सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 08 जून - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 9 जून 2020

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 08 जून

सांसद ने सलकनपुर धाम पहुंचकर मंदिर खोले जाने की घोषणा की शासन के नियमों का करना होगा पालन   

sehore news
सोमवार को विदिशा लोकसभा सांसद श्री रमाकांत भार्गव ने सलकनपुर में अधिकारियों की बैठक ली एवं जनप्रतिनिधियों से धार्मिक स्थल खोले जाने से संबंधित व्यवस्थाओं के विषयों में चर्चा की। श्री भार्गव ने कलेक्टर श्री अजय गुप्ता सहित अन्य अधिकारियों से देवी मंदिर में नई गाईड लाईन के अनुरुप लागू की जाने वाली व्यवस्थाओं एवं सुरक्षा व्यवस्थाओं को लेकर विस्तृत चर्चा की। नई गाइड लाईन के अनुसार अब श्रद्धालुओं को सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए मास्क पहनकर ही दर्शन करने होंगे। एक समय में निर्धारित संख्या से अधिक भक्तों को प्रवेश नहीं दिया जाएगा। कोई भी श्रद्धालु मंदिर में पूजन सामग्री व प्रसाद लेकर नहीं जा सकेगा।  इस मौके पर कलेक्टर श्री गुप्ता ने कहा कि श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए रोप-वे को चालू किया जाएगा, किन्तु सुरक्षा कारणों से अब इसमें 6 की जगह 4 श्रद्धालु ही बैठ सकेंगे। इसके लिए किराए में अस्थाई रूप से वृद्धि की जा सकती है। इस मौके पर कलेक्टर ने सलकनपुर क्षेत्र में नेटवर्क कम रहने की बात करते हुए सांसद श्री भार्गव से कहा कि यहां एक टावर लगाने की आवश्यकता है जिससे श्रद्धालुओं को लाभ मिल सके। बैठक के बाद सभी ने मंदिर में मां विंध्यवासिनी देवी के दर्शन कर औपचारिक शुभारंभ किया। इसके बाद एक अन्य बैठक में सांसद श्री भार्गव ने स्थानीय दुकानदारों से चर्चा की एवं उनकी दुकानें खोलने की मांग पर तत्काल अधिकारियों से चर्चा करते हुए दुकाने खोले जाने के आदेश दिए। उन्होंने कहा कि एसडीएम द्वारा जारी गाइड लाईन के अनुरुप ही दुकानदारों को व्यवस्थाएं करनी होगी। बैठक में गेहूं-चना उपार्जन एवं परिवहन व भंडारण व्यवस्था की जानकारी ली गई। श्री भार्गव ने कहा कि किसानों को समय पर खाद,बीज उपलब्ध कराया जाना है। इस कार्य में लापरवाही नहीं होना चाहिए। साथ ही कहा कि नवगठित समितियों को मुख्य धारा में जोड़कर क्रियाशील बनाया जाए जिसमें किसानों को उचित लाभ मिल सके। इस मौके पर मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री अरुण कुमार विश्वकर्मा, पुलिस अधीक्षक श्री शशीन्द्र चौहान, अनुविभागीय अधिकारी बुदनी श्री के.के.रावत सहित अन्य अधिकारी एवं जनप्रतिनधि उपथित थे।

अभी तक कुल 965 सेंपल जांच के लिए भेजे गए

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ सुधीर डेहरिया ने जानकारी दी कि जिले में अन्य देशों से सीहोर पहुंचे कुल व्यक्तियों की संख्या 232 है जिनमें से 184 लोगों की अब तक स्क्रीनिंग स्वास्थ्य विभाग द्वारा की जा चुकी है। पिछले 24 घंटों के दौरान एक भी ऐसे व्यक्ति की पहचान नहीं की गई जो अन्य राज्यों और अन्य जिलों से लौटे थे। जिले में अब तक होम कोरेंटाईन किए गए व्यक्तियों की संख्या 43837 है। डॉ. डेहरिया ने बताया कि पिछले 24 घंटों के दौरान ऐसे व्यक्ति जो विदेश से सीहोर जिले में नहीं लौटे थे परंतु अन्य जिलों एवं राज्यों से लौटे थे और विभागीय अधिकारियों कर्मचारियों द्वारा घर-घर सर्वे के दौरान चिन्हित किए गए। पिछले 24 घंटों में होमकोंरेटाईन की अवधि से 69 लोग बाहर आ चुके हैं जबकि अब तक कुल 41653 व्यक्तियों का होम कोरेंटाइन पूर्ण किया जा चुका है। जिले से अब तक कुल 965 सेम्पल जांच के लिए भेजे गए थे जिनमें से 916 सेंपलों की रिपोर्ट अब तक निगेटिव प्राप्त हुई है। सोमवार को 9 सेंपल जांच के लिए भेजे गए। कुल 30 सेंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। अभी तक हास्पिटल आईसोलेशन में भर्ती मरीजों की कुल संख्या 14 है। कोरोना संक्रमण पाजीटिव मरीजों की संख्या 11 है। कोरोना संक्रमण के कारण मृत्यु संख्या 2 है। कुल कंटेंमेंट एरिया 2 हैं।  पैथालॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 8 है। वहीं विदेश से आए यात्री जो गृह जिला या निवासरत जिला में वापस नहीं आए उनकी संख्या 48 है। कोरोना संक्रमित उपरांत ठीक हुए मरीजों की संख्या 4 है।  जिले में वर्तमान कुल कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 5 है जिसमें 2 युवक और 3 महिलाएं शामिल हैं। जिनका उपचार कोविड केयर सेंटर में चल रहा है। जिले में कुल कंटेंमेंट एरिया आष्टा में है जिनकी संख्या 2 हैं  आष्टा में कंटेंमेंट तथा बफर एरिया में सर्वे के लिए दल लगाए गए हैं। आज आष्टा के कंटेंमेंट एरिया में वार्ड नंबर 16 में सर्वे दलों द्वारा 48 लोगों का स्वास्थ्य फालोअप लिया गया जिसमें बफर जोन के 18 व्यक्ति तथा कंटेंमेंट के 30 व्यक्ति शामिल हैं।  अलीपुर स्थित कंटेंमेंट एरिया वार्ड नंबर 16 में सर्वे दलों द्वारा 48 लोगों का स्वास्थ्य फालोअप लिया गया तथा बफर जोन के 18 व्यक्तियों का स्वास्थ्य फालोअप लिया गया। वहीं अलीपुर स्थित वार्ड नंबर 1 में 26 लोगों स्वास्थ्य फालोअप लेकर स्वास्थ्य संबंध में जानकारी प्राप्त की गई तथा बफर जोन में 8 व्यक्तियों का स्वास्थ्य फालोअप लिया गया। जिले में जो व्यक्ति होम क्वारंटाइन में है उनके निवास स्थान से सीधे संवाद हेतु जिला स्तरीय कोविड-19 काल सेंटर स्थापित किया गया है जिसका संपर्क नंबर-7247704181 है कोविड-19 से संबंधित जानकारी इस संपर्क नंबर पर ली व दी जा सकती है। वहीं जिला चिकित्सालय सीहोर में टेलीमेडिसीन के लिए संपर्क नंबर 07562-401259 जारी किया गया है तथा राज्य स्तर पर 104/181 नंबर पर काल करके भी टेलीमेडिसीन सेवा का लाभ लिया जा सकता है। 104  नंबर पर ई-परामर्श सेवा का भी लाभ लिया जा सकता है। ई-संजीवनी ओपीडी सेवा हेतु www.esanjeevaniopd.in पंजीयन कराया जा सकता है। कलेक्ट्रेट कार्यालय में भी जिला स्तरीय काल सेंटर बनाया गया है जिसका संपर्क नंबर 07562-226470 है तथा होम क्वारंटाइन व्यक्तियों तथा उनके परिजनों के लिए हेल्पलाइन नंबर 18002330175 जारी किया गया है। जिस पर संस्थागत क्वारंटाइन अथवा होम क्वारंटाइन व्यक्ति अथवा उनके परिजन इमोशनल वेलनेस अथवा साईकोलाजिकल सपोर्ट एवं अन्य जरूरी परामर्श मानसिक सेवा प्रदाताओं से निःशुल्क प्राप्त कर सकते है।  

जिले में अब तक 70.2 मि.मी. औसत वर्षा   

जिले में आज 08 जून, 2020 की प्रात:8 बजे समाप्त पिछले चौबीस घन्टों में 7.7 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज की गई है। इसे मिलाकर 1 जून से अभी तक जिले में 70.2 मि.मी औसत बारिश रिकार्ड की जा चुकी है जबकि गत वर्ष इस अवधि में बारिश बिल्कुल भी नहीं हुई थी। अधीक्षक, भू-अभिलेख से मिली जानकारी के अनुसार पिछले चौबीस घन्टों में आष्टा में 11, जावर में नसरुल्लागंज में 14, बुदनी में 23, रेहटी में 13.2 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई। जबकि सीहोर, श्यामपुर, जावर एवं इछावर में वर्षा की स्थति शून्य दर्ज की गई। 

आज से शुरु होंगी हायर सेकेंड्री की शेष बची परीक्षाएं सोशल डिस्टेंसिग एवं शासन के नियमों का पालन करना होगा अनिवार्य   

जिला शिक्षा अधिकारी श्री एस.पी.एस.बिसेन ने जानकारी देते हुए बताया कि हायर सेकेंड्री की शेष बची विषयों की परीक्षाएं 9 जून से प्रांरभ होगी। उन्होंने बताया कि परीक्षार्थी को परीक्षा प्रांरभ से 1 घंटे पूर्व परीक्षा केन्द्र पर पहुंचना होगा। परीक्षार्थी को अपने नाक, मुंह को नकाब या कपड़े से ढंक कर रखना है एवं फिजिकल डिस्टेंस के नियमों का अनिवार्य रूप से पालन करना होगा। साथ ही मास्क लगा कर परीक्षा देना एवं पीने के लिए पानी की बोटल स्वयं लाना है श्री बिसेन ने बताया कि संभव हो तो अपने हाथों को सेनिटाइज करने के लिए सेनिटाइजर भी लाएं, यद्यपि परीक्षा केन्द्र में शुरु में केन्द्राध्यक्ष द्वारा परीक्षार्थी का हाथ धुलाकर सेनिटाइज किया जाएगा, परन्तु कक्ष में या बाथरुम जाने के बाद परीक्षार्थी चाहे तो अपने हाथों को सेनेटाइज कर सकते हैं। परीक्षार्थी इस अफवाह में न पड़े कि कोई भी छात्र कहीं, किसी भी परीक्षा केन्द्र पर परीक्षा दे सकता है। आपको जो केन्द्र आंबटित हुआ है उसमें अथवा  केवल पुराने जिले के पुराने परीक्षा केन्द्र से ही परीक्षा दे सकते हैं। परीक्षा केन्द्र के मुख्य द्वार पर प्रवेश के समय भीड़-भाड़ न करें, अपने दूसरे साथियों से 6 फीट की दूरी बनाएं रखें उनसे हाथ न मिलाएं दूर से ही नमस्ते करें। परीक्षार्थी का थर्मल स्क्रनीनिंग मशीन से केवल टेम्प्रेचर नापा जाएगा, इसके बाद परीक्षा केन्द्र में की गई व्यवस्था से साबुन से हाथ धुलाएं जाएंगे एवं सेनिटाइज किए जाएंगे। परीक्षा कक्ष में प्रवेश के समय भी एक दूसरे से दूरी बनाए रखें, परीक्षा समाप्ति के बाद निकलते समय धैर्य का परिचय दें, जल्दबाजी में न निकलें। ताकि दूसरे किसी से स्पर्श न हो। केन्द्र के बाहर एकत्र न हो, बल्कि सीधे अपने घर जाएं।     

नगरपालिका एवं त्रिस्तरीय पंचायतों की फोटोयुक्त मतदाता सूची का पुनरीक्षण कार्यक्रम 1 जुलाई से प्रारंभ 

उप जिला निर्वाचन अधिकारी सीहोर ने जानकारी देते हुए बताया कि राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा 20 फरवरी 2020 को नगरपालिकाओं एवं त्रि-स्तरीय पंचायतों की फोटोयुक्त मतदाता सूची पुनरीक्षण का निर्वाचन कार्यक्रम जारी किया गया था, किन्तु आयोग द्वारा कोविड-19 के कारण हुए लॉकडाउन से फोटोयुक्त मतदाता सूची पुनरीक्षण का कार्यक्रम स्थगित कर दिया गया था। उन्होंने बताया कि निर्वाचन आयोग द्वारा मतदाता सूची पुनरीक्षण 2020 की स्थगित प्रक्रिया पुन: प्रारंभ की गई है। इस कार्यक्रम के अनुसार 1 जुलाई से 9 जुलाई 2020 तक दावा आपत्ति केन्द्रों पर दावे आपत्ति प्राप्त करने की कार्यवाही की जाएगी। इस दौरान मतदाता अपने नाम जुड़वा या संशोधन करवा सकते हैं।       

सभी स्कूलों में 30 जून तक रहेगा अवकाश   

जिले में आज 08 जून,  शासन द्वारा नोवल कोरोना वायरस एवं उससे जनित बीमारी के संक्रमण से बचाव के लिये शैक्षणिक सत्र 2020-21 के लिये प्रदेश के सभी शासकीय एवं अशासकीय विद्यालयों तथा शिक्षक प्रशिक्षण संस्थाओं में विद्यार्थियों तथा शिक्षकों के लिये 30 जून तक अवकाश घोषित किया गया है। ऑनलाइन अध्यापन की गतिविधियाँ विभागीय आदेश के अनुसार जारी रखी जा सकेंगी। 

मानसून सीजन में खतरनाक हो सकते हैं बिजली के झटके   

जिले में आज 08 जून,  मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने उपभोक्ताओं से बारिश (मानसून) में विद्युत सुरक्षा की ओर विशेष ध्यान देने की अपील की है। बिजली के झटके से मामूली कष्ट से लेकर बुरी तरह जलना और हृदयगति रूकने जैसी घटनाएँ हो सकती हैं। बिजली झटके के शिकार व्यक्ति को जलने, नाड़ी धीमी पड़ने, सांस लेने में तकलीफ होने और बेहोश होने तक की भी स्थिति आ सकती है। बिजली का झटका खराब उपकरण, क्षतिग्रस्त तार या एक्सटेंशन लीड, पानी के संपर्क में आया हुआ बिजली का उपकरण, घर की दोष पूर्ण वायरिंग से लग सकता है। बिजली सुरक्षा के महत्वपूर्ण सूत्र वायरिंग लाइसेंसधारी ठेकेदार द्वारा ही करवायें। जिन साकेटों तक छोटे बच्चों की पहुंच हो सकती है, वहां साकेट कवर लगायें। बिजली के जो उपकरण लगातार प्रयोग में न हों, उनके स्विच बंद कर दीजिये। आईएसआई निशान वाले ही बिजली के उपकरणों का प्रयोग सुनिश्चित करें। बिजली का प्लग निकालते या लगातें समय हाथ गीले न हों। क्षतिग्रस्त तारों वाले बिजली के उपकरणों का प्रयोग न करें। प्रयोग में लाए जा रहे बिजली के सभी उपकरणों की नियमित रूप से जांच करें। क्षतिग्रस्त सॉकेटों, एडेप्टरों और स्विच का प्रयोग न करें। बिजली संबंधी कोई मरम्मत कराई जा रही हो तो मेन स्विच को हमेशा बंद रखें। स्वयं मरम्मत का कार्य तभी करें जब आप इसके बारे मे जानते हों। बरसात के दौरान, खुले स्थान में बिजली के उपकरण न चलाएं। पावर सप्लाई बंद करने के बाद करंट लगे व्यक्ति की सांस और नाड़ी की जांच की जा सकती है और उसे आपातकालीन प्राथमिक चिकित्सा दी जा सकती है। यदि आवश्यक हो तो इसके शिकार व्यक्ति को कृत्रिम श्वांस दें। इससे व्यक्ति के बचने के अवसर बढ़ सकते हैं। यदि इस कार्यावधि के बारे में सुनिश्चित नहीं है तो कृपया फोन निर्देशों के लिए एम्बुलेंस कार्मिकों से पूछताछ करें। अगर रोगी सांस ले रहा है तो एम्बुलेंस आने तक उससे बातचीत करते रहें। पीडि़त को हिलाए/डुलाएं नहीं। घावों और जले हुए स्थानों को ऐसी पट्टियों से ढकें जो उस पर न चिपकें। जले स्थानों पर कभी भी किसी मरहम या तेल का प्रयोग न करें। बिजली का झटका लगने पर घर की मुख्य पावर सप्लाई को तुरंत बंद कर दें। चूंकि मानव शरीर बिजली का अच्छा संवाहक है, इसलिए करंट लगे व्यक्ति को पावर बंद होने तक दूसरे व्यक्तियों द्वारा नहीं छुआ जाना चाहिए ताकि वे स्वयं करंट से बचे रहें। तुरंत आपातकालीन सेवा की सहायता लें और उन्हें विद्युत दुर्घटना के बारे में बताएं।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...