सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 02 जून - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 2 जून 2020

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 02 जून

सफाई कर्मचारी गेंग रखे जाने को लेकर सेवादल कांग्रेस जिलाध्यक्ष खंगराले ने नपाध्यक्ष अरोरा को सौपा ज्ञापन 

jhabua news
सीहोर। बारिश के मौसम को ध्यान में रखते हुए शहर की कचरे मिटटी से भरी नालियों की खुदाई और सफाई को लेकर सेवादल कांग्रेस के जिलाध्यक्ष नरेंद्र खंगराले ने नगर पालिका अध्यक्ष श्रीमति अमिता जसपाल सिंह अरोरा को ज्ञापन सौपाते हुए नगर पालिका परिषद सीहोर द्वारा हटाए गए सफाई कर्मचारी गेंग को पुन: रखे जाने की मांंग की गई।  इस अवसर पर श्री खंगराले ने नगर पालिका अध्यक्ष को अवगत कराया की बरसात के मौसम शहर तथा बाजार एवं तंग बस्तियों में नालियां कचरे मिटटी से भरी पड़ी है। जिसे सफाई कर्मचारी गेंग के द्वारा लगन व मेहनत से सफाई की जाती है। जिस की प्रशंसा शहर के लोगों के द्वारा भी की जाती है वर्तमान स्थिति में 30 सफाई कर्मचारियों की गेंग बंद है। समय रहते अगर इन कर्मचारियों को कार्य पर नहीं लिया गया तो बरसात का पानी घरों में एवं दुकानों मेंं घुसेगा। ऐसी स्थिति में सफाई कर्मचारियों की गेंग को रखा जाना अति आवश्यक है। नगर पालिका अध्यक्ष अमिता अरोरा द्वारा ज्ञापन को गंभीरता पूर्वक लेते हुए मुख्य नगर पालिका अधिकारी संदीप श्रीवास्तव एवं स्वास्थ्य अधिकारी दीपक देवगढ़े को बंद पड़ी सफाई कर्मचारी को पुन: रखे जाने के निर्देश दिए। इस अवसर पर प्रमुख रूप से क्षेत्रीय कांग्रेस की पार्षद आरती खंगराले, सेवादल महिला कांग्रेस की जिलाध्यक्ष आशा गुप्ता, दर्शन सिंह वर्मा, डॉ अनीस खान,सेवादल यूवक कांग्रेस अध्यक्ष इंजी, जितेंद्र सिंह,मांगीलाल टिमरई, अध्यक्ष सेवादल ब्लाक कांग्रेस सीहेार, पन्नालाल खंगराले, शोभाराम अहिरवार, श्यामलाल महोबिया, रामदुलारे सोनकर, मोहन ठेकेदार,धमेंद्र धीमान, राहुल जाटव, द्वारका दरोठिया, विजय सिलावट, मोहन जाटव आदि उपस्थित थे।  

शेष बची कक्षा 12 वीं की परीक्षा को लेकर कलेक्टर ने ली बैठक, दिए आवश्यक निर्देश

jhabua news
मंगलवार को कलेक्टर श्री अजय गुप्ता द्वारा शेष बची कक्षा 12 वीं परीक्षा को लेकर अधिकारियों की बैठक ली गई। उन्होंने 12 बोर्ड परीक्षा के आयोजन के संबंध में महत्वपूर्ण निर्देश दिए। कलेक्टर श्री गुप्ता द्वारा निर्देशित किया गया कि सभी परीक्षार्थियों को परीक्षा केन्द्र पर निर्धारित समय से 1 घण्टे पूर्व पहुंचना अनिवार्य होगा। परीक्षार्थियों को परीक्षा केन्द्र पर बिना प्रवेश पत्र, मास्क, रुमाल, तोलिया, गमछा आदि के प्रवेश की अनुमति नहीं होगी। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों, कर्मचारियों द्वारा परीक्षा केन्द्र पर सभी अधिकारियों थर्मल स्केनिंग की जाएगी। सभी केन्द्रों पर सेनेटाईजर एवं हेंडवास के लिए सुरक्षित रूप से साबून आदि की व्यवस्था केन्द्राध्क्ष द्वारा की जाए। उन्होंने निर्देशित किया कि शिक्षा एवं आदिम जाति कल्याण विभाग के जिन छात्रावासों में परीक्षार्थियों को रुकवाया जाएगा उन्हें अनिवार्यत: पूर्ण रूप से सेनेटाईज करवा लिया जाए। सभी केन्द्राध्यक्ष सुनिश्चित करेंगे कि परीक्षा कक्षों में पर्याप्त रोशनी, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए बैठक व्यवस्था एवं विद्युत व्यवस्था उपलब्ध हो। परीक्षा केन्द्रों पर आकस्मिक उपयोग के लिए मास्क (कम से कम  200 नग) की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए। परीक्षा व्यवस्था में लगे हुए शिक्षकों एवं कर्मचारियों के लिए मास्क एवं हेण्ड ग्लब्ज का उपयोग करना अनिवार्य होगा। जो परीक्षार्थी परीक्षा केन्द्र से अधिक दूरी पर निवासरत है उन्हें परीक्षा केन्द्रों पर समय पर पहुंचने के लिए पूर्व से आवागमन का साधन निर्धरित करने एवं सुरक्षित रूप से परीक्षा में शामिल होने के लिए निर्देशित किया गया। बैठक के दौरान मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री अरुण कुमार विश्वकर्मा, जिला शिक्षा अधिकारी श्री एसपी सिंह बिसेन, समस्त अनुविभागीय अधिकारी, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत एवं शिक्षा विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।

प्रदेश के सिनेमा घर आगामी आदेश तक बंद रहेंगे

राज्य शासन ने प्रदेश में संचालित सभी सिनेमा घरों को आगामी आदेश तक बंद रखने का निर्णय लिया है। वाणिज्यिक कर विभाग ने इस संबंध में आदेश जारी किया है।  इसमे कहा गया है भारत सरकार के गृह मंत्रालय के आदेश 30 मई 2020 के अनुक्रम में सिनेमा घर बंद रखने का निर्णय लिया गया है। उल्लेखनीय है कि कोरोना के संक्रमण के दृष्टिगत सभी सिनेमा घरों को इसके पहले 31 मई तक बंद रखने के आदेश जारी किए गए थे।  

धारा 144 अन्तर्गत जिले में लॉकडाउन संबंधी आदेश कलेक्टर ने किए निरस्त

गृह मंत्रालय भारत शासन एवं मध्यप्रदेश शासन द्वारा जारी गाईड लाईन द्वारा कोरोना संक्रमण के विस्तार को रोकने के लिए जिले में समय-समय पर दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 के अन्तर्गत जिले की संपूर्ण राजस्व सीमा में लॉकडाउन संबंधी आदेश जारी किए गए थे। यह समस्त आदेश कलेक्टर श्री अजय गुप्ता द्वारा निरस्त कर दिए गए है। आदेश यह तत्काल प्रभाव से लागू होकर आगामी आदेश तक प्रभावशील रहेगा।गृह मंत्रालय भारत सरकार एवं मध्यप्रदेश शासन द्वारा 31 मई 2020 को जारी गाईड लाईन के अनुसार कोरोना वायरस संक्रमण के रोकथाम एवं बचाव के लिए जारी दिशा निर्देश प्रभावशील रहेंगे।

कलेक्टर ने मलेरिया जन-जागरूकता रथ को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया

sehore news
मलेरिया निरोधक माह 1 जून से 30 जून के अवसर पर कलेक्टर श्री अजय गुप्ता द्वारा आज कलेक्टर कार्यालय से मलेरिया जनजागरूकता रथ को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया गया। इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ सुधीर कुमार डेहरिया, जिला मलेरिया अधिकारी श्रीमती क्षमा बर्वे, जिला टीकाकरण अधिकरी डॉ एम.चंदेल,सहायक मलेरिया अधिकारी सिलोमित वसूनिया, मीडिया अधिकारी सुश्री उषा अवस्थी सहित स्वास्थ्य विभाग के अन्य कर्मचारी उपस्थित थे। जिला मलेरिया अधिकारी श्रीमती बर्वे ने जानकारी दी कि जनजागरूकता रथ द्वारा जिले के करीब जिले के 102 गांवों का भ्रमण कर मलेरिया से बचाव एवं जागरूकता से संबंधित संदेषों का प्रसारण किया जाएगा। जागरूकता रथ श्यामपुर ब्लाक के 47 गांवों, इछावर 16, आष्टा के 17गांव, नसरूल्लागंज के 12 तथा बुदनी विकासखण्ड के 10 गांवों का भ्रमण करेगा। जिले के जो क्षेत्र संवेदनशील अथवा अति संवेदनषील चिन्हित किए गए है वहां पर रथ के भ्रमण के साथ ही विषेष जागरूकता अभियान संचालित कर जागरूकता सामग्री का वितरण किया जाएगा।

आष्टा निवासी कोरोना पॉजीटिव व्यक्ति की इंदौर में हुई मृत्यु, अभी तक कुल 943 सेंपल जांच के लिए भेजे गए

sehore news
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ सुधीर डेहरिया ने जानकारी दी कि इंदौर में भर्ती आष्टा निवासी कोरोना पॉजीटिव व्यक्ति की गत दिवस शाम को मृत्यु हो गई है। उसका डायलिसिस के चलते इंदौर में उपचार चल रहा था। संक्रमित व्यक्ति की मौत इंदौर में हुई है। जिले में कोरोना संक्रमण से मृत्यु की संख्या दो हो गई है। पूर्व में एक महिला की भोपाल में उपचार के दौरान मृत्यु हो चुकी है। जिले में वर्तमान में कुल पॉजीटिव मरीजों की संख्या 5 है जिसमें 2 युवकों और 3 महिलाएं शामिल हैं। जिनका उपचार कोविड केयर सेंटर में किया जा रहा है। जिले में अन्य देशों से सीहोर पहुंचे कुल व्यक्तियों की संख्या 232 है जिनमें से 184 लोगों की अब तक स्क्रीनिंग स्वास्थ्य विभाग द्वारा की जा चुकी है। पिछले 24 घंटों के दौरान 69 ऐसे व्यक्तियों की पहचान की गई जो अन्य राज्यों और अन्य जिलों से लौटे थे इन सभी व्यक्तियों की तत्काल स्क्रीनिंग कर इन्हें  होम कोरेंटाईन कर दिया गया है जिले में अब तक होम कोरेंटाईन किए गए व्यक्तियों की संख्या 43478 है। डॉ. डेहरिया ने बताया कि पिछले 24 घंटों के दौरान ऐसे व्यक्ति जो विदेश से सीहोर जिले में नहीं लौटे थे परंतु अन्य जिलों एवं राज्यों से लौटे थे और विभागीय अधिकारियों कर्मचारियों द्वारा घर-घर सर्वे के दौरान चिन्हित किए गए। पिछले 24 घंटों में होमकोंरेटाईन की अवधि से 768 लोग बाहर आ चुके हैं जबकि अब तक कुल 40456 व्यक्तियों का होम कोरेंटाइन पूर्ण किया जा चुका है। जिले से अब तक कुल 943 सेम्पल जांच के लिए भेजे गए थे जिनमें से 810 सेंपलों की रिपोर्ट अब तक निगेटिव प्राप्त हुई है। मंगलवार को 95 सेंपल जांच के लिए भेजे गए। कुल 114 सेंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। अभी तक हास्पिटल आईसोलेशन में भर्ती मरीजों की कुल संख्या 14 है। कोरोना संक्रमण पाजीटिव मरीजों की संख्या 11 है। कोरोना संक्रमण के कारण मृत्यु संख्या 2 है। कुल कंटेंमेंट एरिया 3 हैं। पैथालॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 8 है। वहीं विदेश से आए यात्री जो गृह जिला या निवासरत जिला में वापस नहीं आए उनकी संख्या 48 है। कोरोना संक्रमित उपरांत ठीक हुए मरीजों की संख्या 4 है। आज कुल 95 सेंपल जांच के लिए भोपाल भेजे गए जिसमें से आष्टा के 94 व सीहोर के 1 सेंपल शामिल हैं। जिले में 4 व्यक्ति स्वस्थ होकर कोविड केयर सेंटर से अपने घर लौट चुके हैं उनका स्वास्थ्य फालोअप स्वास्थ्य सर्वे दल द्वारा निरंतर लिया जा रहा हैं। इन्हें 14 दिन के लिए होम क्वांरेंटाईन में रखा गया है। जिले में कुल कंटेंमेंट एरिया 3 हैं जिसमें दो आष्टा में 1 बिलकिसगंज में शामिल है। आष्टा में कंटेंमेंट तथा बफर एरिया में सर्वे के लिए 10 दल लगाए गए हैं। आज आष्टा के कंटेंमेंट एरिया में वार्ड नंबर 16 में सर्वे दलों द्वारा 30 लोगों का स्वास्थ्य फालोअप लिया गया जिसमें बफर जोन के 18 व्यक्ति तथा कंटेंमेंट के 12 व्यक्ति शामिल हैं। वहीं अलीपुर स्थित कंटेंमेंट एरिया वार्ड नंबर 1 में 19 लोगों का स्वास्थ्य फालोअप लिया गया। जिसमें कंटेंमेंट एरिया के 11 तथा बफर जोन के 8 व्यक्ति शामिल हैं। दोनों कंटेंमेंट एरिया में कुल 49 व्यक्तियों का फालोअप लेकर स्वास्थ्य संबंध में जानकारी प्राप्त की गई। बिल्किसगंज अंतर्गत फ्रीगंज कंटेनमेंट एरिया के वार्ड क्रमांक 16 एवं 17 में  3 स्वास्थ्य सर्वे दलों द्वारा 181 घरों का सर्वे कर 1045 व्यक्तियों से स्वास्थ्य संबंधी जानकारी ली गई सभी स्वस्थ है। वहीं इंदिरा नगर कंटेनमेंट एरिया वार्ड नंबर 2 के 175 घरों का सर्वे कर 556 व्यक्तियों से स्वास्थ्य संबंधी फालोअप लिया गया। जिले में जो व्यक्ति होम क्वारंटाइन में है उनके निवास स्थान से सीधे संवाद हेतु जिला स्तरीय कोविड-19 काल सेंटर स्थापित किया गया है जिसका संपर्क नंबर-7247704181 है कोविड-19 से संबंधित जानकारी इस संपर्क नंबर पर ली व दी जा सकती है। वहीं जिला चिकित्सालय सीहोर में टेलीमेडिसीन के लिए संपर्क नंबर 07562-401259 जारी किया गया है तथा राज्य स्तर पर 104/181 नंबर पर काल करके भी टेलीमेडिसीन सेवा का लाभ लिया जा सकता है। 104  नंबर पर ई-परामर्श सेवा का भी लाभ लिया जा सकता है। ई-संजीवनी ओपीडी सेवा हेतु www.esanjeevaniopd.in पंजीयन कराया जा सकता है। कलेक्ट्रेट कार्यालय में भी जिला स्तरीय काल सेंटर बनाया गया है जिसका संपर्क नंबर 07562-226470 है तथा होम क्वारंटाइन व्यक्तियों तथा उनके परिजनों के लिए हेल्पलाइन नंबर 18002330175 जारी किया गया है। जिस पर संस्थागत क्वारंटाइन अथवा होम क्वारंटाइन व्यक्ति अथवा उनके परिजन इमोशनल वेलनेस अथवा साईकोलाजिकल सपोर्ट एवं अन्य जरूरी परामर्श मानसिक सेवा प्रदाताओं से निःशुल्क प्राप्त कर सकते है। 

प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री चौहान ने लॉक-डाउन के दौरान घरेलू बिजली के बिलों की राशि को आधा कर आम जनता को आर्थिक संबल प्रदान किया
"अच्छी खबर"
sehore news
प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा इस आपातकाल स्थिति और लॉकडाउन के दौरान घरेलू बिजली के बिलों की राशि को आधा कर प्रदेश की जनता को आर्थिक संबल प्रदान किया है। आमजन में इस राहत भरी खबर से हर्ष की लहर है और सभी शासन की इस पहल का स्वागत कर रहे है।  इस वैश्विक आपदा के दौरान जहां शासन विभिन्न योजनाओं के माध्यम से सभी माध्यम वर्ग को लाभ पहुंचा रहा है वहीं घरेलू बिजली के बिल की राशि को आधा कर शासन ने इस वर्ग को एक बड़ी राहत दी है। ग्राहिणी, युवा, प्राइवेट क्षेत्र में कार्यरत सभी वर्ग को इस योजना से सहारा मिला है। लॉकडाउन के दौरान कार्य क्षेत्र पर नहीं जा पाने से आर्थिक स्थिति ठीक नहीं थी। इस मुश्किल आर्थिक संकट की घड़ी में इस पहल से सभी आर्थिक संबल मिला है। बिजली के बिलों की राशि आधी की गई है, इससे घरेलू उपभोक्ताओं को जो राहत प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री चौहान ने दी है इससे प्रदेश के उन तमाम उपभोक्ताओं को लाभ मिलेगा जो लॉकडाउन के दौरान इस विषम परिस्थिति में कहीं ना कहीं अपनी आर्थिक परेशानियों से जूझ रहे थे। जिले के ग्राम निपानिया कलां निवासी देवकरण वर्मा ने बताया कि मुख्यमंत्री द्वारा बिजली उपभोक्ताओं के बिल में दी जा रही छूट का हम तहे-दिल से स्वागत करते हैं इससे गरीब सहित अन्य उपभोक्तओं को भी लाभ मिलेगा। इसी प्रकार सिकंदरगंज निवासी रामस्वरूप का कहना है कि मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के हम आभारी है उन्होंने गरीब परिवारों के बिजली बिल आधे करके हम पर उपकार किया एवं हमारी पीड़ा को समझा है। आराकस मोहल्ला सीहोर निवासी हेमंत सिंह बताते हैं कि प्रदेश सरकार द्वारा लिया गया निर्णय अच्छा है इससे सभी गरीब उपभोक्ताओं को फायदा होगा। मुख्यमंत्री के इस निर्णय के हम आभारी रहेंगे।

किसानों और मजदूरों को दी गई राशि से मिलेगा अर्थव्यवस्था को बल संकट के दौर में सभी वर्गों को राहत के लिये संकल्पबद्ध है सरकार-मुख्यमंत्री श्री चौहान

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि संकट के इस दौर में किसानों और मजदूरों को विभिन्न कार्यों और योजनाओं का लाभ दिये जाने से प्रदेश की अर्थव्यवस्था को  काफी बल मिलेगा। मध्यप्रदेश सरकार सभी वर्गों को राहत देने के लिये संकल्पबद्ध है। मुख्यमंत्री श्री चौहान का मानना है कि किसानों को गेहूँ उपार्जन के किये गये भुगतान के अलावा फसल बीमा योजना की राशि के भुगतान, श्रमिकों को बड़ी संख्या में मनरेगा के कार्यों से जोड़ने, पंच परमेश्वर योजना के क्रियान्वयन और नगरों में 830 करोड़ रूपये के आवंटन के फलस्वरूप अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने में मदद मिलेगी। प्रदेश में इस वर्ष किसानों ने कोरोना के संकट के बाद भी अपनी मेहनत से उगाए गेहूँ की उपार्जन व्यवस्था का लाभ लिया। राज्य सरकार द्वारा की गई बेहतरीन व्यवस्थाओं से उपार्जन कार्य में बहुत अच्छी सफलता मिली है। गेहूँ का जो स्टॉक हुआ है, उसे भारतीय खाद्य निगम की नियमित क्षमता के हिसाब से अन्य राज्यों तक पहुंचाने में डेढ़-दो साल का समय लगेगा। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने वीडियो कान्फ्रेंसिंग द्वारा प्रमुख सचिव खाद्य श्री शिवशेखर शुक्ला से उपार्जन संबंधी अद्यतन जानकारी प्राप्त की। श्री शुक्ला ने बताया कि आज तक प्रदेश में 124 लाख मीट्रिक टन गेहूँ का उपार्जन 15 लाख 54 हजार किसानों सेकिया गया है। प्रदेश में 13 लाख 05 हजार किसानों को इसके लिये 17 हजार 457 करोड़ रूपये की राशि का भुगतान किया जा चुका है। इन किसानों में साढ़े 9 लाख छोटे और मध्यम श्रेणी के किसान शामिल हैं। इस वर्ष राज्य में अनुमानित 23 हजार करोड़ रूपये का भुगतान किया जाना है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिए कि किसानों को उपार्जित गेहूँ की राशि का भुगतान करने का कार्य भी पूरी तरह शीघ्र सम्पन्न किया जाए। वीडियो कान्फ्रेंसिंग में बताया गया कि प्रदेश में 110 लाख 40 हजार मीट्रिक टन गेहूँ का परिवहन किया जा चुका है।  यह उपार्जित गेहूँ का 90 प्रतिशत है। भारतीय खाद्य निगम के लिये भी यह एक चुनौतीपूर्ण कार्य होगा। प्रदेश में हुये बम्पर गेहूँ उत्पादन को अन्य जरूरतमंद राज्यों तक पहुंचाने के लिये पूरी व्यवस्था जमानी होगी। प्रमुख सचिव श्री शुक्ला ने जानकारी दी कि प्रदेश में गेहूँ के भंडारण की तुलना रेलवे रेक से करें तो 5 हजार रेक के बराबर गेहूँ का भंडारण हुआ है। यह कुल 6 लाख 25 हजार ट्रक क्षमता के बराबर है।  

कोई टिप्पणी नहीं: