सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 14 अगस्त - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 14 अगस्त 2020

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 14 अगस्त

स्वतंत्रता दिवस पर कलेक्ट्रेट परिसर में कलेक्टर श्री गुप्ता करेंगे ध्वजारोहण
कोरोना महामारी के चलते नहीं होगा भव्य समारोह का आयोजन
sehore news
स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त को कोरोना संक्रमण से बचाव के लिये शासन द्वारा निर्धारित प्रोटोकाल का पालन करते हुए सीहोर में कलेक्ट्रेट कार्यालय परिसर में कलेक्टर श्री अजय गुप्ता द्वारा प्रातः 08 बजे ध्वजारोहण किया जाएगा तथा सलामी ली जाएगी। इसके पश्चात कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में मुख्यमंत्री श्री चौहान के संबोधन का लाइव प्रसारण देखा तथा सुना जाएगा। जिला पंचायत कार्यालय में जिला पंचायत अध्यक्ष, प्रशासनिक समिति के प्रधान द्वारा औपचारिक रूप से राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाएगा तथा कार्यक्रम में राष्ट्रीय गान गाया जाएगा। इसी प्रकार जनपद पंचायत कार्यालयों में जनपद पंचायत अध्यक्ष/प्रशासनिक समिति के प्रधान द्वारा औपचारिक रूप से राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाएगा तथा राष्ट्रीय गान का गायन किया जाएगा। पंचायत कार्यालय में सरपंच/प्रशासनिक समिति के प्रधान द्वारा औपचारिक रूप से राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाएगा और राष्ट्रीय गान का गायन किया जाएगा। सभी शासकीय कार्यालयों पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाएगा। कार्यालय प्रमुख प्रातः 08 बजे अपने विभाग के अधिकारी, कर्मचारी को सीमित संख्या में कार्यालय भवन पर राष्ट्रीय ध्वज फहराएंगे तथा राष्ट्रगान का गायन करेंगे।

स्वतंत्रता दिवस पर सार्वजनिक कार्यक्रमों का नहीं होगा आयोजन
स्वतंत्रता दिवस पर जिला स्तर एवं जनपद स्तर पर कोई भी सार्वजनिक कार्यक्रम आयोजित नहीं किए जाएंगे। स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम में जनसामान्य और स्कूली बच्चों को शामिल नहीं किया जाएगा। कार्यक्रम स्थल पर प्राथमिक चिकित्सा, स्वास्थ्य की आवश्यक व्यवस्था अनिवार्य रूप से सुनिश्चित की जाएगी। साथ ही हैण्ड सेनेटाइजर, मास्क एवं सामाजिक दूरी आदि का विशेष ध्यान रखा जाएगा। स्वतंत्रता दिवस पर किसी भी सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन नहीं किया जाएगा।

आज 21 की रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई, वर्तमान में कुल पॉजीटिव एक्टिव व्यक्तियों की संख्या 136
एक व्यक्ति की भोपाल में उपचार के दौरान हुई मृत्यु, कुल मत्यु संख्या 15
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकार डॉक्टर सुधीर कुमार डेहरिया ने बताया कि  आज 21 व्यक्तियों की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई है। जिसमें सीहोर बडियाखेड़ी स्थित कोलीपुरा के 10, वार्ड नंबर 13 गंज से 1, टीगर मोहल्ला गंज के 3 तथा नेहरु कॉलोनी से 1 व्यक्ति की रिपोर्ट पॉजीवि आई है। इसी प्रकार बुदनी विकासखंड के बकतरा से 3 व्यक्ति तथा नसरुल्लागंज के 3 व्यक्तियों की कोरोना जांच पॉजीटिव आई है। जिले में कोरोना पॉजीटिव/एक्टिव व्यक्तियों की संख्या 136 है। इछावर निवासी 83 वर्षीय की भोपाल में उपचार के दौरान मत्यु की सूचना प्राप्त हुई है। 4 अगस्त को उसकी कोरोना रिपोर्ट पॉजीटिव आने के बाद उन्हें उपचार के लिए भोपाल रेफर किया गया था जहां 13 अगस्त को उपचार के दौरान उसकी मृत्यु हो गई। जिले में कोरोना संक्रमित व्यक्तियों की मृत्यु संख्या 15 है। आज 4 व्यक्तियों को डिस्चार्ज किया गया है। जिले में अब तक स्वस्थ होने के उपरांत डिस्चार्ज किए गए व्यक्तियों की संख्या 286 है। आज 228 यक्तियों के  सैम्पल कोरोना जांच हेतु लिए गए है। सीहोर शहरी क्षेत्र से आज  64 सैम्पल जांच हेतु लिए गए है। श्यामपुर के 70, आष्टा से 31 इछावर के 30, नसरूल्लागंज के 13 तथा बुदनी के 20 व्यक्तियों के कोरोना जांच हेतु सैम्पल लिए है। आज पॉजीटिव मिले नए कंटेनमेंट जोन सहित समस्त कंटेनमेंट एवं बफर जोन में स्वास्थ्य दलों द्वारा सघन स्वास्थ्य सर्वे किया जा रहा है। वहीं पॉजीटिव मिले व्यक्तियों के करीबी संपर्क वाले व्यक्तियों की पहचान कर उनकी सूची तैयार की जा रही है। प्रत्येक कंटेनमेंट जोन में सर्वे के लिए एक से दो दल लगाए गए है। सर्वे दल के प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों को बनाया गया है तथा स्वास्थ्य सर्वे दल में ए.एन.एम., आशा कार्यकर्ता, आंगनबाडी कार्यकर्ताओं की ड्यूटी लगाई गई है। जिले में कुल कोरोना पॉजीटिव व्यक्तियों की संख्या 437 है जिसमें से 15 की मृत्यु हो चुकी है 286 स्वस्थ्‍ होकर डिस्चार्ज हो गए है तथा वर्तमान में 136 पॉजीटिव व्यक्तियों का उपचार चल रहा है। आज कुल 228 सैंपल जांच हेतु लिए गए। जिले से अब तक कुल 6447 सेम्पल जांच के लिए भेजे गए थे जिनमें से 5359 सेंपलों की रिपोर्ट अब तक निगेटिव प्राप्त हुई है। आज 232 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। कुल 609 सैंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथालॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 42 है। जिले में जो व्यक्ति होम क्वारंटाइन में है उनके निवास स्थान से सीधे संवाद हेतु जिला स्तरीय कोविड-19 काल सेंटर स्थापित किया गया है जिसका संपर्क नंबर.7247704181 है कोविड.19 से संबंधित जानकारी इस संपर्क नंबर पर ली व दी जा सकती है। वहीं जिला चिकित्सालय सीहोर में टेलीमेडिसीन के लिए संपर्क नंबर 07562-401259 जारी किया गया है तथा राज्य स्तर पर 104/181 नंबर पर काल करके भी टेलीमेडिसीन सेवा का लाभ लिया जा सकता है। 104  नंबर पर ई.परामर्श सेवा का भी लाभ लिया जा सकता है। ई.संजीवनी ओपीडी सेवा हेतु www.esanjeevaniopd.in पंजीयन कराया जा सकता है। कलेक्ट्रेट कार्यालय सीहोर में भी जिला स्तरीय काल सेंटर बनाया गया है जिसका संपर्क नंबर 07562.226470 है तथा होम क्वारंटाइन व्यक्तियों तथा उनके परिजनों के लिए हेल्पलाइन नंबर 18002330175 जारी किया गया है। जिस पर संस्थागत क्वारंटाइन अथवा होम क्वारंटाइन व्यक्ति अथवा उनके परिजन इमोशनल वेलनेस अथवा साईकोलाजिकल सपोर्ट एवं अन्य जरूरी परामर्श मानसिक सेवा प्रदाताओं से निःशुल्क प्राप्त कर सकते है।

"सहयोग से सुरक्षा अभियान" आज से सहयोग, सुरक्षा और संकल्प से ही होगी विजय, कोरोना समाप्ति का दृढ़ निश्चय

कोरोना संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम का कार्य स्वास्थ्य विभाग के साथ अन्य विभागों के सहयोग से किया जायेगा। कोरोना संक्रमण से बचाव के लिये आमजन के सहयोग से वृहद् स्तर पर जन-जागरूकता के लिये 15 अगस्त से "सहयोग से सुरक्षा अभियान" प्रारंभ होगा। प्रदेश में कोविड-19 संक्रमण के बढ़ते प्रकरणों के मद्देनजर विशेष सावधानियाँ और आम जनता के व्यवहार परिवर्तन के संबंध में ऑनलाइन मीडिया वर्कशाप में सचिव स्वास्थ्य श्री अशोक भार्गव ने ष्सहयोग से सुरक्षा अभियानष् के संबंध में विस्तृत चर्चा की। श्री भार्गव ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग के मैदानी अमले के साथ-साथ अन्य विभागों जैसे महिला एवं बाल विकास, शिक्षा, ग्रामीण विकास, वन विभाग, पंचायती राज, उच्च शिक्षा, नगरीय विकास, जनसम्पर्क, आयुष, राजस्व, आदिम जाति कल्याण आदि विभागों के सहयोग से कोविड-19 से बचाव एवं रोकथाम के लिये व्यापक-स्तर पर जन-जागरूकता के लिये अभियान चलाना होगा। इसके लिये स्थानीय कलाकारों, स्वयंसेवी संस्थाओं, धार्मिक गुरुओं तथा स्व-सहायता समूहों के सहयोग से प्रत्येक नागरिक को इस अभियान से जोड़कर कोविड से बचाव के लिये व्यवहार-परिवर्तन करना होगा। उन्होंने बताया कि इस अभियान के माध्यम से लोगों को कोरोना संक्रमण के साथ खुद को बचाते हुए जीवन जीने, सुरक्षा उपायों को जीवनशैली का अंग बनाने, परिवर्तित व्यवहारों को स्थायी बनाने, सूचना-तंत्र को सुदृढ़ कर भ्रामक जानकारियों का खंडन कर लोगों तक सही जानकारी पहुँचाने, कोरोना खत्म करने के लिये जन-प्रतिनिधियों, मीडिया और समाज की भागीदारी बढ़ाने तथा सेवा प्रदाताओं और संक्रमित लोगों  को कलंक और भेद-भाव का शिकार होने से बचाना है। श्री भार्गव ने बताया कि स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त से वृहद् स्तर पर इस अभियान की शुरूआत शपथ के साथ शुरू होगी। कोरोना संक्रमण से बचाव और आवश्यक सावधानियाँ रखने की शपथ मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह के साथ जनप्रतिनिधि और आमजन भी लेंगे। अभियान में आमजन से अपील की जायेगी कि कोविड-19 के संक्रमण से बचाव के लिये जरूरी सावधानियों को अपने व्यवहार में शामिल करें। इस अपील में स्थानीय खेल प्रतिभाओं, कलाकारों एवं क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले व्यक्तियों को भी जोड़ा जायेगा। अभी भी अनलॉक होने पर आमजन लापरवाह होकर अफरा-तफरी एवं पार्टी कर रहे हैं। लोगों में कई भ्रांतियाँ हैं जैसे एक बार कोरोना संक्रमण होने के बाद दोबारा नहीं होता, घर पर ही इलाज करके स्वयं को ठीक करने, उन्होंने कहा कि इन भ्रांतियों को दूर करने के लिये ऑडियो/वीडियो/शार्ट मैसेज के माध्यम से जनता को जागरूक किया जाये। सभी कलेक्टर्स डिपार्टमेंटल नोडल ऑफिसर एवं डिस्ट्रिक्ट नोडल ऑफिसर बनाकर सबकी जिम्मेदारी तय करेंगे। जिला-स्तर पर होने वाली गतिविधियाँ सार्थक लाइट एप पर अपलोड होंगी। इस अवसर पर सचिव स्वास्थ्य ने मीडियाकर्मियों से आह्वान किया कि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिये इस अभियान में सक्रिय सहभागी बनकर व्यापक प्रचार-प्रसार में सहयोग प्रदान करें।

जिले में अब तक 580 मि.मी. औसत वर्षा

जिले में आज 13 अगस्त, 2020 की प्रात:8 बजे समाप्त पिछले चौबीस घन्टों में 29.9 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज की गई है। इसे मिलाकर 1 जून से अभी तक जिले में 580 मि.मी औसत बारिश रिकार्ड की जा चुकी है जबकि गत वर्ष इस अवधि में 826.3 मि.मी बारिश रिकार्ड की गई थी। अधीक्षक, भू-अभिलेख से मिली जानकारी के अनुसार पिछले चौबीस घन्टों में सीहोर में 29.5, श्यामपुर में 10, आष्टा में 35, जावर में 15, इछावर में 24, नसरुल्लागंज में 32, बुधनी में 56, रेहटी में 38 मिमी बारिश दर्ज की गई है। आंकड़ों के मुताबिक जिले में अभी तक सीहोर में 521, श्यामपुर में 343, आष्टा में 603, जावर में 481, इछावर में 463, नसरुल्लागंज में 629, बुदनी में 665 एवं रेहटी में 934.4 मिमी बारिश दर्ज की गई है। गत वर्ष इस अवधि में सीहोर में 1035.2, श्यामपुर में 160, आष्टा में 902, जावर में 539, इछावर में 822, नसरुल्लागंज में 1002, बुधनी में 698 रेहटी में 851.2 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई थी।

पीएम किसान कार्य में सेल्फ रजिस्ट्रेशन के स्थान पर किया जा सकता है सिटीजन इन्टरफेस (सिटीजन पोर्टल) का उपयोग

कलेक्टर श्री अजय गुप्ता द्वारा जिले के समस्त तहसीलदारों को निर्देशित किया गया है कि पीएम किसान पोर्टल पर उपलब्ध सेल्फ रजिस्ट्रेशन के स्थान पर नए रजिस्टेशन के लिए सारा पोर्टल पर उपलब्ध सिटीजन इन्टरफेस के द्वारा नया रजिस्ट्रेशान किया जा सकता है। यह विकल्प सारा पोर्टल (http://saara.mp.gov.in/) के होमपेज पर दिया गया है, इसका चयन कर नवीन आवेदक प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि में खाते की स्थिति की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं एवं नया रजिस्ट्रेशन भी किया जा सकता है। कृषक के रजिस्ट्रेशन उपरांत यह पटवारी की आईडी पर उपलब्ध सिटीजन अपडेट पर जाएगा जिसकी पटवारी द्वारा जांच की जाएगी एवं जांच कर स्वीकृत किया जाएगा।

"गंदगी भारत छोड़ो" अभियान में नगरीय निकायों की होगी रैंकिंग

नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री भूपेन्द्र सिंह ने कहा है कि प्रदेश के सभी शहरों को कचरा मुक्त बनायें। किसी भी शहर में कचरे के ढ़ेर नहीं दिखने चाहिए। उन्होंने कहा कि "गंदगी भारत छोड़ो-मध्यप्रदेश" अभियान में 16 से 30 अगस्त तक नगरीय निकायों द्वारा किये गये कार्यों के आधार पर उनकी रैंकिंग की जायेगी। अच्छी रैंक पाने वाले निकायों को सम्मानित किया जायेगा। श्री सिंह ने कहा कि रैंकिंग किसी एजेंसी या नगरीय प्रशासन एवं विकास संचालनालय के अधिकारियों की टीम द्वारा की जाय। नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री सिंह ने कहा कि 16 से 30 अगस्त तक चलने वाले अभियान में प्रत्येक दिन अलग-अलग जिलों में कोई न कोई स्वच्छता से जुड़ा हुआ कार्यक्रम रखा जाय। इसमें जन-प्रतिनिधियों को भी आमंत्रित किया जाय। उन्होंने कहा कि कुछ ऐसे कार्य करें कि लागों को लगे कि कुछ अलग हो रहा है। छोटे शहरों और अन्य शहरों जहाँ कचरा निपटान की व्यवस्था नहीं है, वहाँ के लिए एक सप्ताह में प्लान बनायें। कचरा प्रबंधन के लिए पीपीपी मोड या शासकीय स्तर पर प्लांट लगाने पर विचार करें। गौरतलब है कि "गंदगी भारत छोड़ो-मध्यप्रदेश" अभियान में शहरों में व्यक्तिगत तथा सार्वजनिक शौचालयों की साफ-सफाई और कचरा प्रबंधन पर नागरिकों को संवेदित और जागरूक किया जायेगा। अभियान में 16 से 18 अगस्त तक स्वच्छता शपथ एवं व्यक्तिगत शौचालयों का रखरखाव और सफाई पर अशासकीय संगठनों के माध्यम से झुग्गीबस्तियों एवं अन्य मुहल्लों में नागरिकों से चर्चा की जायेगी। अभियान में 19 से 21 अगस्त तक नो प्लास्टिक और रिसाइकिल, रियूज, रिड्यूज और रिफ्यूज (चार-आर) के संबंध में निकायों, युवाओं और विद्यार्थियों से ऑनलाइन संवाद और परिचर्चाओं का आयोजन किया जायेगा। नागरिक संगठनों एवं जन-प्रतिनिधियों के माध्यम से बाजारों और सार्वजनिक स्थलों पर प्लास्टिक प्रतिबंध के संबंध में जागरूकता गतिविधियाँ आयोजित की जायेंगी। अभियान में 22 से 24 अगस्त तक कोविड-19 के संबंध में लोगों को नेपकिन और उपयोग किये गये मास्क आदि के सुरक्षित निपटान के संबंध में जागरूक किया जायेगा। नगरीय निकाय द्वारा क्वारेंटाइन केन्द्रों की स्वच्छता, मास्क पहनने की समझाइश और निकायों में सफाईकर्मियों को सम्मानित करने का कार्य किया जायेगा। अभियान में 25 से 27 अगस्त तक आवासीय परिसरों में स्रोत पर अपशिष्ट पृथक्कीकरण, घरेलू हानिकारक कचरे का सुरक्षित निपटान करने के संबंध में जन-जागरूकता के साथ ही स्व-सहायता समूह के सदस्यों एवं आवासीय संघों से चर्चा की जायेगी। अंतिम चरण में 28 से 30 अगस्त तक निकायों एवं सहयोगी संगठनों के सहयोग से स्वच्छता श्रमदान तथा निकायों द्वारा सभी सार्वजनिक शौचालयों के अंदर और बाहर विशेष सफाई अभियान चलाया जायेगा। उन्होंने ने कार्यक्रमों में मास्क पहनने और सोशल डिस्टेंसिंग प्रोटोकॉल का अनिवार्य रूप से पालन करने तथा कंटेनमेंट जोन में यह गतिविधियाँ नहीं करने के निर्देश दिये हैं। जहाँ भी ये कार्यक्रम किये जायें, वहाँ दान-दाताओं से प्राप्त मास्क वितरित करने के लिये स्टॉल लगाये जायें। गतिविधियों की नियमित रिपोर्टिंग की जाये। इसके लिये गूगल लिंक नगरीय प्रशासन एवं विकास संचालनालय से जारी की जायेगी। अभियान का व्यापक प्रचार-प्रसार कर नागरिकों को जागरूक एवं प्रोत्साहित किया जाये।  

स्कूल शिक्षा मंत्री ने माशिम पोर्टल एवं माशिम मोबाइल एप का लोकार्पण किया
नई शिक्षा नीति के उद्देश्यों को प्राप्त करने में सार्थक होंगे माशिम पोर्टल एवं एप
स्कूल शिक्षा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री इंदर सिंह परमार ने बोर्ड ऑफिस में ई-गर्वनेंस पोर्टल, माशिम पोर्टल (mashim-nic-in) एवं माशिम मोबाइल एप का लोकार्पण किया। श्री परमार ने कहा कि यह क्रांतिकारी परिवर्तन है। इससे विद्यार्थी अब बोर्ड से जुड़े हुए हर कार्य को अपने मोबाइल से ही आसानी से कर सकेंगे। इससे समय और पैसे की बचत के साथ-साथ सरलता से कार्य किये जा सकेंगे। इस व्यवस्था के साथ ही शिक्षा में परीक्षा के स्थान पर लर्निंग एवं ज्ञान पर अधिक ध्यान दिया जायेगा, जो नई शिक्षा नीति के उद्देश्यों की प्राप्ति में सार्थक साबित होगा। अब शिक्षक और अधिक स्किलफुल होकर बच्चों को आसानी से पढ़ा सकेंगे। इस व्यवस्था में बच्चे भी अपनी सुविधानुसार अपने मोबाइल या अन्य इलेक्ट्रॉनिक माध्यमों से पढ़ सकेंगे। इस एप और पोर्टल में सभी छात्रों, शिक्षकों एवं विद्यालयों के पंजीकृत होने से एक क्लिक पर सभी जानकारी रियल टाईम में प्राप्त की जा सकेंगी। पंजीकृत विद्यालयों को ऑनलाइन शिक्षण सामग्री उपलब्ध होने पर निर्बाध पढ़ाई हो सकेगी। उन्होंने कहा कि पारंपरिक शिक्षा के स्थान पर व्यावसायिक शिक्षा पर भी ध्यान दिये जाने की आवश्यकता है ताकि विद्यार्थी रोजगारोन्मुखी शिक्षा प्राप्त कर सकें।  माध्यमिक शिक्षा मंडल बोर्ड के अध्यक्ष श्री राधेश्याम जुलानिया ने माशिम पोर्टल एवं एप की विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने बताया कि मंडल के सभी कार्य अब मंडल के पोर्टल पर विद्यार्थी, शिक्षक एवं विद्यालय द्वारा अपने कम्प्यूटर, स्मार्ट-फोन से विद्यालय परिसर अथवा घर से ही किये जा सकेंगे। इससे विद्यार्थियों का निजी डाटा एवं उनके डाक्यूमेंट्स की गोपनीयता एवं सुरक्षा सुनिश्चित रहेगी। उन्होंने बताया कि यह पोर्टल शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार लायेगा, साथ ही यह शिक्षा को परीक्षा केन्द्रित न होकर अधिगम (लर्निंग) एवं ज्ञान केन्द्रित बनायेगा। श्री जुलानिया ने बताया कि वार्षिक परीक्षाओं के स्थान पर वर्षभर आंतरिक मूल्यांकन कराते हुए यह सुनिश्चित किया जायेगा कि छात्र अधिकतम ज्ञान अर्जित कर सकें।

विद्यार्थियों के लिये सुविधाएँ एवं सेवाएँ
माशिम मोबाइल एप के माध्यम से विद्यार्थियों को चरणबद्ध रूप में गुणवत्तायुक्त सेल्फ लर्निंग स्टडी मटेरियल उपलब्ध कराया जायेगा, साथ ही एप आधारित सतत् मूल्यांकन भी किया जायेगा। ये सभी सुविधाएँ सहज एवं रियल टाईम में उपलब्ध होंगी। यह सुविधा मिलने से विद्यार्थियों को कियोस्क जाने की आवश्यकता नहीं होगी, जिससे डेटा और डाक्यूमेंट्स की गोपनीयता और सुरक्षा बनी रहेगी, साथ ही दुरूपयोग की संभावना नहीं होगी।

विद्यालयों के लिये सुविधा
माशिम मोबाइल एप मंडल एवं विद्यालयों के बीच सीधे संवाद के लिये एक प्लेटफार्म की तरह कार्य करेगा, इसके लिये विद्यालयों को लॉगइन दिया जायेगा। विद्यालयों को माशिम पोर्टल एवं एप पर सहज एवं रियल टाईम में सभी सुविधाएँ, सेवाएँ एवं सूचनाएँ प्राप्त होंगी। किसी भी कार्य के लिये कियोस्क जाने की बाध्यता समाप्त होगी, विद्यालयों के समय एवं अतिरिक्त शुल्क भुगतान की बचत के साथ-साथ विद्यार्थियों के व्यक्तिगत डाटा एवं महत्वपूर्ण दस्तावेजों की सुरक्षा सुनिश्चित होगी।

शिक्षकों के लिये सुविधाएँ
माशिम मोबाइल एप मंडल एवं शिक्षकों के बीच सीधे संवाद के लिये एक प्लेटफार्म की तरह कार्य करेगा, इसमें सभी शासकीय एवं अशासकीय विद्यालयों के शिक्षकों को माशिम पोर्टल पर पंजीकृत कर ऑनबोर्ड किया जायेगा। इसके माध्यम से शिक्षक विद्यार्थियों के आंतरिक मूल्यांकन के लिये प्रश्न-पत्र डाउनलोड कर सकेंगे। साथ ही मूल्यांकन के अंक निर्धारित समय-सीमा में अपलोड कर सकेंगे। शिक्षकों के मूल्यांकन एवं मंडल के अन्य कार्यों की मानदेय राशि सीधे उनके बैंक खाते में ट्रांसफर की जा सकेगी।

संस्थाओं, विद्यार्थियों एवं रोजगारदाताओं के लिये सुविधाएँ
संस्थाओं, विद्यार्थियों एवं रोजगारदाताओं को समय-समय पर अंकसूची के सत्यापन की आवश्यकता पड़ती है, जो अब मंडल के पोर्टल पर ऑनलाइन उपलब्ध होगी। डिजिटल साइनयुक्त सत्यापित अंक सूची प्राप्त भी की जा सकेगी। कार्यक्रम में बोर्ड के सचिव श्री अनिल सुचारी सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।  

कोई टिप्पणी नहीं: