द मीडिया रंबल 2020 अब एक नए अवतार में - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 28 जून 2020

द मीडिया रंबल 2020 अब एक नए अवतार में

  • - द मीडिया रंबल 2020 में एक नई श्रृंखला – टीएमआर डिस्पैचस 26 जून से शुरू हो रहा है और 4-दिवसीय टीएमआर@ ऑनलाइन सितंबर महीने में होगा।
  • - टीएमआर का चौथा संस्करण सितंबर 2020 में टीएमआर @ ऑनलाइन नामक एक डिजिटल फोरम होगा जिसमें समाचार मीडिया क्षेत्र से संबंधित प्रमुख मुद्दों पर चर्चा होगी।
  • - पाक्षिक सीरीज  टीएमआर डिस्पैचस का थीम  रहेगा N-E-W-S - North (नार्थ), East (ईस्ट), West (वेस्ट) और South (साउथ) जिसमें देश के विभिन्न क्षेत्रों  से प्रमुख पत्रकार और संपादक शामिल होंगे।
the-media-rumble
 नई दिल्ली  न्यूज़लॉन्ड्री और टीमवर्क आर्ट्स द्वारा आयोजित वार्षिक समाचार और मीडिया फ़ोरम, द मीडिया रंबल (टीएमआर) इस साल टीएमआर डिस्पैचस और टीएमआर @ ऑनलाइन के साथ एक नए अवतार में वापस आ रहा है। दक्षिण एशिया के सबसे बड़े मीडिया फोरम, टीएमआर में दुनिया भर के प्रमुख समाचार पेशेवर, टैकनोलजी अविष्कारक, नीति निर्धारक, फिल्म निर्माता और निवेशक चर्चा करते हुए नजर आयेंगे । सितंबर 2020 में  होने वाला  टीएमआर @ ऑनलाइन श्राताओं के लिए उनके  निजी स्क्रीनों पर उपलब्ध होगा जिसमें वे भारत और दुनिया भर के प्रमुख समाचार पेशेवरों को देख और सुन सकेंगे । इस वर्ष एक नई पाक्षिक श्रृंखला टीएमआर डिस्पैचस सितंबर में होने वाले प्रमुख फोरम टीएमआर@ऑनलाइन की अगुवाई करेगा।

सितंबर 2020 के लिए निर्धारित, टीएमआर @ ऑनलाइन में समाचार मीडिया से संबंधित  कई प्रमुख मुद्दों पर चर्चा होगी। टीएमआर फोरम में इस वर्ष कोविड-19 और मीडिया पर उसके प्रभाव पर काफी चर्चा रहेगी जिसमें "मीडिया फ्रंट-लाइन योद्धाओं" की भूमिका, विज्ञापन-राजस्व में गिराव, मीडिया हाउसेस में छंटनी और व्यापार मॉडल पर पुनर्विचार जैसे कई मुद्दे उठाये जायेंगे। प्रवासीयों के संकटों और प्रेस में इसकी कवरेज  पर भी गहन चर्चा रहेगी। इसके अलावा, भारतीय मीडिया घरों के लिंग और जाति संरचना, प्रेस स्वतंत्रता, नफरत फ़ैलाने वाले समाचार और डिजिटल परिवर्तन के युग में समाचार मीडिया के भविष्य जैसे विषय टीएमआर  @ ऑनलाइन में दिखाई देंगे। टीएमआर डिस्पैचस सीरीज़ में भारत में क्षेत्र-वार पूरे मीडिया परिदृश्य को कवर किया जाएगा  और समाचार मीडिया क्षेत्र के लिए चुनौतियों, रुझानों और आगे बढ़ने के तरीकों पर चर्चा रहेगी। टीएमआर डिस्पैचस का पहला सत्र उत्तर भारत पर केंद्रित होगा जिसका विषय रहेगा: मिथक या वास्तविकता? हिंदी की दिल्ली से निकटता उत्तर भारत को समाचार जगत में लाभ प्रदान करती है।

the-media-rumble
शुक्रवार 26 जून, 2020 को शाम 5 बजे के इस  सत्र में पूर्व संसद सदस्य और नई दिल्ली से प्रकाशित उर्दू साप्ताहिक नई दुनिया के प्रबंध निदेशक और मुख्य संपादक शाहिद सिद्दीकी, के साथ शामिल रहेंगे पुरुस्कृत पत्रकार और द वायर में वरिष्ठ संपादक अरफा खानम शेरवानी; पंजाबी लेखक और स्तंभकार सुकीरत; और हिमांशु द्विवेदी जो मध्य भारत से प्रकाशित दैनिक हिंदी समाचार पत्र हरिभूमि के मुख्य संपादक हैं। इस सत्र का संचालन न्यूज़लौंड्री में कार्यकारी संपादक मनीषा पांडे द्वारा किया जाएगा। सितम्बर में 4 दिवसीय टीएमआर @ ऑनलाइन से पहले यह पाक्षिक सीरीज टीएमआर  डिस्पैचस जून से सितंबर तक पेश किया जा रहा है और इसे टीएमआर के सभी सोशल मीडिया हैंडलस - फेसबुक, इंस्टाग्राम, यूट्यूब - के साथ-साथ आधिकारिक टीएमआर  वेबसाइट पर देखा जा सकता है।

सितंबर में टीएमआर @ ऑनलाइन में राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय मीडिया के विशेषज्ञों की मेजबानी की जाएगी। अंतर्राष्ट्रीय वक्ताओं में शामिल रहेंगे ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय के  ‘रॉयटर्स इंस्टीट्यूट फॉर द स्टडी और जर्नलिज्म’ के निदेशक प्रो. रासमस क्लेस नीलसन, जो दुनिया भर में बदलते डिजिटल मीडिया परिदृश्य पर प्रकाश डालेंगे। ‘कमिटी टू प्रोटेक्ट जर्नलिस्ट्स’ (सीपीजे) के कार्यकारी निदेशक जोएल साइमन प्रेस की आजादी और निगरानी, पत्रकारों पर हमला और गिरफ्तारी जैसे विषयों पर अपनी बात रखेगे। जर्मनी के डाटेंनफ्रॉएंडे के संस्थापक मार्को मास  प्रौद्योगिकी पैनल पर बात करेंगे। ‘स्लीपिंग जाइंट्स मूवमेंट’, यूएसए की  सह-संस्थापक, नंदिनी जम्मी, और ‘स्टॉप फंडिंग हेट’, यूके के सह-संस्थापक रिचर्ड विल्सन रहेंगे‘हेट न्यूज ब्रोट टू यू बी : विद ग्रेट एडवरटाइजिंग कम्स ग्रेट रेस्पोंस्बिलिटी’ नामक सत्र में। एक अन्य प्रमुख सत्र में रवांडा नरसंहार और उसमें मीडिया की भूमिका पर चर्चा होगी जिसमें शामिल होंगे कार्लटन यूनिवर्सिटी के ‘स्कूल ऑफ़ जर्नलिज्म एंड कम्युनिकेशन’ के एसोसिएट प्रोफेसर एलन थॉम्पसन, जो की ‘द मीडिया एंड द रवांडा जेनोसाइड’ के संपादक भी हैं।

द मीडिया रंबल 2020 के बारे में बोलते हुए, टीमवर्क आर्ट्स के प्रबंध निदेशक, संजोय  के. रॉय ने कहा, "आजकल मोबाइल फोन, सोशल मीडिया और मेस्सजिंग एप्प्स इतने प्रचलित हो गये हैं कि फायदे के साथ- साथ नुकसानदेयी और झूठी बातें और खबरें भी आसानी से फैल सकती हैं। ऐसे में बहुत जरूरी है की हम दर्शकों में सूचित निर्णय की क्षमता को बढ़ावा दें ताकि वे प्रचार प्रसार, सनसनीखेज और नकली समाचारों में न फस कर विश्वसनीय जानकारी को जान और पहचान सकें। खासतौर से इस मुश्किल समय में न्यूज़ मीडिया की भूमिका काफी महत्वपूर्ण रही है और टीएमआर डिस्पैचस और टीएमआर@ ऑनलाइन के द्वारा द मीडिया रम्बल फोरम ज्ञान-साझाकरण, सर्वोत्तम प्रथाओं पर चर्चा और मीडिया पेशेवरों व उपभोक्ताओं को महत्व के मुद्दों पर विचार-विमर्श करने के लिए साथ लाने में पहल कर रहा है। टीमवर्क आर्ट्स अपनी खास प्रोग्रामिंग और क्युरेसन के लिए जाना गया है और इसे हम डिजिटल प्लेटफ़ॉर्म में भी दर्शकों तक पहुँचाने की कोशिश कर रहे हैं।" न्यूज़लौंड्री के सीईओ और सह-संस्थापक अभिनंदन सेखरी ने कहा, “इस साल टीएमआर @ ऑनलाइन एक डिजिटल फोरम रहेगा पर यह डिजिटल अनुभव सिर्फ 2020 तक सीमित नही है, हम आगे भी इसे जारी रखेंगे। कोविड-19 संकट ने दुनिया को ऑनलाइन जाने पर  मजबूर तो किया है पर  कुछ अवसर भी पैदा किये हैं - जैसे कि दुनिया भर से टीएमआर @ ऑनलाइन 2020 के लिए विविध और समावेशी वक्ताओं का शामिल होना आसान हो गया है। टीएमआर डिस्पैचस भी देशभर की मीडिया पर महत्वपूर्ण चर्चाओं की मेजबानी करेगा। बस इन्हें टीएमआर का एक नया रंग रूप और नया कैलेंडर समझ लीजिये।" 

टीएमआर  डिस्पैचस रुपरेखा
शुक्रवार, 26 जून 2020
शाम 5:00  बजे

उत्तर भारत - मिथक या वास्तविकता?  हिंदी की दिल्ली से  निकटता उत्तर भारत को समाचार जगत में लाभ प्रदान करती है .
शुक्रवार, 10 जुलाई 2020
शाम 5:00  बजे

पूर्वी भारत - हमें किसी मुख्यधारा की आवश्यकता नहीं है: हमारी कहानियाँ, हमारे कहानीकार
शुक्रवार, 24 जुलाई, 2020
शाम 5:00  बजे

पश्चिम - मुंबई का लुटियंस: क्या मनोरंजन पत्रकारिता सभी कुछ प्राप्त करना है ? 
शुक्रवार, 24 अगस्त, 2020
शाम 5:00  बजे

दक्षिण भारत - समाचार में केंद्र स्थान को पुनः प्राप्त करना: एक मजबूत बाजार और नवाचार केंद्र

* अतिरिक्त सत्र के साथ टीएमआर डिस्पैचस के लिए एक अद्यतन अनुसूची जल्द ही घोषित की जाएगी।
* टीएमआर @ ऑनलाइन शेड्यूल तारीख के करीब जारी किया जाएगा। 

टीमवर्क आर्ट्स के बारे में:
30 से अधिक वर्षों से टीमवर्क आर्ट्स ने भारत को पूरी दुनिया तक पहुंचाया है और पूरी दुनिया को भारत के पास लाया है। हम ने ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, मिस्र, फ्रांस, जर्मनी, हांगकांग, इटली, इजरायल, कोरिया, सिंगापुर, दक्षिण अफ्रीका, स्पेन, ब्रिटेन और अमेरिका जैसे देशों में 25 से अधिक अत्यधिक प्रशंसित प्रदर्शन कृतियों तथा दृश्य कृतियों को सृजित किया है। हम दुनिया के सबसे बड़े साहित्यिक उत्सव ‘जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल’ का आयोजन करते हैं; ‘जेएलएफ अंतर्राष्ट्रीय’ अब अमेरिका, ब्रिटेन, कनाडा, कतर और ऑस्ट्रेलिया में भी आयोजित किया जाता है और हाल ही में एक डिजिटल श्रृंखला -  ‘जेएलएफ ब्रेव न्यू वर्ल्ड’ लॉन्च किया  है। हमारी संगीत नाटक प्रस्तुति, ‘बॉलीवुड लव स्टोरी – अ म्यूजिकल’ के शोस दुनिया भर में जहाँ भी प्रस्तुत हों, सोल्ड आउट रहते हैं।



न्यूज़लौंड्री  के बारे में
न्यूज़लौंड्री  एक स्वतंत्र समाचार, वर्तमान मामलों और मीडिया विश्लेषण संगठन है। एक बहु-मीडिया समाचार संगठन, न्यूज़लौंड्री अपने मीडिया समालोचना, जमीनी रिपोर्ताज, पॉडकास्ट, डिजिटल शोस और इंटरव्यूस के लिए जाना जाता है।  न्यूज़लौंड्री  ने भारतीय समाचार मीडिया क्षेत्र में सबस्क्रिपशन-ओन्ली मॉडल का नेतृत्व किया है और हम सरकार या कॉर्पोरेट्स से कोई विज्ञापन नहीं लेते। न्यूज़लौंड्री का दृष्टिकोण  रहा है की "जब जनता भुगतान करती है, तो जनता को सेवा दी जाती है, और जब विज्ञापनदाताओं का भुगतान होता है, तो विज्ञापनदाताओं को सेवा दी जाती है"। आप न्यूज़लौंड्री की सदस्यता लेकर स्वतंत्र मीडिया का समर्थन कर सकते हैं, और समाचार मुक्त रखने के लिए भुगतान कर सकते हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...