कांग्रेस सभी राज्यों में राजभवनों का घेराव करेगी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 26 जुलाई 2020

कांग्रेस सभी राज्यों में राजभवनों का घेराव करेगी

congress-will-protest-governor-house-nationwide
जयपुर, 25 जुलाई, कांग्रेस राजस्थान में राज्यपाल द्वारा विशेष सत्र नहीं बुलाने के विरोध में 27 जुलाई को जयपुर सहित सभी राज्यों के राजभवनों का घेराव करेगी। कांग्रेस के संगठन महासचिव के सी वेणुगोपाल ने ट्वीट करके राजभवनों का घेराव करने की घोषणा की। वेणुगोपाल ने कहा है कि लोकतंत्र की हत्या के खिलाफ देश भर में राजभवनों का घेराव करेगी। इससे पहले मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिह शेखावत पर विधायकों की खरीद फरोख्त में लिप्त होने के आरोप लगाते हुए उनके खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है। श्री गहलोत ने कहा है कि उनकी सरकार चाहती है कि 31 जुलाई से सत्र बुलाया जाये। उन्होंने चेतावनी दी है कि जरुरत पड़ने पर राष्ट्रपति के समक्ष भी यह मुद्दा उठाया जायेगा। सत्र बुलाने को लेकर हो रही राजस्थान कैबिनट की बैठक खत्म हाे गयी है। मंत्रिमंडल ने विधानसभा सत्र बुलाने के लिये फिर से कैबिनेट में प्रस्ताव पारित कर दिया है। अब इसे राज्यपाल को भेजा जायेगा। उधर व्हिप उल्लंघन के मामले में राजस्थान उच्च न्यायालय के फैसले से सचिन पायलट सहित 19 विधायकों को राहत जरूरी मिली है, लेकिन यह मामला अब सोमवार को उच्चतम न्यायालय में भी सुना जायेगा। विधानसभाध्यक्ष डा़ सीपी जोशी ने इसे अदालत का हस्तक्षेप बताते हुए उच्चतम न्यायालय की शरण ली थी, जिस पर सोमवार को सुनवाई होगी। इस बीच कांग्रेस ने विधानसभा सत्र नहीं बुलाने के मामले में भारतीय जनता पार्टी पर दखल देने का आराेप लगाते हुए राज्य के जिलों में धरना प्रदर्शन किये। जयपुर में धरने में वरिष्ठ कांग्रेस नेता केंद्र सरकार पर जमकर बरसे।उधर कांग्रेस की दबाव की राजनीति के बीच भाजपा का प्रतिनिधिमंडल भी आज राज्यपाल से मिला तथा मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पर संवैधानिक संस्था को आतंकित करने का आरोप लगाया। प्रतिनिधिमंडल में शामिल नेताओं ने कहा कि श्री गहलोत विश्वव्यापी महामारी से निपटने के लिये काम करने की बजाये अपनी पार्टी के असंतोष से उपजी समस्या को लेकर भाजपा पर आराेप लगा रहे हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: