विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 21 अप्रैल - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 22 अप्रैल 2020

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 21 अप्रैल

किसानों के हित में कृषि उपार्जन केन्द्रो पर सुविधाओं एवं व्यवस्थाओं के संबंध में विधायक शशांक भार्गव द्वारा तत्काल कार्यवाही हेतु प्रशासन को दिये निर्देश

विदिशाः विदिशा विधायक शशांक भार्गव द्वारा आज पठारी हवेली स्थित सायलो प्लांट पर कृषि उपार्जन व्यवस्था के संबंध में औचक निरीक्षण किया। यहाॅ पर उन्होंने उपस्थित कृषकों से चर्चा की जिसमें प्रमुख रूप से सायलो प्लांट पर पेयजल की समस्या सामने आई जिसके संबंध में विधायक शशांक भार्गव ने कार्यपालन यंत्री पीएचई को पठारी हवेली सायलो प्लांट के पास गुप्ता जी की दुकान के सामने यथाशीघ्र हेण्डपंप लगाये जाने के निर्देश दिये। इसके साथ ही विधायक द्वारा दिनांक 14.04.2020 को कलेक्टर विदिशा को पत्र लिखकर अटारीखेजडा एवं अम्बार सोसायटी अंतर्गत आने वाले कृषकों की कृषि उपज तोल की समस्याओ के संबंध में अवगत कराया था। वर्तमान में उक्त सोसायटियों के अंतर्गत आने वाले किसानों की कृषि उपज मोहित वेयर हाउस पर तोली जा रही थी, जो उक्त क्षेत्र के कृषकों को सुविधाजनक नहीं थी, अम्बार एवं अटारीखेजडा सोसायटी पर कृषकों के हित में यथाशीघ्र तुलाई कार्य प्रारंभ किया जाये, जिसके संबध में कलेक्टर विदिशा के निर्देश पर खाद्य विभाग द्वारा उक्त सोसायटियों पर तुलाई कार्य के स्वीकृति दी गई है। साथ ही उनके द्वारा एमडी कोपरेटिव बैंक से चर्चा कर तय किया गया कि जिन किसान भाईयों को मेसेज दिये जा चुके है, उनकी उपज वेयर हाउस पर ही तोली जायेगी एवं शेष सभी किसानों की कृषि उपज तोल की प्रक्रिया अम्बार और अटारीखेजडा केन्द्रों पर ही होगी।

ई-पास हेतु 585 आवेदन प्राप्त हुए

लॉकडाउन अवधि के दौरान मेडीकल ग्रांट और गमीं में शामिल होने हेतु तथा अतिआवश्यक सेवाएं जैसे मेडीकल दवाईयां लाने के प्रकरणों में एक जिले से दूसरे जिले अथवा दूसरे राज्य में आने-जाने हेतु आवेदकों को अनुमति ऑन लाइन प्रक्रिया के तहत आवेदन जमा करने पर ई-पास जारी किए जा रहे है। डिप्टी कलेक्टर एवं नोडल अधिकारी श्री प्रवीण प्रजापति ने बताया कि जिले में अब तक कुल 585 आवेदन ऑन लाइन ई-पास हेतु प्राप्त हुए है जिसमें से 383 आवेदनों को निर्धारित मापदण्डो के अनुरूप नही पाए जाने पर निरस्त (रिजेक्ट) हुए है। जबकि 63 आवेदकों को ई-पास जारी हुए है। जिसमें से 19 ई-पास राज्य स्तरीय कमेटी को प्रेषित किए गए थे जिसमें से समिति द्वारा सात आवेदकों को ई-पास जारी किए गए है।  नोडल अधिकारी श्री प्रजापति ने बताया कि प्रदेश के तीन जिले क्रमशः भोपाल, इन्दौर और उज्जैन के लिए ई-पास की अनुमति राज्य स्तर से प्रदाय की जा रही है। बेवसाइट mapit.gov.in_covid19 पर घर बैठे ऑन लाइन आवेदन कर सकते है।

संशोधित आदेश  अब पांच बजे तक संचालित होगी दुकाने

विदिशा जिले में लॉकडाउन अवधि के दरम्यिन कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी डॉ पंकज जैन के द्वारा पूर्व जारी संशोधित आदेश में पुनः आंशिक संशोधन आदेश जारी कर दिया गया है जिसके अनुसार अब जिन संस्थानों को खोलने की अनुमति पूर्व में प्रदाय की गई थी के समय अंतरात मेंं एक घंटे की बढोतरी की गई है। अर्थात अब सायं पांच बजे तक खुली रहेगी। किन्तु सभी को सोशल डिस्टेन्सिग का पालन करना अनिवार्य किया गया है। कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा पूर्व जारी आदेश की कंडिका आठ, नौ, दस में संशोधन किया गया है तदानुसार अब आटा चक्की, ग्रेसरी आयटम, किराना सामग्री की दुकाने, प्रातः 11 बजे से सायं पांच बजे तक खुली रहेगी। जबकि होम डिलवरी सायं छह बजे तक की जा सकेगी। पैथालॉजी, दवाईयों की दुकाने भी प्रातः दस बजे से सांय पांच बजे तक खुली रहेगी। नर्सिग होम अथवा अस्पताल में स्थित दवा दुकान प्रतिबंध से मुक्त रहेगी। इसी प्रकार कृषि कार्य में उपयोग होने वाली सामग्री, बीज, उर्वरक, कीटनाशक दवाईयां, मशीनो के पार्टस आदि की दुकाने प्रातः 11 बजे से सांय पांच बजे तक खुली रहेगी। कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी डॉ जैन ने संशोधित आदेश में उल्लेखित समस्त दुकाने सायंकाल पांच बजे तक अनिवार्य रूप से बंद हो जाना चाहिए साथ ही प्रतिष्ठान, संचालक जन सामान्य को सोशल डिस्टेन्सिग का पालन करना तथा मास्क लगाना अनिवार्य होगा। उक्त दिशा निर्देशो का पालन नही करने वाले प्रतिष्ठान सात दिवस की अवधि के लिए शील्ड किए जाएंगे। 

बिना मास्क के वाहन चालकों के विरूद्व कार्यवाही के निर्देश

vidisha news
कलेक्टर डॉ पंकज जैन और पुलिस अधीक्षक श्री विनायक वर्मा ने आज संयुक्त रूप से वीडियो कांफ्रेसिंग में समस्त राजस्व एवं पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिए है कि लॉकडाउन अवधि में सोशल डिस्टेन्सिग का पालन कराया जाना सुनिश्चित करें। खासकर सब्जी मंडी और चौराहो के अलावा राशन दुकानो में इस बात का विशेष ध्यान दिया जाए।कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने समस्त बीएमओ को निर्देश दिए है कि कोरोना वायरस के संक्रमण से प्रभावितों के सेम्पलिंग लेने की प्रक्रिया और मापदण्ड स्वास्थ्य विभाग द्वारा निर्धारित किए गए है। ऐसे मरीज जिनमें  उल्लेखित लक्षण पास जाते है तो कोरोना टेस्ट हेतु सेम्पल अनिवार्यतः लिया जाए। जिन भी व्यक्तियों का सेम्पल लिया जाएगा उन्हें 14 दिन के क्यूरेन्टाइन मेंं रखा जाना अनिवार्य है। होम क्यूरेन्टाइन में रहने वाले के घर पर चस्पा किए जाने वाले पत्रक में जानकारी स्पष्ट अंकित हो। क्यूरेन्टाइन में रखे गए व्यक्ति को किन बातो का ध्यान रखना है से अवगत कराया जाए। कलेक्टर डॉ जैन ने समस्त राजस्व और पुलिस अधिकारियों को संयुक्त रूप से निर्देश दिए है कि जिले में समर्थन मूल्य पर उपार्जन कार्य में किसी भी प्रकार के अवरोध उत्पन्न ना हो कि व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जाए। उन्होंने मंडियो और उपार्जन केन्द्रों पर अनावश्यक भीड़ ना हो के लिए विशेष प्रबंध इजाद करने के निर्देश राजस्व अधिकारियों को दिए है। उपरोक्त कार्यो में पुलिस की मदद लेते हुए सोशल डिस्टेन्सिग का पालन कराया जाए। कलेक्टर डॉ जैन ने कहा कि आगामी एक दिन में सभी राजस्व अधिकारी और थाना प्रभारी संयुक्त रूप से शांति समिति की बैठक आहूत कर धर्मगुरूओं को आमंत्रित कर रमजान माह के दौरान बरती जाने वाली सावधानियां एवं आंशिक छूट के संबंध में स्थानीय परिस्थितियों के अनुसार एसडीएम को निर्णय लेने हेतु अधिकृत किया गया है। पुलिस अधीक्षक श्री वर्मा ने बताया कि वाहन चालकों और बैठने वाले यदि मास्क लगाए नही पाए जाते है तो उनके खिलाफ वाहन चालान की कार्यवाही की जाए। कोरोना वायरस के संक्रमण को कम करने के लिए जारी गाइड लाइन अनुसार मास्क लगाना सभी को अनिवार्य है। इसी प्रकार सड़क पर थूकने से कोरोना वायरस का संक्रमण फैल सकता है को ध्यानगत रखते हुए यदि अब कोई सड़क पर थूकता हुआ पाया गया तो उसके खिलाफ भी नियमों के तहत कार्यवाही की जाएगी। कानून व्यवस्था बनाए रखने हेतु किए जाने वाले प्रबंधो के संबंध में भी उनके द्वारा मार्गदर्शन दिया गया है। 

कोटा से 28 बच्चे कल विदिशा आएंगे

कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने बताया कि राजस्थान कोटा से विभिन्न शैक्षणिक कोचिंग संस्थानो में अध्ययनरत जिले के 28 छात्र-छात्राएं 22 अपै्रल की प्रातः कोटा से बस द्वारा विदिशा के लिए रवाना होगे। कलेक्टर डॉ जैन ने बताया कि गुना और विदिशा जिले की सीमा पर बस में सवार सभी बच्चों के स्वास्थ्य का परीक्षण कराया जाएगा और उनके मोबाइल पर सार्थक एप डाउनलोड कराया जाएगा इसके अलावा जैसे ही बच्चे जैसे ही संबंधित तहसील की सीमा में प्रवेश करेंगे तो उन्हें स्थानीय चिकित्सकों के सुर्पुद किया जाएगा ताकि उनका पुनः स्वास्थ्य परीक्षण हो सकें और संबंधित बच्चों के द्वारा सार्थक एप डाउनलोड किया गया है कि नही कि क्रास मानिटरिंग हो सकें। प्रत्येक बच्चे को 14-14 दिन के लिए होम क्यूरेन्टाइन में रखा जाएगा। होम क्यूरेन्टाइन के दौरान बरती जाने वाली सावधानियों की जानकारी भी दी जाएगी। 
कलेक्टर डॉ जैन ने बताया कि जैसे ही बस गुना से विदिशा जिले की सीमा अर्थात सिरोंज तहसील में प्रवेश करेंगी तो छत्री नाका पर बस से उतारा जाएगा और चिकित्सको के सुर्पुद किए जाएंगे। तदोपरांत बस आगे मेहलुआ चौराहा, अम्बानगर चौराहा, नटेरन नया गोला चौराहा होते हुए विदिशा के आरटीओ कार्यालय में आकर रूकेगी और चिकित्सकों द्वारा पूर्वानुसार व्यवस्थाएं क्रियान्वित की जाएगी।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...