जमशेदपुर : महिला विकास मंच का असहाय और गरीब को मदद - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 6 मई 2020

जमशेदपुर : महिला विकास मंच का असहाय और गरीब को मदद

mahila-vikas-jamshedpur
जमशेदपुर (आर्यावर्त संवाददाता) जमशेदपुर। कोरोना वायरस के दौरान लगे कर्फ्यू में जहां एक ओर लोगों को घर से नहीं निकलने दिया जा रहा वहीं, दूसरी ओर गरीब, असहाय और आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को रोटी नसीब नहीं हो रही है। ऐसे ही लोगों के लिए ढाल बन गई हैं  महिला विकास मंच की अध्यक्ष निशात खातून। जिन्होंने दिल खोलकर न सिर्फ हरेक ज़रूरत मंद के घर राशन पहुंचाया बल्कि जरूरत पड़ने पर आर्थिक मदद भी दी।  उन्होंने बिना किसी संकोच के सामाजिक कार्य में अपनी रुचि तो दिखाई ही साथ ही जमशेदपुर के किसी भी परिवार को भूखा नहीं सोने दिया।आगे निशात खातून ने कहा की जब तक कर्फ्यू तब तक राशन उन्होंने ने बताया कि जिस दिन से कर्फ्यू और लॉकडाउन की घोषणा की गई थी उसी दिन से उनकी संस्था ने भोजन तो बाटा ही साथ ही  आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को राशन बांटने का काम भी शुरू कर दिया। उन्होंने कहा कि अभी भी वो और उनकी संस्था रोजाना राशन बांटने के काम में ही लगी हैं। संस्था के अन्य सदस्य भी इस काम में जुटे हैं। आगे निशात खातून ने कहा कि जब तक ऐसी स्थिति रहेगी तब तक उनकी संस्था लोगों को राशन उपलब्द कराती रहेगी।औसतन अब तक 5500 लोगों के लिए उनकी एसोसिएशन द्वारा एक माह का राशन प्रदान किया गया। राशन में चावल, आटा, चना ,चुडा, सोया बिन, आलू, प्याज़, चिनि, चायपत्ती,साबुन, सर्फ़, बिस्किट,दाल और पौव्डर दुध एव महिलाओं को सेनेटरी पैड उपलब्द कराया गया।  इस मुसीबत की घड़ी में जिस तरह से वो ऊर्जावान होकर काम कर रही हैवह सराहनीय है।  अंत मे उन्होंने कहाँ की लोकडौन खत्म होने के बाद भी उनकी संस्था का सामाजिक कार्य उन प्रताड़ित और शोषित महिलाओं के अधिकार और सुरक्षा के लिए खड़े होने की है। जो लोक लाज की वजह से थाना पहुंच कर शिकायत दर्ज करवाने में असमर्थ रहती हैं। यह मंच महिलाओं द्वारा प्रताड़ित पुरूष के लिए भी काम करेगी।

कोई टिप्पणी नहीं: