विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 08 जून - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 9 जून 2020

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 08 जून

विदिशा शहर में आयेदिन हो रही चोरी की घटनाओं के संबंध मंे तत्काल कार्यवाही की मांग- शशांक भार्गव 

विदिशाः- विदिशा विधायक शशांक भार्गव ने विदिशा शहर में आयेदिन हो रही चोरी की वारदातों में पिछले 15-20 दिनों से जो अप्रत्याशित वृद्धि हुई है के संबंध में पुलिस अधीक्षक विदिशा को पत्र लिखकर तत्काल कार्यवाही की मांग करते हुए कहा कि जिस प्रकार से शहर में चोरियों की वारदातों में वृद्धी हुई है जिसके चलते शहर के व्यापारी वर्ग एवं आम नागरिकों में असुरक्षा एवं असंतोष की स्थिति निर्मित हुई साथ ही लगातार चोरी की घटनाओं से पुलिस की कार्यशैली पर भी प्रश्नचिन्ह लगा है। एक-एक रात में मुख्य बाजार में दो-दो, तीन-तीन दुकानो के ताले टूटना एवं चोरी की घटनाओं को अंजाम दिये जाने के साथ ही अपराधियों की गिरफ्तारी न होना निश्चित ही असंतोष का विषय है एवं इसी क्रम में सिरोंज में पुलिस द्वारा एक मजदूर की बर्वरता से की गई पिटाई पुलिस की कार्य प्रणाली पर प्रश्नचिन्ह लगाती है इन सब बातों से आम आदमी मे आक्रोश व्याप्त है। उन्होने कहा कि दिनांक 09.06.2020 दिन मंगलवार को जिला अध्यक्ष कांग्रेस श्री कमल सिलाकारी सहित कांग्रेस कार्यकर्तागण दोपहर 12.00 बजे पुलिस अधीक्षक कार्यालय विदिशा पहुंचकर पुलिस अधीक्षक विदिशा से भेंटकर चोरी की वारदातो के संबंध में पुलिस प्रशासन द्वारा क्या-क्या कार्यवाही की एवं भविष्य में चोरी एवं अपराधों के नियंत्रण हेतु आगामी कार्ययोजना से अवगत होगे व चोरियों पर पुलिस द्वारा तुरन्त नियंत्रण नही किया गया तो कांग्रेस पार्टी पुलिस के खिलाफ धरना, प्रदर्शन व मुख्यमंत्री मध्यप्रदेश शासन के पुतला दहन जैसे कार्यक्रम कर कांग्रेस पार्टी सोते हुए पुलिस महकमे को जगाने के लिए बाध्य होगी जिसकी नैतिक जिम्मेदारी शासन-प्रशासन की होगी सहित ही सिरोज में मजदूर की बर्वरता पूर्वक पिटाई के खिलाफ दोषी व्यक्ति के खिलाफ कार्यवाही की मांग की जायेगी।

किसानो को तत्काल आगामी फसल हेतु खाद्य, बीज एवं कृषि कार्य हेतु ऋण उपलब्ध कराया जाये- विधायक भार्गव

किसानों को फसल बीमा की राशि का सहकारी समितिओ में राशि खातों में आने के बाद भी किसानो को आगामी फसल हेतु ऋण उपलब्ध नही कराये जाने के संबंध में विदिशा विधायक शशांक भार्गव ने थान्नेर सहकारी समिति अंतर्गत लगभग 75 किसानों को जिनकी फसल बीमा राशि किसानो के खाते मे आ जाने के बाद भी समिति द्वारा बाॅण्ड बनाकर नही दिये जा रहे एवं आगामी कृषि कार्य हेतु ऋण उपलब्ध नही कराया जा रहा जिसके विरोध स्वरूप कलेक्टर विदिशा के नाम पत्र लिखकर कलेक्ट्रेट पहुंचकर उनकी अनुपस्थिति में नायाब तहसीलदार को पत्र सौपते हुए किसानों की समस्याओ के निराकरण हेतु यथाशीघ्र कार्यवाही की मांग की। इस प्रकार की नियम विरूद्ध एवं किसान विरोधी कार्यवाही से किसान काफी परेशान है जिसका हम विरोध करते है। इस अवसर पर किसान नेता मोहरसिंह रघुवंशी, रईस अहमद कुरैशी, सहित अनेक किसान कार्यकर्ता उपस्थित रहे है।

अत्याधिक विद्युत बिलो को सुधारे जाने, विद्युत कटोती को रोके जाने के संबंध में महाप्रबंधक विद्युत मण्डल से भेट कर की कार्यवाही की मांग की 

विदिशाः- विदिशा विधायक शशांक भार्गव के नेतृत्व में एवं जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष कमल सिलाकारी के साथ बिजली बिलों को लेकर कोरोना में अव्यवस्थित लॉक डाउन से -मजदूर और मध्यम वर्ग की आर्थिक परेशानिया चरम पर हैं। ऐसे समय में सरकार इन वर्गों की मदद करने की जगह बिना रीडिंग लिए चार से छः गुने बिजली बिल थमाकर और दिन में 10 बार लाइट गुल हो रही है के संबंध में महाप्रबंधक म.प्र.म.म.क्षे.वि.वि.कं.लि, जिला विदिशा मध्य्प्रदेश को अवगत कराया कि घरेलू विद्युत उपभोक्ताओं को मनमाने तरीकों से भेजे जा रहे है, अत्याधिक विद्युत भार वाले बिलो के निराकरण एवं समय असमय विद्युत कटौती के संबंध में निश्चित समय अवधि में समस्याओं के निराकरण करने के संबंध में कार्यवाही करने को कहा, साथ ही मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान जी ने मध्य प्रदेश की औद्योगिक इकाइयों को तीन माह का नियत प्रभार समाप्त करने की घोषणा की थी लेकिन इसमें भी उन्होंने उद्योगपतियों के साथ जालसाजी कर 3 महीने के लिए नियत प्रभार समाप्त ना करते हुए अगले 6 माह में किश्तों के रूप में लेना तय किया है जो कि सर्वथा गलत है ऐसी अनेको समस्यओं को लेकर कांग्रेस पार्टी के प्रतिनिधिमंडल एवं वरिष्ट नेताओ ने विधायक के साथ मध्यप्रदेश विद्युत वितरण के महाप्रबंधक से मुलाकात की एवं जल्द ही समस्त समस्याओं का निराकरण करने की मांग की जिसके क्रम में महाप्रबंधक म.प्र.म.म.क्षे.वि.वि.कं.लि विदिशा द्वारा  आश्वासन दिया गया। इस अवसर पर कांग्रेस कार्यकर्ता एवं पदाधिकारियों में प्रमुख रूप से मनोज कपूर, रईस अहमद कुरैशी, कांग्रेस सेवादल ग्रामीण जिला अध्यक्ष गोविंद भार्गव, विद्युत समिति सदस्यगणो में लालू लोधी, ओ.पी. सोनी सहित अनेक कार्यकर्ता उपस्थित रहे है।

बैठकों में समय पर उपस्थित हो लंबित आवेदनों की समीक्षा 

vidisha news
कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने सोमवार को विभिन्न विभागों में लंबित आवेदनो की समीक्षा की। ठीक 11 बजे शुरू हुई बैठक में विलम्ब से आने वाले अधिकारियों को कलेक्टर ने सख्त हिदायत देते हुए निर्देश दिए है कि भविष्य में आयोजित होने वाली बैठको में तय समय पर उपस्थित होना सुनिश्चित करें। कलेक्टर डॉ जैन ने समस्त विभागो के अधिकारियों को निर्देश दिए है कि लंबित आवेदनों पर की गई कार्यवाही का पालन प्रतिवेदन अनिवार्यतः उत्तरा पोर्टल पर दर्ज कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने अंतर विभार्गीय समन्वय के मुद्दो से इस प्रकार की बैठक में अवगत कराने के भी निर्देश दिए है। कलेक्टर डॉ जैन ने महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारी को बाल शिक्षा केन्द्र स्थापित करने, कुपोषित बच्चो के लिए एनआरसी के संचालन हेतु जारी निर्देशो के अनुसार अति कम वजन के बच्चों को भर्ती कराना सुनिश्चित करें। कलेक्टर डॉ जैन ने लंबित आवेदनों की समीक्षा के दरम्यिन अधिकारियों को सख्त हिदायत दी है कि किसी भी आवेदन के निराकरण अथवा जानकारी अंकित करने में आश्वासन शब्दों का उपयोग कदापि ना करें। आवेदन के संबंध में वस्तुस्थिति से अवगत कराएं। निर्धारित फार्मेट में संक्षिप्त में सारगर्भित जानकारियां दर्ज कराएं। कलेक्टर डॉ जैन ने जल जीवन मिशन के तहत चिन्हित कार्यो का सम्पादन समयावधि में कराने के निर्देश देते हुए गुलाबगंज के लिए बर्रीघाट से सप्लाई होने वाली मुख्य पाइप लाइन से 42 कनेक्शन आवंटित किए गए है को बंद कराने के निर्देश ग्यारसपुर एसडीएम श्री संजय जैन को दिए है। कलेक्टर डॉ जैन ने कहा कि रायजिंग पाइप लाइन से किसी भी व्यक्ति को कनेक्शन ना दिया जाए। पाइप लाइन से डिस्ट्रीब्यूट लाइन से ही कनेक्शन देने का कार्य किया जाए। कलेक्टर डॉ जैन ने कहा कि केन्द्रीय गृह मंत्रालय के द्वारा सभी आफिस खोले जाए के संबंध में हेल्थ विभाग द्वारा जारी एसओपी का पालन सभी विभागो के अधिकारी कराना सुनिश्चित करेंगे। 

समीक्षा बिन्दु
कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने हर रोज आयोजित होने वाली समीक्षा बैठको में कोरोना के संक्रमण को रोकने हेतु जिला मुख्यालय की तर्ज पर समस्त एसडीएम अपने-अपने कार्यक्षेत्रों में हर रोज बैठक आयोजित करें जिसमें लॉकडाउन अवधि और ऑन लॉक अवधि के दरम्यिन दी जाने वाली सहूलियतों का कही कोई मिस यूज तो नही कर रहा है। साथ ही सोशल डिस्टेन्सिग और मास्क की अनिवार्यतः का हर क्षेत्र में कड़ाई से क्रियान्वयन कराया जाए। उन्होंने समस्त एसडीएमों को निर्देश दिए है कि जब भी बैठकों में समीक्षा करें तो सार्थक एप, आरोग्य सेतु एप की समीक्षा अनिवार्यतः करें। उन्होंने कहा कि जिला मुख्यालय पर दो रिस्पांस टीम बनी है इसी प्रकार की टीमों का गठन अनुविभाग स्तर पर करें। 
बाढ नियंत्रण
कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने समस्त एसडीएमों को निर्देश दिए है कि बाढ नियंत्रण के लिए किए जाने वाले प्रबंधो की हर रोज समीक्षा करें। उन्होंने अनुविभाग स्तर पर कंट्रोल रूम गठन करने, आवश्यक सामग्रियों की आपूर्ति सुनिश्चित कराने तथा नदी नाले में बहाव होने पर आवागमन रोकने के लिए किए जाने वाले प्रबंधो का पहले से चिन्हांकन करने सुनिश्चित करें। इसी प्रकार तैराकों की सूचियां सम्पर्क सूत्रों की सूचियां अपडेट करने के निर्देश दिए है। बैठक में ग्रामीण विकास विभाग, खाद्य विभाग, कॉ-आपरेटिव, ऊर्जा विभाग के अलावा अन्य विभागों में लंबित आवेदनों पर की गई कार्यवाही से संबंधित विभागो के अधिकारियों द्वारा अवगत कराया गया हे। कलेक्ट्रेट के सभाकक्ष में सम्पन्न हुई इस बैठक में जिला पंचायत सीईओ श्री मयंक अग्रवाल, अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह, डिप्टी कलेक्टर श्री तन्मय वर्मा के अलावा समस्त एसडीएम एवं विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद थे। 

चना उपार्जन की तिथि बढाए जाने का प्रस्ताव प्रेषित

कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने बताया कि जिले में समर्थन मूल्य पर चना उपार्जन के कार्य की तिथि 15 जून तक बढ़ाए जाने का प्रस्ताव प्रेषित किया गया है। उन्होंने किसानो से आग्रह किया है कि धैर्यता बनाए रखें। चना उपार्जन की तिथि में वृद्वि की सूचनाएं प्रेषित की जाएगी। ज्ञातव्य हो कि पूर्व में चना उपार्जन कार्य के लिए अंतिम तिथि दस जून नियत है जिसमें वृद्वि करने का प्रस्ताव कलेक्टर द्वारा संबंधित को प्रेषित किया गया है। कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने उपार्जन कार्यो की समीक्षा के दौरान चना खरीदी के कार्य में तेजल लाने के निर्देश देते हुए प्रत्येक उपार्जन केन्द्र पर कम से कम चार से छह कांटे के प्रबंध सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए है। उन्होंने कहा कि जिन केन्द्रों पर गेंहू उपार्जन कार्य पूर्ण हो गया है। उन केन्द्रों के तौल कांटो का उपयोग चना उपार्जित केन्द्रों पर किया जाए। कलेक्टर डॉ जैन ने कहा कि चना उपार्जन के केन्द्रों का संचालन कठोर मुर्मी भूमि पर किया जाए। ताकि बारिश के दौरान किसी भी प्रकार की अव्यवस्था उत्पन्न ना हो सकें खासकर परिवहन के क्षेत्र में। कलेक्टर डॉ जैन ने प्रत्येक उपार्जन केन्द्र पर चना का शीघ्रतिशीघ्र परिवहन हो इसके लिए दो-दो ट्रक हर रोज उपलब्ध कराने के निर्देश परिवहन ठेकेदार को दिए है। कलेक्टर श्री जैन ने कहा कि जिन केन्द्रो पर गेंहू अभी तक परिवहन नही हो पाया है उन केन्द्रों से सर्वोच्च प्राथमिकता के आधार पर गेंहू परिवहन सम्पादन कार्य किए जाए। कलेक्ट्रेट के सभाकक्ष में हुई उक्त बैठक में जिला आपूर्ति अधिकारी श्रीमती रश्मि साहू, जिला प्रबंधक मध्यप्रदेश स्टेट सिविल सप्लाई कार्पोरेशन श्री सोनू गर्ग, सहकारिता विभाग के उप पंजीयक श्री केके द्विवेदी, कॉ-आपरेटिव बैंक के सीईओ श्री विनय प्रकाश सिंह के अलावा परिवहन ठेकेदार श्री संजय भण्डारी मौजूद रहें। 

मत्स्याखेट 15 अगस्त तक प्रतिबंधित

कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी डॉ पंकज जैन ने विदिशा जिले में मत्स्याखेट पर 16 जून से 15 अगस्त तक की अवधि के लिए पूर्णतः निषेध करने की अधिसूचना जारी कर दी है। कलेक्टर द्वारा जारी अधिसूचना में उल्लेख है कि वर्षा ऋतु में मछलियों की वंशवृद्वि (प्रजनन) के दृष्टिकोण से उन्हें संरक्षण देने हेतु जिले के सभी जल संसाधनो में मध्यप्रदेश नदीय मत्स्याद्योग अधिनियम 1972 की निहित धाराओं के अंतर्गत 16 जून से 15 अगस्त तक की अवधि को बंद ऋतु (क्लोज सीजन) अधिघोषित किया गया है। उक्त अवधि में सभी प्रकार के मत्स्याखेट पूर्णतः निषिद्व रहेगां साथ ही मत्स्य विक्रय या विनिमय अथवा परिवहन करना भी प्रतिबंधित रहेगा। 

पेयजल आपूर्ति के प्रबंधन हेतु नोडल अधिकारी नियुक्त

वर्षाकाल के दौरान ग्रामीण क्षेत्रों में सतत शुद्व पेय जल आपूर्ति बनाए रखने हेतु कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा दिए गए निर्देशो के अनुपालन में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकीय विभाग द्वारा जिला मुख्यालय पर बाढ एवं राहत प्रकोष्ठ का गठन किया गया है गठन कर सहायक यंत्री श्री केएस सिरोही को प्रभारी अधिकारी नियुक्त किया गया है जिनका मोबाइल नम्बर 9893425234 है। लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के कार्यपालन यंत्री श्री एसके जैन ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में सतत शुरू पेयजल की व्यवस्था के क्रियान्वयन हेतु दल गठित किए गए है वही त्वरित सूचना प्राप्ति हेतु खण्ड स्तर पर भी नोडल अधिकारी नियुक्त किए गए है। तदानुसार विदिशा एवं नटेरन विकासखण्ड के लिए नोडल अधिकारी सहायक यंत्री श्री जेएन ललवानी का मोबाइल नम्बर 9425447935 है। ग्यारसपुर विकासखण्ड के नोडल अधिकारी सहायक यंत्री श्री पीके जैन का मोबाइल नम्बर 7987678544, बासौदा एवं कुरवाई विकासखण्ड के लिए संयुक्त नोडल अधिकारी सहायक यंत्री मोह. जेनुल का मोबाइल नम्बर 9540550105 तथा लटेरी एवं सिरोंज विकासखण्ड के लिए सुश्री शुची जैन को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है। उनका सम्पर्क नम्बर 8817399766 है। समस्त नोडल अधिकारी कार्यालय में ग्रामीण क्षेत्रों से पेयजल समस्या संबंधी सूचनाएं प्राप्त होने पर समस्याओं को रजिस्टर में पंजीकृत करने हेतु कार्यालय में एक कर्मचारी को अधिकृत करेंगे तथा समस्या के निराकरण की त्वरित कार्यवाही सुनिश्चित करेंगे।   

मध्यप्रदेश मानव अधिकार आयोग के संज्ञान में प्रकरण  पुलिस अधीक्षक से निर्धारित बिन्दुओं पर प्रतिवेदन 

मध्यप्रदेश मानव अधिकार आयोग के माननीय सदस्य श्री मनोहर ममतानी ने मानव अधिकार हनन से जुड़े दो मामलों में संज्ञान लेकर संबंधितों से प्रतिवेदन मांगा है।नाबालिग के अपहरण का संदेह, पुलिस ने ऐसा पीटा की युवक का शरीर पडा नीला, हाथ की 2 अंगुली टूटी, 500 रूपये देकर मां ने थाने से छुडाया विदिशा जिले के सिरोंज निवासी संतोष वंशकार से पुलिस द्वारा बिना वजह मारपीट का मामला सामने आया है। युवक मजदूरी करता है और समाज की एक नाबालिग कुछ समय पहले घर से गायब हो गई थी। लड़की के परिजनों ने मामले की शिकायत सिरोंज थाने में करते हुए संतोष पर संदेह जताया है। मामले में पुलिस ने अपहरण का प्रकरण कायम किया और पुलिस के जवानों ने उसे 4 जून को सिरोंज थाने में बुलाया था। इस दिन मजदूरी से लौटकर आने पर युवक खुद थाने पहुंच गया। पुलिस ने उसे पाइप और बेल्ट से इतना अधिक पीटा की अब उसके शरीर का हिस्सा नीला पड़ गया और हाथ की दो उंगली भी टूट गई हैं। अब उससे चलते भी नहीं बन रहा। घर पर ही जख्मी पडे़ युवक ने बताया कि पुलिस के बुलाने पर वे खुद थाने गया था। वे लोग उससे वे सवाल पूछ रहे थे, जिनका जवाब उसे पता ही नहीं था। इसके बाद मारपीट शुरू कर दी और रात भर थाने में रखा। संतोष की मां गीताबाई ने बताया कि बेटा जब रात भर वापस नहीं आया, तो वे लोग बीते शुक्रवार को सिरोंज थाने पहुंचे। वहां पर उन्हें उससे मिलने भी नहीं दिया गया। 500 रूपये दिये जब जाकर उसे छोड़ा। उसे आटो से घर लेकर आये। अब इतने रूपये भी नहीं है कि बेटे का कहीं पर इलाज करवा सकें। इस मामले में आयोग ने पुलिस अधीक्षक, विदिशा से 10 जुलाई 2020 तक प्रतिवेदन मांगा है। आयोग ने पूछा है कि (1) क्या संतोष वंशकार को  04 जून को ही सिंरोज थाने पर बुलाया गया था ? क्या 04 व 05 जून की मध्यरात्रि में उसे थाना सिंरोज के लाकअप में ही रखा गया था ? (2) संतोष वंशकार के विरूद्ध किस अपराध के संबंध में थाना सिंरोज में अपराध पंजीबद्ध किया गया था ? (3) उसे किस दिनांक को गिरफ्तार किया गया और उसका डाक्टरी परीक्षण कब कराया गया ? (4) थाना सिंरोज के 04 एवं 05 जून के रोजनामचा रजिस्टर इंद्राज की प्रतियाँ भी दें। (5) यदि पुलिस द्वारा पीड़ित संतोष वंशकार का डाक्टरी परीक्षण नहीं करवाया गया हो, तो उसका डाक्टरी परीक्षण तत्काल कराते हुए संबंधित चिकित्सक के अभिमत सहित मेडीकल परीक्षण प्रतिवेदन की प्रतिलिपि भी दी जाये।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...