बिहार : राज्य के बाहर से आने वाले इच्छुक लोगों के संबंध में विस्तृत चर्चा - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 4 मई 2020

बिहार : राज्य के बाहर से आने वाले इच्छुक लोगों के संबंध में विस्तृत चर्चा

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के निर्देश में कोविड-19 के संक्रमण की रोकथाम हेतु सर्वंेक्षण का कार्य किया जा रहा है। अब तक राज्य में लगभग 46 लाख 18 हजार घरों का सर्वेंक्षण कराया जा चुका है,जिसमें कुल 4 करोड़ 68 लाख व्यक्तियों का सर्वेंक्षण किया जा चुका है। इनमें 3275 व्यक्ति चिन्हित किए गए है जिन्हें बुखार,खांसी एवं सांस लेने में तकलीफ है
  • मुख्यमंत्री ने मुख्य सचिव एवं अन्य वरीय अधिकारियों के साथ की उच्चस्तरीय समीक्षा
  • राज्य के बाहर से आने वाले इच्छुक लोगों को किसी प्रकार की समस्या न हो,यह सुनिश्चित किया जाय

nitish-debate-on-out-siders
पटना, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मुख्य सचिव एवं अन्य वरीय अधिकारियों के साथ उच्चस्तरीय समीक्षा बैठक की। बैठक में कोरोना संक्रमण की रोकथाम को लेकर किये जा रहे उपायों एवं राज्य के बाहर से आने वाले इच्छुक लोगों के संबंध में विस्तृत चर्चा हुई। समीक्षा के क्रम में मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया कि लाॅकडाउन में देश के अन्य राज्यों में फंसे जो लोग आज बिहार आये हैं या अभी आने वाले हैं, उन्हें कोई समस्या न हो,इसका पूरा ध्यान रखा जाय। मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी राज्यों के साथ आवश्यक समन्वय बनाया जाय ताकि बिहार आने वाले इच्छुक लोगों को कोई समस्या न हो। उन्होंने कहा कि बिहार आने के इच्छुक लोगों के जो फोन काॅल्स आ रहे हैं, उनकी रिसीविंग को लेकर आपदा प्रबंधन विभाग के कंट्र्ोल रूप में समुचित व्यवस्था हो। उन्होंने कहा कि प्रखंड स्तरीय क्वारंटाइन केन्द्रों पर पहुंचे लोगों के भोजन,आवासन एवं चिकित्सकीय सुविधा की समुचित व्यवस्था का ध्यान रखा जाय और उसका अनुश्रवण भी सुनिश्चित किया जाय। उन्होंने कहा कि क्वारंटाइन अवधि के पश्चात ग्रामीण क्षेत्रों में गाइडलाइन के अनुरूप अतिरिक्त रोजगार सृजन की व्यवस्था भी सुनिश्चित की जाय। उन्होंने कहा कि बाहर से आये श्रमिकों का स्किल सर्वें कराकर उनके स्किल के आधार पर रोजगार उपलब्ध कराने का प्रयास किया जाय ताकि उनकी क्षमता का बेहतर उपयोग हो सके। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना संक्रमण से बचने का सबसे प्रभावी उपाय सोशल डिस्टेंसिंग है। उन्होंने लोगों से अपील की कि लाॅकडाउन का पालन करें,घर में रहें और सुरक्षित रहें। जिला स्तर पर आइसोलेसन सेंटर/हाॅस्पिटल में आइसोलेटेड पैसेंट 290 हैं। राज्य में क्वारंटाइन केन्द्रों की संख्या 305 है। क्वारंटाइन केन्द्रों में कमरों की संख्या 7688 है। क्वारंटाइन केन्द्रों में आवासित व्यक्तियों की संख्या 212 है। जिला स्तर पर आइसोलेसन सेन्टर में आइसोलेटेड सेंटर में 365 मरीजों की संख्या में है।  विगत 24 घंटे में कोरोना के 10 नये मामले आये। विगत 24 घंटे में कोरोना से 09 ठीक हुए है मरीज। अब तक कुल 107 मरीज ठीक हुए हैं। एम्स पटना से 01, एनएमसीएच से 64, जेएलएनएमसीएच से 07,एएनएमसीएच से 02, एसएच-गोपालगंज से 02, एसएच-छपरा से 01, डीएएमसीएच सीवान से 13,एसएच-नवादा 02,एएमएसएस बेगूसराय से 04 और आइसोलेसन सेंटर नालंदा से 11 ठीक हुए हैं। अब तक 25724 जांच किये गये।अब तक कुल 04 की मौत हो गयी है। पाॅजिटिव मामलों की संख्या- 476 है।

कोई टिप्पणी नहीं: