मधुबनी : एक दिया शहीदों के नाम - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 27 जून 2020

मधुबनी : एक दिया शहीदों के नाम

madhubani-congress-tribute-myrtr
मधुबनी आज दिनांक 27 जुन  को जिला कॉन्ग्रेस कमेटी मधुबनी के द्वारा भारत के 20 जवान सैनिको की लद्दाख के गलवान घाटी में शहादत पर जिला अध्यक्ष शीतला मर झा के नेतृत्व में एक दिया शहीदों के नाम कार्यक्रम आयोजित किया गया भारत चीन बॉर्डर के पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पार देश के लिए लड़ते हुए जवान सैनिको की बराबर हत्या भारत की आत्मा को झकझोर दिया है इस अवसर पर बिहार सरकार के पूर्व मंत्री बिहार कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कृपानाथ पाठक ने कहां की सेना को निहत्थे किसने गलवान घाटी में भेजा जिसके कारण उन्हें कुर्बानी देनी पड़ी सैटेलाइट तस्वीर से हवाले शेष सभी मीडिया चैयनलो ने दिखाया की चीन पुनः गलवान घाटी में छाकर अपना हेलीपैड बना लिया है दुर्भाग्यपूर्ण है कि हमारे प्रधानमंत्री सर्वदलीय बैठक में प्रधानमंत्री का वक्तव्य की चैइना 1 इंच भारतीय सीमा में नहीं घुसा है जबकि रक्षा मंत्री ने अपने बयान में कहा कि चीनी सेना अच्छी खासी संख्या में सीमा के अंदर दाखिल हो गया है इस विरोधाभास बयान के कारण चीन के राष्ट्रपति मोदी जी को प्रशंसा कर रहे हैं जिसके कारण विश्व के अधिकांश देशों में भारत के प्रधानमंत्री का उपहास हो रहा है जिससे भारत की गरिमा को ठेस पहुंची है यह कार्यक्रम राष्ट्रीय नेतृत्व के आलोक में प्रदेश कांग्रेस के निर्देशानुसार जिला कांग्रेस कमेटी शहीदों के सम्मान में एक दिया शहीदों के नाम अर्पित किया उपस्थित लोगों में संजय कुमार मिश्र बरिय अधिवक्ता मनोज मिश्र मोहम्मद साबिर प्रफुल्ल चंद्र झा दशरथ मिस अनिल चंद्र झा अशोक कुमार धनेश्वर ठाकुर अकील अंजुम विनय कुमार झा अभय मिश्रा विजय कुमार झा भोला आलोक कुमार सोनू सिंह मोहम्मद साबिर शोएब अख्तर मोहम्मद मंसूर आलम हैदर अली एवं दर्जनों कांग्रेसी कार्यकर्ता ने भाग लिया

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...