मधुबनी : प्रमंडलीय आयुक्त एवम् पुलिस महानिरीक्षक ने कोराना कार्यों की समीक्षा की - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 6 अगस्त 2020

मधुबनी : प्रमंडलीय आयुक्त एवम् पुलिस महानिरीक्षक ने कोराना कार्यों की समीक्षा की

  • ज़िला पदाधिकारी डॉ नीलेश रामचंद्र देवरे ने मधुबनी जिले की तैयारी से अवगत कराया।
commissioner-darbhngaa-inspct-mdhubnai-covid
मधुबनी (आर्यावर्त संवाददाता) प्रमण्डलीय आयुक्त एवं पुलिस महानिरीक्षक,दरभंगा क्षेत्र के अध्यक्षता में दरभंगा प्रमण्डल के सभी जिला के जिलाधिकारियो  एवम् पुलिस अधीक्षक के साथ विडियो कान्फ्रेंसिग के माध्यम से कोविड-19 की स्थिति एवं राज्य सरकार द्वारा घोषित लाॅक डाउन की  प्रगति की समीक्षा वीसी के माध्यम से की गई। इस दौरान सभी अनुमण्डल के अनुमण्डलाधिकारी एवं अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी भी मौजुद थे। प्रमण्डलीय आयुक्त एवं पुलिस महानरीक्षक, दरभंगा क्षेत्र के द्वारा राज्य सरकार द्वारा घोषित  लाॅक डाउन का अनुपालन सख्ती से कराने एवं बिना  मास्क पहने घूमते  पाए जाने वाले लोगो को जुर्माना करने का आदेश दिया गया है। प्रमंडल आयुक्त द्वारा सभी जिलाधिकारीयों को रैपिड एटिंजन टेस्ट की संख्या बढ़ाने का भी निदेश दिया गया है। कन्टेनमेंट जोन में लाॅक डाउन के अनुपालन  कराने हेतु दण्डाधिकारीयो एवं पुलिस बलो की नियुक्ति क्षेत्रों में पर्याप्त मात्रा में करने का आदेश दिया है। जिला पदाधिकारी,  डॉ नीलेश रामचंद्र देवरे  के द्वारा जिले में कोरोना के प्रभाव को रोकने हेतु किए जा रहे कार्यों एवं तैयारी से अवगत कराते हुए बताया गया कि मधुबनी जिला के कोविड प्रभावित मरीजो के देखभाल हेतु जिले मे 4 कोविड केयर सेन्टर क्रमश:रामपट्टी, झंझारपुर, बेनीपट्टी एवं जयनगर में कार्यरत है। कोविड केयर सेन्टर तथा होम आइसोलेंशन मरीजो से उनकी स्वास्थ्य संबंधी जानकारी प्राप्त करने हेतु  जिला कोविड कण्ट्रोल रूम सह टेलीफोन परामर्श केन्द्र सूचना एवं जन सम्पर्क के उपरी तल पर स्थापित किया गया है। जहाँ पर जिला प्रशासन के वरीय पदाधिकारी एवं जिला अस्पताल के चिकित्सा पदाधिकारी की प्रतिनियुक्ति की गई है। प्रत्येक पी0एच0सी0 सेन्टर को भी प्रतिदिन 150 रैपिंड एंटीजन टेस्ट, 10 आर0टी0पी0सी0आर0 टेस्ट एवं 10 ट्यूनेट टेस्ट करने का टारगेट दिया गया है, साथ ही किसी क्षेत्र मे कोविड प्रभावित मरीज पाए जाने पर उस कन्टेंनमेंट जोन क्षेत्र के अंतर्गत आनेवाले सभी लोगो का रैपिड एंटीजन टेस्ट कराने का प्रखण्ड विकास पदाधिकारी एवं पी0एच0सी0 प्रभारी को दिया गया। इसी प्रकार प्रत्येक प्रखण्ड के पंचायत वार रोस्टर बनाकर प्रतिदिन एक-एक पंचायत के 100 लोगो का  रैपिड एंटीजन टेस्ट कराने का आदेश पी0एच0सी0 एवं प्रखण्ड विकास पदाधिकारी को भी दिया गया है।  इस दौरान संबंधित पंचायत के मुखिया तथा जन प्रतिनिधि का भी सहयोग लिया जाएगा।लाॅक डाउन के दौरान बिना मास्क पहने इधर-उधर घुमने वाले लोगो को जुर्माना करने हेतु सभी अनुमण्डल पदाधिकारी,अनुमंडल पुलिस पदाधिकारियों एवं प्रखंड विकास पदाधिकारी,अंचल अधिकारी एवम् थाना प्रभारी को निदेश दिया गया है।

कोई टिप्पणी नहीं: