा क्षेत्र मे मजदुरी करने गए थे । जहा से कोरोना वायरस के चलते 27 मार्च को भीलवाडा से किसी तरह कही पेदल तो कही वाहन कि सहायता से 31 मार्च को रतलाम पहुचे। जहा से परिवार के लोग उक्त सभी पांच लोगो को मोटर सायकल से अपने गृह नगर लेकर आए। जेसे ही इस कि सुचना ग्राम पंचायत के सरपंच प्रताप निनामा सचिव भारत सिह रोठोर व रोजगार सहायक रतन सिह बिलवाल को मिली तत्काल गांव पहुच कर कमलेश पिता लालु 23 वर्ष ,टेटी पति कमलेश 21 वर्ष, इनेश पिता लालु 19 वर्ष संतरा पिता लालु 17 वर्ष व भरत पिता कमलेश 9 माह को जांबुकुडी के शसकिय स्कुल मे समस्त सुविधा के साथ पांचो को क्वारेंटाईन किया गया व सामुदायीक स्वास्थ्य केन्द्र पारा व जिला प्रशासन को सुचना देकर उक्त सभी पांचो का स्वास्थ्य परिक्षण भी करवाया। हालांकि स्वास्थय विभाग ने जांच मे कुछ नही पाया बावजुद इसके सुरक्षा के मद्दे नजर 14 दिनो के लिए इन को क्वारंेटाइन किया हे। जहा पर सभी के खाने पिने कि व्यवस्था ग्राम पंचायत द्वारा कि गई हे। छापरी रणवास के सरपंच सचिव इस मामले मे सर्तकता बरत रहे हे व लगातार ग्राम वासीयो को घर घर जा कर कोरोना वायरस नामक बिमारी से बचने के उपाय व सुरक्षीत रहने के लिए जागरुक व प्रेरीत कर रहे हे।

कोरोनो वायरस के राहत हेतु झाबुआ विधायक ने दो माह का वेतन एवं सम्पूर्ण विधायक निधि दी ।
खाद्य सामग्री हेतु उचित मूल्यों की दुकान सम्पूर्ण दिन खोलने एवं तीन माह का अग्रिम राशन दिया जावे- कांतिलाल भूरिया
jhabua news
झाबुआ । कोरोनो वायरस एक वैश्विक महामारी है। भारत देश सहित दुनिया भर के तमाम देश इसके चपेट में है , तथा हमारे प्रदेश में भी कोरोना वायरस के पीडितों की तादाद लगातार बड रही है। मै झाबुआ का जनप्रतिनिधि होने के हैसियत से मुझसे जिस प्रकार का सहयोग चाहिए उसके लिए मै प्रतिबद्व हूं। इस हेतु मै अपने दो माह का वेतन एवं सम्पूर्ण विधायक निधि खर्च करने हेतु अपनी सहमति देता हूं । उक्त उद्गार कलेक्टोरेट झाबुआ के सभा कक्ष में बैठक के दौरान झाबुआ विधायक कांतिलाल भूरिया ने व्यक्त किये। श्री भूरिया ने अपने दो माह का वेतन झाबुआ की जनता के राहत कार्यो हेतु प्रदाय करने की लिखित सहमति कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा को सौपी साथ ही उनके द्वारा झाबुआ की जनता की कोरोना आपदा से मदद के लिए सम्पूर्ण विधायक निधि 2 करोड  भी प्रदाय करने हेतु सहमति प्रदान की। श्री भूरिया ने जनता से भी अपील की कि सावधानी बरते। स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन की तरफ से जारी निर्देर्शो का संख्ती से पालन करे। सावधानी और जागरूकता ही कोरोना से बचने का विकल्प है। साथ ही लोगों को सेनिटाइजर,मास्क साबुन इत्यादी का उपयोग अधिक से अधिक करने पर जोर दिया। प्रशासन को यह भी निर्देश दिये कि दिहाडी मजदूर, बेघर लोगों  और बुजुर्गो का विशेष ध्यान दिया जावे। किसी भी बेहसारा को भूखा न सोने दिया जाए। झाबुआ का  प्रतिनिधि होने की हैसियत से मुझसे जिस प्रकार का सहयोग चाहिए उसके लिए में प्रतिबद्व हूं तथा प्रशासन के कार्यो में सहयोग देने हेतु आश्वस्त किया । श्री भूरिया ने कलेक्टर झाबुआ से यह भी चर्चा की की जिले में वर्तमान में अनेक ग्रामीण जो कि दिहाडी मजदुर के रूप से अन्य राज्यों एवं प्रदेश के अन्य हिस्सों में कार्य कर रहे थे वे वापस अपने घर आ गये है उनके पास वर्तमान में किसी प्रकार का रोजगार नहीं है ऐसी स्थिति में सहकारी संस्थाओं के उचित मूल्य की दुकानों को सम्पूर्ण सात दिवस खोला जावे तथा ग्रामीणों एवं आम जनता को तीन माह का अग्रिम राशन प्रदाय किया जावे ।जिससे दिहाडी मजदुर एवं जो गरीब वर्तमान मे ंअपना रोजगार नहीं चला पा रहे है उन्हे भी इसका लाभ मिल सके।  श्री कांतिलाल भूरिया द्वारा कलेक्टर से यह भी अनुरोध किया गया कि जो शासकीय भवनों में क्वारंटाईन केन्द्र बनाये गये है वहां भी सम्पूर्ण व्यवस्था रहे तथा जो गरीब आदिवासी गुजरात ,महाराष्ट्र राज्यों मे ंफंस गये है उन्हे वहां सम्पूर्ण ईलाज एवं मूल भूत सुविधा उपलब्ध कराने हेतु वहां के प्रशासन से भी चर्चा कर व्यवस्था करवाने हेतु अनुरोध किया गया। बैठक में डाॅ. विक्रान्त भूरिया विधायक प्रतिनिधि एवं युवक कांग्रेस अध्यक्ष ने भी अवगत कराया एवं बिमारी के प्रारंभिक लक्षणों से अवगत कराया तथा अपना नीजि अस्पताल की सेवा लेने का भी कलेक्टर महोदय को आश्वस्त किया । साथ ही उनके द्वारा बिमारी को रोकेने हेतु शारीरिक दूरी बनाकर रखने एवं मास्क एवं साबुन से हाथ धोने एवं सेनेटाईजर का उपयोग अधिक से अधिक करने के बारे मे समझाईश दी गई। उक्त बैठक में जिला कांग्रेस अध्यक्ष श्री निर्मल मेहता, जेवियर मेडा पूर्व विधायक , कांग्रेस नेता रमेश डोशी, प्रकाश जैन सहित समस्त समाजजन उपस्थित थे। उक्त जानकारी जिला कांग्रेस प्रवक्ता हर्ष भट्ट ने दी

’लाक डाऊन के दसवे दिन गुजरात और मध्य प्रदेश कि पिटोल बॉर्डर पूर्ण तरह से सील’

jhabua news
पिटोल । लाकडाउन के दसवें दिन गुजरात और मध्य प्रदेश की बॉर्डर  पिटोल पर रोजाना की तरह दोनों प्रदेश के उच्च अधिकारियों की वार्तालाप समीक्षाएं होती है और अभी तो गुजरात की तरफ से कोई पलायन करने वाले मजदूर नहीं आ रहे हैं रोड से कुछ  मजदूर क्वॉरेंटाइन सेंटर में जाने के डर से रोड से 1 किलोमीटर दूर आसपास के गांवों से होते हुए पहाड़ियों के रास्ते निकलने को मजबूर है ऐसे में यहां भी यह मजदूर दिख जाते हैं उन्हें वापस पुलिस पिटोल बॉर्डर तक  लाती है और क्वॉरेंटाइन सेंटर ले जाने के लिए प्रयास करती है परंतु किसी भी हाल में मजदूर अपने घर पहुंचने के लिए आतुर है वह  क्वॉरेंटाइन सेंटर  में नहीं रहने की वजह से इतने कष्टों को पार करके भी अपने घर पहुंचना चाहते हैं आज सुबह मध्य प्रदेश के गुना जिले के कुछ मजदूर रोड से दूर ग्रामीण क्षेत्रों की पगडंडियों से अपने गंतव्य की ओर जा रहे थे तब उनसे हमारे संवाददाता ने पूछा कि आप लोग क्यों ऐसा भटक रहे हैं तब उन्होंने कहा कि मैं क्वॉरेंटाइन सेंटर में रख देंगे और हम वहां नहीं जाना चाहते हैं ऐसे में पिटोल बॉर्डर से खाद्य सामग्री के ट्रक सब्जी के ट्रक एवं गैस के टैंकरों से देश के अन्य हिस्सों में आपूर्ति के लिए आवागमन किया जा रहा है जिनके ड्रावर क्लीनर को बॉर्डर पर स्वास्थ्य चेकअप  थर्मल स्कैनिंग कर उनके स्वास्थ्य को पूर्ण रूप से चेक किया जा रहा है वही बॉर्डर पर झाबुआ पुलिस के उच्च अधिकारियों के साथ निर्देशों के अनुसार समय-समय पर ड्यूटी में तैनात पुलिसकर्मियों की ड्यूटी  बदलती है वही झाबुआ पुलिस उप कप्तान विजय डावर हमेशा बॉर्डर पर उपलब्ध होते हैं जिससे कोई समस्या का  समस्या हो तो उसका तुरंत समाधान किया जाए ।

ना बीपीएल कार्ड और ना आधार कार्ड, ऐसे 30 अत्यंत निर्धन परिवारों को आपातकाल की स्थिति में कमांड कंट्रोल सेंटर, इनरेम फाउंडेषन, सामाजिक कार्यकर्ता एवं पत्रकारों ने मद्द कर राषन सामग्रीयां उपलब्ध करवाई
आप भी करना चाहते है इनकी मद्द, तो करे सामाजिक कार्यकर्ता सचिन वाणी से उनके मोबाईल पर संपर्क
jhabua news
झाबुआ। कोरोना वायरस (कोविड-19) से रोकथाम हेतु इन दिनों झाबुआ जिले के साथ आलीराजपुर जिला भी संपूर्ण लाॅक डाउन है। इस बीच आलीराजपुर के सोंडवा विकासखंड से बड़ी जानकारी प्राप्त हुई, जब यहां के एक गांव के अत्यंत निर्धन परिवार, जो प्रतिदिन जंगल में लकड़ी बीनकर जैसे-तैसे अपना पालन पोषण करते है। लाॅक डाउन के कारण उन्हें घरों से बाहर नहीं निकलने के कारण ऐसे करीब 30 परिवार के साथ भूखमरी की स्थिति निर्मित हो गई। बड़ी विडंबना है कि देष की आजादी के 73 साल बाद भी इन परिवार के लोगों के पास परिचय के नाम पर ना बीपीएल कार्ड और ना ही आधार कार्ड होने से उन्हें इस आपातकाल की इस स्थिति में ग्राम पचंायत या सोसायटी से भी राषन सामग्री देने से साफ मना कर दिया गया। जब इसकी जानकारी कुछ सेवाभावी लोगों को मिली तो उन्हें इन परिवारों की मद्द करते हुए उन्हें राषन सामग्रीयां उपलब्ध करवाने की अनोखी पहल की।  जानकारी देते हुए इनरेम फाउंडेषन झाबुआ से जुड़े युवा सामाजिक कार्यकर्ता सचिन वाणी ने बताया कि आलीराजपुर जिले के सोंडवा विकासखंड के ग्राम साकड़ी का यह गांव है, जहां नायक समाज के करीब 30 परिवार है, जो गांव में झुग्गी-झोपड़िेयों में रहकर अपने दो जून की रोटी के लिए परिवार के सभी सदस्य अलग-अलग समूहों में बंटकर जंगलों में जाकर लकड़ी बीनने का कार्य कर उसे बेचकर दो समय के भोजन की जैसे-तैसे व्यवस्था कर पाते है। कोरोना वायरस के कारण आलीराजपुर जिले में लगे लाॅकडाउन के कारण जैसे इन परिवारों पर बड़ी विपदा की घड़ी आ गई। जब लाॅक डाउन के कारण घरों में रहने से दैनिक आजीविका का साधन पूरी तरह से बंद हो जानेे से दो समय के भोजन के लिए परिवार के लोग तरसने लगे और उनकी मद्द के लिए ना तो ग्राम पंचायत, ना सोसायटी और ना राषन दुकानों से उन्हें दो समय के भोजन के लिए राषन सामग्रीयों की व्यवस्था की गई। परिवार के लोगों के पास परिचय पत्र के नाम पर कुछ भी नहीं होने ग्राम पंचायत एवं राषन दुकान से भी इन्हें निरंक लौटा दिया गया।

इनरेम फाउंडेषन के रिसोर्स पर्सन ने पहुंचकर की जांच-पड़ताल
जब इसकी जानकारी ग्राम सेकड़ी में ही रहने वाले इनरेम फाउंडेषन के रिसोर्स पर्सन भगतसिंह सस्तीयां को मिली, तो उन्होंनें इन परिवार के लोगों के घर जाकर उनसे चर्चा की और वास्तविक स्थिति जानी। पश्चात् इन 30 परिवारांे के करीब 250 सदस्यों, जिसमें महिला-पुरूष, बड़े, बच्चें बुजुर्गों के लिए दो समय के भोजन के लिए राषन सामग्रीयां उपलब्ध करवाने के लिए ग्राम पंचायत के सहायक सचिव बेनेडियल सोलंकी एवं सज्जन सस्तीयां को इनकी विकट समस्या से अवगत करवाया। साथ ही वरिष्ठ पत्रकार चन्द्रभानसिंह भदौरिया ने भी यह मामला उनके संज्ञान में आने से उन्होंने आलीराजपुर जिले के वरिष्ठ प्रषासनिक अधिकारियों से इस संबंध में चर्चा की। इसी बीच कोरोना को लेकर गठित डिस्ट्रीक्ट कमांड कंट्रोल पर मद्द मांगी गई।

सभी के प्रयासांे से मिली परिवारों को राषन सामग्री
जिसके बाद सभी परिवारों को ग्राम पंचायत की पीडीएस से उक्त परिवारांे की संख्या के आधार पर करीब  60 किलो गेहूं, 20 किलो चावल उपलब्ध करवाया गया। इसके साथ ही इनरेम फाउंडेषन के स्टाॅफ की ओर से 1 हजार रू., सामाजिक कार्यकर्ता अनिल चैहान गुड़गांव की ओर से 1 हजार रू., श्यामेन्द्र की ओर से 500 रू, जेएनवी आलीराजपुर की एक छात्रा की ओर से 500 रू., एक ग्रामीण द्वारा 500 रू, इस प्रकार कुल 3500 रू. का सहयोग प्राप्त हुआ। जिससे इन परिवार के सदस्यों की किराना सामग्रीयों की व्यवस्था हो सकी और संकट की इस घड़ी मंे कुछ दिनों के लिए वे अपने पेट की भूख को शांत कर सकेंगे। जब इन पैसों से परिवार के सदस्यों को इनके घरों पर जाकर राषन सामग्रीयां प्रदान की गई, तो उनकी अश्रु धारा बह निकली और उन्होंने इसके लिए सभी सहयोगियों के प्रति ह्रद्रय की गहराईयों से आभार व्यक्त किया।

ग्राम साकड़ी में ऐसे ओर भी परिवार है
श्री वाणी ने बताया कि ग्राम साकड़ी में अभी तो ऐसे 30 परिवारों को कुछ दिनों के लिए मद्द मिली है, लेकिन अभी भी ओर कई ऐसे परिवार है, जिन्हें लाॅकडाउन के बीच आपातकाल में संकट की घड़ी में दो जून की रोटी के लिए राषन सामग्रीयों की सख्त आवष्यकता है। श्री वाणी ने कहा कि झाबुआ जिले के सेवाभावी लोगों, समाजसेवियों, सामाजिक संस्थाओं, व्यापारियों से जो कोई भी व्यक्ति संकट की इस घड़ी में इन लोगों की नगद राषि देकर या किराना सामग्री प्रदान कर मद्द करना चाहता है तो वह उनके मोबाईल नंबर 93406-90169 पर संपर्क कर सकता है।

डॉ राम शंकर चंचल ने अपने 64वें जन्मदिन पर 64  वी कृति ष्वह जो साथ हैष् का विमोचन अपनी पोती समीक्षा त्रिवेदी से करवाया।

jhabua news
झाबुआ । प्रख्यात साहित्यकार डॉ राम शंकर चंचल ने अपने 64वें जन्मदिन पर अपनी 64 वी ताजा  कृति वह जो साथ है (प्रकाशक अक्षर विन्यास उज्जैन से प्रकाशित की) ।इस कविता संग्रह का विमोचन अपनी पोती समीक्षा त्रिवेदी से करवाया। कोरोना के चलते हुए उन्होंने भव्य आयोजन ना रखते हुए वे अपनी  पोती से किताब का विमोचन करवा कर काफी सुखद महसूस कर रहे हैं ।श्वह जो साथ है श्डेढ़ सौ कविताओं का अद्भुत संग्रह है। इसमें डॉ राम शंकर चंचल की अर्धनग्न, तुम्हारी मुस्कुराहट और मेरी चर्चित कविता की अनेक अनेक रचनाएं शामिल है। इसमें शामिल डेढ़ सौ कविताएं भिलांचल और प्रेम पर केंद्रित है ।सभी नई कविताएं हैं और बेहद चर्चित रही हैं।विमोचन के बाद पोती समीक्षा त्रिवेदी ने मां सरस्वती को यह कृति भेंट की।

सम्पूर्ण लाॅक डाउन की अवधि 10 अप्रैल तक बढाई गई जिले के नागरिको से कोरोना वायरस से बचाव के लिए आवष्यक सावधानियां बरतने की अपील

jhabua news
झाबुआ। कोविद-19 प्रभावी लाॅक डाउन के लिए धर्म गुरूओ एवं गणमान्य नागरिको की बैठक षुक्रवार को यंहाॅ कलेक्ट्रेट सभा कक्ष में कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री प्रबल सिपाहा की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री सिपाहा ने बताया कि जिले में सम्पूर्ण लाॅक डाउन की अवधि 10 अप्रैल 2020 तक बढ़ा दी गई हैं। कोरोना वायरस से बचने के लिए सभी घर में रहे और मास्क का उपयोग करे। एक-दूसरे से कम से कम एक या दो मीटर की दूरी बनाए रखे। एक दूसरे के सम्पर्क में न रहे। श्री सिपाहा ने धर्म गुरूओं और गणमान्य नागरिकों से अपील की है कि वे लोगो को घर में रहने तथा डाॅक्टरो का सहयोग करने के लिए अपील करे। श्री सिपाहा ने अवगत कराया कि झाबुआ तथा मेघनगर में सब्जी व अन्य किराना सामग्री उपलब्ध कराने के प्रयास कर रहे है। ऐसी व्यवस्था जिले के अन्य स्थानो पर भी सुनिष्चित की जावेगी। हमारा प्रयास रहेगा कि जिले में लोगो को बेहतर से बेहतर सुविधा मिले। श्री सिपाहा ने अवगत कराया कि ग्रामीण क्षेत्र में प्रत्येक ग्राम पंचायत में 30 हजार रूपये तक की राषि खर्च किया जा सकता है। पात्रता पर्ची से 3 माह की खाद्यान्न सामग्री एक साथ उचित मूल्य दुकान से प्राप्त कर सकते है। श्री सिपाहा ने कहा कि प्रषासन द्वारा पास नहीं जारी किये जा रहे है। यदि कोई व्यक्ति पास लगाकार धुमते हुए पाये जावे तो तत्काल अवगत करावे। दुकानो के लिए 37 पास जारी किये गये है। कलेक्टर श्री सिपाहा ने बताया कि षासन द्वारा उद्योग तथा फेक्ट्री सुचारू रूप से चले इसके लिए कलेक्टर को अनुमति प्रदान करने का अधिकार प्रदाय किया गया है। उद्योगपति अनुमति के लिए जैसे ही आवेदन पत्र भेजेगे तत्काल व्हाटसअप पर अनुमति भेज दी जावेगी। कलेक्टर श्री सिपाहा ने कहा कि ग्रामीण क्षैत्र में मिर्च, तेल, नमक, माचिस, साबुन, व अन्य किराना सामग्री परिवारो को सोसायटी के माध्यम से (चलित वाहन) उपलब्ध कराने की व्यवस्था कि जावेगी। उन्होंने अवगत कराया कि जिला कन्ट्रोल रूम का दूरभाष क्रमांक 07392-243319 है। गुजरात को कंट्रोल रूम का नम्बर 1070 है। मध्यप्रदेष का कंट्रोल रूम का नम्बर 104, 181 है तथा दूरभाष क्रमांक 0755-2411180 एवं केन्द्र का सोषल मीडिया का नम्बर 9013151515 है। सासंद श्री गुमानसिंह डामोर ने इस बैठक को संबोधित करते हुवे कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा कोरोना वायरस को रोकने के लिये उठाये गये कदम की प्रषंसा की और प्रदेष के मुख्य मंत्री की भी कोरोना वायरस की रोकथाम के लिये किये जा रहे प्रयासो की प्रषंसा की। श्री डामोर ने आम जनता से अपील की है कि वे कोरोना वायरस से बचने के लिये सभी आवष्यक सावधानी बरते। श्री डामोर ने जिला प्रषासन, पुलिस प्रषासन व स्वास्थ्य विभाग की सराहना करते हुवे कहा कि जिले में कोरोना वायरस की रोकथाम के लिये सराहनीय प्रयास किये गये है। साथ ही इस वायरस की रोकथाम के लिये इसी तरह आगे भी प्रयास किये जावेगे। क्षैत्रीय विधायक श्री कांतिलाल भूरिया ने भी इस दौरान षहरी क्षेत्र में खाद्यान सामाग्री उपलब्ध कराने के लिये की गई व्यवस्था की प्रषंसा की। श्री भूरिया ने कहा कि कोरोना वायरस की रोकथाम के लिये हम षासन -प्रषासन का पूरा सहयोग करेगे। श्री विक्रांत भूरिया ने कोरोना वायरस से बचाव के लिये आवष्यक सावधानियाॅ बरतने पर विषेष जोर दिया। इस बैठक में धर्म गुरूओ और गणमान्य नागरिको ने आवष्यक सुझाव भी रखे। कलेक्टर श्री सिपाहा ने कहा कि इस बैठक में प्राप्त सुझावों का क्रियान्वयन करने का पूरा प्रयास किया जावेगा। इस बैठक में पुलिस अधीक्षक श्री विनित जैन, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व झाबुआ डाॅ. अभयसिह खराडी समस्त धर्म गुरू तथा गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...