मधुबनी : माले ने भूखमरी, बेकारी व बिमारी के सवालों पर समीक्षा किया - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 8 मई 2020

मधुबनी : माले ने भूखमरी, बेकारी व बिमारी के सवालों पर समीक्षा किया

cpi-ml-madhubani-meeting
रहिका/मधुबनी, 08 मंई, (आर्यावर्त संवाददाता) भाकपा-माले,प्रखंड कमिटी की बैठक प्रखंड पार्टी कार्यालय में आयोजित हुआ। बैठक में भूखमरी, बेकारी व बिमारी से जूझते जनता के सबालो पर बिचार बिमर्श व समीक्षा किया गया। राशन बितरण में पाया गया है कि गरीबों की अच्छी खासी संख्या ऐसी है, जिसके पास राशन कार्ड नहीं है। इस कारण वे राशन से बंचित हो जा रहें है। जीविका दीदी के जरिए राशन कार्ड से बंचित परिवारों का फार्म भड़ाया है। हालांकि इसमें भी कुछ जगहों से अनियमितता की शिकायत आ रही है। वैसे राशन कार्ड धारकों को राशन मिल रहा है। मनरेगा के तहत जाब कार्ड के लिए प्रखंड भर से पार्टी के द्धारा 2000 दो हजार से अधिक मजदूरों का आवेदन करवाया गया था।उसका जाब कार्ड बनवाने की शुरुआत हो चूका है। जिनके पास जाब कार्ड है, उससे काम मांगने का आवेदन दिलवाने की योजना बनाई गई। बाहर से आने वाले प्रबासी मजदूरों का अधिकांश कोराईनटाईन सेंटर में देख भाल,रहन सहन और खाना पीना का हालत दयनिय है। इस मामले में चिंता ब्यक्त किया गया। बैठक में, सभी गरीब परिवारों को राशन कार्ड एवं नियमित राशन की गारंटी करने। सभी मजदूरों को जाब कार्ड एवं जाब कार्डधारी को काम की गारंटी करने, कोरनटाईन सेंटर में उचित देखभाल,रहन सहन व खान पान की ब्यबस्था के लिए प्रशासन पर दबाव बनाने और लाक डाउन के नियम का पालन करते हुए जन जागरण अभियान चलाने का निर्णय लिया। भाकपा-माले के प्रखंड सचिव अनिल कुमार सिंह की अध्यक्षता में आयोजित बैठक को संबोधित करते हुए पार्टी के जिला सचिव ध्रुब नारायण कर्ण ने कहा कि अमीरों को बिदेश से घर वापसी के लिए हवाई जहाज व पनिया जहाज चलाये जा रहें है, वहीं प्रवासी मजदूरों को घर वापसी के राह में भाजपा सरकार तरह तरह के रोड़े अटका रही है। मजदूरों के साथ गुलाम और बंधूआ की तरह ब्यबहार हो रहा है।आम तौर पर उसे अपने भरोसे जीने व मरने को छोड़ दिया गया है। अब पूंजीवाद का अमानिय चरित्र इस महामारी के समय में बेनकाब हुआ है। श्रमिकों के लिए समाजवाद की कितनी जरूरत है,अब एहसास हो रहा है। पूंजीवाद का अगुवा अमेरिका पूरी दुनिया में बेनकाब हुआ है। भारत के गोदी मिडिया जो कारपोरेट घरानों का दलाल है वह अब ट्रंप जैसे पगलाये अमेरिकी राष्ट्रपति की निर्लज्ज भक्ति करने पर उतर आए है। बैठक को किसान महासभा के जिला सचिव प्रेम कुमार झा,खेग्रामस के जिला सचिव बेचन राम, कृपा नंद झा, गणेश यादव, दीपक पासवान, मनीष मिश्रा, बिजली राम, संतोष साह, मधुकांत मंडल, गुड्डू मंडल,लषण पासवान,जीबछ राम, फूल बाबू राम ने भी बैठक में अपनी बातें रखीं।

कोई टिप्पणी नहीं: