कसाब की पहचान करने वाले गवाह का निधन - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 28 मई 2020

कसाब की पहचान करने वाले गवाह का निधन

qasb-identifier-witness-died
ठाणे, 28 मई, मुंबई में हुये आतंकवादी हमले को अंजाम देने वाले पाकिस्तानी आतंकवादी अजमल कसाब की सुनवाई के दौरान पहचान करने वाले मुख्य गवाह हरिश्चंद्र श्रीवर्धानकर का कल्याण स्थित उनके आवास में निधन हो गया। वह 70 साल के थे। परिवार के सूत्रों ने बुधवार को यह जानकारी दी। मुंबई में 26 नवंबर 2008 की रात कामा अस्पताल के निकट हरिश्चंद्र को दो गोली लगी थी जब दस पाकिस्तानी आतंकवादियों ने इस हमले को अंजाम दिया था। उन्होंने कसाब के साथी अबु इस्माइल को अपने आफिस के बैग से मारा था। परिवार के सूत्रों ने बताया, ‘‘मंगलवार की रात उनका निधन हो गया।’’ हरिश्चंद्र पहले ऐसे गवाह थे जिन्होंने विशेष अदालत के समक्ष कसाब की पहचान की थी और उसके खिलाफ गवाही भी दी थी। कसाब एकमात्र आतंकवादी था जिसे जिंदा पकड़ा गया था और 21 नवंबर 2012 को पुणे की यरवदा जेल में उसे फांसी पर लटकाया गया था। 

कोई टिप्पणी नहीं: