जमशेदपुर : मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन से चैम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री मिला - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 5 जून 2020

जमशेदपुर : मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन से चैम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री मिला

hemant-soren-meet-chamber-of-commerce-jamshedpur
जमशेदपुर (आर्यावर्त संवाददाता) मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन से आज झारखंड मंत्रालय में सिंहभूम चैम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री के प्रतिनिधिमंडल ने मुलाकात की l उन्होंने मुख्यमंत्री से कोरोना संकट और लॉक डाउन की वजह से अर्थव्यवस्था और इंडस्ट्रीज  पर पड़ रहे असर से मुख्यमंत्री को अवगत कराया और  व्यापारियों के हित में ठोस कदम उठाने का आग्रह किया  l  मुख्यमंत्री ने कहा कि  कोरोना महामारी  से ना सिर्फ व्यापार को नुकसान हुआ है बल्कि सरकार को भी राजस्व का भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है l ऐसे में इन विपरीत परिस्थितियों में अर्थव्यवस्था को कैसे पटरी पर लाया जाए , इसके लिए सरकार ने कार्ययोजना बनानी शुरू कर दी है l मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि लॉक डाउन को धीरे धीरे खोला जाएगा ताकि सामान्य जीवन इसकी वजह से ज्यादा प्रभावित नहीं हो l

इन मांगों पर विचार करने का किया आग्रह 
चैम्बर ने कोरोना पीरियड के बिजली बिल का फिक्स्ड चार्ज और बैंकों  का ब्याज दर माफ करने की दिशा में पहल करने का आग्रह किया  l इसके अलावा उन्होंने कपड़े और जूता  चप्पल समेत अन्य दुकानों को   खोलने की इजाजत तथा सिंहभूम  क्षेत्र में भी डीवीसी द्वारा बिजली  वितरण की व्यवस्था शुरू करने की भी मांग रखी l   इस मौके पर  स्वास्थ्य मंत्री श्री बन्ना गुप्ता, कैट के राष्ट्रीय सचिव श्री  सुरेश संथालिया, सिंहभूम चैम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री के  प्रेसिडेंट श्री अशोक भालोतिया, जेनरल सेक्रेटरी श्री भरत   वसानी,  वाईस प्रेडिडेन्ट श्री विजय आनंद मुनका,  श्री दिनेश चौधरी, श्री मानव केडिया और श्री नितेश धुत, सेक्रेटरी श्री सत्यनारायण अग्रवाल और श्री महेश सोंथालिया मौजूद थे

कोई टिप्पणी नहीं: