सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 21 अप्रैल - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 22 अप्रैल 2020

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 21 अप्रैल

प्रतिष्ठित राय परिवार ने लॉकडाउन से प्रभावित नागरिकों की मदद के लिए  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को प्रदान किया दस लाख रूपये का चैक 

sehore news
सीहोर। कोरोना वायरस के वैश्विक महामारी संकट में सीहोर जिले का प्रतिष्ठित समाजसेवी राय परिवार पीडि़त जनमानस के लिए मददगार बना हुआ है। लॉक डाउन से प्रदेश के लाखों गरीब मजदूर आदिवासी प्रभावित परिवारों के भोजन पानी अनाज की व्यवस्था के लिए स्वगीज़्य सेठ गेंदालाल राय के पुत्र पूवज़् नगर पालिका अध्यक्ष राकेश राय,वरिष्ठ समाजसेवी अखिलेश राय सीहोर विधायक सुदेश राय और समाजसेवी नीेलेश राय के द्वारा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को भोपाल पहुंचकर दस लाख रूपये का चैक मुख्यमंत्री सहायता कौष के नाम प्रदान किया गया है।  नागरिकों की सेवा में सदेव तत्पर रहने वाला प्रतिष्ठित राय परिवार कोरोना वायरस की जंग में जिला प्रशासन के साथ लगातार काम कर रह रहा है। नागरिकों की सुरक्षा के लिए प्रशासन के द्वारा लगाए गए लॉक डाउन के प्रभावित शहर और गांवों कस्बों के हजारों गरीब तबके के परिवारों के लिए समाजसेवी संस्थाओं के माध्यम से दोनों समय भोजन की व्यावस्था राय परिवार के द्वारा की जा रहीें है। आसपास के जिले में व्यापक असर के बाद राय परिवार शहर में कर रहा है। पूवज़् नगर पालिका अध्यक्ष राकेश राय,वरिष्ठ समाजसेवी अखिलेश राय सीहोर विधायक सुदेश राय और समाजसेवी नीेलेश राय के द्वारा मानवता की सेवा के लिए खुलकर खाद्य सामग्री का दान भोजन वितरणकताज़् समितियों संगठनों गु्रपों को किया गया। जिस में पंडित दीनदयाल रसोई योजना का संचालन भी शामिल है। शहर की गरीब बस्तियों में रहने वाले करीब दो हजार से अधिक नागरिकों को भोजन के पेकेट प्रतिदिन बांटे जा रहे है। प्रतिष्ठित राय परिवार के द्वारा जरूरतमंद नागरिकों को सेनिटाईजर मास्कों का भी वितरण किया गया। नगर पालिका परिषद सीहोर को राय परिवार ने दो हजार लीटर सोडियम हाईपोक्लोराईट भी उपलब्ध कराया है इस से प्रशासन के द्वारा पचास हजार लीटर सेनिटाईजर बनाया जाएगा। नपा के कमज़्चारियों के द्वारा पूरे शहर को सेनिटाईज किया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने राय परिवार के द्वारा संकटकाल में गरीब जनमानस के लिए बरती जा रही तत्परता की ह्रदय से प्रशंसा की गई है। 

घरों में बंद गरीब नागरिकों को भाजपा  अजा मोर्चा भोजन करा रहा है उपलब्ध 

sehore news
सीहोर। भारतीय जनता पार्टी अनुसूचित जाति मोर्चा के कार्यकर्ता ने गरीब बस्तियों में भोजन वितरित किया। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस का खौफ प्रदेश के साथ शहर में भी है जिसके चलते लाकडाउन होने के कारण गरीब वर्ग परेशान है। नागरिक घरों में कैद है। काम ना होने के कारण भुखमरी पर पहुंच गया है ऐसे में भारतीय जनता पार्टी अनुसूचित जाति मोर्चा के कार्यकर्ता गरीब बस्तियों में भोजन वितरण कर रहे है।  जिला महामंत्री रवि नागले ने बताया कि संगठन के निर्देशानुसार भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा के कार्यकर्ता द्वारा गरीब बस्तियों में भोजन वितरित करने का संकल्प लिया है जो लगातार कर रहे हैं प्रदेश कार्यकारिणी हरीश कौशल जी ने बताया कि मध्य प्रदेश सरकार कई जनकल्याणकारी योजना के तहत गरीबों का लिए खाद्य सामग्री वितरित कर रही है भाजपा के वरिष्ठ नेता गण एवं प्रशासन के अधिकारियों से मिलकर जिनके पास राशन कार्ड नहीं है उनको भी राशन मिले ऐसा निवेदन किया जा रहा है। 
सीहोर साइलो केंद्र पर गेहूं खरीदी पर ड्रोन कैमरों से रखी जा रही है नजर

मध्यप्रदेश शासन द्वारा रबी उपार्जन प्रारंभ किए जाने के निर्णय के साथ ही प्रशासन सीहोर ने सीहोर साइलो स्टील पर रबी उपार्जन केन्द्र बनाया गया है। इस केंद्र पर गेहूं खरीदी के दौरान ट्रैक्टर-ट्रॉली और किसानों से सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों और अनुशासन का पालन सुनिश्चित कराने के लिए नवाचार के तहत ड्रोन कैमरों की मदद ली जा रही है।  इस केंद्र पर बड़ी मात्रा में रबी उपार्जन होता है, किसानों और ट्रैक्टर ट्रॉली पर एक साथ  नजर रखने में ड्रोन अधिक उपयोगी साबित हो रहे है। सीहोर जिले में बनाए गये स्टील सायलो  रबी उपार्जन 2020-21 में बड़ी भूमिका निभा रहा है,  4300 मेट्रिक टन क्षमता का यह सेंटर  जिले की 11 सोसायटियों के  लगभग 100 ग्रामों की फसल भंडारण की व्यवस्था सुनिश्चित की गई है। इस केंद्र पर ट्रैक्टर ट्रॉली को 3-3 मीटर की दूरी पर खड़े कराया गया है और एक समय पर एक ही ट्रैक्टर ट्रॉली को वजन और उपार्जन करने की अनुमति दी जा रही है। ड्रोन कैमरों से निगाह रख अनुशासन एवं सोशल डिस्टन्सिंग के नियमो का पालन सुनिश्चित कराया जा रहा है। गर्मी के दिनों में किसानों के लिए साफ पानी, छाया में रुकने के लिए समुचित व्यवस्था की गई है । किसान जिला प्रशासन द्वारा की गई व्यवस्था और गेहूं खरीदी से संतुष्ट दिखाई दे रहे है।

जिला स्तरीय सकंट प्रबंधन समूह की बैठक संपन्न

sehore news
मंगलवार को जिला पंचायत सभाकक्ष में कलेक्टर श्री अजय गुप्ता की अध्यक्षता में जनप्रतिनिधियों एवं धर्मगुरु की उपस्थिति में जिला स्तरीय संकट प्रबंधन समूह की बैठक आयोजित हुई। जिले में अभी तक एक भी कोरोना संक्रमित मरीज न पाए जाने की स्थिति में जिला स्तरीय संकट प्रबंधन समूह द्वारा आने वाले समय में भी इसी प्रकार जिला कोरोना संक्रमण से मुक्त रहे एवं लॉकडाउन के दौरान किसी को भी कोई परेशानी न हो इसके लिए इस संबंध में बैठक में चर्चा की गई।   बैठक में कलेक्टर ने बताया कि अभी तक सीहोर जिला कोरोना संक्रमण से मुक्त है। पुलिस एवं प्रशासन लगातार अपनी क्षमताओं के अनुरुप इस महामारी को रोकने के लिए चौबिसों घंटे कार्य कर रहा है। उन्होंने बताया कि जिस तरह जिले में रबी उपार्जन कार्य सोशल डिस्टेंसिंग एवं शासन के नियमों का पालन कर कराया जा रहा है उसी प्रकार आने वाले समय में मनरेगा अन्तर्गत कुछ निर्माण कार्यों को प्रारंभ करने पर भी विचार किया जा रहा है परन्तु हर स्तर पर कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए सभी प्रकार की सावधानियां बरतनी होंगी।   बैठक में ट्रायडेंट लिमिटेड बुदनी के प्रतिनिधि ने बताया कि कोराना वायरस महामारी से बचाव के लिए फैक्ट्री की डिजाईनिंग टीम द्वारा मास्क बनाये जा रहे हैं एवं फुल बॉडी मेडिकल सूट भी तैयार किए जा रहे हैं। यह मेडिकल सूट पूर्णत: सुरक्षित है यह सिद्ध हो जाने पर ट्रायडेंट द्वारा 5 हजार मेडिकल सूट प्रदेश सरकार को उपलब्ध कराए जा चुके हैं। इसी प्रकार लगभग 2 लाख मेडिकल सूट प्रदेश सरकार को ट्रायडेंट कंपनी प्रदान करेगी। कलेक्टर श्री गुप्ता ने लगभग 300-400 मेडिकल सूट ट्रायडेंट से सीहोर की स्वास्थ्य टीम को प्रदान करने का आग्रह ट्रायडेंट कंपनी से किया है। बैठक के दौरान इछावर विधायक श्री करण सिंह वर्मा एवं आष्टा विधायक श्री रघुनाथ मालवीय ने जिला प्रशासन एवं पुलिस की प्रशंसा करते हुए कहा कि कलेक्टर एवं एसपी ने अपनी टीम के साथ खुद की जान की परवाह न करते हुए लोगों को जागरुक करने एवं शासन के नियमों का पालन कराने में कोई कसर नहीं छोडी है। यही परिणाम है कि अभी तक सीहोर जिला कोरोना संक्रमण से मुक्त है। ग्रामीण क्षेत्रों में भी मेडिकल टीम द्वारा लगातार पलायन कर आए हुए लोगों की स्क्रीनिंग एवं जांच में लगी हुई है। शहरकाजी एवं पंडित श्री दुबे ने कहा कि जिस तरह जिला प्रशासन, पुलिस एवं स्वास्थ्य विभाग की ही मेहनत का नतीजा है कि अभी तक हमारे यहां एक भी कोरोना संक्रमण का मरीज नहीं पाया गया है। हम सभी इसी तरह लोगों में मास्क एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करा कर कोरोना से जंग जीत जाएंगे। बैठक में उपस्थितजनों द्वारा सुझाव दिए गए कि जरुरी सामान प्लांबिंग (हार्डवेयर) की दुकानों को कुछ देर के लिए खोले जाने, सभी मंडियों में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए नीलामी की अनुमति देने एवं विवाह समारोह के लिए कम सदस्दयों की उपस्थिति में कार्यक्रम संपन्न कराए जाने की अनुमति की जाए। जिस पर कलेक्टर ने विचार कर छूट दिए जाने की बात कही।  बैठक में पुलिस अधीक्षक श्री शशीन्द्र चौहान, विधायक इछावर श्री करण सिंह वर्मा, विधायक आष्टा श्री रघुनाथ सिंह मालवीय, नगरपालिका अध्यक्ष सीहोर श्रीमती अमिता अरोरा, सीहोर विधायक के प्रतिनिधि के रूप में श्री अखिलेश राय सहित धर्मगुरु एवं अन्य महत्वपूर्ण सदस्य उपस्थित थे।

सभी डाक कर्मचारियों को 10 लाख रुपये की क्षतिपूर्ति

नोवेल कोरोना वायरस कोविड-19 महामारी को देखते हुए केन्द्र सरकार द्वारा निर्णय लिया गया है कि ग्रामीण डाक सेवक (जीडीएस) सहित सभी डाक कर्मचारियों को कर्तव्य निवर्हन के दौरान बीमारी का शिकार हो जाने पर 10 लाख रुपये की क्षतिपूर्ति का भुगतान किया जाएगा। ये दिशा निर्देश जल्द प्रभावी हो जाएंगे और कोविड-19 के संकट की समाप्ति तक पूरी अवधि तक के लिए लागू रहेंगे। उल्लेखनीय है कि डाक विभाग अनिवार्य सेवाओं के तहत आता है। ग्रामीण डाक सेवक सहित डाक कर्मचारी ग्राहकों को मेल डिलीवरी, डाक घर बचत बैंक, डाक जीवन बीमा देने, एईपीएस सुविधा के तहत किसी भी बैंक और किसी भी शाखा से ग्राहकों के दरवाजे तक धन की निकासी को सरल बनाने के विभिन्न दायित्वों का निर्वाह कर रहे हैं। इसके अतिरिक्त, डाक घर स्थानीय राज्य प्रशासन एवं पुलिस अधिकारियों के साथ संपर्क कर देश भर में कोविड-19 किट, फूड पैकेट, राशन एवं अनिवार्य दवाओं आदि की प्रदायगी भी कर रहे हें। इस प्रकार, डाक घर विभागीय कर्तव्यों के साथ साथ कोविड-19 के संकट के समय सामाजिक प्रयोजन की भी सेवा कर रहे हैं।

किसानों को वर्ष 2020-21 में भी मिलेगा शून्य प्रतिशत ब्याज दर पर फसल ऋण वर्ष 2018-19 के फसल ऋण भुगतान की तारीख हुई 31 मई

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने मंत्रालय में संपन्न वित्त एवं सहकारिता विभाग की बैठक में निर्णय लिया कि किसानों को फसल ऋण दिए जाने के लिए पूर्व के वर्षों में संचालित जीरो प्रतिशत ब्याज पर फसल ऋण योजना को वर्ष 2020-21 में भी जारी रखा जाएगा। पिछली सरकार द्वारा इस सुरक्षित सुविधा को बंद जाने पर विचार किया जा रहा था। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि किसान हमारी प्राथमिकता हैं। मध्यप्रदेश सरकार निरंतर किसानों के कल्याण के लिए कार्य करती रही है। कोरोना संकट की इस घड़ी में हम किसानों को अतिरिक्त सुविधाएं देंगे। प्रदेश में कृषि गतिविधियों को अधिक से अधिक बढ़ावा दिया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि सरकार ने यह भी निर्णय लिया है कि किसानों को प्राथमिक कृषि साख सहकारी समितियों के माध्यम से कृषि वर्ष 2018-19 में जीरो प्रतिशत ब्याज दर पर जो फसल ऋण दिया गया था, उसके भुगतान की तारीख पूर्व में 28 मार्च थी, जिसे अब किसानों की सुविधा के लिए बढ़ाकर 31 मई 2020 किया गया है।

पिछले 24 घंटों में की गई 680 लोगों की स्क्रीनिंग  

स्वास्थ्य विभाग के अमले द्वारा मैदानी स्तर पर ग्राम एवं शहरी वार्डो में निरंतर घर-घर सर्वे कर विदेश से सीहोर जिले में लौटे तथा अन्य जिलों व राज्यों से व्यक्तियों की खोजबीन की जा रही है। पिछले 24 घंटे के दौरान जिले में अन्य राज्यों व अन्य जिलों से आए हुए करीब 680 व्यक्तियों की पहचान व पता लगाकर उनकी तत्काल स्क्रीनिंग की गई तथा उन्हें होम क्वारेंटाईन किया गया है। सीहोर जिले में अन्य जिलों अथवा राज्यों से लौटे हुए यात्रियों की संख्या अब तक कुल 28237 है। उन्हें होम कोरेंटाईन से संबंधित गाईड लाईन की जानकारी प्रदान कर सख्त हिदायत दी गई है कि होम कोरेंटाइन गाइड लाइन का कड़ाई से पालन करेंगे। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ सुधीर डेहरिया ने जानकारी दी कि जिले में अन्य देशों से सीहोर पहुंचे कुल व्यक्तियों की संख्या 232 है जिनमें से 184 लोगों की अब तक स्क्रीनिंग स्वास्थ्य विभाग द्वारा की जा चुकी है। पिछले 24 घंटों के दौरान 680 ऐसे व्यक्तियों की पहचान की गई जो अन्य राज्यों और अन्य जिलों से लौटे थे इन सभी व्यक्तियों की तत्काल स्क्रीनिंग कर इन्हें 21 अप्रैल को ही होम कोरेंटाईन कर दिया गया है जिले में अब तक होम कोरेंटाईन किए गए व्यक्तियों की संख्या 28237 है। डॉ.डेहरिया ने बताया कि पिछले 24 घंटों के दौरान ऐसे व्यक्ति जो विदेश से सीहोर जिले में नहीं लौटे थे परंतु अन्य जिलों एवं राज्यों से लौटे थे और विभागीय अधिकारियों कर्मचारियों द्वारा घर-घर सर्वे के दौरान चिन्हित किए गए। पिछले 24 घंटों में होकोंरेटाईन की अवधि से 372 लोग बाहर आ चुके हैं जबकि अब तक कुल 21387 व्यक्तियों का होम कोरेंटाइन पूर्ण किया जा चुका है। जिले से अब तक 130 सेम्पल जांच के लिए भेजे गए थे जिनमें से 100 की रिपोर्ट अब तक निगेटिव प्राप्त हुई है। मंगलवार को ही 10 सेम्पल जांच के लिए भोपाल भेजे गए है। 10 सेंपलों सहित कुल 26 सेंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। आज की स्थिति में हास्पिटल आईसोलेशन में भर्ती मरीजों की संख्या, कोरोना संक्रमण पाजीटिव मरीजों की संख्या शून्य है। विभाग की ओर से मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय में जिला स्तरीय नियंत्रण कक्ष स्थापित किया गया है जिसका संपर्क नंबर 7247704181 है इस नंबर पर बाहर से बाहर से आए हुए व्यक्तियों की जानकारी 24 घंटे दी जा सकती है। वहीं कलेक्ट्रेट कार्यालय में भी 24 घंटे के लिए काल सेंटर बनाया गया है जिसका संपर्क नंबर 9893635076 है इस नंबर पर संपर्क कर कोविड-19 के संबंध में किसी प्रकार की सलाह ली जा सकती है 24 घंटे संचालित उक्त काल सेंटर में चिकित्सा अधिकारियों की ड्यूटी लगाई गई है जिनके द्वारा विदेश, अन्य राज्यों व जिलों से आकर होम कोरेंटाइन किए गए व्यक्तियों को फोनकर  प्रतिदिन फीडबैक लिया जाता है तथा इसकी जानकारी जिला स्तरीय नोडल अधिकारी, संबंधित ब्लाक मेडिकल आफिसर को तत्काल दी जाती है। वहीं जिला चिकित्सालय सीहोर में टेलीमेडिसिन सेंटर स्थापित किया गया है जिसका संपर्क नंबर 07562-401259 है यहां पर टेलीमेडिसिन के संबध में उचित सलाह ली जा सकती है।

गेंहू उपार्जन केन्द्रों पर मोबाइल मेडिकल यूनिट कर रही स्क्रीनिंग व स्वास्थ्य परीक्षण

sehore newsकोविड-19 (कोरोना वायरस संक्रमण) से बचाव व जांच के लिए जिले के समस्त गेंहू उपार्जन एवं विपणन केन्द्रों पर भी मोबाइल मेडिकल यूनिट (एम.एम.यू.) काम्बेट दलों द्वारा केन्द्रों पर पहुंचने वाले किसानों तथा अन्य व्यक्तियों का स्वास्थ्य परीक्षण एवं स्क्रीनिंग की जा रही है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.सुधीर डेहरिया द्वारा गेंहू उपार्जन तथा विपरण केन्द्रों पर आने वाले सभी व्यक्तियों की स्क्रीनिंग के साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराने के निर्देश सभी बीएमओ को दिए गए है। इसी के तहत गेंहू उपार्जन केन्द्र बुदनी में बीएमओ डॉ.अंकुश शर्मा, सुपरवाईजर अनिल उपाध्याय, लैब तकनीशियनए प्रशांत दुबे, एएनएम कल्पना परमार, एमपीडब्ल्यू रमेष दुबे, एमपीडब्ल्यू दीपक मालवीय, शाहगंज डॉ.कमल मालानी, लैब तकनीशियन योगेन्द्र मिश्रा, सुपरवाईजर श्री चौहान सिंह चौहान, एमपीडब्ल्यू सुरेश वर्मा, एएनएम श्रीमती पुष्पा दुबे, मरदानपुर डॉ. राणा राजपूत, लैब तकनीशियन, चतुरनारायण सुपरवाईजर श्री संतोष निमोदा, एएनएम श्रीमती सरिता पवार, रेहटी डॉ.मेहरबान सिंह, लैब तकनीशियन श्री मनीष शर्मा, एमपीडब्ल्यू श्री संजय जैन, एएनएम श्रीमती लता सक्सेना, एएनएम श्रीमती सीमा पाटिल अपनी निरंतर सेवाएं दे रहें है। विकासखण्ड आष्टा कें उपार्जन केन्द्र कोठरी में बीएमओ डॉ.प्रवीर गुप्ता, विपणन आष्टा में डॉ.करम हुसैन, हकीमाबाद में डॉ.लोकेश शर्मा, खाचरोद डॉ.सीएम स्नेही तथा डॉ.आमीन खान, जावर डॉ.अमीत माथुर तथा मेहतवाड़ा में डॉ. कपिल गायकवाड़ के दिशा-निर्देश में चिकित्साल दलों में काम्बेट दलों द्वारा गेहूं उपार्जन केन्द्रों पर स्क्रीनिंग की जा रही है। सीहोर के सायलो तथा गेंहू उपार्जन केन्द्र पर जिला चिकित्सालय सीहोर के चिकित्सा दल द्वारा किसानों तथा विक्रय केन्द्र पर पहुंचने वाले व्यक्तियों की स्क्रीनिंग की जा रही है। उक्त दल में चिकित्सा अधिकारी डॉ.इन्दू राठौर, एएनएम रूपा सोनी, एएनएम जमुना मालवीय तथा वार्ड बाय बहादुरसिंह अपनी सेवाएं दे रहे है। बिल्सिकगंज डॉ.नीरज डागौर चिकित्सा अधिकारी, एमपीएस आमिर महमूद, एमपीडब्ल्यू, सुंदरलाल विश्वकर्मा, एएनएम मोनिका कुशवाहा, एएनएम रीना राठौर, एएनएम रीता सेन, दोराहा डॉ.एन.आर.आजाद, डॉ.अंकुश अग्नीहोत्री, एलएचव्ही मधु नामदेव, स्टाफ नर्स प्रीति मर्सकोले, फार्मासिस्ट धर्मेन्द्र दुबे, एएनएम पुरूषोत्तम भारती तथा स्टाफ नर्स गीता उईके, श्यामपुर डॉ.अंकित परिहार,एमपीएस एसएल दोहरे, एएनएम कमला सक्सेना, एएनएम कृष्णा श्रीवास, एएनएम प्रीती आम्रवंशी, अहमदपुर डॉ.केसी मोहनिया, डॉ.भारती साहू, डॉ.कामायनी मिश्रा, सीएचओ सुष्मा गेडाम,एमपीएस जीडी कीरार, एमपीडब्ल्यू एलएन यादव, एएनएम सीता विमल, लाड़कुई के विपणन केन्द्र में डॉ.महेश पाण्डे, फार्मासिस्ट महेश गुर्जर, लैब तकनीशियन रवीन्द्र भार्गव, एमपीएस जीतेन्द्र माहेश्वरी। नसरूल्लागंज में राहुल शर्मा, आरडी सोलंकी, महेन्द्र कुमार राय, एमपीएस राजेन्द्र गुप्ता, एएनएम कविता विष्वकर्मा, गोपालपुर में डॉ.राहुल यादव, फार्मासिस्ट रविराज सिंह, एएनएम भगवती मैथिल, एमपीडब्ल्यू विनोद शर्मा, इछावर में सीएचओ कु. सुरभि खत्री, श्री राजेन्द्र बैस एमपीडब्ल्यू सहित अमित शर्मा, कमल सगवालिया, सूरज चंद्रवंशी, महेश गहलोत, एमपीएस गुलाब सिंह परमार, चंदरसह धुलिया द्वारा स्वास्थ्य परीक्षण एवं स्क्रीनिंग के लिए सेवाएं दी जा रही है।

मंडल परीक्षाओं की उत्तर पुस्तिकाओं का होगा मूल्यांकन आज से

लॉकडाउन के कारण इस वर्ष प्रदेश में संचालित हाई-स्कूल एवं हायर सेकेण्डरी परीक्षाओं की उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन कार्य 22 अप्रैल से प्रारंभ किया जायेगा। मूल्यांकन का यह कार्य गृह मूल्यांकन (HOME VALUATION) प्रक्रिया से कराया जायेगा। सचिव माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा इस संबंध में शीघ्र ही विस्तृत निर्देश जारी किये जाएंगे।

आंगनवाड़ी कार्यकर्ता और सहायिका भी मुख्यमंत्री कोविड-19 योद्धा योजना में शामिल
एक लाख आंगनवाड़ी कार्यकर्ता और सहायिका को मिलेगा 50 लाख का हेल्थ बीमा
प्रदेश के लगभग एक लाख आंगनवाड़ी कार्यकर्ता और सहायिका को मुख्यमंत्री कोविड-19 योद्धा कल्याण योजना का लाभ मिलेगा। भारत सरकार द्वारा कोविड-19 महामारी की रोकथाम के लिए कार्य कर रहे स्वास्थ्यकर्मियों के लिए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज के अंतर्गत विशेष बीमा योजना प्रारंभ की गई है। प्रदेश में भी राज्य के कोविड-19 प्रभावित रोगियों /नागरिकों को अपनी सेवा प्रदान कर रहे कोरोना योद्धाओं के कल्याण के लिए यह योजना लागू की गई है। इसके तहत लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग, चिकित्सा शिक्षा एवं आयुष विभाग के सभी सफाई कर्मचारी, वार्डबॉय, आशा कार्यकर्ता, पैरामेडिकल स्टाफ, तकनीशियन, डॉक्टर्स, विशेषज्ञ तथा अन्य स्वास्थ्य कार्यकर्ता ,नगरीय प्रशासन के सभी सफाई कर्मचारियों को शामिल किया गया है। प्रमुख सचिव महिला-बाल विकास श्री अनुपम राजन ने कहा है कि आंगनवाड़ी कार्यकर्ता जोखिम उठाकर हर जिले में घर-घर जाकर सर्वे कर रही हैं। साथ ही, बच्चों को पोषण आहार उपलब्ध कराने में भी घर-घर का दौरा कर रही हैं। ऐसे में उनका कई लोगों से संपर्क होता है, जिससे कोरोना संक्रमण का खतरा बना रहता है। इसलिये उन्हें इस बीमा योजना का लाभ दिया जाना चाहिए। प्रमुख सचिव श्री राजन ने सभी जिलों के कलेक्टर से कहा है कि कोविड-19 में एक्सपोजर और सक्रिय भूमिका को देखते हुए आंगनवाड़ी कार्यकर्ता और सहायिका को मुख्यमंत्री कोविड-19 योद्धा कल्याण योजना में पात्र घोषित करें।

सीहोर साइलो केंद्र पर गेहूं खरीदी पर ड्रोन कैमरों से रखी जा रही है नजर

मध्यप्रदेश शासन द्वारा रबी उपार्जन प्रारंभ किए जाने के निर्णय के साथ ही प्रशासन सीहोर ने सीहोर साइलो स्टील पर रबी उपार्जन केन्द्र बनाया गया है। इस केंद्र पर गेहूं खरीदी के दौरान ट्रैक्टर-ट्रॉली और किसानों से सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों और अनुशासन का पालन सुनिश्चित कराने के लिए नवाचार के तहत ड्रोन कैमरों की मदद ली जा रही है।  इस केंद्र पर बड़ी मात्रा में रबी उपार्जन होता है, किसानों और ट्रैक्टर ट्रॉली पर एक साथ  नजर रखने में ड्रोन अधिक उपयोगी साबित हो रहे है। सीहोर जिले में बनाए गये स्टील सायलो  रबी उपार्जन 2020-21 में बड़ी भूमिका निभा रहा है,  4300 मेट्रिक टन क्षमता का यह सेंटर  जिले की 11 सोसायटियों के  लगभग 100 ग्रामों की फसल भंडारण की व्यवस्था सुनिश्चित की गई है। इस केंद्र पर ट्रैक्टर ट्रॉली को 3-3 मीटर की दूरी पर खड़े कराया गया है और एक समय पर एक ही ट्रैक्टर ट्रॉली को वजन और उपार्जन करने की अनुमति दी जा रही है। ड्रोन कैमरों से निगाह रख अनुशासन एवं सोशल डिस्टन्सिंग के नियमो का पालन सुनिश्चित कराया जा रहा है। गर्मी के दिनों में किसानों के लिए साफ पानी, छाया में रुकने के लिए समुचित व्यवस्था की गई है । किसान जिला प्रशासन द्वारा की गई व्यवस्था और गेहूं खरीदी से संतुष्ट दिखाई दे रहे है।

ई-कॉमर्स कंपनियों द्वारा गैर-जरूरी सामानों की आपूर्ति प्रतिबंधित रहेगी

गृह मंत्रालय भारत सरकार द्वारा यह स्पष्ट किया गया है कि ई-कॉमर्स कंपनियों द्वारा गैर-जरूरी सामानों की आपूर्ति लॉकडाउन के दौरान प्रतिबंधित रहेगी।

कोई टिप्पणी नहीं: