मधुबनी : सुशासन में असुरक्षित हैं पत्रकार, लगातार हो रहे हमले : गांधी मिश्र - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 25 जुलाई 2020

मधुबनी : सुशासन में असुरक्षित हैं पत्रकार, लगातार हो रहे हमले : गांधी मिश्र

journalist-unsafe-attcked-gamdhi-mishra
मधुबनी। सुशासन की सरकार में लोकतंत्र का चौथा स्तंभ पूरी तरह असुरक्षित है।सूबे में लगातार पत्रकारों पर हमले हो रहे हैं और अपराधियों पर को कार्रवाई नहीं हो रही है यह सुशासन सरकार की सबसे बड़ी विफलता है।ये बातें शनिवार को आईरा के जिला संयोजक गांधी मिश्र गगन ने कही है।उन्होंने कहा कि कहीं पुलिस की मिलीभगत से पत्रकार को झूठे मामले में फंसा दिया जाता है तो कहीं पुलिस,नेता अपराधी के गठजोड़ से उनके मीडिया कर्मियों पर हमले किए जा रहे हैं।शुक्रवार को जिले के मधेपुर प्रखंड में समाचार संकलन के लिए सड़क पर निकले सोनभद्र दैनिक के संवाददता नीरज कुमार सिंह उर्फ पिंटू सिंह पर पीछे से असमाजिक तत्वों द्वारा पत्थर मारकर जख्मी करने की घटना की उन्होंने तीव्र निंदा की है और मामले में पुलिस से नामजद चार  सहित आठ आरोपितों की जल्द से जल्द गिरफ्तारी की मांग की है।हालांकि,स्थानीय पत्रकारों की पहल पर इस मामले में पुलिस की अबतक की भूमिका को उन्होंने  संतोषजनक बतलाया है।बताते चलें कि शुक्रवार पत्रकार श्री सिंह क्षेत्र में खबर संकलन के लिए निकले थे।इसी क्रम में बाहर से आए कुछ मनचले नौजवानों ने कीचड़ में अपनी वाहन की रफ्तार कम किए बगैर दौड़ा दी।जिससे,पत्रकार सिंह के पूरे कपड़े कीचड़ से खराब हो गए।इसी बात को लेकर स्थानीय लोगों ने उन लड़कों को पकड़ कर माफी मंगवाई।मामला वहीं समाप्त हो गया।लेकिन,उन मनचलों की मानसिकता नहीं बदली और पुनः जब शाम में वो बाइक से जा रहे थे तो पीछे से सिर पर पत्थर मार दिया।जिससे,वो बाइक सहित गिरकर बुरी तरह जख्मी हो गए।स्थानीय लोगों की मदद से उन्हें इलाज के लिए स्थनीय पीएचसी ले जाया गया।बाद में घटना की सूचना मिलते ही पत्रकार सुभाष यादव, रविंद्र नाथ झा,सुरेश यादव सहित सभी स्थानीय मीडिया कर्मी वहां पहुंचकर इसकी सूचना थाना को दी।जहां जख्मी पत्रकार सिंह के बयान पर चन्द्रहिया के मिथिलेश पासवान, अवधेश पासवान,छोटू पासवान एवं चंदन पासवान सहित आठ अज्ञात  लोगों को नामजद किया गया।सभी नामजद एवं अज्ञात गांव से कार फरार हो गए हैं।पुलिस मोबाइल नंबर के आधार पर सभी फरार का सीडीआर खंगाल रही है।श्री मिश्र ने कहा कि आईरा पत्रकारों पर हमले और दमनात्मक कार्रवाई बर्दास्त नहीं करेगी।उन्होंने राज्य सरकार एवं जिला प्रशासन से पत्रकारों की सुरक्षा की समुचित व्यवस्था करने की मांग की है अन्यथा आईरा आंदोलन के लिए बाध्य होगा।घटना की निंदा व कार्रवाई की मांग करने वालों में आईरा के बृजेश चंद्र,राजेश मिश्रा,रजनीश झा,प्रदीप कुमार गुप्ता, सुमित कुमार,सुभाष सिंह यादव, प्रवीण कुमार ठाकुर,रौशन ठाकुर, कपिल मिश्रा,हरिशंकर कुमार सहित संपूर्ण आईरा परिवार के सदस्य शामिल हैं।सभी साथी शामिल हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: