सेटेलाइट के माध्यम से होम क्वॉरेंनटाइन लोगों की निगरानी, घूमते पाए गए लोगों को दी गई चेतावनी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 6 मई 2020

सेटेलाइट के माध्यम से होम क्वॉरेंनटाइन लोगों की निगरानी, घूमते पाए गए लोगों को दी गई चेतावनी

जिला प्रशासन सेटेलाइट के माध्यम से होम क्वॉरेेंटाइन में रह रहे लोगों पर कड़ी निगरानी बरत रही है. वहीं कुछ लोग लापरवाही बरते और घूमते भी नजर आए जिन्हें पदाधिकारियों ने चेतावनी देकर छोड़ दिया है.
quarentine-center-inspaction-by-satelite
जमशेदपुर (आर्यावर्त संवाददाता)  कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम के लिए पूर्वी सिंहभूम जिले में अन्य राज्यों अथवा विदेशों से आए लोगों को होम और इंस्टीट्यूशन क्वॉरेंटाइन किया गया है, लेकिन सूत्रों से मिली सूचना से यह ज्ञात हो रहा है कि होम क्वॉरेंटाइन किए गए लोग नियमों का पालन नहीं कर रहे है, ऐसे में जिला प्रशासन द्वारा होम और इंस्टीट्यूशन क्वॉरेंटाइन किए गए लोगों की 24 घंटे निगरानी के लिए एसजीएल इसरो टेलिमेटिक लिमिटेड के सहयोग से सेटेलाइट के माध्यम से किया जा रहा है. जिला प्रशासन द्वारा सेटेलाइट के माध्यम से होम क्वॉरेंटाइन लोगों की जा रही निगरानी में कई लोग होम क्वॉरेंटाइन के नियमों का उल्लंघन करते पाए गए. जिला प्रशासन के वरीय पदाधिकारी द्वारा पहली गलती होने के कारण चेतावनी देकर छोड़ दिया गया. अगली बार इस प्रकार के नियमों के उल्लंघन करते हुए पाए जाने पर उन्हें क्वॉरेंटाइन सेंटर में रखा जाएगा एवं उनके विरुद्ध सख्त कार्रवाई भी की जाएगी. बता दें कि अबतक लगभग 123 होम क्वॉरेंटाइन कर लोग को सेटेलाइट के माध्यम से नियमों का उल्लंघन करते हुए ट्रैक किया गया, जिन्हें वरीय पदाधिकारियों द्वारा चेतावनी देकर घर में ही रहने का निर्देश दिया गया. गौरतलब है कि एसजीएल इसरो टेलीमेटिक लिमिटेड द्वारा एक सॉफ्टवेयर विशेष कर होम और इंस्टीट्यूशन क्वॉरेंटाइन कर रहे लोगों की निगरानी के दृष्टिकोण से विकसित किया गया है. इस सॉफ्टवेयर के माध्यम से क्वॉरेंटइन किए गए लोगों की जिओ टैगिंग कर जिला नियंत्रण कक्ष में लगे टीवी स्क्रीन पर निगरानी कि जा रही है. इस क्रम में होम क्वॉरेंटाइन किए लोग द्वारा नियमों के उलंघन करते हुए पाया गया जिन्हें पदाधिकारियों द्वारा चेतावनी भी दिया गया. वर्तमान में जिला नियंत्रण कक्ष 24 घंटे कार्यरत है. जो भी शिकायत एवं सूचना प्राप्त होता है उसका त्वरित निष्पादन किया जा रहा है इसके लिए अलग अलग टीम गठित की गई है. जिला नियंत्रण क्क्ष का नंबर- 0657 244011, 9431301355 और वॉट्सएप - नंबर- 8987510050

कोई टिप्पणी नहीं: