एनसीसी कैडेटों को ऐप से ऑनलाइन प्रशिक्षण दिया जायेगा - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 27 अगस्त 2020

एनसीसी कैडेटों को ऐप से ऑनलाइन प्रशिक्षण दिया जायेगा

ncc-cdet-will-get-online-training
नयी दिल्ली 27 अगस्त, देश भर में अब राष्ट्रीय कैडेट कोर (एनसीसी) के कैडेटों को ऑनलाइन प्रशिक्षण दिया जायेगा और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने इसके लिए आज मोबाइल प्रशिक्षण ऐप लांच की। कोरोना महामारी के कारण देश भर में एनसीसी कैडेटों का प्रशिक्षण प्रभावित हुआ है और इसे देखते हुए राष्ट्रीय कैडेट कोर महानिदेशालय ने यह प्रशिक्षण ऐप तैयार की है। देश में कोरोना वायरस के संक्रमण के बढते प्रकोप के मद्देनजर अभी स्कूल और कॉलेजों के खुलने की संभावना नहीं दिखायी देती इसलिए कैडेटों को ऑनलाइन प्रशिक्षण दिये जाने की जरूरत महसूस की जा रही थी। रक्षा मंत्री ने इस मौके पर वीडियो कांफ्रेन्स के माध्यम से एनसीसी कैडेटों के साथ बात भी की और उनके सवालों के जवाब दिये। उन्होंने कैडेटों की हौसलाअफजायी की और उन्हें जीवन में सफलता के लिए शुभकामना दी। श्री सिंह ने कहा कि यह ऐप कैडेटों के लिए बेहद उपयोगी होगी और वे अपना प्रशिक्षण पूरा कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि यदि कैडेट दृढ निश्चय और विश्वास के साथ आगे बढेंगे तो उन्हें हर हाल में सफलता मिलेगी। कोरोना महामारी के खिलाफ अभियान में योगदान के लिए उन्होंने कैडेटों की सराहना की। उन्होंने कहा कि एनसीसी युवाओं में एकता, अनुशासन और राष्ट्र की सेवा की भावना पैदा करती है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, मार्शल आफ एयर फोर्स अर्जन सिंह , खिलाड़ी अंजलि भागवत, पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और पूर्व रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि युवा अवस्था में ये सभी एनसीसी के कैडेट रहे थे। उन्होंने कहा कि वह स्वयं भी एनसीसी के कैडेट रहे हैं। इस मोबाइल ऐप में पाठ्यक्रम , प्रशिक्षण वीडियो और सवालों के जवाब दिये गये हैं। कैडेट प्रशिक्षण से संबंधित कोई भी सवाल पूछ सकते हैं जिसका विशेषज्ञ प्रशिक्षक जवाब देंगे। इस मौके पर रक्षा सचिव डा अजय कुमार, एनसीसी महानिदेशक लेफ्टिनेंट जनरल राजीव चोपड़ा और वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद थे।

कोई टिप्पणी नहीं: