सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 03 जून - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 3 जून 2020

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 03 जून

हायर सेकेंड्री की शेष बची परीक्षाओं के संबंध में समीक्षा बैठक आज   

माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा आयोजित कक्षा 12 वीं शेष बची परीक्षाओं के संबंध में कलेक्टर श्री अजय गुप्ता द्वारा 2 मई को अधिकारियों की बैठक आयोजित कर निर्देश दिए गए थे। दिए गए निर्देशों के क्रियान्वयन के लिए 4 जून को कलेक्टर श्री अजय गुप्ता द्वारा जिला पंचायत सभाकक्ष में दोपहर 12 बजे समीक्षा बैठक आयोजित की जाएगी। संबंधित अधिकारियों को बैठक में उपस्थित होने के लिए निर्देशित किया गया है।  

स्नातक अंतिम वर्ष एवं स्नातकोत्तर चतुर्थ सेमेस्टर की परीक्षाएं 29 जून से 31 जुलाई के मध्य होंगी

प्रदेश के सभी शासकीय और निजी विश्वविद्यालयों की स्नातक अंतिम वर्ष तथा स्नातकोत्तर चतुर्थ सेमेस्टर की कक्षाओं की परीक्षाएं ऑफ लाइन आयोजित होंगी। 29 जून से 31 जुलाई के मध्य पेन पेपर मोड पर परीक्षा केंद्रों पर जाकर विद्यार्थियों को परीक्षा देना होगा। उच्च शिक्षा विभाग द्वारा सभी शासकीय और निजी विश्वविद्यालयों के कुलसचिव तथा सभी शासकीय, अशासकीय स्वशासी, अनुदान प्राप्त महाविद्यालयों के प्राचार्यों को परीक्षाओं एवं अकादमी कैलेंडर के संबंध में कार्रवाई सुनिश्चित करने के निर्देश जारी किए हैं। विश्वविद्यालय परीक्षाओं के संचालन में परीक्षा केंद्रों पर सोशल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से पालन किया जाना अनिवार्य होगा। स्नातक प्रथम, द्वितीय वर्ष तथा स्नातकोत्तर द्वितीय सेमेस्टर और अन्य पाठ्यक्रमों की नियमित परीक्षाएं स्थानीय स्तर पर परिस्थितियां सामान्य होने पर आयोजित की जा सकेगी। स्नातक कक्षाओं के प्रथम एवं द्वितीय वर्ष सेमेस्टर एवं स्नातकोत्तर कक्षाओं के द्वितीय सेमेस्टर के छात्र-छात्राओं को अगली कक्षा में प्रवेश देकर एक सितंबर 2020 से नया सत्र प्रारंभ किया जाएगा। इस वर्ष के लिए स्नातक कक्षाओं और पाठ्यक्रमों के प्रथम वर्ष तथा स्नातकोत्तर प्रथम सेमेस्टर में प्रवेश लेने वाले विद्यार्थियों का नया सत्र 1 अक्टूबर से शुरू होगा।  

अभी तक कुल 944 सेंपल जांच के लिए भेजे गए

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ सुधीर डेहरिया ने जानकारी दी कि जिले में अन्य देशों से सीहोर पहुंचे कुल व्यक्तियों की संख्या 232 है जिनमें से 184 लोगों की अब तक स्क्रीनिंग स्वास्थ्य विभाग द्वारा की जा चुकी है। पिछले 24 घंटों के दौरान 13 ऐसे व्यक्तियों की पहचान की गई जो अन्य राज्यों और अन्य जिलों से लौटे थे इन सभी व्यक्तियों की तत्काल स्क्रीनिंग कर इन्हें  होम कोरेंटाईन कर दिया गया है जिले में अब तक होम कोरेंटाईन किए गए व्यक्तियों की संख्या 43491 है। डॉ. डेहरिया ने बताया कि पिछले 24 घंटों के दौरान ऐसे व्यक्ति जो विदेश से सीहोर जिले में नहीं लौटे थे परंतु अन्य जिलों एवं राज्यों से लौटे थे और विभागीय अधिकारियों कर्मचारियों द्वारा घर-घर सर्वे के दौरान चिन्हित किए गए। पिछले 24 घंटों में होमकोंरेटाईन की अवधि से 385 लोग बाहर आ चुके हैं जबकि अब तक कुल 40841 व्यक्तियों का होम कोरेंटाइन पूर्ण किया जा चुका है। जिले से अब तक कुल 944 सेम्पल जांच के लिए भेजे गए थे जिनमें से 829 सेंपलों की रिपोर्ट अब तक निगेटिव प्राप्त हुई है। बुधवार को 1 सेंपल जांच के लिए भेजा गया। आज 19 संपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। कुल 96 सेंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। अभी तक हास्पिटल आईसोलेशन में भर्ती मरीजों की कुल संख्या 14 है। कोरोना संक्रमण पाजीटिव मरीजों की संख्या 11 है। कोरोना संक्रमण के कारण मृत्यु संख्या 2 है। कुल कंटेंमेंट एरिया 3 हैं। पैथालॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 8 है। वहीं विदेश से आए यात्री जो गृह जिला या निवासरत जिला में वापस नहीं आए उनकी संख्या 48 है। कोरोना संक्रमित उपरांत ठीक हुए मरीजों की संख्या 4 है। जिले में वर्तमान कुल कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 5 है जिसमें 2 युवक और 3 महिलाएं शामिल हैं। जिनका उपचार कोविड केयर सेंटर में चल रहा है। जिले में कुल कंटेंमेंट एरिया 3 हैं जिसमें दो आष्टा में 1 बिलकिसगंज शामिल है। आष्टा में कंटेंमेंट तथा बफर एरिया में सर्वे के लिए 10 दल लगाए गए हैं। आज आष्टा के कंटेंमेंट एरिया में वार्ड नंबर 16 में सर्वे दलों द्वारा 30 लोगों का स्वास्थ्य फालोअप लिया गया जिसमें बफर जोन के 18 व्यक्ति तथा कंटेंमेंट के 12 व्यक्ति शामिल हैं। अलीपुर स्थित कंटेंमेंट एरिया वार्ड नंबर 1 में 19 लोगों का स्वास्थ्य फालोअप लिया गया। जिसमें कंटेंमेंट एरिया के 11 तथा बफर जोन के 8 व्यक्ति शामिल हैं। दोनों कंटेंमेंट एरिया में कुल 49 व्यक्तियों का फालोअप लेकर स्वास्थ्य संबंध में जानकारी प्राप्त की गई। बिल्किसगंज अंतर्गत फ्रीगंज कंटेनमेंट एरिया के वार्ड क्रमांक 16 एवं 17 में  3 स्वास्थ्य सर्वे दलों द्वारा 181 घरों का सर्वे कर 1045 व्यक्तियों से स्वास्थ्य संबंधी जानकारी ली गई सभी स्वस्थ है। वहीं इंदिरा नगर कंटेनमेंट एरिया वार्ड नंबर 2 के 175 घरों का सर्वे कर 556 व्यक्तियों से स्वास्थ्य संबंधी फालोअप लिया गया। जिले में जो व्यक्ति होम क्वारंटाइन में है उनके निवास स्थान से सीधे संवाद हेतु जिला स्तरीय कोविड-19 काल सेंटर स्थापित किया गया है जिसका संपर्क नंबर-7247704181 है कोविड-19 से संबंधित जानकारी इस संपर्क नंबर पर ली व दी जा सकती है। वहीं जिला चिकित्सालय सीहोर में टेलीमेडिसीन के लिए संपर्क नंबर 07562-401259 जारी किया गया है तथा राज्य स्तर पर 104/181 नंबर पर काल करके भी टेलीमेडिसीन सेवा का लाभ लिया जा सकता है। 104  नंबर पर ई-परामर्श सेवा का भी लाभ लिया जा सकता है। ई-संजीवनी ओपीडी सेवा हेतु www.esanjeevaniopd.in पंजीयन कराया जा सकता है। कलेक्ट्रेट कार्यालय में भी जिला स्तरीय काल सेंटर बनाया गया है जिसका संपर्क नंबर 07562-226470 है तथा होम क्वारंटाइन व्यक्तियों तथा उनके परिजनों के लिए हेल्पलाइन नंबर 18002330175 जारी किया गया है। जिस पर संस्थागत क्वारंटाइन अथवा होम क्वारंटाइन व्यक्ति अथवा उनके परिजन इमोशनल वेलनेस अथवा साईकोलाजिकल सपोर्ट एवं अन्य जरूरी परामर्श मानसिक सेवा प्रदाताओं से निःशुल्क प्राप्त कर सकते है। 

प्रदेश में संचालित हो जागरूकता अभियान, कोरोना नियंत्रण की जंग को हर हालत में जीतना है-मुख्यमंत्री श्री चौहान

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कोरोना नियंत्रण के प्रयासों में निरंतर मिल रही कामयाबी के बाद भी पूरे प्रदेश में रोग नियंत्रण के लिये पूरी सावधानी रखने की आवश्यकता है। कोरोना से जंग को हर हालत में जीतना है। इस संबंध में जागरूकता अभियान का संचालन पूरे प्रदेश में किया जाये। इसमें एनसीसी, एनएसएस, जन अभियान परिषद और कम्युनिटी लीडर्स को शामिल किया जाये। एक ऐसी फौज तैयार हो जो लोगों को कोरोना वायरस से बचाव के सभी उपायों की सरल तरीके से जानकारी देते हुये जागरूक करें। जून के महीने में निरंतर जागरूकता के लिये भी सब्जी विक्रेताओं से लेकर अन्य सभी दुकानदारों को शिक्षित और जागरूक बनाने की आवश्यकता है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में किसी भी स्थान पर लापरवाही बरतने वाले दुकानदारों की दुकान सील की जाये। इस संबंध में दुकानदार स्वयं सजग रहकर दुकान एवं बाजार क्षेत्र को सेनेटाइज करने में भी सहयोग दें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आज मंत्रालय में प्रदेश में कोरोना नियंत्रण के प्रयासों की समीक्षा करते हुये कहा कि कोरोना ई-परामर्श सेवा को और अधिक लोकप्रिय बनाया जाये। आयुर्वेदिक काढ़े की उपलब्धता सुनिश्चित करवाई जाये। इसे बड़ी संख्या में नागरिकों तक निरूशुल्क वितरित किया गया है। शरीर को रोगों से लड़ने और वायरस से बचाव के लिये सक्षम बनाने में त्रिकटु चूर्ण और काढ़े का विशेष महत्व है, इसे सशुल्क उपलब्ध करवाने पर भी विचार किया जा रहा है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि भोपाल के चिरायु अस्पताल से 1000 से अधिक रोगियों का स्वस्थ होकर डिस्चार्ज होना एक उपलब्धि है। देश में बहुत कम चिकित्सा संस्थान इतने बेहतर कार्य कर पाये हैं। बैठक में बताया गया कि प्रदेश में कोरोना पॉजिटिव रोगियों के रिकवर होने की दर काफी बढ़ी है। मध्यप्रदेश में रिकवरी रेट दूसरे क्रम पर है। इसके बाद भी प्रत्येक रोगी के उपचार के साथ ही संदिग्ध रोगियों की देखरेख भी गंभीरतापूर्वक की जाये। प्रदेश में मृत्यु दर भी अन्य राज्यों से कम है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में इस वायरस से मृत्यु नहीं होना चाहिये।

कोरोना ई-परामर्श सेवा
कोरोना ई-परामर्श सेवा के अंतर्गत 2407 कॉल्स आये थे। टोल फ्री नंबर 104 से कोरोना ई-परामर्श सेवा को भी जोड़ा गया है। इसका उपयोग बढ़ाने पर ध्यान दिया जाएगा। प्रदेश में टेलीमेडिसीन सेवा को लोकप्रिय बनाया जाएगा। इसके लिय की गई व्यवस्था का लाभ अधिक लोग लें, इसके लिये टेली कंसलटेशन से अधिक विशेषज्ञों को जोड़ा जायेगा। वर्तमान में ई-संजीवनी ओपीडी के अंतर्गत 283 टेली कंसलटेशन दिए जा चुके हैं। 

मध्यप्रदेश का रिकवरी रेट 60.4 है, जो देश में दूसरे क्रम पर सबसे अच्छा
समीक्षा में बैठक में जानकारी दी गई कि मध्यप्रदेश में रिकवरी रेट 60.4 है, जो राजस्थान के 68.3 के बाद देश में दूसरे क्रम पर बेहतर है। यह देश के रिकवरी रेट से 12.3 प्रतिशत अधिक है। गत 13 अप्रैल को प्रदेश में 9 प्रतिशत रिकवरी रेट ही था, जो डेढ़ माह में 60 प्रतिशत तक पहुंचा है। देश में रिकवरी रेट के मामले में उत्तरप्रदेश, गुजरात, तमिलनाडु और महाराष्ट्र मध्यप्रदेश से पीछे हैं, जो क्रमशरू 59.9, 59.1, 57.1 और 53.4 के साथ तीसरे से लेकर छटवें स्थान पर आते हैं। देश का औसत रिकवरी रेट 48.1 है। प्रदेश में 8283 प्रकरणों में से एक्टिव केसेस 2922 हैं। इनमें 5003 रिकवर केसेस हैं। प्रदेश में इस समय करीब 6000 टेस्ट प्रतिदिन की क्षमता विकसित हो गई है। रविवार को प्रदेश में 6023 टेस्ट हुये जो एक दिन में हुये सर्वाधिक टेस्ट हैं। प्रदेश में 21 लैब यह कार्य कर  रही हैं। इंदौर की स्थिति में सुधार परिलक्षित हुआ है। आई.सी.यू. और बिस्तर क्षमता की उपलब्ध व्यवस्था का लगभग एक तिहाई उपयोग करने की ही जरूरत पड़ रही है। प्रदेश में ऐसे जिलों की संख्या चार है जहाँ गत 21 दिन में कोई पॉजिटिव केस नहीं मिला है। अभी प्रदेश में 958 कंटेनमेंट क्षेत्र हैं। प्रदेश में 1149 मोबाइल मेडिकल यूनिट और 3670 सर्वे दल कार्य कर रहे हैं। फीवर क्लीनिक 1197 हैं।

राज्य सभा निर्वाचन, 19 जून को होगा मतदान

भारत निर्वाचन आयोग द्वारा राज्यसभा निर्वाचन-2020 के लिए कार्यक्रम घोषित कर दिया है। राज्यसभा निर्वाचन के लिए मतदान 19 जून 2020 शुक्रवार को प्रातरू 9 बजे से सांय 4 बजे के मध्य होगा। मतगणना उसी दिन 19 जून को ही सांय 5 बजे प्रांरभ की जायेगी। राज्यसभा चुनाव की प्रक्रिया 22 जून 2020 को पूर्ण की जायेगी। मध्यप्रदेश में राज्यसभा की तीन सीटों पर निर्वाचन होना है। भारत निर्वाचन आयोग ने मतदान की तिथियां घोषित करते हुए जारी अपने प्रेस नोट में कहा है कि मध्यप्रदेश सहित सात राज्यों में 18 सीटों पर राज्यसभा के लिए मतदान होना है। कोविड-19 के कारण पूर्व में यह निर्वाचन स्थगित कर दिये गये थे। भारत निर्वाचन आयोग ने मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी मध्यप्रदेश को राज्य में राज्यसभा निर्वाचन के लिए आर्ब्जर नियुक्त किया है। आयोग ने राज्यसभा निर्वाचन वाले राज्यों के मुख्य सचिवों को कहा है कि वे अपने-अपने राज्यों में एक वरिष्ठ अधिकारी को तैनात करें, जो काविड-19 के संदर्भ में कंटेनमेंट उपयों आदि के निर्देशों के अनुरूप मतदान के दौरान व्यवस्थाएं सुनिश्चित करेगा।

मत्स्य प्रजनन काल 16 जून से 15 अगस्त तक मत्स्याखेट निषेध

मध्यप्रदेश फिशरीज एक्ट के तहत् मत्स्य प्रजनन काल 16 जून से 15 अगस्त तक प्रदेश के निर्दिष्ट जलों, नदियों और जलाशयों पर मत्स्याखेट निषेध रहेगा। सचिव, मछली पालन श्री समर सिंह ने समस्त संभागायुक्त, पुलिस महानिरीक्षक, कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक सहित संबंधित अधिकारियों को इस संबंध में पत्र जारी किया है। इस एक्ट के अनुसार छोटे तालाब या अन्य स्त्रोत, जिनका कोई संबंध किसी नदी से नहीं है और निर्दिष्ट जल की श्रेणी में नहीं रखे गये हैं, के लिये उक्त नियम लागू नहीं होगा। 

जिले के भ्रमण पर रही प्रभारी अधिकारी हेल्थ, जिला चिकित्सालय, कोविड केयर सेंटर, सिविल अस्पताल नसरूल्लागंज की देखी व्यवस्थाएं

sehore news
जिले की प्रभारी अधिकारी एवं उप संचालक राष्टीय स्वास्थ्य मिषन भोपाल डॉ.राजश्री बजाज  आज जिले के सघन भ्रमण पर रही उनके द्वारा जिला चिकित्सालय सीहोर, जिला स्तरीय कोविड केयर सेंटर तथा सिविल अस्पताल नसरूल्लागंज का सघन निरीक्षण किया गया। इस दौरान मुख्य  चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ सुधीर कुमार डेहरिया भी साथ में थे। कोविड  केयर सेंटर के दौरान वहां पदस्थ स्टाफ से जरूरी जानकारी प्राप्त की गई वहीं कोविड केयर सेंटर में विभाग द्वारा की जा रही व्यवस्थाओं पर संतोष व्यक्त किया गया तथा कोविड केयर सेंटर में मरीजों की देखभाल व उनका उपचार करने वाले चिकित्सा दल सहित व्यवस्था टीम को प्रषस्ति पत्रों का वितरण किया। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ सुधीर कुमार डेहरिया ने जानकारी दी कि जिला प्रभारी अधिकारी द्वारा जिला चिकित्सालय में भ्रमण के दौरान फीवर क्लीनिक की व्यवस्थाओं का जायजा लिया गया। टूनेट मशीन के संदर्भ में सभी जरूरी जानकारी प्राप्त की गई। जिला चिकिल्सालय में भ्रमण के दौरान सिविल सर्जन डॉ.आनंद शर्मा, आरएमओ डॉ.सुधीर श्रीवास्तव तथा अस्पताल, क्वारंटाइन सेंटर प्रभारी डॉ.जागेयवर दयाल कोरी, फीवर क्लीनिक प्रभारी डॉ.अर्चना राजपूत, डॉ.आरके वर्मा, जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ.एम.चंदेल तथा अस्पताल प्रबंधक श्रीमती संजूलता भार्गव सहित अन्य स्टाफ उपस्थित रहा। जिला चिकिल्सालय के निरीक्षण के दौरान सिविल अस्पताल नसरूल्लागंज का भ्रमण किया गया जहां उन्होंने बीएमओ डॉ.मनीष सारस्वत को फीवर क्लीनिक में सभी जरूरी व्यवस्थाएं करने के निर्देश दिए वहां उन्होंने फीवर क्लीनिक की व्यवस्थाएं गाइडलाईन के अनुसार नहीं पाए जाने पर  नाराजगी व्यक्त की।

कोई टिप्पणी नहीं: