विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 15 अप्रैल - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 15 अप्रैल 2020

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 15 अप्रैल

विदिशा विधायक श्री भार्गव पहुॅचे सायलो उपार्जन केन्द्र परः कृषकों से की मौके पर चर्चाः

विदिशाः म.प्र. शासन द्वारा दिनांक 15 अप्रैल से विभिन्न सहकारी समितीयों द्वारा कृषकों को एस.एम.एस. के माध्यम से गेहॅू खरीदी का कार्य प्रारंभ हुआ। इसी तारतम्य में पठारी हवेली स्थित सायलो केन्द्र जिसमें विभिन्न गावों के 17 सहकारी समिती अंतर्गत कृषकगण ट्रालियों से गेहॅू लेकर पहुॅचे असमय खडी फसल पर हुई बारिश के कारण गेहॅू के कलर पर आशिंक सफेदी आई है इस कारण सायलों पर कई ट्रालीयों को अमानक मानकर तुलाई से इंकार किया गया। विभिन्न कृषकों द्वारा स्थानीय विधायक श्री शशांक भार्गव से संबंध में अबगत कराया। विधायक श्री भार्गव ने मौके पर पहुॅचे एवं संबंधित अधिकारियों से दूरभाष पर चर्चा की ज्ञात हो जिला खाद्य अधिकारी से उक्त संबंध में विधायक श्री भार्गव द्वारा 3-4 दिन पूर्व भी चर्चा की गई थी जिसमें खाद्य अधिकारी महोदय द्वारा कुछ कृषकों के गेहॅू के सेम्पल भोपाल भेजे गये थे जिनकी जांच रिर्पोट आज दिनांक तक अप्राप्त है। विधायक श्री भार्गव द्वारा अपने कार्यालय आकर उक्त संबंध में किसानों की समस्या को भारत देश के माननीय प्रधानमंत्री मोदी जी, म.प्र. के राज्यपाल महोदय, म.प्र. शासन के मुख्यमंत्री, भारत शासन के केन्द्रीय कृषि मंत्री को पत्र लिखकर आदेश में शीघ्र संशोधन हेतु अनरोध पत्र प्रेषित किया है जिसका निराकरण होकर समस्त कृषकों की कृषि उपज की तौल की समस्या का निराकरण हो सके। आज जिन किसान भाईयों को एस.एम.एस. करके बुलाया गया था उन किसानों के गेहॅू का सेम्पल पहले ही चैक क्यों नही किया। अम्बार सोसायटी व अटारी खेजडा सोसायटी पर खरीदी सेन्टर पूर्व की भांति इस वर्ष भी बनाया गया था लेकिन बाद में इसे परिवर्तित कर दिया गया, देव खजूरी व कागपुर में खरीदी बंद कर दी गई है इस बचकानी हरकत के लिए कौन अधिकारी जिम्मेदार है क्या प्रशासन किसानों को परेशान करने के लिए उस अधिकारी को सजा देगी। 

जिले के सभी 199 केन्द्रों पर उपार्जन कार्य शुरू

रबी उपार्जन के तहत गेहूँ ,चना, मसूर की खरीदी का कार्य प्रदेश मेंं 15 अप्रैल से 30 मई तक किया जायेगा। विदिशा जिले में भी उपार्जन संबंधी कार्य बुधवार से शुरू हुआ है। कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने बताया कि समर्थन मूल्य पर क्रय करने हेतु जिले में 199 केन्द्रों पर उपार्जन कार्य 15 अपै्रल से शुरू हो गया है। प्रत्येक उपार्जन केन्द्र हेतु छह-छह पंजीकृत किसानों को फसल विक्रय करने हेतु एसएमएस जारी किए गए थे। जिले में दो सायलो केन्द्रों पर भी उपार्जन कार्य शुरू हुआ है। जिसमें बासौदा गमाखर में प्लास्टिक सायलो तथा विदिशा के ग्राम गेंहूखेडी में स्थायी सायलो पर भी उपार्जन कार्य जारी दिशा निर्देशो के अनुसार शुरू हुआ है।कॉ-आपरेटिव बैंक के सीईओ श्री विनय प्रकाश सिंह ने बताया कि ग्राम गेंहूखेडी में स्थित अडानी एग्रो लायजिस्टिक एमपी लिमिटेड विदिशा सायलो केन्द्र पर भी आज से उपार्जन कार्य शुरू हो गया है। ज्ञातव्य हो कि उक्त केन्द्र से 17 समितियों को संबंद्व किया गया है। प्रत्येक समिति के छह-छह किसानों को उक्त उपार्जन केन्द्र पर समर्थन मूल्य पर फसल विक्रय का एसएमएस प्रेषित किये गए थे। 

सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन
जिले के सभी 199 उपार्जन केन्द्रों पर सोशल डिस्टेन्सिग का पालन सुनिश्चित कराया गया है। प्रत्येक उपार्जन केन्द्र पर सोशल डिस्टेन्सिग का विशेष ध्यान रखा गया है इस हेतु पृथक से कर्मचारी नियुक्त किए गए थे जो सोशल डिस्टेन्सिग के अनुसार किसानों को अभिप्रेरित कर रहे है। 

हेण्डवॉश एवं सेनेटाईजेशन
कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा जारी निर्देशो के अनुपालन में जिले के सभी 199 उपार्जन केन्द्र पर हेण्डवॉश के प्रबंध सुनिश्चित किए गए थे ताकि कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने हेतु किए जाने वाले प्रबंधो का क्रियान्वयन किया जा सकें। वही उपार्जन केन्द्रों पर सेनेटाईजेशन की भी उपलब्धता सुनिश्चित की गई थी।  सायलो उपार्जन केन्द्रों पर किसानो को भी सेनेटाइजेशन करने के प्रबंध सुनिश्चित किए गए थे यहां विशेष प्रवेश द्वार बनाया गया था जिसमें से किसानो को निकलना अतिआवश्यक था। उक्त हट में सेनेटाइजर के तमाम प्रबंध सुनिश्चित किए गए थे किसानो के उपर फौहार के रूप में सेनेटाईजर की बारिश हो रही थी।  

सफलता की कहानी : उपार्जन कार्य से प्रसन्नचित मुद्रा में घर की ओर लौटे कृषक

vidisha news
रबी उपार्जन के तहत गेहूँ ,चना, मसूर की खरीदी का कार्य विदिशा जिले में भी बुधवार 15 अपै्रल से शुरू हो गया है। उपार्जन केन्द्रों पर एसएमएस प्राप्ति के उपरांत पहुंचे कृषक के चेहरो पर प्रसन्नता झलक रही थी उन्हें इस बात का अहसास नही हो रहा था कि फसल तुलाई का कार्य शुरू हो गया है। ग्राम पीपरहूंठा के कृषक श्री रोहित दांगी जो ट्रेक्टर ट्राली में गेंहू लेकर तुलाई हेतु प्रतीक्षारत थे का कहना है कि शासन ने उपार्जन कार्य शुरू कर हम कृषकों की भावना को समझा है। अभी तक हम अपने गेंहू की रक्षा कर रहे थे और इसी इंतजार में थे कि शीघ्रतिशीघ्र उपार्जन केन्द्र पर तुलाई कार्य हो जाए। राज्य सरकार के द्वारा हमे चिन्तामुक्त किया गया है। ग्राम सोठिया के कृषक श्री बुन्देल सिंह चौहान का कहना है कि कोरोना के कारण हम सब विचलित हो रहे थे ऐसे समय शासन ने हम कृषकों की समस्या को जाना ही नही बल्कि उसका निदान किया है। उपार्जन कार्य शुरू कर हमारी फसल को उचित स्थान तक पहुंचाने का निर्णय लिया गया है। मै सौभाग्यशाली हूं कि मुझे पहले दिन ही उपार्जन केन्द्र पर गेंहू की फसल लाने का एसएमएस प्राप्त हुआ है। शासन की इस पहल की जितनी भी प्रशंसा की जाए वह कम है। 

कलेक्टर ने अधिकारियों को जिम्मेदारी सौंपी

राज्य सरकार द्वारा जारी दिशा निर्देशो के अनुपालन में कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा जिले में नोबल कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम संबंधी कार्यो को प्रभावी रूप से क्रियान्वित करने हेतु पदस्थ अधिकारियों को दायित्व सौपें गए है। जिन अधिकारियों को दायित्व सौंपे गए है के कार्यो की समीक्षा कलेक्टर स्वंय करेंगे। कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा अधिकारियों को सौपे गए दायित्व अनुसार मीडिया प्रबंधन एवं प्रचार-प्रसार तथा जागरूकता एवं प्रशिक्षण प्रबंधन संबंधी दायित्व जनसम्पर्क अधिकारी श्री बीडी अहरवाल 9425454837 को उपरोक्त कार्यो में जिला क्रीडा अधिकारी श्रीमती पूजा कुरील 7415722624 तथा उत्कृष्ट विद्यालय विदिशा की वरिष्ठ अध्यापिका डॉ दीप्ति शुक्ला 9479369004 को उक्त प्रकोष्ठ का सहयोगी दायित्व सौंपा गया है। कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा मैनेजमेंट इन्फार्ममेंशन सिस्टम (एमआईएस) का दायित्व जिला श्रम पदाधिकारी श्री सुधीश कमल 8750745277, अंतर जिला समन्वयक, भोजन एवं आश्रय व्यवस्था, सार्वजनिक वितरण प्रणाली के माध्यम से खाद्य सामग्री प्रदाय तथा केन्द्र एवं राज्य सरकार के द्वार प्रदत्त सहायता पात्र हितग्राहियों तक पहुंचाने का प्रबंध सुनिश्चित करने का दायित्व सामाजिक न्याय विभाग के सहायक संचालक डॉ पीके मिश्रा 9407256836 को तथा अतिआवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति की परिवहन एवं आवागमन के प्रबंध सुनिश्चित करने हेतु जिला परिवहन अधिकारी श्री गिरजेश वर्मा 9425112437 को तथा उद्यानिकी विभाग के सहायक संचालक श्री केएल व्यास 9425069024 को सौंपी गई है। कॉल सेन्टर के माध्यम से शिकायतों का निराकरण एम्बुलेंस एवं परिवहन तथा जिला कंट्रोल रूम के माध्यम से ई पास सुविधा और सार्थक एप के संचालन का दायित्व जिला प्रबंधक ई-गवर्नेंस श्री निजामुद्द्वीन शेख 9993943636 को तथा जिला प्रबंधक लोक सेवा श्री अमित अग्रवाल 9893276222, कंटेनमेंट एरिया बेरीकेटिग एवं अन्य व्यवस्थाएं (पैरीमीटर कंट्रोल) कार्य हेतु जिला खनिज अधिकारी श्री मेहताब सिंह रावत 8109880046, सर्वे टीम मेडीकल मोबाइल यूनिट कार्य हेतु एसडीओ (इएण्डएम) पीडब्लयूडी सुश्री मौसम जैन, 9755256838, अस्पताल प्रबंधन संबंधी कार्यो के लिए आरईएस के ई श्री शरद तंतुवाय 9009019221 को दायित्व सौंपा गया है।

जिला रैपिड रिस्पांस टीम का गठन

कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा जिले में नोबल कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम के प्रभावी क्रियान्वयन हेतु जिला रैपिड रिस्पांस टीम का गठन किया गया है। जिला पंचायत सीईओ श्री मयंक अग्रवाल की अध्यक्षता में गठित उक्त समिति में 13 सदस्यों को भी शामिल किया गया है। यह टीम पर्यवेक्षण एवं सेम्पल कलेक्शन एवं मेडीकल जांच तथा स्क्रीनिंग ओर जागरूकता एवं सर्विसलेंस कार्यो के लिए उक्त समूह (टीमो का गठन) करेंगी। कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा गठित जिला स्तरीय रैपिड रिस्पांस टीम में जिन अधिकारियों को सदस्य का दायित्व सौंपा गया है उनमें मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ केएस अहिरवार 9425382810, प्रभारी सिविल सर्जन सह अधीक्षक डॉ महेन्द्र कुमार जैन 9425453405, चिकित्सक डॉ शोएब खॉन 9926393100, डॉ संजय किरार 9806925858, जिला सर्विलेंस आफीसर डॉ एचआर अहिरवार 9713596327, डॉ भूपेन्द्र सिंह चौहान 8962552922, डॉ अशोक जैन 9425027530, डॉ शालनी राजे 8839606411, डॉ आरबी बघेल 9713895757, श्रीमती खुशबू मिश्रा 8770913219, श्री संजय सोलंकी 9993448318, श्री हेमंत कुलश्रेष्ठ 8839467115 तथा श्री पुरूषोत्तम रघुवंशी 9685312834 शामिल है। 

लॉकडाउन रिस्पांस टीम का गठन

कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा जिले में नोबल कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम के प्रभावी क्रियान्वयन हेतु लॉकडाउन रिस्पांस टीम का गठन किया गया है। अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह को उक्त टीम का अध्यक्ष तथा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री केएज बंजारे, जिला परिवहन अधिकारी श्री गिरजेश वर्मा, जिला आपूर्ति अधिकारी श्रीमती रश्मि साहू तथा जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक मर्यादित के सीईओ श्री विनय प्रकाश सिंह को तथा समस्त अनुविभागीय अधिकारी राजस्व एवं समस्त अनुविभागीय अधिकारी पुलिस दल के सदस्य होंगे।  लॉकडाउन रिस्पांस टीम के द्वारा सर्वे टीम, मेडीकल मोबाइल यूनिट, टेस्टिग और सेम्पलिंग, अस्पताल प्रबंधन, सप्लाई चैन मैनेजमेंट, एम्बुलेंस एवं परिवहन, मीडिया प्रबंधन, वायोमेडिकल सुरक्षा प्रबंधन, प्रचार-प्रसार एवं जागरूकता मैनेजमेंट, एन्फार्मेशन सिस्टम, कंटेनमेंट एरिया प्रबंधन, चिकित्सा प्रोटोकाल एवं जोखिम प्रबंधन तथा जिला कंट्रोल रूम का पर्यवेक्षण कार्य किया जाएगा। 

हेल्थ रिस्पांस टीम का गठन

कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा जिले में नोबल कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम के प्रभावी क्रियान्वयन हेतु हेल्थ रिस्पांस टीम का गठन आदेश जारी किया गया है। उक्त टीम का अध्यक्ष जिला पंचायत सीईओ श्री मयंक अग्रवाल को दायित्व सौपा गया है जबकि टीम में नौ अन्य सदस्य भी शामिल किए गए है उनमें अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, प्रभारी सिविल सर्जन, जिला चिकित्सालय के एपिडिमियोलॉजिस्ट एवं माइक्रोवायोलाजिस्टिक के अलावा जिला सर्विसलेंस आफीसर तथा क्लीनिशियन क्रमशः मेडिसन एवं फिजिशियन, पैथालॉजिस्टिक एवं लैब टैक्निशियन को शामिल किया गया है।

मरीजो के उपचार के संबंध में आवश्यक दिशा निर्देश

कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम के प्रभावी क्रियान्वयन हेतु आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 के तहत जिले के समस्त शासकीय तथा निजी चिकित्सालय, नर्सिंग होम के चिकित्सकों, चिकित्सा स्टॉप को कार्यवाही करने  हेतु आदेश जारी किए है।  कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा जारी आदेश में उल्लेख है कि समस्त शासकीय तथा निजी चिकित्सालय, क्लिनिक, डिस्पेंसरी, नर्सिंग होम में आए मरीजो का उपचार करना सुनिश्चित करें।  किसी भी मरीज के परीक्षण के दौरान इंडिया काउंसल आफ मेडिकल रिसर्च के जारी निर्देश दिनांक 9.4.2020 के अनुसार क्रमांक चार में उल्लेखित अनुसार जिन मरीजो को सिवियर एक्यूट रेस्पीरेटरी इलनेस (बुखार, खांसी, सांस लेने में तकलीफ) के लक्षण है उनका कोविड-19 टेस्ट कराना सुनिश्चित करें।  लक्षणिक मरीज मिलने पर इसकी सूचना मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी विदिशा के मोबाइल नम्बर 9425382810 तथा श्रम पदाधिकारी श्री सुधीश कमल के मोबाइल नम्बर 8750745277 पर तत्काल दी जावे। जिससे कोविड-19 का सेम्पल टेस्ट लिया जा सकें। उपरोक्त दिशा निर्देशो का अनुपालन ना करने की दिशा में आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 की धाराओं के तहत कार्यवाही की जाएगी। 

कोई टिप्पणी नहीं: