बिहार : पिता का कर्तव्य निभाने में सफल डेनिस लौरेंस पीटर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 27 जून 2020

बिहार : पिता का कर्तव्य निभाने में सफल डेनिस लौरेंस पीटर

father-denis-lorens
चुहड़ी। पश्चिमी चम्पारण में है चुहड़ी पल्ली। इस चुहड़ी पल्ली के मूल निवासी हैं श्री डेनिस लौरेंस पीटर। आज वे किसी भी परिचय के मोहताज नहीं हैं। श्री डेनिस लौरेंस पीटर का जन्म 4 मार्च 1934 में चनपटिया प्रखंड के चुहड़ी पंचायत में हुआ है। श्री डेनिस की शिक्षा के०आर० विद्यालय बेतिया में होस्टल में रहकर हुई है। वही कॉलेज की पढ़ाई महारानी जानकी कॉलेज बेतिया से हुई है। सेवानिवृत्त शिक्षक श्री डेनिस लौरेंस पीटर लोयोला बालक विद्यालय चुहड़ी में सन 1960 से 1997 तक लगभग 34 वर्षों तक विज्ञान और गणित विषय के शिक्षक रहे है। बताया जाता है डेनिस लौरेंस पीटर अपने युग के बेहतरीन फुटबॉलर और बैजों वादक थे। श्री डेनिस के चार पुत्र और चार पुत्रियां है। शिक्षक पेशे में रहकर बहुत ही कम वेतन पाते हुए भी श्री डेनिस ने अपने आठों बच्चों को काफी उच्च शिक्षा दे रखी है। श्री डेनिस लौरेंस ने कहा कि कम वेतन और सीमित संसाधन के कारण काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा, लेकिन मैंने बच्चों की शिक्षा में कोई कमी नहीं रखी। मेरे बच्चों ने जितना पढ़ना चाहा मैंने उन्हें पढ़ाया, प्रशिक्षण दिया।  उन्होंने कहा कि सभी बेटे- बेटियां कई कई विषयों से स्नातकोत्तर, बी०एड० और पी०एच०डी० है। इतना ही नहीं आज उनके नक्शे कदम पर चलकर पिता को आदर्श मानते हुए आठों बेटे- बेटियां सरकारी विद्यालय में शिक्षक पद पर कार्यरत है। श्री डेनिस ने कहा मैंने अपने बच्चों को अच्छे संस्कार के साथ-साथ बेहतरीन इंसान बनाने पर ज्यादा बल दिया था। मेंरे साथ मेरी धर्मपत्नी स्वर्गीय कार्नेट डेनिस ने अपने बच्चों को अनुशासन, ईमानदारी और कर्तव्यनिष्ठ बनने की पाठ पढ़ाई। जिसका आज सुखद फल मिल रहा है सभी बच्चे सरकारी नौकरी में होते हुए, समाजसेवा में बढ़ चढ़ कर भाग लेते है।  श्री डेनिस के ज्येष्ठ पुत्र रेजीनॉल्ड अमर सिंह लोयोला बालक विद्यालय में अपनी सेवा दे रहे है, रोनाल्ड कुँअर सिंह और रेमंड प्रताप संत लौरेंस स्कूल चुहड़ी में और छोटा पुत्र उत्तम सिंह गणेश प्रसाद उच्च विद्यालय चनपटिया में कार्यरत है। वही ज्येष्ठा पूनम कुमारी संत आग्नेस विद्यालय चुहड़ी में, दूसरी पुत्री मेरी जैकलीन प्रा० वि० मिश्रौली में, मेरी आडलीन और छोटी पुत्री राजकीय 2 उच्च विद्यालय कुमारबाग में कार्यरत है। श्री डेनिस बहुमुखी प्रतिभा के धनी है। वे न सिर्फ बेहतरीन शिक्षक बल्कि अच्छे खिलाड़ी, कृषक, कविता लेखक और नाटककार भी है। श्री डेनिस लौरेंस ने कहा आज मुझे खुशी और आत्मसंतुष्टि होती है की मेरे सभी बेटे- बेटी न सिर्फ अपने पैरों पर खड़े है बल्कि बढ़चढ़ कर समाजसेवा करते है।

कोई टिप्पणी नहीं: