सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 07 जून - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 8 जून 2020

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 07 जून

अंतर्राष्ट्रीय वैश्य महासम्मेलन सीहोर महिला ब्लाक इकाई द्वारा पर्यावरण को मजबूत करने के लिए पौधौत्सव मनाया गया

sehore news
सीहोर। एक कदम हरियाली की ओर एक कदम पर्यावरण की ओर पेड़ लगाकर पर्यावरण बचाना है और जिले में अधिक से अधिक पेड़ लगाना है,उक्त अभियान के अंतर्गत अंतर्राष्ट्रीय वैश्य महासम्मेलन सीहोर महिला ब्लाक इकाई द्वारा पर्यावरण को मजबूत करने के लिए महिला ब्लाक कोडिनेटर श्रीमति शोभा चांडक के नेतृव में रविवार को पौधौत्सव मनाया गया। पौधात्सव के दौरान घर घर महिला सदस्यों के द्वारा पौधारोपण किया गया। श्रीमति चांडक ने कहा की विश्व को हरियाली प्रदान करना हम सब बहनों का कत्र्तव्य है। उन्होने अंतर्राष्ट्रीय वैश्य महासम्मेलन के प्रदेशाध्यक्ष श्री गोविंद गोयल एवं महिला बिंग की प्रदेशाध्यक्ष श्रीमति संगीता पलोड़ कार्यकारी प्रदेशाध्यक्ष रश्मि अग्रवाल के संदेश का वाचन भी किया। पौधारोपण कार्यक्रम में प्रतिभा झंवर, आभा कासट, रजनी बहेती, गीता सोडानी, अनीता बागड़, हर्षा माहेशवरी, अनीता सोडानी, दामनी कासट, रानी तौसनीवाल, सावित्री सोडानी सहित पचास से अधिक महिला सदस्यों ने भाग लिया। कार्यक्रम में जिला यूनिट सीहोर से ज्योति रूठिया, शशि विजयवर्गीय ममता पितालिया,लता खंडलेवाल,सांध्या मोदी,कमलेश चांडक, द्वारका प्रसाद अग्रवाल, ज्योति अग्रवाल, शरद मोदी, केके गुप्ता, विमल जैन, आशीष सोनी आदि ने सहयोग प्रदान किया।

अखिल भारतवर्षीय युवा यादव महासभा ने की  एफआइआर दर्ज कराने की मांग एसपी को ज्ञापन 

jhabua news
सीहोर। यादव समाज के आराध्य देव को लेकर मोरारी बापू ने आपत्तिजनक टिप्पणी की है। अखिल भारतवर्र्षीय युवा यादव महासभा ने आक्रोशित होकर जिला उप पुलिस अधीक्षक समीर यादव को महामहीम राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन दिया है। महासभा के जिलाध्यक्ष प्रवीण यादव के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने एफआइआर दर्ज कराने की मांग की है।  जिलाध्यक्ष श्री यादव ने कहा की भावनगर गुजरात के प्रवचनकर्ता मोरारी के द्वारा यदुवंशियों सहित संपूर्ण हिन्दू समाज के आराध्य भगवान पर अपमानजनक टिप्पणी की गई है। टिप्पणी से करोड़ों हिन्दू धर्मावलम्बियों की आस्था पर गहरी चोट लगी है। टिप्पणी के वीडियो देश विदेश में इले,मीडिया और सोशल मीडिया पर वायरल हुए है। जिस से दुनिया में देश का अपमान हुआ है।  अखिल भारतवर्र्षीय युवा यादव महासभा संबंधित पर कठौर अपराधिक धाराओं में एफआइआर दर्ज कराने और जेल में डालने की मांग करती है। ज्ञापन देने वालों में गब्बर यादव, विजय यादव,यश यादव, कपिल यादव, कमलेश यादव, विनय पटेल यादव, रोहित यादव, शिवम यादव, यमन यादव सहित अन्य यादव समाजजन शामिल रहे। 

गल्लामंडी सीहोर में हजारों क्विेंटल गेंहू हुआ बारिश के चलते नष्ट  सेवादल कांग्रेस जिलाध्यक्ष खंगराले ने दिग्विजय सिंह को अवगत कराया

सीहोर। पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह तथा पूर्व शिक्षा मंत्री राजकुमार पटेल के सीहेार आगमन पर सेकड़ा खेड़ी जोड़ पर सेवादल कांग्रेस जिलाध्यक्ष नरेंद्र खंगराले ने सेवादल कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए दिग्विजय सिंह को सेवादल कांग्रेस की गतिविधियों से अवगत कराया। सेवादल कांग्रेस ने गल्लामंड़ी की अनियमित्ताओं को लेकर भी चर्चा करते हुए बताया की सीहेार जिले में बारिश के चलते कृषि उपज मंडी में पड़ा हजारों क्विंटल गेंहू बारिश में भाींग गया। परिवाहन नहीं होने से गेंहू बारिश में खराब हो गया। सीहेार की कृषि उपज मंडी में पलास्ििटक की बोरी में और खुले आसमान के नीचे रखा हजारों क्विंटल गेंहू बारिश की भेट चड़ गया। बताया जा रहा है की खरीदी केंद्रों से गेंहू परिवाहन करने की तैयारी की जा रहीं थी मंडी प्रशासन के अधिकारियों की गलती के चलते बारदानों की कमी की समस्या चल रहीं थी बीती रात अचानक हुई बारिश  होने के कारण गेंहू खराब हजो गया जिस की कीमत लगभग एक हजार पांच से मैट्रिक टन है। नष्ट हुए गेंहू को अब पुन: बचाने का इंतमान किया जा रहा है। श्री खंगराले ने दौषी अधिकारियों के विरूध अपराधिक प्रकरण पंजीबंध कर जेल भोजने की मांग की है। श्री सिंह ने समस्याओं को गंभीरता पूर्वक लेते हुए प्रदेश के आला अफसरों से चर्चा कर कार्यवाही कराए जाने का आश्वासन दिया। इस अवसर पर प्रमुख रूप से सेवादल कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ मध्य प्रदेश सेवादल कांग्रेस के प्रदेश सचिव राकेश राय, जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष बलवीर सिेंह तोमर,नगर पालिका अध्यक्ष कैलाश परमार, दर्शन सिंह वर्मा, नईम नबाव, सुरेश गुप्ता, राजाराम बडेभाई, सुरेश साबू, डॉ अनीस खान, शमीम अहमद,पवन राठौर, दिनेश भैरवे,मांगलाल टिमरई,क्षेत्रीय पार्षद आरती खंगराले, सेवादल महिलजा कांग्रेस अध्यक्ष आशा गुप्ता, एडवोकेट शरद जोशी, मुकेश ठाकुर इंजीनियर जितेंद्र सिंह, डॉ जितेंद्र चंद्रवंशी आदि लोग उपस्थित थे। 

सलकनपुर मंदिर खोले जाने के संबंध में बैठक संपन्न, दर्शानार्थियों को करना होगा शासन के आदेशों का पालन

भारत सरकार एवं म0प्र0 शासन द्वारा धार्मिक स्थलों को दर्शनार्थियों के लिये खोले की संभावना को देखते हुए श्री अनुविभागीय अधिकारी बुदनी श्री के.के.रावत की अध्यक्षता में गत दिवस मंदिर कार्यालय में बैठक का आयोजन किया गया। बैठक के दौरान निर्णय लिया गया के मंदिर में दर्शन का समय प्रातः 09 बजे से सायं 05 बजे तक रहेगा। बिना मास्क एवं हेण्ड-सेनेटाईजर के मंदिर परिसर में प्रवेश वर्जित है, चार पहियां वाहन में वाहन चालक के अतिरिक्त 02 व्यक्तियों को प्रवेश की अनुमति होगी, प्रवेश के समय दर्शन के लिए दर्शनार्थी को आईडी कार्ड साथ लाना अनिवार्य होगा, मंदिर हाल में दर्शन हेतु एक बार में 10 लोगों को अंदर जाने की अनुमति रहेगी एवं आपस में 6 फीट (2 गज) की दूरी (सोशल डिस्टेंसिंग) बनाये रखना होगी, मंदिर प्रांगण में भंडारा कराना, मुण्डन, भजन-कीर्तन, प्रसाद चढाना एवं तुलादान जैसे कार्यक्रम पूर्णतः प्रतिबंधित है, दर्शनार्थीयों को अपने साथ प्रसाद, नारियल, फूल-माला एवं अन्य पूजन सामग्री ले जाना पूर्णतः वर्जित है तथा मंदिर परिसर में कहीं भी थूकना वर्जित होगा, 10 वर्ष से कम आयु के बच्चे एवं 65 वर्ष से अधिक आयु के बुजुर्ग मंदिर प्रांगण में प्रवेश करने से बचें, मंदिर परिसर में जूता-चप्पल एवं बेल्ट पूर्णतः वर्जित रहेगा, दर्शनार्थियों को दर्शन के समय शासन द्वारा समय-समय पर जारी सोशल डिस्टेसिंग के दिशानिर्देशों एवं नियमों का पालन करना अनिवार्य होगा। ब्लाक मेडिकल आफिसर एवं प्रभारी मेडिकल आफिसर रेहटी को मंदिर प्रवेश प्रारंभ सडक मार्ग द्वार क्रमांक 01 पर तथा सीढी मार्ग धर्मशाला के सामने दर्शनार्थियों की मेडिकल स्क्रीनिंग का दायित्व सौंपा गया तथा उक्त स्थल पर दर्शनार्थियों के नाम पते मोबाईल नंबर आदि के रजिस्टर संधारण का निर्णय लिया गया। मंदिर परिसर के अंदर लगे सभी घण्टे-घण्टियां आगामी आदेश तक हटाये जाने का निर्णय लिया गया। मंदिर समिति के समस्त कर्मचारियों एवं पुजारियों को मास्क एवं ग्लव्स पहनना अनिवार्य रहेगा। दर्शन हाल में ज़िक-जेक आकृति में 6-6 फिट की दूरी पर 10 गोले पेन्ट द्वारा बनाने का निर्णय लिया गया। दर्शन हेतु रोपवें का उपयोग आगामी आदेश तक पूर्णतः प्रतिबंधित रहेगा। मंदिर प्रांगण की सभी दुकानें आगामी आदेश तक बंद रहेंगी तथा मंदिर दर्शन हाल में एक बार में अधिकतम 10 श्रद्धालुों को प्रवेश की अनुमति होगी। मंदिर परिसर एवं प्रांगण में कहीं भी थूकना वर्जित रहेगा, तथा सर्दी, खांसी, बुखार के लक्षण वाले सभी संदिग्ध व्यक्तियों का प्रवेश मंदिर परिसर में पूर्णतः वर्जित रहेगा। सभी बिंदुओं के अतिरिक्त भारत शासन एवं म0प्र0 शासन द्वारा धार्मिक स्थलो पर दर्शन संबंधी समय-समय पर जारी दिशा निर्देश एवं आदेशो का पालन करना पूर्णतः अनिवार्य होगा।

अभी तक कुल 956 सेंपल जांच के लिए भेजे गए

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ सुधीर डेहरिया ने जानकारी दी कि जिले में अन्य देशों से सीहोर पहुंचे कुल व्यक्तियों की संख्या 232 है जिनमें से 184 लोगों की अब तक स्क्रीनिंग स्वास्थ्य विभाग द्वारा की जा चुकी है। पिछले 24 घंटों के दौरान एक भी ऐसे व्यक्ति की पहचान नहीं की गई जो अन्य राज्यों और अन्य जिलों से लौटे थे। जिले में अब तक होम कोरेंटाईन किए गए व्यक्तियों की संख्या 43837 है। डॉ. डेहरिया ने बताया कि पिछले 24 घंटों के दौरान ऐसे व्यक्ति जो विदेश से सीहोर जिले में नहीं लौटे थे परंतु अन्य जिलों एवं राज्यों से लौटे थे और विभागीय अधिकारियों कर्मचारियों द्वारा घर-घर सर्वे के दौरान चिन्हित किए गए। पिछले 24 घंटों में होमकोंरेटाईन की अवधि से 85 लोग बाहर आ चुके हैं जबकि अब तक कुल 41584 व्यक्तियों का होम कोरेंटाइन पूर्ण किया जा चुका है। जिले से अब तक कुल 956 सेम्पल जांच के लिए भेजे गए थे जिनमें से 916 सेंपलों की रिपोर्ट अब तक निगेटिव प्राप्त हुई है। रविवार को 6 सेंपल जांच के लिए भेजे गए। कुल 21 सेंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। अभी तक हास्पिटल आईसोलेशन में भर्ती मरीजों की कुल संख्या 14 है। कोरोना संक्रमण पाजीटिव मरीजों की संख्या 11 है। कोरोना संक्रमण के कारण मृत्यु संख्या 2 है। कुल कंटेंमेंट एरिया 2 हैं। पैथालॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 8 है। वहीं विदेश से आए यात्री जो गृह जिला या निवासरत जिला में वापस नहीं आए उनकी संख्या 48 है। कोरोना संक्रमित उपरांत ठीक हुए मरीजों की संख्या 4 है। जिले में वर्तमान कुल कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 5 है जिसमें 2 युवक और 3 महिलाएं शामिल हैं। जिनका उपचार कोविड केयर सेंटर में चल रहा है। जिले में कुल कंटेंमेंट एरिया आष्टा में है जिनकी संख्या 2 हैं आष्टा में कंटेंमेंट तथा बफर एरिया में सर्वे के लिए 10 दल लगाए गए हैं। आज आष्टा के कंटेंमेंट एरिया में वार्ड नंबर 16 में सर्वे दलों द्वारा 30 लोगों का स्वास्थ्य फालोअप लिया गया जिसमें बफर जोन के 18 व्यक्ति तथा कंटेंमेंट के 12 व्यक्ति शामिल हैं। अलीपुर स्थित कंटेंमेंट एरिया वार्ड नंबर 16 में सर्वे दलों द्वारा 48 लोगों का स्वास्थ्य फालोअप लिया गया तथा बफर जोन के 18 व्यक्तियों का स्वास्थ्य फालोअप लिया गया। वहीं अलीपुर स्थित वार्ड नंबर 1 में 26 लोगों स्वास्थ्य फालोअप लेकर स्वास्थ्य संबंध में जानकारी प्राप्त की गई तथा बफर जोन में 8 व्यक्तियों का स्वास्थ्य फालोअप लिया गया। जिले में जो व्यक्ति होम क्वारंटाइन में है उनके निवास स्थान से सीधे संवाद हेतु जिला स्तरीय कोविड-19 काल सेंटर स्थापित किया गया है जिसका संपर्क नंबर-7247704181 है कोविड-19 से संबंधित जानकारी इस संपर्क नंबर पर ली व दी जा सकती है। वहीं जिला चिकित्सालय सीहोर में टेलीमेडिसीन के लिए संपर्क नंबर 07562-401259 जारी किया गया है तथा राज्य स्तर पर 104/181 नंबर पर काल करके भी टेलीमेडिसीन सेवा का लाभ लिया जा सकता है। 104  नंबर पर ई-परामर्श सेवा का भी लाभ लिया जा सकता है। ई-संजीवनी ओपीडी सेवा हेतु www.esanjeevaniopd.in पंजीयन कराया जा सकता है। कलेक्ट्रेट कार्यालय में भी जिला स्तरीय काल सेंटर बनाया गया है जिसका संपर्क नंबर 07562-226470 है तथा होम क्वारंटाइन व्यक्तियों तथा उनके परिजनों के लिए हेल्पलाइन नंबर 18002330175 जारी किया गया है। जिस पर संस्थागत क्वारंटाइन अथवा होम क्वारंटाइन व्यक्ति अथवा उनके परिजन इमोशनल वेलनेस अथवा साईकोलाजिकल सपोर्ट एवं अन्य जरूरी परामर्श मानसिक सेवा प्रदाताओं से निःशुल्क प्राप्त कर सकते है। 

टी.बी.उन्मूलन कार्यक्रम में प्रदेश में सीहोर को मिला प्रथम स्थान

जिला क्षय अधिकारी डॉ.नमिता नीलकंठ ने जानकारी देते हुए बताया कि राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम के अन्तर्गत गत दिवस आयुक्त स्वास्थ्य सेवाएं भोपाल व मिशन संचालक राष्ट्रीय स्वास्थ्य की संयुक्त अध्यक्षता में संपन्न वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से टी.बी. कार्यक्रम की समीक्षा की गई। टी.बी.उन्मूलन कार्यों में उत्कृष्ट संपादन के लिए पहली बार सीहोर जिले ने प्रदेश में रैकिंग आधार पर प्रथम स्थान प्राप्त किया। इस पुनीत कार्य के लिए कलेक्टर श्री अजय गुप्ता को प्रेरणादायी प्रोत्साहन के लिए जिला टीबी परिवार द्वारा उनका आभार व्यक्त किया गया। साथ ही जिले में राष्ट्रीय टी.बी. उन्मूलन कार्यक्रम के अन्तर्गत देने वाले समस्त कर्मचारियों के सार्थक एवं कठोर परिश्रम का धन्यवाद दिया।    

प्रत्येक व्यक्ति साल में कम से कम एक वृक्ष लगाए-मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने विश्व पर्यावरण दिवस के उपलक्ष्य में नागरिकों को शुभकामनाएं देते हुए अपने संदेश में कहा है कि हम प्राकृतिक धरोहर  और जैव विविधता के संरक्षण के अपने दायित्व को पूरा करने का प्रयास करें। प्रत्येक व्यक्ति साल में कम से कम एक वृक्ष जरूर लगाए।अधिक लगाए तो यह प्रकृति के साथ ही मानवता के पक्ष में किया गया कार्य होगा।जैव विविधता इस वर्ष के विश्व पर्यावरण दिवस का मुख्य विषय है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा है कि मध्यप्रदेश जैव विविधता की दृष्टि से एक अत्यंत समृद्ध प्रदेश है। मध्यप्रदेश में सतपुड़ा, विंध्याचल और मैकल पर्वत श्रृंखलाओं के साथ जीवन दायिनी नर्मदा मैया का प्रवाह है। इसके साथ ही क्षिप्रा ,चंबल, बेतवा और ताप्ती जैसी नदियां प्रदेश की जल सम्पदा को समृद्ध करती है, हमारी धरोहर हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि वर्तमान समय में संपूर्ण मानवता एक कठिन दौर से गुजर रही है। इसको देखते हुए जैव विविधता को पर्यावरण दिवस का मुख्य विषय बनाना प्रासंगिक है। पर्यावरण की रक्षा और जैव विविधता के संरक्षण के लिए मध्य प्रदेश सरकार संकल्प बद्घ है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर किए गए अध्ययन और अनुभव बताते हैं  कि यदि हम जीव जगत की विविधता का सम्मान नहीं करेंगे तो परोक्ष रूप से हम पृथ्वी पर जीवन के अस्तित्व का मूल आधार ही समाप्त कर देंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि  कोरोना वायरस से जनित महामारी ने दुनिया के सामने एक बड़ी चुनौती उपस्थित कर दी है। एक तरफ  जहां यह चुनौती है वहीं यह चुनौती एक अवसर भी है कि हम समकालीन पर्यावरणीय समस्याओं, जैव विविधता के संरक्षण से जुड़ी चुनौतियों, प्रदूषण के विभिन्न कारकों तथा  मनुष्यों और जीव जगत के द्वंद, जलवायु परिवर्तन और सतत विकास जैसे विषयों पर चिंतन करें। इन महत्वपूर्ण विषयों का परस्पर अंतर्निहित संबंध भी है। हमें इन सभी को गहराई से समझ कर समग्र समाधान की दिशा में आगे बढ़ना होगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि  वन्य जीवों ,जलीय जीवन और कृषि क्षेत्र में भी विविधता की दृष्टि से मध्यप्रदेश एक संपन्न राज्य है। हम सभी को इसके संरक्षण का दायित्व निभाना है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि भारतीय संस्कृति ने भी सदैव यही सिखाया है कि हम प्रकृति के साथ साहचर्य की भावना के साथ रहें। हमारी संस्कृति का मूल मंत्र है- जियो और जीने दो ।हमारी संस्कृति सिखाती है कि हम प्रकृति के लिए बने हैं, उस पर विजय पाना कभी हमारा उद्देश्य नहीं रहा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने विश्व पर्यावरण दिवस की समस्त नागरिकों को शुभकामनाएं दी हैं।     

प्रदेश में "एकल नागरिक डाटाबेस" बनाया जाएगा

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में शीघ्र ही "एकल नागरिक डाटाबेस" तैयार किये जाने का कार्य किया जाएगा। अभी विभिन्न योजनाओं का लाभ देने के लिए नागरिकों से बार-बार जानकारी मांगनी पड़ती है। एकल नागरिक डाटाबेस बन जाने से नागरिकों को बार-बार जानकारी नहीं देनी होगी। शासन के पास उपलब्ध जानकारी का विभिन्न योजनाओं का लाभ देने के लिए उपयोग किया जा सकेगा। वर्तमान में अलग-अलग योजनाओं के लिए अलग-अलग पंजीयन प्रदेश में वर्तमान में लगभग 600 से 700 हितग्राहीमूलक योजनाएँ संचालित होती है। इन योजनाओं का लाभ देने के लिए हितग्राहियों का अलग-अलग पंजीयन किया जाता है। इससे एक ओर शासकीय मशीनरी को बहुत समय खर्च करना पड़ता है वहीं नागरिकों को भी बार-बार जानकारी उपलब्ध करानी होती है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि एकल नागरिक डाटाबेस बन जाने से शासकीय मशीनरी का समय बचेगा, वहीं नागरिकों के लिए नई व्यवस्था अधिक सुविधाजनक होगी। राजस्थान, आंध्रप्रदेश व तेलंगाना में व्यवस्था लागू मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि वर्तमान में राजस्थान, तेलंगाना एवं आंध्रप्रदेश राज्यों में नागरिक डाटाबेस बनाया गया है। राजस्थान में यह योजना ष्भामाशाहष् के नाम से तथा आंध्रप्रदेश एवं तेलंगाना में ष्प्रजा साधिकारष् नाम से संचालित है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि एकल नागरिक डाटाबेस बन जाने से हितग्राहियों से बार-बार उनके दस्तावेज नहीं मांगने होंगे। जैसे एक बार किसी नागरिक का जाति प्रमाण पत्र जारी करने के बाद उसका रिकार्ड एकल डाटाबेस में रहेगा, अतरू किसी दूसरी योजना का लाभ लेने के लिए उससे दोबारा जाति प्रमाण पत्र मांगने की आवश्यकता नहीं होगी। एकल नागरिक डाटाबेस में नागरिक के नाम, पते आदि के अलावा उसकी शैक्षणिक योग्यता संबंधी प्रमाण पत्र, आय प्रमाण पत्र, जाति प्रमाण पत्र, भूमि का विवरण, उगाई गई फसल, मूल निवासी प्रमाण पत्र, गरीबी रेखा प्रमाण पत्र आदि की जानकारी रहेगी। एकल डाटाबेस के निर्माण के लिए समग्र डाटा को बेहतर बनाया जाएगा तथा आधार के बायोमेट्रिक का इस्तेमाल किया जाएगा। साथ ही विभिन्न प्रकार के डाटा का मिलान कर तथा नागरिक का बायोमेट्रिक्स सत्यापन कर एकल डाटाबेस का निर्माण किया जाएगा। इसे निरंतर अपडेट करने की व्यवस्था भी की जाएगी।

एक ही फोरम पर उपलब्ध होगी रोजगार लेने और देने वालों की जानकारी, रोजगार सेतु पोर्टल का लोकार्पण 10 जून को

प्रदेश में लौटे प्रवासी श्रमिकों की जानकारी, कुशल और अकुशल श्रेणी में उनकी योग्यता के साथ 10 जून से रोजगार सेतु पोर्टल पर उपलब्ध होगी। इस पोर्टल पर प्रदेश के उद्योगों में आवश्यक जॉब वेकेंसी की जानकारी भी उपलब्ध होगी। रोजगार चाहने वाले और रोजगार देने वालों की जानकारी एक ही फोरम में लाने से जहाँ उद्यमियों को आवश्यकतानुसार श्रमिक सुविधापूर्वक उपलब्ध हो जायेंगे, वहीं श्रमिकों को रोजगार मिल सकेगा। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान रोजगार सेतु पोर्टल का लोकार्पण 10 जून को करेंगे। "राजगार सेतु पोर्टल" पर सर्वे किये गये सभी प्रवासी श्रमिकों की जानकारी उनके कौशल के अनुसार जिलावार उपलब्ध रहेगा। प्रवासी श्रमिकों में निर्माण श्रमिकों की 43, असंगठित श्रमिकों की 40 और कारखानों में नियोजित श्रमिकों की 9 श्रेणियाँ हैं। श्रमिकों को अपनी जरूरत अनुसार रोजगार देने के इच्छुक व्यक्ति/संस्थान, रोजगार सेतु के पोर्टल <www-RojgarSetu-mp-gov-in> पर जा कर लॉगइन एवं पासवर्ड प्राप्त कर सकेंगे। पोर्टल पर पंजीयन के बाद प्रवासी श्रमिकों के संबंध में पूरी जानकारी प्राप्त की जा सकेगी। पोर्टल में प्रवासी श्रमिकों के उपलब्ध मोबाइल नम्बर पर सम्पर्क किया जा सकेगा। अपर मुख्य सचिव श्रम डॉ. राजेश राजोरा ने जानकारी दी है कि रोजगार सेतु पोर्टल पर ऐसे नियोजकों की जानकारी भी प्रदर्शित की जायेगी, जो श्रमिकों की भर्ती के लिये पदवार योग्यता आदि सहित जॉब वेकेन्सी की जानकारी देना चाहते हैं। प्रवासी श्रमिक पोर्टल पर प्रदर्शित उद्यमियों, संस्थानों, नियोजकों से फोन अथवा ई-मेल पर स्वयं भी सम्पर्क कर सकेंगे। पंचायत एवं ग्रामीण विकास द्वारा जिन प्रवासी श्रमिकों को मनरेगा में रोजगार उपलब्ध कराया गया है, उनकी जानकारी भी पोर्टल में उपलब्ध रहेगी। सूक्ष्म, लघु, मध्यम उद्यम विभाग, औद्योगिक नीति एवं निवेश प्रोत्साहन, खनिज साधन, नगरीय विकास एवं आवास, पंचायत एवं ग्रामीण विकास, जल-संसाधन, लोक निर्माण, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी और नर्मदा घाटी विकास विभाग और कलेक्टर्स से नियोजकों को पोर्टल पर प्रवासी श्रमिकों को रोजगार प्रदान करने के लिये बनाये गये रोजगार सेतु पोर्टल के प्रति जागरूक करने तथा इसके उपयोग के लिये प्रेरित करने के लिये कहा गया है। प्रवासी श्रमिकों के लिये रोजगार के अवसर सृजित करने हेतु औद्योगिक नीति एवं निवेश प्रोत्साहन विभाग, सूक्ष्म, लघु, मध्यम एवं उद्यम विभाग, तकनीकी शिक्षा, कौशल विकास एवं रोजगार विभाग और श्रम विभाग द्वारा संयुक्त रूप से चयनित जिलों में जिला स्तर पर रोजगार मेले भी लगाये जायेंगे।   

कलेक्टर के निर्देश पर नाला गहरीकरण कार्य प्रारंभ

आपदा प्रबंधन की बैठक में कलेक्टर श्री अजय गुप्ता द्वारा निर्देश दिए गए थे कि वर्षा पूर्व नाले का सर्वे कराकर जलावरोध वाले स्थानों पर गहरीकरण और चौड़ीकरण के साथ ही अवरुद्ध नालियों सहित अन्य जल भराव क्षेत्रों में शीघ्र जल निकासी के लिए उचित व्यवस्था की जाए। कलेक्टर के निर्देशानुसार मुख्य नगरपालिका अधिकारी श्री संदीप श्रीवास्तव द्वारा नाले का सर्वे किया गया एवं ड्रोन कैमरे से चिन्हित स्थानों की वीडियो रिकार्डिंग कराकर जेसीबी और पोकले मशीनों द्वारा काम शुरु कराया गया है। इसके साथ ही शहर में भी अन्य स्थानों पर जल भराव रोकने और अवरुद्ध नालियों की सफाई करने के साथ ही कुछ स्थानों पर नालियों का निर्माण भी शुरु कर दिया गया है।

कंटेंनमेंट एरिया के परीक्षार्थी भी हो सकेंगे बोर्ड परीक्षा में शामिल   

माध्यमिक शिक्षा मंडल हायर सेकेंड्री की परीक्षा 9 जून से प्रारंभ हो रही है। इस संबंध में कलेक्टर श्री अजय गुप्ता द्वारा निर्देश जारी किए गए हैं कि किसी भी परीक्षार्थी अथवा उसके परिवार के सदस्य को क्वांरेंटाई किया गया है अथवा जिसकी कोरोना रिपोर्ट पॉजीटिव होने की स्थिति को छोड़कर कंटेंनमेंट जोन में निवासरत सभी परीक्षार्थियों को परीक्षा में शामिल किया जाए। कलेक्टर ने श्री गप्ता ने निर्देशित किया कंटेंमेंट जोन में निवारत हायर सेकेंड्री परीक्षा के परीक्षार्थियों एवं उनके पालक, अभिभावकों को मंडल द्वारा निर्धारित परीक्षा तिथियों में प्रवेश पत्र के आधार पर प्रवेश पत्र को ही ई पास मानकर परीक्षा केन्द्र पर बिना रोक टोक के आने दिया जाए।    

16 जून से 15 अगस्त तक मछली पकड़ने पर रोक कलेक्टर ने किया आदेश जारी

कलेक्टर श्री अजय गुप्ता के निर्देशानुसार सहायक संचालक मत्स्योद्योग सीहोर द्वारा वर्षा ऋतु में मछलियों की वंश वृद्धि प्रजनन के दृष्टिकोण से उन्हें संरक्षण देने हेतु जिले में 15 जून से 15 अगस्त, 2020 तक मछली के पकड़ने, परिवहन और खरीद फरोख्त पर तत्काल रोक लगा दी गई है। मध्य प्रदेश मत्स्योद्योग अधिनियम 1948 की धारा 3 के तहत बनाए गए म.प्र. नदीय मत्स्योद्योग नियम 1972 की धारा 3 एवं उपधारा 2 के तहत जारी इस अधिसूचना के मुताबिक अब कोई भी व्यक्ति जिले के किसी भी तालाब, नदी या अन्य जलाशयों में मछली का शिकार नहीं करेगा। इसके अलावा मछली के परिवहन और खरीद फरोख्त को भी प्रतिबंधित किया गया है। इन नियमों के उल्लंघन पर मप्र राज्य मत्स्य क्षेत्र संशोधित अधिनियम 1981 की धारा 5 के तहत उक्त अवधि में किसी भी व्यक्ति को प्रतिबंधित जल क्षेत्र में मछली मारते, परिवहन करने या विक्रय करता पाए जाने पर 5 हजार रूपये के जुर्माना या 1 वर्ष की कैद अथवा दोनों ही प्रकार से दण्डित किया जाएगा। इस अवधि के दौरान किसी प्रकार से मछली का शिकार न तो स्वयं करे और न ही इस कार्य में किसी प्रकार का सहयोग दें। उल्लेखनीय है कि 16 जून से 15 अगस्त तक की अवधि मछलियों का प्रजनन काल होता है जिसे देखते हुए इसे वर्षा ऋतु (क्लोज सीजन) घोषित किया गया है। इस अवधि में सभी प्रकार का मत्स्याखेट, मत्स्य परिवहन, मछली का क्रय-विक्रय पूर्णत: प्रतिबंधित रहेगा।

मत्स्याखेट, मत्स्य परिवहन, मछली का क्रय-विक्रय की रोकथाम हेतु दल गठित

कलेक्टर श्री गुप्ता द्वारा मत्स्याखेट, मत्स्य परिवहन, मछली का क्रय-विक्रय पर रोकथाम के लिए दल गठित किया गया है। गठित दल में दल प्रभारी सहायक मत्स्य अधिकारी श्री दिनेश पाठक, सहायक दल प्रभारी मत्स्य निरीक्षक श्री जगदीश तिलेटे एवं सदस्य मत्स्य निरीक्षक श्री सुनील राजोरिया, श्री बी.एम.सिसोदिया, श्री अकबर खां एवं भृत्य श्री नारायण सिंह शामिल हैं। गठित दल जिले में बंद ऋतु के दौरान प्रतिबंधित समस्त क्रियाकलापों पर प्रभावी नियंत्रण के लिए कार्यवाही करेंगे तथा की गई कार्यवाही से साप्ताहिक रूप से अवगत कराएंगे।  

अभी तक कुल 950 सेंपल जांच के लिए भेजे गए

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ सुधीर डेहरिया ने जानकारी दी कि जिले में अन्य देशों से सीहोर पहुंचे कुल व्यक्तियों की संख्या 232 है जिनमें से 184 लोगों की अब तक स्क्रीनिंग स्वास्थ्य विभाग द्वारा की जा चुकी है। पिछले 24 घंटों के दौरान 85 ऐसे व्यक्तियों की पहचान की गई जो अन्य राज्यों और अन्य जिलों से लौटे थे इन सभी व्यक्तियों की तत्काल स्क्रीनिंग कर इन्हें  होम कोरेंटाईन कर दिया गया है जिले में अब तक होम कोरेंटाईन किए गए व्यक्तियों की संख्या 43837 है। डॉ. डेहरिया ने बताया कि पिछले 24 घंटों के दौरान ऐसे व्यक्ति जो विदेश से सीहोर जिले में नहीं लौटे थे परंतु अन्य जिलों एवं राज्यों से लौटे थे और विभागीय अधिकारियों कर्मचारियों द्वारा घर-घर सर्वे के दौरान चिन्हित किए गए। पिछले 24 घंटों में होमकोंरेटाईन की अवधि से 181 लोग बाहर आ चुके हैं जबकि अब तक कुल 41499 व्यक्तियों का होम कोरेंटाइन पूर्ण किया जा चुका है। जिले से अब तक कुल 950 सेम्पल जांच के लिए भेजे गए थे जिनमें से 913 सेंपलों की रिपोर्ट अब तक निगेटिव प्राप्त हुई है। शनिवार को 1 सेंपल जांच के लिए भेजा गया। कुल 18 सेंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। अभी तक हास्पिटल आईसोलेशन में भर्ती मरीजों की कुल संख्या 14 है। कोरोना संक्रमण पाजीटिव मरीजों की संख्या 11 है। कोरोना संक्रमण के कारण मृत्यु संख्या 2 है। कुल कंटेंमेंट एरिया 2 हैं।पैथालॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 8 है। वहीं विदेश से आए यात्री जो गृह जिला या निवासरत जिला में वापस नहीं आए उनकी संख्या 48 है। कोरोना संक्रमित उपरांत ठीक हुए मरीजों की संख्या 4 है। जिले में वर्तमान कुल कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 5 है जिसमें 2 युवक और 3 महिलाएं शामिल हैं। जिनका उपचार कोविड केयर सेंटर में चल रहा है। जिले में कुल कंटेंमेंट एरिया आष्टा में है जिनकी संख्या 2 हैं आष्टा में कंटेंमेंट तथा बफर एरिया में सर्वे के लिए 10 दल लगाए गए हैं। आज आष्टा के कंटेंमेंट एरिया में वार्ड नंबर 16 में सर्वे दलों द्वारा 30 लोगों का स्वास्थ्य फालोअप लिया गया जिसमें बफर जोन के 18 व्यक्ति तथा कंटेंमेंट के 12 व्यक्ति शामिल हैं। अलीपुर स्थित कंटेंमेंट एरिया वार्ड नंबर 16 में सर्वे दलों द्वारा 30 लोगों का स्वास्थ्य फालोअप लिया गया तथा बफर जोन के 18 व्यक्तियों का स्वास्यि फालोअप लिया गया। वहीं अलीपुर स्थित वार्ड नंबर 1 में 26 लोगों स्वास्थ्य फालोअप लेकर स्वास्थ्य संबंध में जानकारी प्राप्त की गई। जिले में जो व्यक्ति होम क्वारंटाइन में है उनके निवास स्थान से सीधे संवाद हेतु जिला स्तरीय कोविड-19 काल सेंटर स्थापित किया गया है जिसका संपर्क नंबर-7247704181 है कोविड-19 से संबंधित जानकारी इस संपर्क नंबर पर ली व दी जा सकती है। वहीं जिला चिकित्सालय सीहोर में टेलीमेडिसीन के लिए संपर्क नंबर 07562-401259 जारी किया गया है तथा राज्य स्तर पर 104/181 नंबर पर काल करके भी टेलीमेडिसीन सेवा का लाभ लिया जा सकता है। 104  नंबर पर ई-परामर्श सेवा का भी लाभ लिया जा सकता है। ई-संजीवनी ओपीडी सेवा हेतु www.esanjeevaniopd.in पंजीयन कराया जा सकता है। कलेक्ट्रेट कार्यालय में भी जिला स्तरीय काल सेंटर बनाया गया है जिसका संपर्क नंबर 07562-226470 है तथा होम क्वारंटाइन व्यक्तियों तथा उनके परिजनों के लिए हेल्पलाइन नंबर 18002330175 जारी किया गया है। जिस पर संस्थागत क्वारंटाइन अथवा होम क्वारंटाइन व्यक्ति अथवा उनके परिजन इमोशनल वेलनेस अथवा साईकोलाजिकल सपोर्ट एवं अन्य जरूरी परामर्श मानसिक सेवा प्रदाताओं से निःशुल्क प्राप्त कर सकते है। 

जिले में अब तक 62.5 मि.मी. औसत वर्षा   

जिले में आज 06 जून, 2020 की प्रात:8 बजे समाप्त पिछले चौबीस घन्टों में 11.3 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज की गई है। इसे मिलाकर 1 जून से अभी तक जिले में 62.5 मि.मी औसत बारिश रिकार्ड की जा चुकी है जबकि गत वर्ष इस अवधि में बारिश बिल्कुल भी नहीं हुई थी। अधीक्षक, भू-अभिलेख से मिली जानकारी के अनुसार पिछले चौबीस घन्टों में आष्टा में 24, जावर में 24, इछावर में 33, नसरुल्लागंज में 5 तथा रेहटी में 4 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई। जबकि सीहोर, श्यामपुर एवं बुधनी में वर्षा की स्थति शून्य दर्ज की गई।

जिले में संचालित नशामुक्ति सह पुनर्वास केन्द्रों के संबंध में दिए निर्देश  

कलेक्टर श्री अजय गुप्ता द्वारा समस्त विभाग प्रमुखों को निर्देशित किया गया है कि जिले में संचालित नशामुक्ति सह पुनर्वास केन्द्रों का संचालन जिला चिकित्सालय, जिला न्यायालय, जिला प्रशासन तथा अशासकीय संस्थाओं के संयुक्त रूप से समन्वय एवं सहयोग से कार्यवाही सुनिश्चित की जाए। जिससे नशामुक्ति केन्द्रों का संचालन एवं योजना का प्रभावी क्रियान्वयन संभव हो सके तथा नशे से पीड़ित व्यक्तियों को समाज की मुख्य धारा से जोड़ा जा सके।   

फसलों में कीट व्याधि एवं कृषकों को सलाह हेतु निगरानी दल गठित

किसान कल्याण तथा कृषि विभाग उप संचालक ने जानकारी देते हुए बताया कि खरीफ वर्ष 2020 में जिला अन्तर्गत विभिन्न फसलों में कीट व्याधि के प्रकोप एवं नियंत्रण तथा कृषकों को समसायिक सलाह देने एवं उनकी समस्याओं के निराकरण करने के लिए निगरानी दल का गठन किया गया है। निगरानी दल में कृषि विज्ञान केन्द्र सेवनिया विकासखंड इछावर से पौध सरंक्षण वैज्ञानिक श्री दीपक कुशवाह, शश्य वैज्ञानिक श्री देवेन्द्र पटेल, सहायक संचालक कृषि (गन्ना) श्री अनिल जाट, सहायक संचालक श्री एसके राठौर, अनुविभागीय अधिकारी बुदनी श्री राघवेन्द्र सिंह राठौर, संबंधित वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी शामिल हैं।  

जिले में स्थापित क्वांरेटाईन सेंटरों में आयुष विभाग द्वारा पिलाया गया आरोग्य कषायम्-20 का काढ़ा

जिला आयुष अधिकारी डॉ नरेन्द्र सिंह लोध ने जानकारी देते हुए बताया कि आयुक्त संचालनालय आयुष विभाग के निर्देशानुसार कलेक्टर श्री अजय गुप्ता के मार्गदर्शन में आयुष विभाग द्वारा जिले के क्वांरेंटीन सेंटरों में आरोग्य कषायम्-20 पिलाया जा रहा है। आरोग्य कषायम्-20 में गिलोय, सोंठ, भूम्यालकी, पीपल, कालीमिर्च, मुलेठी एवं हरड शामिल है। ये हर्ब्स इम्यूनिटी बूस्टर, स्ट्रेस रिलीफ, एंटी अस्थमा, एंटी बैक्टिरियल, रेस्पिरेटरी डिस्आर्डर एवं हृदयरोग में उपयोगी है। यह काढ़ा श्वांस नली की सूजन को कम करने में उपयोगी है प्रदेश के अन्य जिलों में आरोग्य कषायम्-20 के अच्छे परिणाम मिले हैं। जिले के बालक छात्रावास बैशाली नगर में 5 सदस्यों को क्वांरेटीन किया गया था जिसमें डॉ मेहमूद खान के द्वारा सभी सदस्यों को आरोग्य कषायम्-20 का काढा निर्माण कर पिलाया गया। श्यामपुर में शासकीय हायर सेकेंड्री स्कूल मंडी के क्वांरेटीन सेंटर में 18 सदस्यों को डॉ सुषमा त्रिपाठी द्वारा एवं आष्टा के शासकीय भगत सिंह कॉलेज में श्री हसीब अहमद कम्पाउंडर द्वारा 11 सदस्यों को काढ़ा पिलाया गया।  

सीएमएचओ ने की श्यामपुर विकासखण्ड की समीक्षा

sehore news
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.सुधीर कुमार डेहरिया ने शनिवार को विकासखण्ड श्यामपुर के विभागीय कार्यों की विस्तार से समीक्षा की उन्होंने सभी सीएचओ को कार्यक्षेत्र में सतत भ्रमण करने के निर्देष दिए। उन्होंने फीवर क्लीनिक मे निर्देषानुसार उपचार कराने के निर्देश दिए तथा कहा कि कोविड-19 के चलते संचालित सभी राष्ट्रीय कार्यक्रमों में पर्याप्त सावधानी एवं राज्य एवं जिला स्तर से दिए गए निर्देशों का पालन करते हुए कार्य करना है। सीएमएचओ ने निर्देशित किया कि जिला स्तर से कोविड-19 की प्रचार-प्रसार सामग्री का यथा स्थान प्रदर्षन सुनिश्चित किया जाएं। बैठक में जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ.एम.चंदेल, जिला मलेरिया अधिकारी श्रीमती क्षमा बर्वे, जिला एपीडियोमीलाजिस्ट डॉ.रूचिरा उईके, ब्लाक मेडिकल आफिसर डॉ एच.पी.सिंह सहित सेक्टर मेडिकल आफिसर, समस्त सुपरवाईजर्स, एएनएम, एमपीडब्ल्यूय व विकासखण्ड स्तर के अधिकारी उपस्थित थे। उन्होंने कहा विभागीय कार्यों में लापरवाही कतई बर्दाश्त नहीं की जाएगी। बैठक में डॉ.डेहरिया ने कहा जिला स्तर से दिए गए निर्देशों का पालन किया जाना सुनिश्चित किया जाएं। लक्ष्य दंपत्ति की समय पर प्रविष्टि करें। प्रसव उपरांत सभी आषा कार्यकर्ताओं द्वारा सभी 7 भ्रमण हो रहे है या नहीं सुनिश्चित करें। सभी सीएचओ एनसीडी सर्वे में पाए गए सभी मरीजों की जानकारी लेकर बैठक में उपस्थित रहें। फिल्ड में सर्वे के दौरान मास्क और सोशल डिस्टेंश संबंधी निर्देशों का पर्याप्त पालन किया जाएं। उन्होंने मलेरिया माह के दौरान किए जाने वाले कार्य दायित्वों का पालन करने के भी निर्देश दिए। उपस्थित सुपरवाईजर्स को निर्देशित किया गया कि जिन प्रसूताओं के समग्र आईडी नही है इसकी सूचना संबंधित पंचायत के सचिव को तत्काल दें।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...