महाराष्ट्र में कोरोना से हालात बेकाबू - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 28 मई 2020

महाराष्ट्र में कोरोना से हालात बेकाबू

covid-19-and-maharashtra
पटना। महाराष्ट्र में कोरोना से हालात बेकाबू होते नजर आ रहे हैं। मंगलवार को भी यहां 2000 से ज्यादा मरीज मिले हैं। बीते 24 घंटों में 2091 नए मामले सामने आने के साथ प्रदेश में कुल संक्रमितों की संख्या 54,758 हो गई है। राज्य में कोरोना वायरस से 97 और लोगों की मौत के साथ महामारी में जान गंवाने वालों की संख्या 1,792 तक पहुंच गई है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने ख्रीस्तीय समुदाय का आह्वान किया है कि प्रदेश में कोरोना का कलह चरम पर है।इसके आलोक में 31 मई को 12:00 बजे से जोरदार ढंग से प्रार्थना करें। ऐसा करने देश-प्रदेश में कोरोना का कलह कम हो जाए। कोरोना के इस महामारी के दौर में 31 मई, 2020 को दिन के बारह बजे भारत के सभी चर्चों द्वारा संयुक्त रूप से विशेष प्रार्थना 'Prayer of Hope' का आयोजन किया जायेगा l इस प्रार्थना के आयोजन का आह्वान करते हुए केथोलिक डायोसिस इन्दौर के बिशप श्रद्धेय चाको थोट्टुमारिकल एस वी डी ने यह कहते हुए सभी चर्चों  से आग्रह किया है कि हम सभी को इस महामारी के समय एकजुट होकर कोरोना-मुक्त एक बेहतर कल के लिए प्रार्थना करनी चाहिए l उन्होंने कहा कि हमारे देश के सभी चर्चों ने मिलकर भारत के लिए प्रार्थना करने का निर्णय लिया है l हम देश के नियमों को मानते हुए; अपनी आवाज़, अपनी प्रार्थना और चर्च की घन्टियों को एकसाथ बजाते हुए आशा के स्वर को देश के हर कोने में (स्थानीय नियमों को मानते हुए) गुंजा देना चाहते हैं l

इस प्रार्थना के समय हम हमारे आज के उन अनगिनत नायक/नायिकाओं जिनमें डाक्टर, नर्सें, स्वास्थ्य-चिकित्सा विशेषज्ञ, पुलिस और अन्य सुरक्षा कर्मचारी, सफ़ाई कर्मचारी, राशन बाँटने में अपना सहयोग देने वालों, ड्रायवरों, कृषकों, बिजली, पानी और अन्य जरूरी सामानों की पूर्ति करने वालों के लिए अपनी प्रार्थना ईश्वर को समर्पित करेंगे l यह हमारे लिये ईश्वर के उन वचनों पर विश्वास करना और उसका पालन करना है जो बाइबिल में अंकित है - "मैं सबसे पहले यह अनुरोध करता हूं कि सभी मनुष्यों के लिए, विशेष रूप से राजाओं और अधिकारियों के लिए, अनुनय- विनय,, प्रार्थना, निवेदन तथा धन्यवाद अर्पित किया जाये, जिससे हम भक्ति तथा मर्यादा के साथ निर्विघ्न तथा शान्त जीवन बिता सकें l" (1 तिमथी 2:1-2) हमारे लिए पेन्तेकोस्त का पर्व बहुत ही महत्वपूर्ण है जब सारे चर्च ईसा मसीह के पुनर्जीवित होने के 50 वें दिन उनके पवित्र आत्मा के उतरने का उत्सव मनाते हैं l इस वर्ष यह पर्व 31 मई को मनाया जायेगा l इसी दिन चर्च की स्थापना हुई थी अतः यह दिन ईसाई समुदाय के लिए और भी विशेष है lजब हमारा देश इस मुश्किल की घड़ी से गुज़र रहा है, तो इस विशेष प्रार्थना के साथ ही यह सम्पूर्ण दिन सभी चर्चों द्वारा संयुक्त रूप से देश के प्रति प्रार्थना को समर्पित होगा l

कार्यक्रम:
31 मई, 2020 को 12:00 बजे से
सभी चर्चों की घंटी का बजना,जो जहां भी है वहां से -
चुने हुए गीतों का गायन,गाने के बाद देश के लिए प्रार्थना
राष्ट्रीय गीत के साथ समाप्त।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...