बिहार : अपराधियों का बढ़ा मनोबल - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 19 अगस्त 2020

बिहार : अपराधियों का बढ़ा मनोबल

  • बेतिया ने तीन को उठाया है.गहन रूप से पूछताछ जारी है.निर्दयता से हत्या का रहस्योद्घाटन करने में सफल नहीं हुई..
crime-bihar
बेतिया,19अगस्त. पश्चिम चम्पारण जिले की पुलिस अधीक्षक हैं निताशा गुड़िया.बेतिया में पदस्थापन के पहले श्रीमती निताशा डेहरी ऑन सोन में बिहार सैन्य पुलिस 2 में समादेष्टा के पद पर कार्यरत थी. उनके पास सासाराम महिला बटालियन का अतिरिक्त प्रभार भी था.जो नाम व शोहरत लेकर बेतिया आई थीं निताशा गुड़िया वह स्याही होता जा रहा है.इसका नवीनतम साक्ष्य है मंगलवार की शाम ही में अपहरण और बुधवार को शव प्राप्त होना. इस क्षेत्र के अपराधियों का मनोबल काफी बढ़ गया है. बेतिया में शहर के एक नामचीन कपड़ा व्यवसायी के बेटे की अपहरण के बाद निर्मम तरीक से हत्या कर दी गई. अपहर्ताओं ने पहले युवक की गला रेतकर हत्या की फिर युवक के शरीर पर 50 से अधिक बार चाकू (Stabbed) से वार किया जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई. अपह्रत युवक का शव शहर के सुप्रिया रोड स्थित एक पानी से भरे मैदान से बरामद किया गया हैं. पुलिस ने अभी तक इस मामले में तीन युवकों को गिरफ्तार किया है. हैरत की बात यह है कि अपराधियों ने 17 वर्षीय वजैफ वसीम को कालीबाग ओपी क्षेत्र के कमलनाथ नगर इलाके से सरेशाम जबरन उठा लिया और अपहरण के पांच घंटे के अन्दर ही उसकी हत्या कर शव को फेंक दिया. मृतक युवक के पिता का शहर के बीचोबीच चादर हाउस नाम की प्रसिद्ध दुकान हैं और वह शहर के प्रसिद्ध व्यवसायी हैं. युवक का अपहरण के बाद पुलिस की टीम लगातार शहर के कई मोहल्लो समेत बानूछापर ओपी के बेलवा गांव में देर रात तक छापेमारी करती रही और आखिरकर रात के लगभग एक बजे के आस पास शहर के सुप्रिया रोड से शव को बरामद किया गया.


बताया जा रहा है कि कपड़ा व्यवसायी मो.वसीम के पुत्र का अपहरण शाम को लगभग साढ़े सात से आठ बजे के बीच चार अपराधियों ने कर लिया था जिसके बाद पुलिस हरकत में आई और शहर के कई मोहल्लो में ताबड़तोड़ छापेमारी शुरू की गई. पुलिस टीम ने सबसे पहले उत्तरवारी पोखऱा के पक्की फुलवारी मोहल्ले में छापेमारी शुरी की जहां से पुलिस ने दो युवकों को उठाया जिसके बाद दोनों युवकों को लेकर पुलिस शहर से लगभग दस किलोमीटर दुर बेलवा गांव पहुंची. पुलिस ने गांव में भी छापेमारी की लेकिन पुलिस को अपह्रत युवक का कोई सुराग हाथ नहीं लगा और जब पुलिस टीम वापस लौटी तो शहर के सुप्रिया रोड में पानी से भरे एक मैदान से उसका शव बरामद किया गया. इस घटना के बाद से मृतक के परिजनों के साथ-साथ स्थानीय लोगों में भारी आक्रोश हैं और लोग पुलिस की कार्यशैली पर भी सवाल खड़े कर रहें हैं. पुलिस ने किसी तरह शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया हैं और जिन अपराधियों का नाम इस घटना में आ रहा है उनकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी में जुट गई हैं. इस पूरी घटना के पीछे का कारण अभी स्पष्ट नहीं हो सका हैं. युवक के दोस्तों और उसके रिश्तेदारों ने बताया है कि उसके साथ पढ़ने वाले लड़कों के साथ उसका कोई विवाद चल रहा था जिसको लेकर इस घटना को अंजाम दिया गया है लेकिन कोई भी पुलिस पदाधिकारी इस मामले में कुछ भी बताने से इन्कार कर रहा है.

कोई टिप्पणी नहीं: