विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 31 जुलाई - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 31 जुलाई 2020

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 31 जुलाई

कोविड 19 से संक्रमित व्यक्तियों को रेफर किया जाना व आज हुई मृत्यु पर फिर एक बार हमारा मेडिकल काॅलेज व जिला चिकित्सालय सवालों के घेरे में

विदिशाः पत्रकार साथियों आज हमारे शहर के साथी की कोरोना से मृत्यु हो गई। मृत्यु से हमारे जहन मे अनेक सवाल खडे कर दिये है। कोरोना पाॅजिटिव जितेन्द्र जैंन को जिला चिकित्सालय लाया गया। चूकिं उसे सांस लेने में तकलीफ हो रही थी जैसा कि मुझे बताया गया, को भोपाल रेफर कर दिया गया। आखिर अटल विहारी मेडिकल काॅलेज और जिला चिकित्सालय विदिशा में वेंटीलेटर के माध्यम से सघन चिकित्सा की व्यवस्था नही है तो क्यों नही है इस प्रश्न का उत्तर कम से कम विधायक होने के नाते मुझे मिलना चाहिए। मेडिकल काॅलेज में प्रोफेसर रैंक के डाॅक्टर क्यों संकट के समय में अपनी सेवायें नही दे रहे कि मरीजों कांे भोपाल रेफर किया जा रहा है, हमीदिया में भी तो प्रोफेसर रेंक का डाॅक्टर ही तो सबसे बड़ा होता है। क्या जूनियर डाॅक्टरों से इलाज कराया जा रहा जो गंभीर अवस्था में रिस्क न लेने की स्थिति में रेफर कर देते है। मीडिया से भी मुझे पता चला कि वेंटीलेटर के अभाव के चलते भी मरिजो को सांस लेने मे तकलीफ होने के कारण कोविड 19 सभी रोगियों को रेफर करना पड़ता है। तो मेरे द्वारा दिनांक 01.04.2020 केा विधायक निधि वर्ष 2020-21 से शासकीय चिकित्सालय विदिशा के लिए कोरोना महामारी के संक्रमण की गंभीरता को ध्यान में रखते हुए वेटीलेंटर के लिए अनुशंसा पत्र कलेक्टर महोदय विदिशा को लिखा गया था लेकिन अप्रेल, मई, जून, जुलाई और अगस्त 2020 शुरू होने पर भी अभी तक वेंटीलेटर शासकीय जिला चिकित्सालय विदिशा को उपलब्ध नही हुआ है। शासन-प्रशासन स्तर पर कोरोना संकट से निपटने में इससे बड़ी लापरवाही ओर क्या हो सकती है। हमने विदिशा जिला चिकित्सालय एवं मेडीकल काॅलेज में चल रही अनियमिततायें खास तौर पर सरकार द्वारा दिया जाने वाला पैसा, जैसा कि मुझे बताया गया कि 1200 और 1500 रू प्रति मरीज खर्ज किया जाना है का हिसाब अस्पष्ट व गोलमोल है। हमने व्यवस्था सुधारने के लिए धरना उपवास रखने का फैसला लिया था परन्तु प्रशासन के आश्वासन के बाद अपना उपवास समाप्त कर दिया इसके बाद भी प्रशासन द्वारा 144 के अंतर्गत शिकायत दर्ज कराकर दबाने का प्रयाश किया जा रहा है तो आगे भी विदिशा क्षेत्र की जनता के जीवन पर आये संकट को देखते हुए हम भी उपवास एवं धरने पर बैठेगे अगर व्यवस्था नही सुधरी तो कोविड मरीजो के हित में में जेल भी जाने से पीछे नही हटूगाॅ।

नोडल अधिकारियों के कार्यो का जायजा

vidisha news
कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने कोरोना वायरस कोविड 19 के संक्रमण को रोकने तथा कोविड केयर सेन्टर की सुव्यवस्थित व्यवस्थाओं के क्रियान्वयन हेतु कुल 17 नोडल अधिकारी नियुक्त किए है। नोडल अधिकारियों के द्वारा हर रोज सम्पादित किए जाने वाले कार्यो की समीक्षा कलेक्टर स्वंय हर रोज कर रहे है।  शुक्रवार को आयोजित समीक्षा बैठक में कलेक्टर डॉ जैन ने कहा कि अखबारो के माध्यम से जानकारियां प्राप्त हो रही है कि कंटेनमेंट क्षेत्रों के रहवासियों द्वारा असंतोष जाहिर किया जा रहा हैं अतः संबंधित अधिकारी प्रत्येक कंटेनमेंट जोन में पहुंचकर स्थानीय रहवासियों की मूलभूत समस्याओे से अवगत होकर निराकरण की पहल करें। इन क्षेत्रों में मनोरंजन के संसाधनो के माध्यम से कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के संदेश प्रसारित करें।  कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने निर्देश दिए है कि फीवर क्लीनिक में आने वाले व्यक्ति यदि अपना कोरोना वायरस कोविड 19 का सेम्पल देकर परीक्षण कराना चाहते है तो ऐसे व्यक्ति, मरीजो का सेम्पल अनिवार्यतः लिया जाए।  कलेक्टर डॉ जैन ने बताया कि कोविड केयर सेन्टर में सिंगल प्रायवेट रूम नही बनाएं जाएंगे। चूंकि कोरोना से प्रभावित मरीज पर सतत निगरानी रखने हेतु 24 घंटे स्वास्थ्य अमला पीपी किट पहन कर मौजूद रहना संभव नही है सुरक्षा के दृष्टिकोण एवं मरीजो के उपचार को ध्यानगत रखते हुए सिंगल प्रायवेट रूप के कंसेप्ट की जगह वार्ड में पलंग रखे जाएंगे।  बैठक में बताया गया कि सिरोंज के कोविड केयर सेन्टर में 12 मरीजो का इलाज चिकित्सकों के द्वारा किया जा रहा हैं कोविड केयर सेन्टर के संचालन हेतु तमाम प्रबंध सुनिश्चित किए गए है। इसी प्रकार बासौदा का कोविड केयर सेन्टर भी पूर्णतः तैयार हो चुका है।  कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने कंटेक्ट ट्रेसिंग के सम्पर्क व्यक्तियों का नियत समयावधि में सेम्पल लेना है कि नहीं पर नजर रखी जाएं। उन्होंने कंटेक्ट ट्रेसिंग व्यक्तियों को होम कोरोन्टाइन करने अथवा संस्थागत कोरोन्टाइन करने के प्रबंध सुनिश्चित किए जाएं।  नवीन कलेक्ट्रेट के बेतवा सभागार कक्ष में सम्पन्न हुई इस बैठक में जिला पंचायत सीईओ श्री मयंक अग्रवाल, अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री केएल बंजारे के अलावा नोडल अधिकारी मौजूद थे। 

औद्योगिक क्षेत्र जम्बार बागरी का जायजा

vidisha news
कलेक्टर डॉ पंकज जैन तथा मध्यप्रदेश इंडस्ट्रियल डव्लपमेंट कार्पोरेश्न के कार्यकारी संचालक (ईडी) श्री ऋषि गर्ग ने आज संयुक्त रूप से विदिशा जिले की औद्योगिक क्षेत्र जम्बार बागरी का भ्रमण कर जायजा लिया है। ईडी श्री गर्ग ने औद्योगिक क्षेत्र के विभिन्न सेक्टरों  में स्थापित होने वाले उद्योगो के लिए आवंटित होने  वाली भूमि के संबंध में जानकारी प्राप्त की है। उन्होंने कहा कि सी सेक्टर में पेस्टीसाइडस के उद्योगो को जगह आवंटित की जाए।  ईडी श्री गर्ग ने कहा कि बडे़ साइज के प्लाटो को दो टुकडो में विभक्त कर उद्योग स्थापन हेतु प्रयास किए जाए। इस दौरान बताया गया कि सी सेक्टर में 30 उद्योगो के लिए भूमि आवंटित की जानी है। औद्योगिक क्षेत्र में प्रारंभिक तौर पर आवश्यक बुनियादी सुविधाओं की पूर्ति हेतु किए गए प्रबंधो की जानकारी श्री गर्ग द्वारा ली गई। उन्होंनें ईटीपी की केपिस्टि के संबंध में आवश्यक निर्देश दिए है।  मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना से लाभांवित हितग्राही श्री विपिन त्रिपाठी के द्वारा स्थापित किए जा रहे अनुपयोगी प्लास्टिक से सिन्थेटिक डीजल यूनिट स्थापित कराई जा रही है के निर्माण कार्य का मौके पर अवलोकन किया। हितग्राही द्वारा स्ट्रीट लाइट नही होने से अवगत कराया। ततसंबंध में एमडी द्वारा आवश्यक निर्देश दिए गए वहीं सुरक्षा के लिए तैनात चार गार्ड के संबंध में भी उनके द्वारा जानकारी प्राप्त की। उन्होंने औद्योगिक क्षेत्र को विकसित करने हेतु दिशा निर्देश दिए है। मध्यप्रदेश इंडस्ट्रियल डव्लपमेंट कार्पोरेश्न के कार्यकारी संचालक (ईडी) श्री गर्ग ने विदिशा जिले में स्थिति अडानी वालमार लिमिटेड इकाई का भ्रमण कर जायजा लिया साथ ही उनकी विस्तार योजना अंतर्गत उन्हें अन्य विकसित औद्योगिक क्षेत्र बडियाखेडी जिला सीहोर अथवा मुंहासा बाबई जिला होशंगाबाद में इकाई स्थापित करने हेतु आमंत्रित किया। निरीक्षण के दौरान जिला पंचायत सीईओ श्री मयंक अग्रवाल, औद्योगिक क्षेत्र जम्बार बागरी के नोडल अधिकारी तथा जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र के जिला महाप्रबंधक श्री पीडी वंशकार समेत अन्य विभागों के अधिकारी मौजूद थे।  ज्ञातव्य हो कि औद्योगिक क्षेत्र जम्बार बागरी राष्ट्रीय राजमार्ग 346 के समीप औद्योगिक क्षेत्र का क्षेत्रफल 83.86 हेक्टेयर है। विकसित की गई भूमि 83.207 हेक्टेयर, आवंटन योग्य भूमि 46.774 हेक्टेयर, आवंटन योग्य भूखण्डो की संख्या 193, भूखण्डो का आकार 450 वर्ग मीटर से पांच हजार वर्ग मीटर तक परियोजना की कुल लागत 30.72 करोड़, अब तक 26.95 करोड व्यय किए जा चुके है। ततसंबंध में अन्य जानकारी के लिए विभाग की बेवसाइट invest.mpidc.co.in पर प्लाट की बुकिंग की जा सकती है। इसके अलावा महाप्रबंधक श्री अजय अग्रवाल के मोबाइल नम्बर 9826065756 पर भी सम्पर्क कर प्राप्त की जा सकती है। औद्योगिक क्षेत्र जम्बार बागरी में विकसित किए गए कार्यो के संबंध में बताया गया कि डामरीकृत सड़क 6.47 किमी, आरसीसी नाली 4.10 किमी, एक विद्युत सब स्टेशन 33/11 स्थापित है। इसके अलावा औद्योगिक क्षेत्र को विकसित किए जाने वाले अन्य प्रबंधो के संबंध में ईडी द्वारा आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए है। इस अवसर पर एमपीआईडीसी के कार्यपालन यंत्री श्री एसएस थेन्दूआ, जिला उद्योग एवं व्यापार केन्द्र के महाप्रबंधक श्री पीडी वंशकार भी साथ मौजूद थे। 

औद्योगिक क्षेत्र के शेष कार्यो को शीघ्र पूरा करने के निर्देश 

कलेक्टर डॉ पंकज जैन के चेम्बर में आज जम्बार बागरी औद्योगिक क्षेत्र के शेष विकास कार्यो को शीघ्रतिशीघ्र पूरा कराए जाने के संबंध में बैठक आयोजित की गई थी। इस बैठक में मध्यप्रदेश इंडस्ट्रियल डव्लपमेंट कार्पोरेश्न के कार्यकारी संचालक (ईडी) श्री ऋषि गर्ग भी मौजूद रहें।  जिले के औद्योगिक संगठन के प्रतिनिधियों के द्वारा औद्योगिक क्षेत्र जम्बार बागरी में सस्ती दर पर प्लाट उपलब्ध कराने के प्रस्ताव से अवगत कराया। ताकि अधिक से अधिक उद्यमी/उद्योगपति आकर्षित हो और क्षेत्र का समुचित विकास होने के साथ-साथ अधिक से अधिक रोजगार के अवसर मिल सकें। बैठक में औद्योगिक की विकास दर शुल्क कम करने से भी अवगत कराया गया है।  बैठक में जिला पंचायत सीईओ श्री मयंक अग्रवाल, औद्योगिक क्षेत्र जम्बार बागरी के नोडल अधिकारी तथा जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र के महा प्रबंधक श्री पीडी वंशकार समेत अन्य विभागों के अधिकारी मौजूद थे। 

विदिशा शहर के आठ क्षेत्रों को कंटेनमेंट जोन घोषित

कोरोना वायरस कोविड-19 के मरीज आठ क्षेत्रों में चिन्हित होने पर उपरोक्त क्षेत्रों को आरआर टीम के अनुमोदन उपरांत कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है कि जानकारी देते हुए मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ केएस अहिरवार ने बताया कि विदिशा शहर में बोहरा वाली गली बजरिया,किरी मोहल्ला एवं तलैया मोहल्ला, गुप्तेश्वर मंदिर किले अन्दर, पीपल के पेड के पास मोहनगिरी, चौपडा में विश्वकर्मा मंदिर के सामने, रंगियापुरा में मस्जिद के पीछे, गली नम्बर एक पूरनपुरा, कन्या शाला वाली गली चौपडा को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है।  विदिशा शहर के घोषित सभी कंटेनमेंट जोन के लिए नोडल अधिकारी बीएमओ डॉ एके उपाध्याय को कंटेनमेंट जोन के अंतर्गत कोराना वायरस कोविड-19  की गाइड लाइन अनुसार कार्यो के सम्पादन देते निर्देशित किया गया है जिसमें मुख्य रूप से पॉजिटिव चिन्हित के संबंधित परिवार की जानकारी, काटेक्ट ट्रेसिंग अनुसार कंटेनमेंट जोन का निर्धारण कर आगामी 24 घंटे के भीतर घर-घर सर्वे स्क्रीनिंग व अन्य प्रतिबंधात्मक कार्यवाही सुनिश्चित की गई है। 

पैरालीगल वालेटियर्स हेतु आवेदन 17 तक आमंत्रित

अपर जिला न्यायाधीश एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव श्री प्रशांत कुमार ने बताया कि पैरालीगल वालेंटियर्स हेतु आवेदन 17 अगस्त कार्यालयीन दिवस तक आमंत्रित किए गए है।  नालसा पैरालीगल वालेन्यिर्स योजना के अंतर्गत विधिक सहायता सलाह योजना विधिक साक्षरता शिविरों, लोक अदालतों अन्य गतिविधियों एवं कार्यक्रमों के माध्यम से राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण एवं राज्य विधिक प्राधिकरण द्वारा संचालित योजनाओं के प्रचार-प्रसार कर पीड़ितों के आवेदन पत्र तैयार करने तथा उन्हें सलाह देने ताकि वे योजना से लाभांवित हो सकें। इस हेतु नियमानुसार पैरालीगल वालिन्टियर्स (पराविधिक स्वंयसेवक ) के चयन हेतु आवेदन आमंत्रित किए गए है।  अपर जिला न्यायाधीश श्री प्रशांत कुमार ने बताया कि पैरालीगल वालिन्यिर्स हेतु आवश्यक शैक्षणिक योग्यता कम से कम हायर सेकेण्डी उत्तीर्ण हो चयनित पैरालीगत वालिन्टियर्सो का कार्यकाल अधिकतम एक वर्ष का होगा। चयन पश्चात् उन्हें प्रशिक्षित किया जाएगा तथा कार्य हेतु उन्हें नियुक्त करने पर नियमानुसार मानदेय का भुगतान किया जाएगा। 

नोडल अधिकारी नियुक्त

कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने जिला मुख्यालय के कोविड केयर सेन्टर में विद्युत आपूर्ति संबंधी समस्त प्रक्रिया के क्रियान्वयन हेतु श्री अवधेश त्रिपाठी को नोडल अधिकारी नियुक्त किया है।  मध्यप्रदेश मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी लिमिटेड के डीईई श्री त्रिपाठी कोविड केयर सेन्टर से सतत सम्पर्क बनाए रखेंगे ताकि निर्वाध रूप से बिजली की आपूर्ति सुनिश्चित कराई जा सकें।

सीसीसी मेंं पेयजल आपूर्ति हेतु दायित्व सौंपे गए

कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने जिला मुख्यालय पर अटल बिहारी वाजपेयी चिकित्सा महाविद्यालय में स्थित  कोविड केयर सेन्टर (सीसीसी) में शुद्व पेयजल आपूर्ति की व्यवस्थाएं सतत बनी रहें इसके लिए मुख्य नगरपालिका अधिकारी श्री सुधीर सिंह तथा लोक स्वास्थ्य यांत्रिकीय विभाग के एसडीओ श्री जेएन ललवानी को दायित्व सौंपे है। उपरोक्त द्वय अधिकारी कोविड केयर सेन्टर में उपचारित मरीजो को जल की असुविधा ना हो और ना ही ऐसी स्थिति निर्मित हो का पूरा ध्यान रखेंगे।  मुख्य नगरपालिका अधिकारी श्री सुधीर सिंह ने निकाय के जल प्रदाय प्रभारी श्री वायएस भदौरिया को सहायक के रूप में नियुक्त कर सतत सम्पर्क बनाए रखने के निर्देश जारी कर दिए है।

आर्थिक मदद जारी

मुख्यमंत्री कृषक जीवन कल्याण योजना के एक प्रकरण में चार लाख चार हजार रूपए की आर्थिक सहायता अनुदान राशि स्वीकृत करने का आदेश कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा जारी कर दिया गया है। जारी आदेश में उल्लेख है कि शमशाबाद तहसील के ग्राम पाली के गजेन्द्र सिंह अहिरवार की मृत्यु कृषि कार्यो के दौरान करंट लगने से होने के कारण मृतक की पत्नी श्रीमती धनबाई अहिरवार को चार लाख एवं अंत्येष्टि अनुदान चार हजार इस प्रकार कुल चार लाख चार हजार रूपए की आर्थिक मदद जारी की गई है। 

सीएम के द्वारा व्हीसी में दिए गए निर्देशो के क्रियान्वयन की समीक्षा 

मुख्यमंत्री जी द्वारा वीडियो कांफ्रेसिंग के दौरान दिए गए निर्देश तथा जिन विषयों पर चर्चा की गई थी। संबंधित विभागों के अधिकारियों द्वारा क्रियान्वित गतिविधियों की समीक्षा कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा मंगलवार चार अगस्त को दोपहर 12 बजे से नवीन कलेक्ट्रेट के सभाकक्ष में आयोजित की गई है।  अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह ने बताया कि वीडियो कांफेंसिग के माध्यम से जिन विषयों पर चर्चा की गई थी उनमे वनाधिकार दावो के निराकरण, आज की उपलब्धता, मुख्यमंत्री शहरी असंगठित कामगार योजना से लाभांवित हितग्राही, स्व सहायता समूहो की क्रियाशीलता, सार्वजनिक वितरण प्रणाली, प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत खाद्यान्न का वितरण, कोविड 19 के नियंत्रण के संबंध में किए जा रहें कार्यो की समीक्षा, पशुपालकों को किसान क्रेडिट कार्ड की सुविधा उपलब्ध कराने के संबंध में, अवैध चिटफंड कंपनियों पर की जा रही कार्यवाही, जिले में माफिया एवं असामाजिक तत्वों के विरूद्व कार्यवाही इत्यादि शामिल है। संबंधित अधिकारियों को पालन में की गई कार्यवाही का ब्यौरा तीन दिवस में उपलब्ध कराने के निर्देश प्रसारित किए गए है। 

ओमकार सेन से अधिकारी ने सम्पर्क किया नागरिक सेवा समिति की ओर से पांच हजार रूपए की राशि दी गई

vidisha news
गंजबासौदा वार्ड नम्बर छह बरेठ रोड लढडा ऐजेन्सी के समीप निवासरत ओमकार प्रसाद सेन जो राज्य परिवहन निगम में परिचालक थे गत दिवस कलेक्ट्रेट कार्यालय में पहुंचकर अपनी स्थिति से प्रशासनिक अधिकारियों को अवगत कराने पर कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने प्रकरण को गंभीरत से लेते हुए सामाजिक न्याय विभाग के उप संचालक डॉ पीके मिश्रा को ओमकार प्रसाद सेन के घर भेजकर मदद कराने की पहल की गई है।  डॉ पीके मिश्रा ने बताया कि चयन होने के उपरांत श्री ओमकार प्रसाद सेन को राज्य परिवहन निगम में परिचालक पद पर नियुक्ति नही मिलने की जानकारी से अवगत कराया जाएगा। इसके लिए पत्राचार किए गए है। आज  डॉ मिश्रा की पहल पर बासौदा की नागरिक सेवा समिति की ओर से ओमकार प्रसाद सेन को सहायता राशि पांच हजार रूपए दिलाई है। डॉ मिश्रा ने ओमकार प्रसाद सेन के परिवार के सदस्यों से संवाद कर इच्छुक होने पर स्वरोजगारमूलक योजना से लाभांवित हेतु प्रकरण तैयार करने का आश्वासन दिया है। 

कोई टिप्पणी नहीं: