झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 31 अगस्त - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 31 अगस्त 2020

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 31 अगस्त

कलेक्टर श्री सिंह कृषकों के खेतों पर पहुचकर कृषकों से रूबरू हुए‘‘ ‘‘खरीफ फसलों का  लिया जायजा

jhabua news
झाबुआ। जिले में लगातार वर्षा के कारण खरीफ फसलों में जलभराव एवं कीट व्याधियों के प्रकोप का जायजा लेने कलेक्टर श्री रोहित सिंह, रविवार को पेटलावद तथा झाबुआ विकास खण्ड के विभिन्न ग्रामों में पहुचकर फसलों का जायजा लिया। आपके साथ पुलिस अधीक्षक श्री आशुतोष गुप्ता भी थे। श्री सिंह  सर्व प्रथम विकाखण्ड झाबुआ के ग्राम खेरमाल, धावडीपाड़ा का दौरा कर कृषकों से चर्चा की और अधिक वर्षा के कारण होने वाले संभावित नुकसान से फसलों को बचाने के लिये उचित जल निकास करने की सलाह दी। साथ ही फसलों में कीट व्याधियों के प्रकोप के नियंत्रण के लिये विषेषज्ञों द्वारा अनुशंसित रसायनों का उचित मात्रा में घोल बनाकर उपयोग करने की सलाह दी गई। कलेक्टर श्री सिंह इसके बाद विकाखण्ड पेटलावद के ग्राम करड़़ावद पहुचें और  कृषक श्री भरत आंजना के खेत पर लगी सोयाबीन फसल, प्रजनक बीज फसल, बीज उत्पादन इकाई का अवलोकन किया। इस दौरान खेत में जलभराव की स्थिति पाए जाने पर उचित जल निकास करने की सलाह दी तथा पौधे से पौधे की उचित दूरी बनाये रखने की भी सलाह दी। साथ ही ग्राम टेमरिया में कृषक श्री दशरथलाल-मोतीलाल आंजना के खेत पर अमरूद फसल के पंक्तियों के बीच रेज बेड पद्धति से लगी सोयाबीन फसल का अवलोकन किया और निर्धारित बीज दर का उपयोग कर, पौधे से पौधे की उचित दूरी रखने तथा अधिक उत्पादन लेने संबंधी कृषकों के बीच सामुहिक चर्चा की। कलेक्टर श्री सिंह एवं पुलिस अधीक्षक श्री गुप्ता ने कृषक आंजना के खेत के मेड़ पर लिची के पौधे का रोपण किया। उन्होंने ग्राम सारंगी पहुचकर कृषक श्री बालाराम पाटीदार के खेत में रेज बेड पद्धति से लगी सोयाबीन, अरहर तथा मुँगफली फसलों का अवलोकन किया। फसल अवलोकन के दौरान फसलें कीट व्याधियों से मुक्त होकर सोयाबीन फसल में अच्छी पोड फाॅरमेशन देखी। साथ ही उद्यानिकी फसलों एवं एकीकृत फसल पद्धति, कृषि यंत्रिकरण, जिले में नवीन फसलों की सम्भावना पर किये जा रहे गतिविधियों का अवलोकन किया। कलेक्टर श्री सिंह ने अनुविभागीय अधिकारी राजस्व पेटलावद को निर्देश दिये हैं कि 320 हैक्टर में फलोद्यान के लिये हितग्राहियों का चयन करें ताकि किसान उद्यानिकी के क्षेत्र में आगे बढें और अपनी माली हालत में सुधार कर सकें। इस दौरान अनुविभागीय अधिकारी राजस्व पेटलावद श्री शिशिर गेमावत, उप संचालक कृषि श्री एन.एस.रावत, परियोजना संचालक आत्मा श्री जी.एस. त्रिवेदी कृषि वैज्ञानिक  डाॅ. आई.एस. तोमर, डाॅ. जगदीश मौर्य, अनुविभागीय कृषि अधिकारी श्री आर.एस. बघेल, सहायक संचालक कृषि श्री एस.एस. रावत, उप परियोजना संचालक (आत्मा) श्री एम.एस. धार्वे, वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी श्री एल.सी. खपेड़, विषय वस्तु विषेषज्ञ श्री उदा काग एवं ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी श्री हेमेन्द्र डामोर इत्यादि उपस्थित थे। कृषकों से रूबरू होकर विषेषज्ञों द्वारा यह सलाह दी गई सफेद मक्खी के नियंत्रण के लिये अनुशंसित मिश्रित सम्पर्क रसायन बीटासायफ्लुथ्रिन$इमिडाक्लोप्रीड 350 एम.एल. प्रति हैक्टेयर या थायोमिथाक्सम$लैम्बडा सायहेलोथ्रिन 125 एम.एल. प्रति हैक्टेयर का छिड़काव करें, जिससे सफेद मक्खी के साथ-साथ पत्ती खाने वाले कीटो का भी एक साथ नियंत्रण हो सके। कुछ क्षेत्रों में लगातार हो रही रिमझिम वर्षा की स्थिति में पत्ती खाने वाली इल्लियों के नियंत्रण के लिये इन्डोक्साकाब 333 एम.एल. प्रति हैक्टेयर या लेम्बडा सायहेलोथ्रिन 4.9 सी.एस. 300 एम.एल. प्रति हैक्टेयर का छिड़काव करें। जिन क्षेत्रों में अधिक वर्षा से जल भराव की स्थिति है, संभावित नुकसान को कम करने के लिये भी शीघ्र अतिशीघ्र जल निकासी की व्यवस्था करें। मक्का फसल में फालवर्मी के नियंत्रण के लिये एमामेक्टिन बैंजोएट 250 ग्राम प्रति हैक्टेयर उपयोग करने की सलाह दी गई।



मुख्यमंत्री हेल्पलाईन की लम्बी शिकायतों का शतप्रतिशत निराकरण करें -श्री सिंह

jhabua news
झाबुआ। मुख्यमंत्री हेल्पलाईन पोर्टल पर दर्ज शिकयतों का शतप्रतिशत निराकरण करें। इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही तथा बर्दाश्त नहीं की जावेगी। यह निर्देश कलेक्टर श्री रोहित सिंह ने सोमवार को यहां कलेक्टेªट सभा कक्ष में समयावधि पत्रों की समीक्षा बैठक में अधिकारियों को दिये। श्री सिंह ने मुख्यमंत्री हेल्पलाईन पोर्टल पर विभिन्न स्तरों पर दर्ज शिकायतों की विभागवार समीक्षा की और अधिकारियों से कहा है कि वे इन शिकायतों के निराकरण में सर्वोच्च प्राथमिकता दें। श्री सिंह ने इस बैठक में जन सुनवाई के लम्बित आवेदन पत्रों की विभागवार सघन समीक्षा करते हुए अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि आगामी एक सप्ताह में लम्बित आवेदन पत्रों का शतप्रतिशत निराकरण करें। श्री सिंह ने विभिन्न विभागों के जिला अधिकारियों को उचित मूल्य दुकानों के निरीक्षण के कार्य की प्रगति की समीक्षा की और दुकानों के निरीक्षण न करने पर गहरा असंतोष व्यक्त किया। इन अधिकारियों को दुकानों का निरीक्षण न करने तथा कार्य में लापरवाही बरतनें पर शोकाज नोटिस जारी करने के निर्देश दिये। श्री सिंह ने जिला अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि उचित मूल्य दुकानदारों की समीक्षा बैठक आयोजित करें और आधार सिडिंग के कार्य की समीक्षा कर उसमें और अधिक प्रगति लावें। श्री सिंह ने कहा कि उचित मूल्य दुकानें समय पर खुलें और खाद्यान का वितरण होना चाहिये। इसमें किसी भी प्रकार की शिकायत नहीं मिले इस बात का विशेष ध्यान रखें। श्री सिंह ने जिला आपूर्ति अधिकारी को निर्देश दिये हैं कि वे जिले में उचित मूल्य की दुकानें बन्द पाई जाने पर दुकानदारों के विरूद्ध कार्यवाही सुनिश्चित करें। इसके लिये अपने अधीनस्थ अधिकारियों को निर्देशित करें। श्री सिंह ने नगर में सड़कों की खराब स्थिति होने पर नाराजगी जाहिर की और मुख्य नगरपालिका अधिकारी तथा संबंधित निर्माण एजेंसी को निर्देश दिये हैं कि वे नगर में तथा 10 किलोमीटर के क्षेत्र में खराब सड़कें हैं उन पर पैंच वर्क का कार्य तत्काल कराए ताकि आम जनता को आवागमन में किसी भी प्रकार की असुविधा का सामना न करना पडे़। श्री सिंह ने सहायक संचालक उद्यानिकी को कार्य में लापरवाही बरतनें पर शोकाज नोटिस जारी करने के निर्देश दिये। कलेक्टर श्री सिंह ने जिले में कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव के लिये किये गए कार्यों की प्रगति की विस्तार से समीक्षा की और कार्य संतोषप्रत नहीं पाए जाने पर रामा, मेघनगर तथा थंादला के नायब तहसीलदार को शोकाज नोटिस जारी करने के निर्देश दिये। इसी प्रकार अनुविभागीय अधिकारी राजस्व थांदला, उप संचालक पशु चिकित्सा, बीएमओ थांदला, बीएमओ राणापुर को भी कार्य संतोषजनक नहीं पाए जाने पर शोकाज नोटिस जारी करने के निर्देश दिये। श्री सिंह ने अनुविभागीय अधिकारी राजस्व थांदला को भी कार्य संतोषप्रद न पाए जाने पर पत्र जारी करने के निर्देश दिये। श्री सिंह ने अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि वे सौंपे गये कार्य में शतप्रतिशत सुधार करें। श्री सिंह ने अनुविभागीय अधिकारियों राजस्व को निर्देश दिये हैं कि वे अनुभाग स्तर पर योजनाओं की  प्रगति की समीक्षा करें। साथ ही कोविड-19 के संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव के कार्य की भी समीक्षा करें। कलेक्टर श्री सिंह ने उच्च न्यायालय में प्रचलित प्रकरणों की विभागवार समीक्षा की और अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि वे इन प्रकरणों में शासन का पक्ष रखें। श्री सिंह ने वन अधिकार अधिनियम के अंतर्गत किये गए कार्य की प्रगति की जनपद पंचायतवार सघन समीक्षा की और इस कार्य में और अधिक प्रगति लाने के निर्देश दिये। श्री सिंह ने सहायक आयुक्त जनजाति कार्य विभाग को 2 सितम्बर को वन अधिकार अधिनियम की प्रगति की समीक्षा बैठक रखने के निर्देश दिये। इस बैठक में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री सिद्धार्थ जैन, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व पेटलावद श्री शिशिर गेमावत, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व थांदला श्री जे.एस. बघेल, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व झाबुआ श्री एम.एल.मालवीय, डिप्टी कलेक्टर श्री एल.एन.गर्ग, सुश्री ज्योति परते, सुश्री प्रीति संघवी सहित विभिन्न विभागों के जिला अधिकारी उपस्थित थे।

भृत्य श्री चैहान को सेवानिवृत होने पर भावभीनी बिदाई

jhabua news
झाबुआ।  कलेक्टर श्री रोहित सिंह ने कलेक्टर कार्यालय के भृत्य श्री बग्दीराम चैहान को 31 अगस्त को सेवानिवृत होने पर पुष्पमाला पहनाकर भावभीनी बिदाई दी और उनके दीर्घआयु की कामना की। श्री चैहान को कलेक्टर कार्यालय के अधिकारियों, कर्मचारियों ने पुष्पमाला से सम्मानित किया।

वाहन मासिक किराये पर लगाने के लिये दरें आमंत्रित

झाबुआ । जिले में पदस्त डिप्टी कलेक्टर के लिये एक महिंद्रा बोलेरों वाहन के समकक्ष अधिकतम कीमत 7.50 लाख तक ;म्ग ेीवू तववउ चतपबमद्ध तथा 3 तहसील कार्यालयों झाबुआ, रामा, थांदला में कार्यरत तहसीलदारों, अतिरिक्त तहसीलदारों के लिये महेन्द्रा बोलेरों वाहन के समकक्ष अधिकतम कीमत 6.50 लाख तक ;म्ग ेीवू तववउ चतपबमद्ध के वाहन मासिक किराये पर लगाने के लिये संक्षिप्त दरें दिनांक 10 सितम्बर, 2020 को सांय 4 बजें तक आहुत की जाती हैं। वाहन किरायें पर लिये जाने की शर्ते कलेक्टर कार्यालय झाबुआ की नजारत शाखा में कार्यालयीन समय में कभी भी प्राप्त की जा सकती है तथा देखी जा सकती है।

कोई टिप्पणी नहीं: