वेल्लोर से वापस लौटे पूर्वी सिंहभूम के 116 लोग, जांच के बाद भेजा गया होम क्वॉरेंटाइन - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 10 मई 2020

वेल्लोर से वापस लौटे पूर्वी सिंहभूम के 116 लोग, जांच के बाद भेजा गया होम क्वॉरेंटाइन

116 लोग शुक्रवार को स्पेशल ट्रेन से वेल्लोर (तमिलनाडु) से रांची पहुंचे. रांची पहुंचने के बाद सभी को बस से जमशेदपुर लाया गया. वहीं रांची में क्वॉरेंटाइन अवधि पूरा कर चुके लोगों को भी जमशेदपुर लाया गया है.
116-return-to-vellore-in-jamshedpur
जमशेदपुर (आर्यावर्त संवाददाता)  जिले के 116 लोग शुक्रवार को स्पेशल ट्रेन से वेल्लोर (तमिलनाडु) से रांची पहुंचे. रांची पहुंचने के बाद सभी को जिला प्रशासन, पूर्वी सिंहभूम द्वारा बस से जमशेदपुर लाया गया. इनके साथ-साथ रांची में क्वॉरेंटाइन अवधि पूरा कर चुके लोगों को भी जमशेदपुर लाया गया है. बसों में दंडाधिकारी, पुलिस पदाधिकारी एवं पुलिस जवान की प्रतिनियुक्ति की गई थी. जमशेदपुर पहुंचने के बाद लोयला स्कूल में सभी प्रवासी श्रमिकों एवं रांची से आये लोगों के स्वाब का सैंपल क्लेकशन कर नाम, पता, फोन नम्बर दर्ज किया गया. लोयोला स्कूल में प्रतिनियुक्त चिकित्सकों एवं मेडिकल टीम द्वारा सभी का थर्मल स्केनिंग कर होम क्वॉरेंटाइन हेतु आवश्यक जानकारी दी गई. मौके पर पदाधिकारियों ने भी सभी श्रमिकों को होम क्वॉरेंटाइन में 28 दिनों तक रहने के निर्देश दिए. उन्हें बताया गया कि जिला प्रशासन द्वारा सभी की निगरानी की जाएगी. सभी को सोशल डिस्टेंसिंग के बारे में भी बताया गया तथा इसके अनुपालन के निदेश दिए गये. श्रमिकों को उनके घरों तक पहुंचाने के लिए जिला प्रशासन द्वारा वाहन का व्यवस्था किया गया था.

कोई टिप्पणी नहीं: