झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 05 अगस्त - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 5 अगस्त 2020

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 05 अगस्त

झाबुआ जिले के साथ मध्यप्रदेष सरकार सौतेला व्यवहार कर रही है- कांतिलाल भूरिया
केन्द्रीय योजना की राषि प्राप्त नहीं हो रही है सांसद मौन है- भूरिया
jhabua news
झाबुआ । मध्यप्रदेश की सरकार झाबुआ जिले के साथ सौतेला व्यवहार कर रही है। जिले के मजदुर कोरोना में परेशान है तथा एक ओर जहां काम नहीं चल रहे है वही जो काम कर दिये गये उसका भुगतान नहीं हो पा रहा है। तालाब एवं कपीलधारा कूप की राशि भी जिले को प्राप्त नहीं हो रही है, जबकि कार्य पूर्ण हो चुके है। श्री भूरिया ने आरोप लगाते हुए कहा कि रोजगार गांरटी योजना जो कि कांग्रेस शासन काल में अर्थशास्त्री प्रधानमंत्री मनमोहनसिंह जी एवं सोनिया गांधी के नेतृत्व मे ंजिस आशा के साथ प्रारंभ की गई थी कि इससे ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार मूलक कार्य चलेगें जिससे ग्रामीणों एक निश्चित समय रोजगार प्राप्त होगा एवं उनके जीवन यापन की समस्या हल होगी ऐसी महत्वपूर्ण योजना को मध्यप्रदेश की भाजपा  शिवराज सरकार की गलत नितीयों के कारण फेल हो गई ग्रामीणजन रोजगार हेतु दर दर भटक रहे है जहां कार्य चल रहे है वहां राशि प्राप्त नहीं हो रही है । जब केन्द्र में कांग्रेस की सरकार थी तो इतनी अधिक राशि प्राप्त हो रही थी कि पंचायत ग्रामीण विकास विभाग राशि खर्च नहीं कर पा रहा था किन्तु अब राशि के लाले पड रहे है। जिले की ओर भाजपा के जनप्रतिनिधि एवं नेताओं का इस ओर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। श्री भूरिया ने सांसद गुमानसिंह डामोर से भी प्रश्न किया है कि वे इस महत्वपूर्ण मुद्वे पर मोन क्यों है, जब सांसद डामोर ने ग्रामीणों को गुमराह कर वोट लिये है देश व प्रदेश में उनकी सरकार है, तो उनकी समस्याओं से क्यो मुंह मोड रहे है। सांसद का नैतिक जिम्मेदारी है कि वे दिल्ली एवं भोपाल में बैठे विभाग के मंत्रीयों एवं प्रशासनिक अधिकारीयों से जिले में तत्काल अधिक से अधिक राशि दिलवाने की कार्यवाही करें । उक्त आरोप झाबुआ विधायक कांतिलाल भूरिया ने प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से लगाया है। भूरिया द्वारा आगे बताया गया कि झाबुआ जिले के साथ मध्यप्रदेश शासन द्वारा सौतेला व्यवहार किया जा रहा है यहां पर रोजगार गारंटी योजनान्तर्गत तालाब निर्माण, सुदुर सडक निर्माण, चेक डेम कपिलधारा कूप की राशि प्रदान नहीं की जा रही है वही जो कार्य पूर्ण हो चुके है वहां भी मजदुरी की राशि भी काफी कम प्रदान की गई है वही सामग्री की राशि तो बिल्कुल प्राप्त नहीं हुई है। श्री भूरिया ने आगे कहा कि एक ओर जहां कोरोना के कारण ग्रामीण मजदुर अपने अपने गांवों में आ गये है वहां उन्हे मजदुरी प्राप्त नहीं हो रही है इससे जीवन यापन में कठिनाईयां आ रही है। भूरिया ने कहा कि शासन द्वारा यह कार्य जानबुझ कर राजनैतिक द्वेवश्ता पूर्ण कर राशि केवल झाबुआ को ही प्राप्त नहीं हो रही है शेष जिलों में राशि दी जा रही है यह जिला प्रशासन एवं मध्यप्रदेश शासन की मिलीभगत का भी आरोप लगाया है। जिले के ग्रामीण विकास विभाग की मनमानी कर रहा है। भाजपा की केन्द्रीय सरकार द्वारा मात्र तालाब एवं कपीलधारा कूप आदि जैसी योजना ही चल रही है किन्तु जिले में व्यक्तिमूलक योजना जैसे पालतु पशुओं के लिए शेड निर्माण, मुर्गीपालन ,नाडेप, खेत तालाब जैसी महत्वपूर्ण योजना बंद कर दी है। जिले के विधायकगण श्री वालसिंह मेडा पेटलावद, वीरसिंह भूरिया थांदला एवं विधायक प्रतिनिधि डाॅ. विक्रान्त भूरिया एवं झाबुआ जिले के पंचायत प्रतिनिधियों जिला पंचायत अध्यक्ष शांतिराजेश डामोर, झाबुआ जनपद पंचायत के अध्यक्ष गीता शंकरसिंह भूरिया, थांदला जनपद पंचायत के अध्यक्ष गेंदाल डामोर, सहित जिला पंचायत उपाध्यक्ष चन्द्रवीरसिंह, जिला पंचायत सदस्य रूपसिंह डामोर, कलावती गेहलोद, सन्ता तेरसिंह,युवक कांग्रेस सहित एनएसयुआई के अध्यक्ष विनय भाभर सहित कांग्रेस पदाधिकारीयों आदि ने भी जिले में तत्काल राशि प्रदान करने की मांग की है अन्यथा कांतिलाल भूरिया के नेतृत्व में जिला प्रशासन का घेराव करने में भी पिछे नहीं रहेगी।

श्री राम जन्मभूमि के शिलान्याश पर उत्साहित युवाओं ने मिठाई बांटी - पौधे लगाएं 

jhabua news
थांदला। श्री राम जन्मभूमि के शिलान्याश के शुभ अवसर पर स्थानीय थांदला महर्षि वाल्मीकि वंशंज सेवाआश्रम संघ समिति थांदला द्वारा कमल परिषर मछलाई माता में सामूहिक पौधा रोपण किया गया जिसमे पर्यावरण को अपनी पूंजी बताते हुए उसकी और ध्यान देने की बात करते हुए सभी को आदरणीय पद्म विभूषित श्री महेश शर्मा जी ने आशीर्वचन दिए स साथ ही भाजपा के जिलाध्यक्ष आद. श्री लक्ष्मण नायक जी ने आज के दिन को ऐतिहासिक दिन बताते हुए जिंदगी का सबसे यादगार पल बताया, वही जनजातीय समाज सुधारक आद. श्री खीमा डामोर जी ने श्री राम जन्मभूमि पर शिलान्याश को अपने ऊपर बनाये जाने वाली छत्रछाया के रूप में बताया जो हम सभी को भवसागर से पार ले जाएगी स मंच पर सम्मुख उपस्थित फुलजी भाबर, पूर्व विधायक कलसिंह भाबर, पार्षद  रोहित बैरागी व समर्थ उपाध्याय, पवन नाहर, आत्माराम शर्मा, अक्षय भट्ट, लालचंद देवल, शांतु बारिया, धवल अरोरा, राम डामोर, हरचंद भूरिया, अर्जुन डामोर, मनीष वाघेला, गेंदालाल भाबर, दिनेश बामनिया व संस्था अध्यक्षा श्रीमतीजान्हवी भाबर आदि उपस्तिथ थे स  कार्यक्रम का संचालन संजय भाबर ने तो आभार यशवंत बामनिया ने किया ।

स्वतंत्रता दिवस का कार्यक्रम राज्य स्तर, जिला,जनपद पंचायत,पंचायत मुख्यालयों पर होंगे

झाबुआ,। इस वर्ष नोवल कोरोना वायरस संक्रमण के कारण 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस का कार्यक्रम राज्य स्तर, जिला, जनपद पंचायत, पंचायत मुख्यालयों पर होंगे। जिला स्तर पर  कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा द्वारा कलेक्टर कार्यालय में ध्वजारोहण किया जाएगा एवं सलामी दी जाएगी। तथा राष्ट्रगान का गायन किया जाएगा। कलेक्टर कार्यालय सभा कक्ष में मुख्यमंत्री के उद्बोधन सुनने की आवश्यक व्यवस्था की जाएगी। जिला पंचायत कार्यालय में जिला पंचायत अध्यक्ष/प्रशासनिक समिति के प्रधान द्वारा औपचारिक रूप से राष्ट्रीय ध्यज फहराया जाएगा तथा कार्यक्रम  में राष्ट्रीय गान गाया जाएगा। कलेक्टर श्री सिपाहा ने अवगत कराया कि जनपद पंचायत कार्यालय में जनपद पंचायत अध्यक्ष/प्रशासनिक समिति के प्रधान द्वारा औपचारिक रूप से राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाएगा तथा कार्यक्रम में राष्ट्रीयगान गाया जाएगा। पंचायत कार्यालय में संरपच/प्रशासनिक समिति के प्रधान द्वारा औपचारिक रूप से राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाएगा तथा कार्यक्रम में राष्ट्रीय गान गाया जाएगा। ऐसे जिला पंचायत, जनपद पंचायत, ग्राम पंचायत जहां निर्वाचित अध्यक्ष/प्रशासनिक समिति के प्रधान उपलब्ध नहीं होने की दशा में कार्यालय प्रमुख द्वारा ध्वजारोहण किया जाएगा। नगरपालिका, नगर परिषद कार्यालय में अध्यक्ष द्वारा राष्ट्रीय ध्यज फहराया जाएगा। शेष नगरीय निकायों में मुख्य नगरपालिका अधिकारी द्वारा ध्वजारोहण किया जावेगा। जिला स्तर पर कलेक्टर कार्यालय, जिला पंचायत, नगरपालिका, नगर परिषद, जनपद पंचायत, ग्राम पंचायत कार्यालयों में ध्वजारोहण एवं राष्ट्रगान का कार्यक्रम प्रातः 8ः45 बजे तक अनिवार्य रूप से पूर्ण करा लिया जावे। ताकि मुख्यमंत्री द्वारा प्रदेश की जनता के नाम संबोधन को सुना एवं देखा जा सकें। सभी शासकीय कार्यालयों पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाए। कार्यालय प्रमुख द्वारा प्रातः 8 बजे अपने विभाग के अधिकारी, कर्मचारी को सीमित संख्या में कार्यालय भवन पर राष्ट्रीय ध्वज फहराएगें तथा इस अवसर पर राष्ट्रीयगान गाया जाएगा।
जिला स्तर एवं जनपद स्तर पर कोई भी सार्वजनिक कार्यक्रम आयोजित नहीं किया जाए। स्वतंत्रता दिवस के कार्यक्रम में जन सामान्य एवं स्कूली बच्चों को शामिल नहीं किया जाएगा। कार्यक्रम स्थल पर प्राथमिक चिकित्सा एवं स्वास्थ्य की आवश्यक व्यवस्था अनिवार्य रूप से कि जाए। स्वतत्रंता दिवस पर कोई सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन नहीं किया जाएगा। कार्यक्रम स्थल पर हैण्ड सेनेटाईजर, मास्क, एवं सामाजिक दूरी आदि का विशेष ध्यान रखा जाए। विभिन्न समाचार पत्रों में स्वतंत्रता दिवस पर जारी किये जाने वाले विज्ञापनों को स्वतंत्रता संग्राम के संदेशों पर केन्द्रीत किया जाएगा। तथा विज्ञापनों को इस प्रकार नियोजित किया जाए की 15 अगस्त 2020 को प्रदेश के समाचार पत्रों में शहीदों, जिसमें मध्यप्रदेश के शहीद भी शामिल हो, के संबंध में संदेश प्रसारित हों। स्वतंत्रता दिवस 2020 के अवसर पर प्रदेश में स्थित मुख्य सार्वजनिक भवनों एवं राष्ट्रीय महत्व की इमारतों में 14 एवं 15 अगस्त रात में प्रकाश की व्यवस्था की जाए। इस संबंध में होने वाला व्यय संबंधित प्रशासकीय विभाग अपने विभागीय बजट से करेंगे। नोवल कोरोना वारयस संक्रमण के संबंध में जारी भारत सरकार, गृह मंत्रालय और स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा कोविड-19 से संबंधित सभी दिशा निर्देशों और राज्य शासन द्वारा समय-समय पर जारी किये गये निर्देशों का कड़ाई से पालन सुनिश्चित किया जाए।

पशु भी समाज का हिस्सा हैं, उनकी सुरक्षा एवं स्वास्थ्य की देखभाल हमारा कर्तव्य : श्री देवलिया

jhabua news
झाबुआ,। मध्यप्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशानुसार जिला विधिक सेवा प्राधिकरण जिला न्यायालय झाबुआ के अध्यक्ष एवं जिला जज श्री राजेश गुप्ता के मार्गदर्शन में चलाये जा रहे पंच-ज अभियान अंतर्गत जल, जंगल, जमीन, जन और जानवर के संतुलित पर्यावरणीय विकास की अवधारणा पर बल दिया जा रहा हैं। इस तारतम्य में अपर जिला जज एवं सचिव श्री राजेश देवलिया के निर्देशन में बुधवार को पैरालीगल वालेंटियर्स के माध्यम से ग्राम नवागांव तहसील झाबुआ में पशुचिकित्सा क्षेत्र अधिकारी श्री शंकरसिंह मचार के द्वारा गाय, बैल, बछड़ा भैंस आदि पशुओं को मुंह पका, खुर पका रोग के निवारण के लिये टीकाकरण किया गया एवं पशुओं की पहचान के लिये उनके कान पर 12 अंको का टैग लगाया गया। टीकाकरण एवं टैगिंग के कार्य में पैरालीगल वालेंटियर्स एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के कर्मचारियों द्वारा सहयोग किया गया एवं नागरिकों को पशुओं की सुरक्षा एवं देखभाल के लिये जागरूक किया गया। इस अवसर पर प्राधिकरण के सचिव अपर जिला जज श्री देवलिया द्वारा बताया गया कि पशु भी हमारे समाज का अभिन्न हिस्सा हैं और उनकी सुरक्षा तथा स्वास्थ्य की देखभाल करना हमारा कर्तव्य हैं। गाय, बैल आदि पशु भारतीय अर्थव्यवस्था की रीढ़ है। पशुओं से हमे दूध, घी आदि प्राप्त होता है एवं बैलो से खेती होती है। विभिन्न प्रकार के पशु अनेक आवश्यक कार्यों में उपयोग किये जाते है पशुओं की सुरक्षा करना उन्हें सभी प्रकार के रोगों एवं बीमारियों से बचाये रखना हम सभी का एवं समाज का परम कर्तव्य हैंै। पशु बेजुबान होते है वे अपनी आवश्यकताओं को प्रकट नहीं कर पाते हैं, पशु पक्षियों को समय पर चारा, दाना, पानी आदि का प्रबंधन करना चाहिये। सभी प्रकार के पशु पक्षियों का जीवन पर्यावरण संरक्षण को बनाये रखने के लिये आवश्यक है और समाज में भी एक-दूसरे से जुड़े हुये हैं। बिना पशु पक्षियों के मानव जीवन भी संकट में पड़ जायेगा। बारिस के मौसम में आमतौर पर पशुओं को मुंह पका एवं खुर पका की बीमारी आ जाती है जिससे बचाव एवं रोकथाम के लिये पशुपालन विभाग की ओर से टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है एवं पशुओं की पहचान सुनिश्चित करने के लिये टैग लगाये जा रहे है एवं आॅनलाईन माध्यम से कम्प्यूटर में पशुओं से संबंधित सभी जानकारियां फीड की जा रही हैं। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण जिला न्यायालय झाबुआ के द्वारा सभी नागरिकों से अपील की गई है कि वे अपने पशुओं को टीका अवश्य लगवाये एवं टैगिंग कराये।

माह अगस्‍त के प्रथम सप्‍ताह में मनाया जा रहा है विश्‍व स्‍तनपान सप्‍ताह 

झाबुआ। मुख्‍य चिकित्‍सा एवं स्‍वास्‍थ्‍य अधिकारी डॉ- बी.एस. बारिया द्वारा जानकारी दी गई कि जिले में प्रतिवर्ष की भांति इस वर्ष भी विश्‍व स्‍तनपान सप्‍ताह का आयोजन 1 अगस्‍त 2020 से किया जा रहा है, जो कि 7 अÛस्त तक चलेÛा। इसका उद्देश्‍य लोगों में शिशुओं के स्‍वास्‍थ्‍य में सुधार लाने के लिये स्‍तनपान कराने के बारे में जागरूकता पैदा करना है । इस वर्ष स्‍तनपान सप्‍ताह की एक स्‍वस्‍थ गृह के लिये स्‍तनपान का सर्मथन करें । कोविड 19 का समय है । ‘’स्‍तनपान का मौका ही स्‍तनपान पर कार्यवाही मजबुत करने का’’ इस थीम का उद्देश्‍य मॉं व नवजात शिशु के लिये स्‍तनपान की सुरक्षात्‍मक भूमिका, डिब्‍बा बंद दूध के हानिकारक प्रभाव स्‍तनपान को बढ़ावा देने के लिये विभिन्‍न स्‍तरों पर सामुदायिक जागरूकता लाना है । बच्‍चे के लिये मॉं का दूध उपयुक्‍त व प्राकृतिक भोजन है । इससे बच्‍चे को परिपूर्ण पोषक तत्‍व, एन्‍टीबॉडी एवं रोग प्रतिरोधक तत्‍व प्राप्‍त होते है । इससे बच्‍चा बेक्टिरिया, वायरस से लड़ने में सक्षम हो जाता है । यह बच्‍चों को समस्‍त पोषक तत्‍व प्रदान करता है । मॉं का दूध बच्‍चों को दस्‍त, बोर्काटिस निमोनिया से भी बचाता है ।  जन्‍म के एक घन्‍टे के अन्‍दर बच्‍चे को पहला स्‍तनपान कराया जाना है जो 6 माह तक जारी रहता है । इस दौरान मॉ का दूध ही आहार रहता है बच्‍चे को उपर से कुछ भी देने की जरूरत नही है । मॉं का पहला दूध कोलॉस्‍ट्रम कहलाता है । इससे रोग प्रतिरोधक शक्ति प्रचुर मात्रा में रहती है । यह शिशु को कई प्रकार के सक्रमण से बचाता है । मॉं के दूध में प्रोटीनफेट कैलोरी लेक्‍टोज, विटामिन लोहखनिज, पानी ओर एन्‍जाइम प्रर्याप्‍त मात्रा में रहते है । मस्तिष्‍क के विकास में विशेष भूमिका निभाता है । स्‍तनपान कराने से कुछ तत्‍काल लाभ भी होते है । प्रसव के बाद रक्‍तस्‍त्राव एवं एनिमिया की संभावना कम होना प्रसव के पश्‍चात बच्‍चादानी का सामान्‍य आकार लगने में मदद मिलती एवं स्‍तन केन्‍सर की संभावना कम होती है । इसलिये आमजन से अपील की Ûई है कि मॉं का दूध अमृत है इससे कोरोना वायरस से लड़ने की क्षमता है । इसलिये स्‍तनपान से ज्‍यादा सुरक्षित कोई उपाय नहीं है । नवजात शिशुओं को नियमित स्‍तनपान करावें ।

कोई टिप्पणी नहीं: