चाईबासा: गुजरात के ग्रीन जोन से पश्चिमी सिंहभूम पहुंचे 1,257 श्रमिक - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 10 मई 2020

चाईबासा: गुजरात के ग्रीन जोन से पश्चिमी सिंहभूम पहुंचे 1,257 श्रमिक

  • सभी का कराया गया स्वास्थ्य जांच

पश्चिमी सिंहभूम जिले के 1,231 श्रमिक और नागरिक गुजरात से टाटानगर रेलवे स्टेशन पहुंचे. वहीं, यहां से बस के माध्यम से अलग-अलग जिलों के मजदूरों को उनके गृह जिला के अपने-अपने अनुमंडल क्षेत्र में स्थित रिसीविंग सेंटर पहुंचाया गया. सेंटर में सोशल डिस्टेंसिंग का विशेष ध्यान रखते हुए थर्मल स्कैनर की मदद से उनकी स्वास्थ्य जांच की जा रही है.
1257-labour-reach-jamshedpur-from-gujrat
चाईबासा (आर्यावर्त संवाददाता)  गुजरात के ग्रीन जोन मोरबी जिला से पश्चिमी सिंहभूम जिले के 1,231 श्रमिक और नागरिक टाटानगर रेलवे स्टेशन पहुंचे. टाटानगर स्टेशन पहुंचने वाली श्रमिक स्पेशल ट्रेन से आने वाले लोगों में जिले के अलावा पूर्वी सिंहभूम, रांची, पलामू, बोकारो, देवघर और मयूरभंज (ओडिशा) जिले के भी श्रमिक शामिल हैं. इस ट्रेन से अपने गृह जिला लौटने वाले सभी श्रमिक वापस आए हैं. पश्चिमी सिंहभूम जिला उपायुक्त अरवा राजकमल ने यह जानकारी दी कि राज्य के सीएम हेमंत सोरेन के पहल के कारण लॉकडाउन की वजह से दूसरे राज्य में फंसे राज्य के प्रवासी श्रमिक, नागरिक वापस अपने गृह राज्य वापस लौट रहे हैं. इसी का एक उदाहरण है कि गुजरात राज्य के मोरबी जिला से 1,231 श्रमिक रेल मार्ग से पड़ोसी जिला के टाटानगर स्टेशन पहुंचें है. जहां से 48 बस के माध्यम से लौटने वाले सभी व्यक्ति को अपने-अपने अनुमंडल क्षेत्र में स्थित रिसीविंग सेंटर पर वापस लाया गया है. डीसी ने जानकारी देते हुए बताया कि लौटने वाले सभी श्रमिक ग्रीन जोन एरिया से लौटे हैं और यहां आने के बाद सोशल डिस्टेंसिंग का विशेष ध्यान रखते हुए थर्मल स्कैनर की मदद से उनका स्वास्थ्य जांच किया जा रहा है. उन्होंने बताया कि श्रमिक स्पेशल ट्रेन से लौटे लोगों में कुल 1257 श्रमिक, नागरिक में से पश्चिमी सिंहभूम जिले के 1231 और सरायकेला-खरसावां के 16, पूर्वी सिंहभूम के 04, रांची के 01, पलामू के 02, बोकारो के 01, देवघर के 01 और मयूरभंज (उड़ीसा) के 01 श्रमिक शामिल हैं. श्रमिकों के आगमन के अवसर पर पूर्वी सिंहभूम जिला उपायुक्त रविशंकर शुक्ला, वरीय पुलिस अधीक्षक पूर्वी सिंहभूम तमिल बाणन, पश्चिमी सिंहभूम पुलिस अधीक्षक इंद्रजीत माहथा, उप विकास आयुक्त आदित्य रंजन सहित दोनों जिला के पदाधिकारी, पुलिस पदाधिकारी, रेलवे अधिकारी, कर्मी, सुरक्षा बल और जिला पुलिस उपस्थित रहे.

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...