बिहार : पटना नगर निगम के तीन के पेंच में अल्पसंख्यक मोहल्ला - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 10 जुलाई 2020

बिहार : पटना नगर निगम के तीन के पेंच में अल्पसंख्यक मोहल्ला

mariumtola-patna
पटना. पटना नगर निगम के वार्ड नम्बर-1 की वार्ड पार्षद हैं महादलित छठिया देवी. वार्डों की संख्या में पटना नगर निगम के वार्ड नम्बर -1 है. परन्तु सभी वार्डों  में फिसड्डी बनकर रह गया है. इसके कारण ही लोग परेशान होकर रह गये हैं.यहां की स्थिति बहुत ही भयावह हैं.वर्षाकालीन मौसम के अलावे अन्य दिनों में भी नाला का अभाव के कारण रोड पर पानी बहता रहता है. बरसात के दिनों में रोड के साथ घरों में भी जलभराव हो जाता है.इसी स्थिति में लोग जीने को मजबूर हैं. घर में पानी व बाहर में भी पानी रहने से लोग आजिज हो गये हैं.सर्वाधिक बच्चे और महिलाएं परेशान हो जाती हैं. इस समय अल्पसंख्यक मोहल्ला मरियम टोला का बुरा हाल है.यहां के लोग प्रत्येक साल जलजमाव से ऊब गए हैं.ठेऊना भर पानी में आवाजाही करते हैं.कई लोग तो भर बरसात अन्यत्र जाकर किराया का मकान में रहने को बाध्य हो जाते हैं .

खैर, कई दशक से अल्पसंख्यक मोहल्ला मरियम टोला में जलजमाव की समस्या बन गयी है. इस विकराल समस्या के चलते ईसाई धार्मिक संस्थानों के अधिकारियों ने एक्स.टी.टी.आई.के परिसर में पानी न आए तो संस्थान के अधिकारियों ने मुख्य द्वार ही बंद कर दिया. मिट्टी व बालू से बोरा भरकर मुख्य मार्ग रोक दिया. इसी द्वार से मरियम टोला के ईसाई भक्तगण रविवारीय मिस्सा पूजा में भाग लेने जाते थे. मुख्य मार्ग बंद करने से भक्तों को तीन किलोमीटर तय करके एक्स.टी.टी.आई. में मिस्सा पूजा में भाग लेने जाने को मजबूर हो गए. जानकार लोगों का कहना है कि पटना महाधर्मप्रांत के महाधर्माध्यक्ष विलियम डिसूजा से भक्तगण काफी मिन्नत करके मिस्सा पूजा की व्यवस्था करवाने में सफल हो गए. यहां तो यह कहावत चरितार्थ है कि ताड़ से गिरा खजूर पर अटक गया. यहां पर आवाजाही करने में दिक्कत होने लगी.यहां भी काफी जलभराव है. तो चचरी लगाना पड़ा.इसी चचरी पर चढ़कर लोग मिस्सा पूजा में भाग लेने जाते हैं. इस बीच वहीं पर दीघा थाना की एक आरक्षी का घर है. अपने घर को सुरक्षित करने के लिए व  पानी का बहाव को रोकने के लिए मिट्टी भर दिया. इस तरह के मिट्टी भरने पर जलबहाव का स्तर उपर होने पर सड़क पर जलठहराव होने लगा. तब लोगों की परेशानी और बढ़ गयी. यहां के लोग जन प्रतिनिधियों से काफी उदासीन हो गए हैं.जब उनके द्वारा विकास कार्य ही नहीं हो पा रहा है, तो विकास की बात करने को कहां और किसके पास जाए? तब यहां के लोगों ने उभरते नेता राजन क्लेमेंट साह के पास गये. वे बीजेपी अल्पसंख्यक मोर्चा के प्रदेश मंत्री थे. अब उपाध्यक्ष हैं. उन्होंने तत्काल दीघा के विधायक माननीय संजीव चैरसिया जी से मिलकर मरियम टोला की समस्या अंत करने का आग्रह किया.वहीं वार्ड नम्बर -1 की वार्ड पार्षद छठिया देवी के पास भी गए. उनसे आग्रह किया कि पटना नगर निगम के द्वारा फंड रिलिज करवाकर नाला और रोड का निर्माण करवाकर उत्पन्न समस्या का अंत करवा दें. मरियम टोला में रहती हैं. एक सामाजिक कार्यनेत्री प्रियंका मार्टिन ने सी.एम.नीतीश कुमार से आग्रह की है कि मरियम टोला की  समस्याओं का समाधान जल्द से जल्द निकाला जाएं.

उस समय तनवीर अख्तर साहब कांग्रेस से मोहभंग कर जदयू में शामिल हुए थे.इसका पुरस्कार बतौर एम.एल.सी.के रूप में मिला. वहीं तनवीर साहब को नगर विकास समिति का अध्यक्ष भी बनाया गया. विधान पार्षद व समिति अध्यक्ष का दायित्व बखूबी निभाएं.एम.एल.सी. व नगर विकास समिति के अध्यक्ष तनवीर अख्तर के साथ बैठक में बिहार के ईसाई समुदाय के क्षेत्र में सामाजिक और आर्थिक सुधारों के बारे में जमकर चर्चा की गयी.मरियम टोला की समस्या को लेकर तनवीर अख्तर काफी दिलचस्पी दिखायी थी. इस मसले को बिहार विधान परिषद में उठाने का वादा किया. सामूहिक आवेदन लिया परन्तु समस्या जस का तस ही है. सम्प्रति अल्पसंख्यक मोहल्ला मरियम टोला हाशिए पर है. अल्पसंख्यक मोहल्ला मरियम टोला का जलजमाव को दूर करें. इस टोला में रहने वाले लोगों का सबका साथ चाहिए.तो टोला का विकास सबके लिए करना.तब जाकर सबका विश्वास मिलेगा. जो आगामी अक्टूबर-नवम्बर माह में चुनाव के समय टॉनिक का काम करेगा.ऐसा न हो कि ‘नो ड्रेन नो वोट‘का बैनर टंग जाए. इस बीच सीटिंग एमएलए ‘माउथ लुकिंग एजेंट‘ बनकर रह गये है.

इस समय दीघा वि.स.से राजद के संभावित प्रत्याशी पप्पू राय भी मैदान मारने को बेताब है. सामाजिक सेवक है.घर के आंगन के आदमी हैं.यहां की एक दिन की समस्या नहीं है.कई दशक से लोग परेशान हैं.राजनीतिक पार्टी के जनप्रतिनिधि विपक्ष में रहते हैं तो आवाज उठाते है. जहां सत्ताधारी बनते ही धृतराष्ट्र बन जाते हैं. फेसबुक पर लिखा गया है कि वक्त की मांग है शक्ति प्रदर्शन करने को. वामन ने प्रजा को दीनहीन समझे थे तो रसातल चले गये...रंजन गुप्ता कहते है कि बेशर्म लोग हैं वोट मांगने आये तो...के माला पहनाइए. एक ने कटाक्ष में कहा कि सात निश्चय का एक कार्यक्रम ‘हर घर नल योजना सफल हुआ‘.यहां के निवासियों का कहना है कि दीघा-आशियाना रोड में भूमितल नाला निर्माण जारी है.इसी नाला में मरियम टोला का नाला जुटान कर दिया जाए. यह एक्स.टी.टी.आई.परिसर से होकर उक्त भूमितल नाला में जुटान करना होगा. केवल व्यवधान यह है कि वह भूमितल नाला बनकर कार्यशील हो जाए. कार्यशील नाला होने पर दीवार तोड़कर नाला का जुटान कर दिया जाएगा.

अल्पसंख्यक मोहल्ला मरियम टोला का जलजमाव को दूर करने को लेकर प्रयासरत व कार्य अंजाम तक पहुंचाने को बेताब बीजेपी अल्पसंख्यक मोर्चा का उपाध्यक्ष राजन क्लेमेंट साह का कहना है कि पटना नगर निगम के वार्ड नम्बर-1 में कोई ठेकेदार है.जो चाहता है कि वही अल्पसंख्यक मोहल्ला मरियम टोला का नाला और रोड निर्माण करे. इस बाबत पटना नगर निगम के द्वारा दो बार टेंडर निकाला गया.दोनों बार केवल एक ही ठेकेदार टेंडर लेटर डाला.उन्होंने कहा पटना नगर निगम का नियम है कि कम से कम तीन ठेकेदार अप्लाई करें. मगर मरियम टोला का दुर्भाग्य है कि पटना नगर निगम के तीन के पेंच में टेंडर मंजूर ही नहीं हो पा रहा है. वार्ड में एक ठेकेदार है जो ठेकेदारी लेना चाह रहा है.निकट भविष्य में तीसरी बार टेंडर निकलेगी. अल्पसंख्यक मोर्चा का उपाध्यक्ष राजन क्लेमेंट साह ने कहा कि गत वर्ष जलजमाव के समय न्यू पंपिंग सेट क्रय की गयी थी जो वार्ड पार्षद छठिया देवी के पास है.वहां पर जाकर लोग अप्रोच करके जल जमाव को दूर करें.

कोई टिप्पणी नहीं: