सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 11 अगस्त - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 11 अगस्त 2020

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 11 अगस्त

आत्म निर्भरता की और बढ़ते कदम
 
समूह की महिला ने शुरू किया स्लिपर चप्पल निर्माण का कार्य आष्टा : मध्यप्रदेश राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन  विकासखंड आष्टा में ग्राम शोभाखेड़ी की समूह  सदस्य अनीता मालवीय द्वारा स्वरोजगार योजना से लोन प्राप्त कर स्वयं का रोजगार आरंभ किया है । उनके द्वारा  स्लीपर निर्माण हेतु लघु उधोग शुरू किया है । विभिन्न प्रकार की सुंदर सुंदर चप्पलें बहुत ही साधारण तकनीक से उच्च गुणवत्ता की चप्पलें बनाकर स्थानीय बाजार विक्रय का कार्य भी किया जा रही है । अनीता मालवीय बताया कि आजीविका योजना से जुड़ने के पूर्व परिवार की आय का साधन केवल मजदूरी था परंतु समूह से जुड़ने के उपरांत छोटी-छोटी बचत से ऋण लेकर वह अपनी जरूरत पूरी नहीं कर पाती थी उसके पश्चात  गणवेश सिलाई का काम भी किया इससे प्रेरित होकर व समूह की बैठक में चर्चा कर उन्होंने अपने पति के लिए स्लीपर  निर्माण गतिविधि  हेतु Madhya Pradesh Gramin bank  से ₹100000 लाख रुपए स्वरोजगार योजना से प्राप्त कर कार्य आरंभ किया है । उनके परिवार के अन्य सदस्य भी उत्पादन को आसपास के स्थानीय बाजार में बेचते भी है इस प्रकार से उनका पूरा परिवार रोजगार से जुड़ रहा है । साथ ही इस काम के विस्तार के लिए भी योजना बना रहे है ।  

सोयाबीन की बांझ फसल को लेकर कलेक्ट्रेट पहुंचे किसान प्रशासन से सर्वे कराकर की मुआवजा राशि देने की मांग

sehore news
सीहोर। मंगलवार को आष्टा तहसील के ग्राम पटारिया गोयल के अनेक किसानों ने प्रेमनारायण पटारिया के नेतृत्व में डिप्टी कलेक्टर विजय कुमार मंडलोई को पटवारियों के माध्यम से खेतों में पहुुंचकर खराब हो चुकी सोयाबीन की फसल का शीघ्र सर्वे कराने प्रभावित किसानों को पर्याप्त मुआवजा राशि उपलब्ध कराने की मांग जिला कलेक्टर से की है। किसानों ने कहा की बीते साल भी सरकार की योजना के तहत फसल का बीमा कराया था अतिवृष्टी के कारण सौ प्रतिशत फसलों का नुकसान हुआ था बावजूद इस के क्षेत्र के मात्र पच्चीस प्रतिशत किसानों को हीं राशि उपलब् ध कराई गई थी। किसानों ने बताया की बारिश नहीं होने से खेतों में खड़ी सोयाबीन की फसल बांझ हो गई है। कई किसानों ने इस वर्ष भी कर्ज लेकर सोयाबीन की बोवनी की है। फसल मुरझाने से किसानों के चेहरे पर चिंता की लकीरे दिखाई दे रहीं है। किसान हैरान परेशान है। ज्ञापन सौपने वालों में भोजराज सिंह, अम्बाराम, सूरज सिंह, ओमप्रकाश, राहुल पटारिया, केदार सिंह, ओमकार, अनिल, आयूष, राकेश,इंदरपाल सिंह,  जीवन सिंह आदि किसान शामिल है। 

डीएसपी ने ली मंडी थाना परिसर में विद्यार्थियों की क्ला पुलिस ने किया नूतन स्कूल के मेधावी बच्चोंं का सम्मान

sehore news
सीहोर। थाना मंडी पुलिस ने मंगलवार को वार्षिक परीक्षाओं में सर्वोत्तम अंक अर्जित करने वाले नूतन स्कूल के मेधावी विद्यार्थियों का पुष्प माला पहना और मैडल प्रदान कर सम्मान किया। मंडी थाना परिसर में डीएसपी अर्चना अहीर ने विद्यार्थियों की नॉलेज क्लास भी ली। विद्यार्थियोंं को सवाल जबाव के दौरान डीएसपी ने जीवन में आगे बढऩे के महत्वपूर्ण टिप्स दिए। शहर के इंग्लिशपुरा स्थित संचालित नूतन स्कूल के शिक्षक चंद्रशेखर डागर सहित अन्य विषय विशेषज्ञों के मार्गदर्शन में कक्षा 1०वीं और 12 वीं की वार्षिक परीक्षा में कुमारी इसीका कुशवाह 89.2,हिमांशी वर्मा 75.6,सुहानी मेवाड़ा 84, सलोनी सोलिया 66,शिवम प्रजापति,अभिषेक परमार 66,सोहन कुशवाहा ने 65,प्रतिशत गौरव गुप्ता ने 66,प्रतिशत अंक अर्जित किए। शिक्षक श्री डागर ने बताया की उक्त मेधावी विद्यार्थी खेलों में भी उत्कृष्ठ प्रदर्शन करते रहे है। कार्यक्रम में उनि अर्जुन जायसवाल,उनि विनिता विश्वकर्मा आरक्षक सुरेश प्रजापति,लखन धाकड़ ,भूपेन्द्र सिहं, अरूण सिहं,आऱती राजपूत,मीना घोड़के,उर्मिला सूयऱ्वंशी,मीना घोड़के, सुशील साल्वे, शैलेन्द्र राजपूत,मदन प्रजापति,गब्बर यादव,नीरज गुप्ता, पपु सिंह, गौरव नाविक आदि मौजूद रहे।

आज 6 की रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई, वर्तमान में कुल पॉजीटिव एक्टिव व्यक्तियों की संख्या 109, कुल डिस्चार्ज किए गए व्यक्तियों की संख्या 265

sehore news
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकार डॉक्टर सुधीर कुमार डेहरिया ने बताया कि  आज शाम को 6 व्यक्तियों की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई है। संक्रमितों में सीहोर के गंज एवं बडियाखेड़ी से 1-1 व्यक्ति शामिल है। श्यामपुर विकासखंड अन्तर्गत ग्राम हसनाबाद से 1, आष्टा के ग्राम झरखेड़ी से 1, नसरुल्लागंज एवं शाहगंज से 1-1 व्यक्ति शामिल है। जिले में कुल एक्टिव पॉजिटिवों की संख्या 109 है। जिले में कोरोना संक्रमित व्यक्तियों की मृत्यु संख्या 14 हो गई है। आज 15 व्यक्तियों को स्वस्थ होने के उपरांत डिस्चार्ज किया गया है। डिस्चार्ज किए गए व्यक्तियों में सीहोर से 2, श्यामपुर से 1, इछावर से 3, दोराहा से 1 तथा संक्रमित होने के बाद भोपाल में उपचार करा रहे 8 वयक्तियों को भोपाल से ही डिस्चार्ज किया गया है। जिले में अब तक कोरोना संक्रमण के उपरांत स्वस्थ होकर डिस्चार्ज किए गए व्यक्तियों की कुल संख्या 265 हो गई है। जिले में वर्तमान में एक्टिव/ पॉजीटिव व्यक्तियों की संख्या 109 है। जिले में कोरोना संक्रमित व्यक्तियों की मृत्यु संख्या 14 हो गई है। आज 119 व्यक्तियों के  सैम्पल कोरोना जांच हेतु लिए गए है। सीहोर शहरी क्षेत्र से आज 33 सैम्पल जांच हेतु लिए गए है। श्यामपुर के 21, बुदनी से 10, आष्टा से 19, इछावर के 12, नसरूल्लागंज के 24 व्यक्तियों के कोरोना जांच हेतु सैम्पल लिए गए है। आज पॉजीटिव मिले नए कंटेनमेंट जोन सहित समस्त कंटेनमेंट एवं बफर जोन में स्वास्थ्य दलों द्वारा सघन स्वास्थ्य सर्वे किया जा रहा है। वहीं पॉजीटिव मिले व्यक्तियों के करीबी संपर्क वाले व्यक्तियों की पहचान कर उनकी सूची तैयार की जा रही है। प्रत्येक कंटेनमेंट जोन में सर्वे के लिए एक से दो दल लगाए गए है। सर्वे दल के प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों को बनाया गया है तथा स्वास्थ्य सर्वे दल में ए.एन.एम., आशा कार्यकर्ता, आंगनबाडी कार्यकर्ताओं की ड्यूटी लगाई गई है। जिले में कुल कोरोना पॉजीटिव व्यक्तियों की संख्या 388 है जिसमें से 14 की मृत्यु हो चुकी है 265 स्वस्थ्‍ होकर डिस्चार्ज हो गए है तथा वर्तमान में 109 पॉजीटिव व्यक्तियों का उपचार चल रहा है। आज कुल 119 सैंपल जांच हेतु लिए गए। जिले से अब तक कुल 5828 सेम्पल जांच के लिए भेजे गए थे जिनमें से 4883 सेंपलों की रिपोर्ट अब तक निगेटिव प्राप्त हुई है। आज 68 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। कुल 524 सैंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथालॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 33 है। जिले में जो व्यक्ति होम क्वारंटाइन में है उनके निवास स्थान से सीधे संवाद हेतु जिला स्तरीय कोविड-19 काल सेंटर स्थापित किया गया है जिसका संपर्क नंबर.7247704181 है कोविड.19 से संबंधित जानकारी इस संपर्क नंबर पर ली व दी जा सकती है। वहीं जिला चिकित्सालय सीहोर में टेलीमेडिसीन के लिए संपर्क नंबर 07562-401259 जारी किया गया है तथा राज्य स्तर पर 104/181 नंबर पर काल करके भी टेलीमेडिसीन सेवा का लाभ लिया जा सकता है। 104  नंबर पर ई.परामर्श सेवा का भी लाभ लिया जा सकता है। ई.संजीवनी ओपीडी सेवा हेतु www.esanjeevaniopd.in पंजीयन कराया जा सकता है। कलेक्ट्रेट कार्यालय सीहोर में भी जिला स्तरीय काल सेंटर बनाया गया है जिसका संपर्क नंबर 07562.226470 है तथा होम क्वारंटाइन व्यक्तियों तथा उनके परिजनों के लिए हेल्पलाइन नंबर 18002330175 जारी किया गया है। जिस पर संस्थागत क्वारंटाइन अथवा होम क्वारंटाइन व्यक्ति अथवा उनके परिजन इमोशनल वेलनेस अथवा साईकोलाजिकल सपोर्ट एवं अन्य जरूरी परामर्श मानसिक सेवा प्रदाताओं से निःशुल्क प्राप्त कर सकते है।

कलेक्टर की अध्यक्षता में संकट प्रबंधन समिति की बैठक सपन्न  

sehore news
मंगलवार को कलेक्टर श्री अजय गुप्ता की अध्यक्षता में संकट प्रबंधन समिति की बैठक संपन्न हुई। बैठक में आगामी त्यौहारों एवं राष्ट्रीय पर्व को मनाए जाने के संबंध में चर्चा की गई। कलेक्टर श्री गुप्ता द्वारा निर्देशित किया गया कि कोरोना वायरस से बचाव को लेकर त्यौहारों पर शासन द्वारा जारी गाईड लाईन के तहत सार्वजनिक स्थानों पर जुलूस नहीं निकाले जाएंगे। प्रतिमाओं की स्थापना निजी भवनों में की जाएगी जिसमें 5 से अधिक व्यक्ति एकत्रित न हो सके। इसी तरह चिंतामन गणेश मंदिर में भी गर्भगृह में प्रवेश वर्जित रहेगा एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन अनिवार्य रहेगा। कलेक्टर श्री गुप्ता द्वारा विकासखंड स्तर पर कोरोना या अन्य बीमारियों के मरीजों को लाने ले जाने के लिए ब्लाक स्तर पर पर्याप्त संख्या में एंबुलेंस की व्यवस्था करने के निर्देश दिए। बैठक में पुलिस अधीक्षक श्री शशीन्द्र चौहान ने जनपतिनिधियों से अपील की कि वे आम नागरिकों को समझाएं एवं जागरुक करें कि प्र्रशासन का सहयोग करें। बैठक में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री हर्ष सिंह, अपर कलेक्टर श्री विनोद कुमार चतुर्वेदी, उपपुलिस अधीक्षक श्री समीर यादव, सीहोर विधायक श्री सुदेश राय, इछावर विधायक श्री करनसिंह वर्मा, आष्टा विधायक श्री रघुनाथ सिंह मालवीय, बुदनी विधायक प्रतिनिधि सहित अन्य अधिकारी एवं जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।

कोविड केयर सेंटर में ट्रायडेंट द्वारा प्रदान किया 200 पैकेट स्वल्पाहार

sehore news
इंदौर-भोपाल हाईवे पर स्थित न्यू कोविड केयर सेंटर सीहोर में ट्राईडेंट बुदनी द्वारा सीसीसी में भर्ती व्यक्तियों के लिए स्वलपाहार के 200 पैकेट भेंट किए गए। जिसमें फल एवं मिठाई सहित अन्य स्वलपाहार सामग्री शामिल है। इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.सुधीर कुमार डेहरिया, जिला कोविड केयर सेंटर प्रभारी डॉ.जे.डी.कोरी, जिला एपिडियोमीलाजिस्ट डॉ.रूचिरा उईके, कोविड केयर सेंटर से डॉ.अब्रानखान स्टाफ तथा ट्रायडेंट बुदनी से श्री सौरभ सिंह, श्री अजातशत्रु शर्मा, पुलकित मेहता, श्री अनमोल सोनी सहित अन्य कर्मचारी उपस्थित थे। 

कोरोना संक्रमित पाए गए व्यक्तियों के निवास स्थल को कलेक्टर ने किया कंटेंटमेंट क्षेत्र घोषित 

जिले में कोरोना संक्रमित पाए गए व्यक्तियों के निवास स्थल को कलेक्टर श्री अजय गुप्ता द्वारा मध्यप्रदेश पब्लिक हेल्थ एक्ट 1949 की धारा 71 के तहत कंटेनमेंट एरिया घोषित किया गया है। कलेक्टर श्री गुप्ता द्वारा जारी आदेश अनुसार कोरोना पॉजिटिव पाए गए व्यक्तियों के निवास स्थान नगर परिषद बुदनी के वार्ड क्रमांक 12 गुरुआ बाबा कॉलोनी को उत्तर में गौरी शंकरपाल का मकान दक्षिण में विष्णुप्रसाद का मकान, पूर्व में गड्डु ठेकेदार का मकान, पश्चिम में कॉलोनी रोड़ तक, इछावर के वार्ड क्रमांक 9 कस्बा को राठी धर्मशाला से जगदीश गुप्ता के मकान तक, छगनलाल लोधी के मकान से राठी धर्मशाला के पीछे तक, सीहोर के वार्ड क्रमांक 29 दांगी स्टेट को पूर्व में रतन दांगी का मकान, पश्चिम में जगदीश खत्री का मकान, उत्तर में रोड़ एवं दक्षिण में खाली मैदान तक, वार्ड नंबर 30 राठौर मंदिर के पास कस्बा को उत्तर में घासीराम राठौर के मकान से अशोक भावसार के मकान तक, दक्षिण में मनोहर राय के मकान से कृष्णाबाई के मकान तक, वार्ड नंबर 19 डाबी आटा चक्की नेहरु कॉलोनी सीहोर को पश्चिम में मनोज बुहानी का मकान, उत्तर में धनसिंह बिले का मकान, दक्षिण में महेन्द्र ठाकुर के मकान तक, आष्टा के ग्राम वनबीरपुरा को पूर्व में मानसिंह का बाड़ा, पश्चिम में रास्ता, उत्तर में रामप्रसाद के मकान तक एवं दक्षिण में रास्ते तक, आष्टा के वार्ड नंबर 1 बिस्तारियापुरा को उत्तर में राजेश बंजारिया के मकान से पूर्व में सुशीला सोनी के मकान तक, सुशीला सोनी के मकान से दक्षिण में राममंदिर तक, राम मंदिर से पश्चिम में मनोज गोस्वामी के मकान तक, मनोज गोस्वामी के मकान से उत्तर में राजेश बंजारिया के मकान तक, वार्ड नंबर 17 काछीपुरा को उत्तर में आनंद जैन के मकान से पूर्व में दीपचंद जैन के मकान तक, दीपचंद जैन के मकान से दक्षिण में राधाकिशन मंदिर तक, राधाकिशन मंदिर से पश्चिम में संदीप जैन के मकान तक, संदीप जैन के मकान से उत्तर में आनंद जैन के मकान तक कंटेनमेंट क्षेत्र घोषित किया गया है। कंटेनमेंट एरिया के अन्तर्गत पूर्ण रूप से आवागमन प्रतिबंधित रहेगा। कंटेनमेंट एरिया के समस्त निवासियों का होम कोरोनटाईन में रहना उचित होगा। कंटेनमेंट एरिया के अंदर भी आवागमन पूर्णत: प्रतिबंधित रहेगा।

जिले में अब तक 515.4 मि.मी. औसत वर्षा

जिले में आज 11 अगस्त, 2020 की प्रात:8 बजे समाप्त पिछले चौबीस घन्टों में 0.6 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज की गई है। इसे मिलाकर 1 जून से अभी तक जिले में 515.4 मि.मी औसत बारिश रिकार्ड की जा चुकी है जबकि गत वर्ष इस अवधि में 798.8 मि.मी बारिश रिकार्ड की गई थी। अधीक्षक, भू-अभिलेख से मिली जानकारी के अनुसार पिछले चौबीस घन्टों में श्यामपुर में, 2, नसरुल्लागंज में 3 मिमी बारिश दर्ज की गई है। जबकि सीहोर, आष्टा, जावर, इछावर, बुधनी एवं रेहटी में वर्षा की स्थिति शून्य रही। आंकड़ों के मुताबिक जिले में अभी तक सीहोर में 484.5, श्यामपुर में 328, आष्टा में 524.6, जावर में 426, इछावर में 376, नसरुल्लागंज में 569, बुदनी में 554 एवं रेहटी में 861.2 मिमी बारिश दर्ज की गई है। गत वर्ष इस अवधि में सीहोर में 1023, श्यामपुर में 739, आष्टा में 864, जावर में 516, इछावर में 809, नसरुल्लागंज में 939, बुधनी में 676 रेहटी में 823.4 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई थी।

आत्म निर्भरता की और बढ़ते कदम (सफलता की कहानी)
अनीता ने शुरू किया स्लिपर चप्पल निर्माण का कार्य
मध्यप्रदेश राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन विकासखंड आष्टा में ग्राम शोभाखेड़ी की समूह  सदस्य अनीता मालवीय द्वारा स्वरोजगार योजना से लोन प्राप्त कर स्वयं का रोजगार आरंभ किया है । उनके द्वारा  स्लीपर निर्माण हेतु लघु उधोग शुरू किया है । विभिन्न प्रकार की सुंदर-सुंदर चप्पलें बहुत ही साधारण तकनीक से उच्च गुणवत्ता की चप्पलें बनाकर स्थानीय बाजार विक्रय का कार्य भी किया जा रही है। अनीता मालवीय बताती है कि आजीविका योजना से जुड़ने के पूर्व परिवार की आय का साधन केवल मजदूरी था परंतु समूह से जुड़ने के उपरांत छोटी-छोटी बचत से ऋण लेकर वह अपनी जरूरत पूरी नहीं कर पाती थी उसके पश्चात  गणवेश सिलाई का काम भी किया इससे प्रेरित होकर व समूह की बैठक में चर्चा कर उन्होंने अपने पति के लिए स्लीपर  निर्माण गतिविधि  हेतु Madhya Pradesh Gramin bank  से ₹1 लाख रुपए स्वरोजगार योजना से प्राप्त कर कार्य आरंभ किया है । उनके परिवार के अन्य सदस्य भी उत्पादन को आसपास के स्थानीय बाजार में बेचते भी है इस प्रकार से उनका पूरा परिवार रोजगार से जुड़ रहा है । साथ ही इस काम के विस्तार के लिए भी योजना बना रहे है।    

प्रदेश में बनेगा एकीकृत जॉब पोर्टल: मुख्यमंत्री श्री चौहान
युवाओं को उनके हुनर अनुसार मिलेगा रोजगार आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश वेबिनार
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि इस दिशा में प्रयास किए जाएं कि हर रोजगार चाहने वाले व्यक्ति को उसकी योग्यता के अनुरूप रोजगार मिले और रोजगार चाहने वाले इतने सक्षम बन जाएं कि एक दिन स्वयं रोजगार देने की स्थिति में आ जाएं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश में एकीकृत जॉब पोर्टल तैयार किया जाएगा। इसका लाभ जरूरतमंदों को दिलाया जायेगा। इससे युवाओं को विभिन्न क्षेत्रों में उनके हुनर अनुसार रोजगार दिलवाना आसान होगा। मध्यप्रदेश में जब कोरोना काल में रोजगार सेतु पोर्टल के माध्यम से स्किल मेपिंग की गई तो अनेक हुनरमंद सामने आए। इनकी संख्या सात लाख से अधिक थी। इनको रोजगार उपलब्ध करवाने का कार्य किया गया। अन्य प्रांतों से अपना स्थायी काम धंधा छोड़कर प्रदेश लौटे करीब चालीस हजार लोगों को तुरंत रोजगार मिल गया। इसी व्यवस्था को आगे बढ़ाते हुए नवीन पोर्टल के निर्माण का विचार सामने आया है। मध्यप्रदेश में स्टार्टअप से लेकर एमएसएमई क्षेत्र तक प्रतिभा को अवसर देकर आगे बढ़ाया जाएगा। उन्हें हताश नहीं होने दिया जाएगा। आर्थिक रूप से ग्रामों को स्वावलंबी बनाने के लिए प्रयास किये जायेंगे। सांसद और पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्री जयंत सिन्हा ने कहा कि आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश के निर्माण के लिए वेबिनार का आयोजन महत्वपूर्ण है। आत्मनिर्भरता का अर्थ है अपने भाग्य को स्वयं निर्मित करना। मध्यप्रदेश ने कृषि और सिंचाई के क्षेत्र में काफी अच्छा कार्य किया है। झारखंड जैसे राज्य मध्यप्रदेश से प्रेरणा ले सकते हैं। श्री सिन्हा ने कहा कि देश की नई उद्योग नीति का निर्माण हो रहा है। इसमें खाद्‌य प्रस्संकरण उद्योग के विकास पर विशेष ध्यान देना होगा। मध्यप्रदेश इस क्षेत्र में अच्छे परिणाम ला सकता है। केन्द्रीय मंत्री श्री सिन्हा ने कहा कि आर्थिक क्षेत्र में विभिन्न प्रतिष्ठानों को सक्षम बनाने, स्टार्टअप गतिविधियों के विकास, पर्यावरण हितैषी स्थाई विकास के प्रयास प्रगति की तरफ ले जाने में सहायक हैं। मध्यप्रदेश की स्थिति ऐसी है जो आत्मनिर्भरता में सफलता प्राप्त करने की दृष्टि से काफी अनुकूल है। उनका अनुभव है कि राज्य की वित्तीय सेहत भी अन्य राज्यों से बेहतर है। श्री सिन्हा ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा मध्यप्रदेश के विकास के ठोस प्रयास पूर्व में भी किए गए हैं। उन्हें पूरा विश्वास है कि मध्यप्रदेश आत्मनिर्भर भारत के लक्ष्य में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन करेगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश वेबिनार में "अर्थव्यवस्था व रोजगार" विषय पर सत्र को संबोधित कर रहे थे।    

श्री सिन्हा के सुझावों पर करेंगे अमल
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश का रोडमैप तैयार करने के उद्देश्य से देशभर के आर्थिक क्षेत्र के विशेषज्ञों, वरिष्ठ अधिकारियों, नीति निर्माताओं, प्रमुख जनप्रतिनिधियों की सहभागिता वाले चार दिवसीय वेबिनार के चौथे और समापन दिवस पर अर्थव्यवस्था एवं रोजगार के एक दिवसीय सत्र में पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्री सिन्हा द्वारा प्रस्तुत सुझावों पर अमल किया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि आज हो रहे विचार-विमर्श का विशेष महत्व है क्योंकि कोरोना काल में अर्थव्यवस्था का पहिया न रूके, इसके लिए बहुआयामी मंथन से ही समाधान निकलेंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने वेबिनार में अर्थव्यवस्था एवं रोजगार के चर्चा सत्र की शुरुआत करते हुए कहा कि प्रत्येक व्यक्ति सुखी जीवन का आकांक्षी होता है। इसके लिए दो बातें बहुत आवश्यक हैं। एक व्यक्ति सुखी कैसे रहे, दूसरा व्यक्ति कभी मरे नहीं। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि दूसरी बात तो संभव नहीं है, लेकिन सुखी जीवन के लिए रोटी कपड़ा, मकान, रोजगार की आवश्यकता होती है। शरीर के साथ मन, बुद्धि और आत्मा का सुख व्यक्ति चाहता है।

उद्योग क्षेत्र में प्रयास बढ़ायेंगे
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश में लघु और कुटीर उद्योगों का जाल बिछाने के प्रयास किया जाएं। बड़े उद्योग भी आएं, पूर्व में ऐसे प्रयास किए गए हैं। इनमें सफलता भी प्राप्त हुई है। प्रधानमंत्री श्री मोदी आत्मनिर्भर भारत के लिए जो प्रयास कर रहे हैं। इस कड़ी में मध्यप्रदेश तेजी से कार्य करेगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि गत कार्यकाल में प्रारंभ की गई युवा उद्यमी योजना में उद्योग लगाने वाले नौजवानों को दो करोड़ रुपये तक की ऋण गारंटी और 15 प्रतिशत सब्सिडी का प्रावधान किया गया। इस योजना को नये सिरे से क्रियान्वित करने के प्रयास होंगे। लघु, मध्यम और सूक्ष्म उद्योग क्षेत्र के उद्योगों के विकास की चिंता प्रधानमंत्री श्री मोदी ने भी की है। ऐसे उद्योगों को लगाने वाले उद्यमियों को पूंजी की उपलब्धता के लिए परेशान ना होना पड़े इसके साथ ही उनका कार्य सुचारु रुप से चले, इसमें अधिकतम सहयोग किस तरह दिया जा सकता है, इसके प्रयास किए जाने चाहिए। प्रदेश में कोरोना काल में श्रम कानूनों में सुधार से श्रमिक हित के साथ ही बेहतर उद्योग संचालन की व्यवस्था भी की गई। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोरोना काल में सबसे बड़ी दिक्कत अर्थव्यवस्था पर यह आई कि जो राजस्व प्राप्तियां होती हैं, उनमें भी कमी आई। इसके बावजूद सभी संभव प्रयास किए गए। लोगों की आजीविका कैसे सुरक्षित रहे, यह सबसे बड़ी चिंता थी। स्ट्रीट वेंडर्स जैसी योजना ने काफी सहारा दिया। मध्यप्रदेश में रोजगार चाहने वालों को रोजगार की सुरक्षा के साथ ही हाथ में कुछ नगद राशि रहे, यह भी प्रयास किया गया। विभिन्न हितग्राहियों को ऑनलाइन राशि का भुगतान भी किया गया। मध्यप्रदेश में कारोबार के लिए पूंजी उपलब्ध कराने के प्रयास भी किए जा रहे हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि युवाओं को लघु व्यवसाय प्रारंभ करने में कैसे मदद मिले, स्टार्टअप से लेकर एमएसएमई तक टैलेंट हताश न हों, यह प्रयास होना चाहिए।

प्रधानमंत्री श्री मोदी के आत्मनिर्भरता के संकल्प को सब मिलकर पूरा करें
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री मोदी ने कोरोना काल में अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने की न सिर्फ चिंता की है बल्कि इस दिशा में ठोस प्रयास भी किए हैं। मजबूत अर्थव्यवस्था ही प्रगति के वाहन में ईंधन का कार्य करती है। प्रधानमंत्री श्री मोदी ने एग्रो इन्फ्रास्ट्रक्चर लांच कर आत्मनिर्भरता का जो मार्ग सुझाया है, उस पर हम सभी को चलना है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि वेंडर्स योजना का शहरी क्षेत्र में क्रियान्वयन करते हुए मध्यप्रदेश में ग्रामीण क्षेत्र के लिए  पथ विक्रेता कल्याण योजना की पहल की गई। इस योजना में बिना ब्याज के 10 हजार रुपये का ऋण मिलने से ग्रामों में फल विक्रेता, चाय की गुमठी लगाने वाले, मोची, सुथार, लोहार, बंसोड़ और इसी तरह के लघु व्यवसाय करने वाले अपने व्यवसाय का उन्नयन कर सकेंगे। प्रधानमंत्री श्री मोदी ने जिस तरह मनरेगा से कोरोना काल में जरूरतमंदों के लिए आय का साधन जुटाने का रास्ता निकाला, उसी तरह विभिन्न क्षेत्रों में पूंजी की उपलब्धता के लिए प्रयास होंगे।

कृषि क्षेत्र में होगा कायाकल्प
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि सड़क, पानी, बिजली, शिक्षा, स्वास्थ्य और सुशासन से अर्थव्यवस्था का सुधार होता है। इसके साथ ही अर्थव्यवस्था को मजबूत करने में कृषि का विशेष योगदान है। मध्यप्रदेश को बीमारु राज्य से निकालकर इस योग्य बनाया गया कि कई वर्ष विकास दर बीस प्रतिशत तक रही। करीब 42 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई संभव हो सकी। बंपर कृषि उत्पादन की उपलब्धि मध्यप्रदेश ने हासिल की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कृषि अधोसंरचना को मजबूत बनाने और वेल्यू एडिशन के प्रयासों से किसानों को सीधा लाभ मिला है। मंडी अधिनियम में संशोधन से किसानों को वन नेशन-वन मार्केट की सुविधा मिली। इस तरह के प्रयास जारी रहेंगे।

महिला स्व-सहायता समूहों की ताकत और स्थानीय उत्पादों को महत्व
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोरोना काल में प्रदेश में महिला स्व-सहायता समूहों ने बेहतर कार्य किया है। इन समूहों की ताकत यह है कि इसकी सदस्य मिलकर कार्य करती हैं। मध्यप्रदेश में पीपीई किट यूनिफार्म और मॉस्क तैयार करने में यह समूह जुट गए। यही नहीं पोषण आहार बनाने का कार्य भी महिला समूह कर रहे हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि मध्यप्रदेश के एक महिला स्व-सहायता समूह ने मुर्गी पालन के माध्यम से तीन सौ करोड़ रुपये के वार्षिक टर्नओवर की उपलब्धि हासिल की। ऐसे समूहों को मार्केटिंग और पैकेजिंग के साथ ही बैकिंग सुविधाएं प्रदान कर हर संभव सहयोग दिया जा रहा है। विशेषज्ञों द्वारा इस दिशा में ठोस सुझाव दिए जाने चाहिए ताकि प्रधानमंत्री श्री मोदी के लोकल को वोकल बनाने का संकल्प भी पूरा किया जा सके। मध्यप्रदेश में निमाड़ अंचल में मिर्च, मूंग और कपास, चंबल अंचल में सरसों और गजक, शाजापुर-आगर मालवा, मंदसौर और बैतूल के संतरा उत्पादन, बुरहानपुर में केला उत्पादन, मंदसौर और नीमच में लहसुन उत्पादन की विशेषताएं हैं। इनका विशेष ब्रांड बनाने से लेकर लघु औद्योगिक इकाईयों की शुरुआत का विचार साकार किया जा सकता है। चंदेरी, महेश्वर और धार के बाग प्रिंट और वस्त्र निर्माण की खूबियों को दुनिया तक पहुँचाया जाए।

कौशल विकास के प्रयासों से जीवन की दिशा बदलेगी
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री मोदी स्किल डेवलपमेंट मिशन के माध्यम से युवाओं के कौशल को निखारना चाहते हैं। मध्यप्रदेश में ग्लोबल स्किल पार्क विकसित करने से विभिन्न तरह के कौशल में युवाओं को दक्ष करना आसान हो जाएगा। नई शिक्षा नीति में भी कक्षा छठवीं से वोकेशनल एजुकेशन के प्रावधान से आने वाले वर्षों में व्यापक स्तर पर बच्चों में कौशल का विकास हो सकेगा, जिससे उनके जीवन की दिशा बदल जायेगी। देश-विदेश के बाजारों तक भारत के हुनर की बात पहुँचेगी। मध्यप्रदेश में इस उद्देश्य से स्किल मेपिंग का कार्य निरंतर जारी रहेगा। नीति आयोग के सदस्य प्रो. रमेश चन्द्र टांक ने कहा कि आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश के लिये प्राथमिकताएं तय की जाएं। वर्तमान परिस्थिति में अर्थव्यवस्था व रोजगार पहली प्राथमिकता होनी चाहिए। औद्योगिक क्षेत्र के साथ-साथ कृषि व संबंधित क्षेत्रों जैसे फ्रूट एण्ड वेजिटेवल के भण्डारण, संरक्षण, प्रोसेसिंग, पोस्ट हार्वेस्ट इंडस्ट्री में भी रोजगार के अवसर बढ़ाये जा सकते है। कृषि क्षेत्र में फसलों की उत्पादकता को बढ़ाने के लिये प्रयास किये जाएं। उन्होंने सुझाव दिया कि आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश के लिये यह जरूरी है कि प्रदेश के सभी क्षेत्रों का समान विकास हो ताकि क्षेत्रीय असमानता व असंतुलन जैसी स्थिति न हो। प्रो. टांक ने कहा कि ट्रायबल इकोनॉमी व आदिवासियों द्वारा निर्मित की जाने वाली परंपरागत वस्तुओं की अर्थव्यवस्था को बढ़ावा दिया जा सकता है। उन्होंने मॉडर्न लैंडलीज लॉ में विस्तार करने का भी सुझाव दिया। टीमलीडर अपर मुख्य सचिव श्री राजेश राजौरा ने वेबिनार के उद्देश्यों से अवगत कराया। उन्होंने वेबिनार में आयोजित होने वाले सत्रों के बारे में भी जानकारी दी।  

कोई टिप्पणी नहीं: