बिना पास दूसरे राज्य की बसों को झारखंड में प्रवेश नहीं , परिवहन विभाग ने जारी किए निर्देश - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 8 जून 2020

बिना पास दूसरे राज्य की बसों को झारखंड में प्रवेश नहीं , परिवहन विभाग ने जारी किए निर्देश

झारखंड में फिलहाल बसों के परिचालन पर रोक लगायी गई है. इसके साथ ही राज्य परिवहन विभाग ने अन्य राज्यों से आने वाली बसों को भी बिना पास इंट्री नहीं देने की बात कही है. इस सिलसिले में जिला परिवहन अधिकारी ने बिना अनुमति आए बाहरी राज्य के बसों का चालान काटा.
inter-state-bus-entry-ban-jharkhand
रांची (आर्यावर्त संवाददाता) झारखंड में फिलहाल बसों के परिचालन की मंजूरी नहीं दी गई है. जिसको लेकर अंतरजिला और अंतरराज्यीय बस सेवा पर पूरी तरह से रोक लगाई गई है. ऐसे में दूसरे राज्यों से आने वाले बसों का झारखंड में आना बंद रहेगा. साथ ही अगर कोई बस बिना पास या अनुमति के बगैर झारखंड में प्रवेश करती है तो वैसे वाहनों को तुरंत ही जब्त कर लिया जाएगा.  झारखंड के परिवहन सचिव के रवि कुमार ने कोरोना के बढ़ रहे संकट को देखते हुए एहतियात के तौर पर पड़ोसी राज्य बिहार, ओडिशा, छत्तीसगढ़, उत्तर प्रदेश और बंगाल से झारखंड आने वाली बसों के प्रवेश पर रोक लगाने के लिए इन सभी राज्यों के परिवहन विभाग को पत्र लिखा है. इसमें उन्होंने आग्रह किया है कि कोरोना संकट में बिना पास के किसी भी बस को झारखंड आने की अनुमति ना दें. वहीं,बुधवार को भी बिना अनुमति के बाहर के राज्यों से आए बसों को चिन्हित कर जिला परिवहन अधिकारी ने कार्रवाई की और इस दौरान सभी बसों का खादगढ़ा बस स्टैंड में चालान भी काटा गया है. आपको बता दें कि झारखंड के पड़ोसी राज्यों ने बसों की टिकट बुकिंग शुरू कर दी थी, लेकिन झारखंड परिवहन विभाग की तरफ से दूसरे राज्यों से आने वाले सभी बसों पर अगले आदेश तक रोक लगायी गई है.

कोई टिप्पणी नहीं: