बिहार : स्वास्थ्य विभाग के द्वारा एंटीजन किट से जांचकर वाहवाही लूटने वालों पर वज्रपात - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 9 अगस्त 2020

बिहार : स्वास्थ्य विभाग के द्वारा एंटीजन किट से जांचकर वाहवाही लूटने वालों पर वज्रपात

इससे साबित होता है कि एंटीजन किट में नहीं है दम। जिसके कारण असैनिक शल्य चिकित्सक सह मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी डाक्टर राजकिशोर चैधरी को लिखकर पदाधिकारियों को बताना पड़ा। आरटीपीसीआर जांच ही प्रभावशाली है........
rtpcr-test-effective
पटना। आजकल बिहार सरकार के स्वास्थ्य विभाग रिकाॅड बनाने में व्यस्त है। प्रत्येक दिन  ही रिकाॅड बन रहा है। बिहार विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने एक दिवसीय विधानसभा में अपने संभाषण में कहा कि चेहरे पर धूल है और आयना ही बदल रहे हैं। यह कटाक्ष पूर्ण वक्तव्य स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव के बदलाव को लेकर कहा गया। प्रधान सचिव संजय कुमार के बाद प्रधान सचिव बने कुमावत को बदलकर प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत को बनाया गया। इनके आने के बाद से ही आंकड़ों पर उछाल होने लगा। 

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी आश्चर्य में पड़ गए। उनका कहना था कि 15 अगस्त तक कोरोना टेस्ट में इजाफा करके 20 हजार कर दिया जाए। जो 15 अगस्त के पूर्व से ही कोरोना टेस्ट में उछाल होने लगा। स्वास्थ्य मंत्री मंगल पाण्डेय ने ट्वीट कर बताया कि पिछले 24 घंटे में 22,742 जांच हुए जो अबतक का सर्वाधिक जांच है। राज्य में कुल 5 लाख 48 हजार जांच किए गए। अगले दिन बताया गया कि पिछले 24 घंटे में 28,624 जांच हुए जो अबतक का सर्वाधिक जांच है। राज्य में कुल 5 लाख 76 हजार 796 जांच किए गए। अगले दिन पिछले 24 घंटे में 35,619 जांच हुए जो अबतक का सर्वाधिक जांच है। राज्य में कुल 6 लाख 12 हजार 415 जांच किए गए। पिछले 24 घंटे में 36,524 जांच हुए जो अबतक का सर्वाधिक जांच है। राज्य में कुल 6 लाख 48 हजार 939 जांच किए गए। पिछले 24 घंटे में 38,215 जांच हुए जो अबतक का सर्वाधिक जांच है। राज्य में कुल 6 लाख 87 हजार 154 जांच किए गए। पिछले 24 घंटे में 51,924 जांच हुए जो अबतक का सर्वाधिक जांच है। राज्य में कुल 7 लाख 39 हजार 678 जांच किए गए। पिछले 24 घंटे में 60,254 जांच हुए जो अबतक का सर्वाधिक जांच है। राज्य में कुल 8 लाख 00 हजार जांच किए गए। आज तो 75 हजार से अधिक जांच किए गए। पटना प्रमंडल के आयुक्त संजय कुमार का दावा है कि राज्य में रोजाना 1 लाख जांच हो सकेगा। पिछले 24 घंटे में 75,426 जांच हुए जो अबतक का सर्वाधिक जांच है। राज्य में कुल 9 लाख 46 हजार 278 जांच किए गए। 

इस तरह की जांच पर असैनिक शल्य चिकित्सक सह मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी,पटना ने वज्रपात कर दिया। उन्होंने 8 अगस्त 2020 को पत्रांक 5599 जारी कर अधीक्षक,गुरू गोविन्द सिंह सदर अस्पताल,पटना सिटी,पटना। सभी उपाधीक्षक, अनुमंडल अस्पताल /  गर्दनीबाग अस्पताल,पटना जिलान्तर्गत। सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी,शहरी अस्पताल,पटना जिलान्तर्गत। सभी प्रभारी पदाधिकारी,आईसोलेशन सेन्टर /  क्वारंटीन सेन्टर,पटना जिलान्तर्गत को सूचित किया पटना जिलान्तर्गत स्वास्थ्य संस्थानों में पदस्थापित चिकित्सक / कर्मियों के कोविड-19 की जांच आरटीपीसीआर से करवाने के संबंध में। पत्र में कहा गया कि कतिपय चिकित्सक /  कर्मियों के द्वारा कोविड-19 की जांच एंटीजन किट से करवाकर पाॅजिटिव आने पर सूचना भेजकर आईसोलेशन में चले जा रहे हैं। इसके आलोक में जिलान्तर्गत कार्यरत  चिकित्सक /  कर्मी कोविड-19 की अपनी जांच एंटीजन किट से पाॅजिटिव आने के पश्चात आरटीपीसीआर से करायेंगे तथा उसकी जांच रिपोर्ट पाॅजिटिव आने पर ही उन्हें नियमतः आईसोलेशन के लिए अनुमति दी जायेी। अबतक जो भी चिकित्सक /  कर्मी एंटीजन किट से जांच पाॅजिटिव आने के आधार पर अथवा भय से जानबुझकर अपने कत्र्तव्य से अनुपस्थित है वे कत्र्तव्य पर लौट जायेंगे अन्यथा परिस्थिति के लिए वे स्वयं जिम्मेवार होंगे। इससे साबित होता है कि एंटीजन किट में नहीं है दम। जिसके कारण असैनिक शल्य चिकित्सक सह मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी डाक्टर राजकिशोर चौधरी को लिखकर पदाधिकारियों को बताना पड़ा। आरटीपीसीआर जांच ही प्रभावशाली है। 

बिहार में शनिवार को लगभग 4 हजार नये कोरोना संक्रमित मिले हैं। 3992 नए कोरोना संक्रमित मरीजों की पहचान की गई है। इसके साथ ही राज्य में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर 75,786 हो गयी है। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, बिहार के 17 जिलों में एक सौ से अधिक कोरोना संक्रमित मिले है। पटना में सर्वाधिक 542 संक्रमित मिले। जबकि अररिया में 106, बेगूसराय में 210, भोजपुर में 119, बक्सर में 131, पूर्वी चंपारण में 139, गोपालगंज में 102, कटिहार में 193, मधुबनी में 117, मुजफ्फरपुर में 118, नालंदा में 120, रोहतास में 131, समस्तीपुर में 147, सारण में 111, सीवान में 160 और पश्चिमी चंपारण में 102 नए संक्रमित मिले। इनके अतिरिक्त अरवल में 44, औरंगाबाद में 84, बांका में 59, भागलपुर में 91, दरभंगा में 41, गया में 96, जमुई में 17, जहानाबाद में 46, कैमूर में 58, खगड़िया में 44, किशनगंज में 70, लखीसराय में 52, मधेपुरा में 72, मुंगेर में 64, नवादा में 27, पूर्णिया में 99, सहरसा में 86, शेखपुरा में 89, शिवहर में 13, सीतामढ़ी में 96, सुपौल में 89 नए संक्रमितों की पहचान की गई।

कोई टिप्पणी नहीं: