बिहार : जाप नेता पप्पू यादव ने आंसू पोछा - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 25 जुलाई 2020

बिहार : जाप नेता पप्पू यादव ने आंसू पोछा

pappu-yadv-reach-bjp-leader-home
बेतिया। पश्चिम चम्पारण का मेडिकल कॉलेज अस्पताल विवादों के घेरे में है। वहां की लापरवाही व कुव्यवस्था को एक निजी शिक्षक नरेंद्र नाथ वर्णवाल ने सोशल मीडिया पर लाइव वीडियो डालकर लोगों से अपील की थी कि उसकी जान को बचाएं।आखिरकार ऑक्सीजन के अभाव में दम तोड़ दिया का मामला शांत भी नहीं हुआ था।एक अन्य मामला सामने आ गया।इस बार भाजपा के नगर अध्यक्ष कन्हैया गुप्ता की मौत आइसोलेशन वार्ड में कोरोना संक्रमण का इलाज कराने के दरम्यान लापरवाही में वेंटिलेटर पर नहीं रखने से हो गयी।  भाजपा के नगर अध्यक्ष कन्हैया गुप्ता व एक महिला की गुरुवार की देर रात मौत हो गई। इसपर भाजपा नेता के समर्थकों ने जमकर हंगामा किया। इस दौरान वहां मौजूद जूनियर डॉक्टरों से लोगों ने हाथापाई भी की। पुलिस ने घटनास्थल पर पहुंच कर मामला शांत कराया। इसके बाद समर्थक वहां से लौट गए। मेडिकल कॉलेज अस्पताल के प्राचार्य डॉ. विनोद प्रसाद ने बताया कि घटना के वक्त वे स्वयं आइसोलेशन वार्ड में मौजूद थे। भाजपा नेता को बेचैनी थी। वे बार-बार ऑक्सीजन का पाइप निकाल दे रहे थे। इसी बीच कुछ समर्थक वहां पहुंच गए और हंगामा करने लगे। जूनियर डॉक्टरों के साथ धक्का-मुक्की की। वहां पुलिस पहुंची और लोगों को समझाया गया, इसके बाद वे वहां से हट गये। एक घंटे बाद भाजपा नेता की मौत हो गयी। एसडीपीओ मुकुल परिमल पांडेय ने बताया कि घटना की जानकारी पर वे स्वयं आइसोलेशन वार्ड के बाहर गए थे। लोगों में कुछ बहस हो रही थी। उन्हें समझाकर हटा दिया गया। किसी भी डॉक्टर ने हाथापाई की जानकारी नहीं दी है। अगर ऐसा हुआ है तो शिकायत मिलने पर एफआईआर की जाएगी।

मामला यह है कि नगर के गोलदारपट्टी निवासी कन्हैया गुप्ता को 18 जुलाई को मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उनकी कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आयी थी। गुरुवार की दोपहर तक उनकी हालत स्थिर थी। रात्रि 12 बजे के करीब उनके मुंह से खून आने लगा। इसकी जानकारी उन्होंने फोन पर अपने परिजनों को दी। परिजनों की सूचना पर उनके समर्थक लोग वहां पहुंच गए। अस्पताल प्रशासन पर इलाज में लापरवाही बरतने, वेंटिलेटर पर नहीं रखने का आरोप लगा हंगामा करने लगे। इसी दौरान जूनियर डॉक्टरों ने उन्हें समझाने का प्रयास किया गया, जिसमें हाथापाई की नौबत आ गयी। रात्रि एक बजे के करीब कन्हैया गुप्ता की मौत हो गई। पश्चिमी मंडल के भाजपा नगर अध्यक्ष कन्हैया गुप्ता की असामयिक मृत्यु पर जिला भाजपा द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग द्वारा श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया। श्रद्धांजलि सभा को संबोधित करते हुए प्रदेश अध्यक्ष माननीय डॉ. संजय जायसवाल जी ने कन्हैया गुप्ता जी द्वारा किए गए लॉकडाउन काल में सामाजिक कार्य को याद किया। राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्रीमती रेनू देवी ने कन्हैया गुप्ता जी के निधन का नगर का समर्पित पार्टी का सिपाही खो देना बताया। जिला अध्यक्ष भाजपा दीपेंद्र सर्राफ ने कन्हैया गुप्ता जी के निधन को पार्टी की अपूरणीय क्षति बताया।

वर्चुअल श्रद्धांजलि सभा में सम्मिलित सभी जिला भाजपा के पदाधिकारी मंडल अध्यक्ष एवं मोर्चा प्रकोष्ठ के अध्यक्ष एवं पदाधिकारियों ने 2 मिनट का मौन धारण कर ईश्वर से उनकी आत्मा की शांति के लिए एवं उनके परिजनों को इस विपदा को सहने की सहनशक्ति के लिए ईश्वर से प्रार्थना की। श्रद्धांजलि सभा में जिला भाजपा के उपाध्यक्ष रवि सिंह,सत्येंद्र सिंह शीला वर्मा,पन्नालाल साह, दीपू रजक जिला महामंत्री अमित जयसवाल,रूपक लाल श्रीवास्तव, मुरली मनोहर पांडे, जिला मंत्री विभय रंजन चौबे,मनु बाबू कुशवाहा, राजू ठाकुर, राजन सोनी, बिट्टू राय किसान मोर्चा जिला अध्यक्ष दिलीप सिंह,युवा मोर्चा जिलाध्यक्ष धन रंजन कुशवाहा, महिला मोर्चा अध्यक्ष पायल गुप्ता आदि शामिल हुए। इस बीच आज शनिवार को जब  अपने  आदमी  को  नही  हुआ  तो  आम  आदमी  का क्या  होगा   बेतिया विधानसभा के मित्रा चौक लादूराम गोला निवासी कन्हैया गुप्ता (भाजपा मंडल अध्यक्ष) का निधन ऑक्सीजन के अभाव में हो गया। उनसे बेतिया मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल में एडमिट डिप्टी सुपरिटेंडेंट श्रीकांत दुबे ने ₹50,000 की मांग कर रहे थे। इस मामले को लेकर कन्हैया गुप्ता के परिवार ने भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष संजय जयसवाल से मुलाकात कर मदद की गुहार लगाई। मगर उन्हें कोई मदद नहीं मिली। आज हमने उनके शोकाकुल परिजनों से मिलकर दुख व्यक्त किया। हमने उन्हें  ₹50,000 की आर्थिक मदद भी की। कन्हैया गुप्ता के बेटे के पढ़ाई के लिए हम आगे भी आर्थिक मदद करेंगे। वह उनकी बेटी की शादी के लिए उनके परिवार को ₹1,00,000 मदद करेंगे।

कोई टिप्पणी नहीं: