सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 19 अगस्त - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 19 अगस्त 2020

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 19 अगस्त

खेत को इकाई माना जाए सर्वे को ग्रामसभा में सार्वजनिक किया जाए दुग्ध उत्पादक किसानों को 5 रूपये लीटर की सब्सिडी दी जाए
  • अखिल भारतीय किसान सभा राज्य परिषद ने मुख्यमंत्री के नाम दिया ज्ञापन

sehore news
सीहोर। अतिकम बारिश से सोयाबीन की फसल खराब हो गई है किसानों को राहत दी जाए शीघ्र खेत को इकाई मानकर सर्वे किया जाए और सर्वे रिपोर्ट को ग्रामसभा में सार्वजनिक किया जाए। दुग्ध उत्पादक किसानों को प्रति लीटर 5 रूपये की सब्सिडी दी जाए। किसान हित में उक्त मांग अखिल भारतीय किसान सभा राज्य परिषद के  प्रांतीय महासचिव प्रहलाद दास बैरागी ने किसानों के साथ बुधवार को कलेक्ट्रेट पहुंचकर मुख्यमंत्री के नाम डिप्टी कलेक्टर विजय कुमार मंडलोई को ज्ञापन देकर की है। अल्प वर्षा के कारण सीहोर जिला सहित सम्पूर्ण प्रदेश  को दलहन तिलहन मक्का धान की फसलों को भारी नुकसान हुआ है। जिस  से  किसान को समक्ष बड़ी समस्या खड़ी हो गई है। इधर सेवा सहकारी समितियों के द्वारा किसानों को डिफाल्टर घोषित किया जा रहा है भ्रष्टाचार करने वाले आधिकारियों पर कड़ी कार्रवाई की जाए और किसानों को उनका हक दिलाया जाए। किसान डिफॉल्टर होने से प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से बाहर हो गया है कोविड 19 के महासंकट से किसान भी जूझ रहा है। किसानों को  राहत राशी दी जाए। बैरागी ने कहा की सोयाबीन की भवंतर राशि 500 रूपये क्वंटल और गेहू का बोनस तथा बीमा राशि तत्काल किसानो को दिया जाए। दुग्ध उत्पादक किसानो को प्रति लीटर 5 रु की सब्सिडी दी जाए। श्यामपुर तहसील की स्थानीय समस्या नेशनल हाईवे से बराडी झागरीया सेमलिया दांगी रोड के मध्य नदी पर पुल का शीघ्र निर्माण किया जाए। समस्याओं का शीघ्र निकारण कराया जाकर किसानों को राहत प्रदान की जाए। ज्ञापन सौपने वालों में भानू प्रकाश मेवाड़ा,धनसिंह मेवाड़ा,  रामसिंह लोधी,  वदन सिंह, राजेश मेवाड़ा, राजेश जाट, जितेंद्र मेवाड़ा अर्जुन मेवाड़ा आदि किसान शामिल रहे।


केंद्र सरकार ने लागू किये किसान विरोधी अध्यादेश राष्ट्रीय किसान मोर्चा ने की कड़ी निंदा, राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन

sehore news
सीहोर। केन्द्र सरकार तीन किसान विरोधी अध्यादेश पारित करने की साजिश कर रहीं है। किसानों के हित में राष्ट्रीय किसान मोर्चा इन अध्यादेशों का कड़ा  विरोध देशभर में कर रहा है। मंगलवार को राष्ट्रीय किसान मोर्चा जिलाध्यक्ष राजेश मालवीय के नेतृत्व में किसानों ने उक्त अध्यादेश वापस लिए जाने की मांग को लेकर राष्ट्रपति के नाम डिप्टी कलेक्टर विजय कुमार मंडलोई को ज्ञापन दिया है। मालवीय ने कहा की किसान कानून किसान हितेषी नहीं है बल्कि बड़े पैमाने पर मात्र पूंजीपतियों को फायदा पहुंचाने को लिए यह कानुन पारित किया गया है जिससे पूरे देश के किसानों में आक्रोश है । राष्ट्रीय किसान मोर्चा ने देशव्यापी आंदोलन के पहले चरण देश के सभी 550 जिलों के जिला अधिकारियों के माध्यम से राष्ट्रपति  के नाम  ज्ञापन दिऐ है जिस के बाद भी केंद्र सरकार ने उक्त अध्यादेश वापस नहीं लिया तो किसान मोर्चा दूसरे चरण के आन्दोलन के तहत 31 अगस्त को देश के 31 राज्यों में , 550 जिला मुख्यालयों पर 543 सांसदों के पुतलें जलाकर धरना प्रदर्शन करेगा। जिस के बाद अध्यादेश के विरोध  में14 सितंबर को 31 राज्यों के 550 जिलों में आने वाले सभी तहसील मुख्यालयों पर क्षेत्रीय विधायकों के पुतले जलाकर तीसरे चरण का आन्दोलन किया जाएगा । राष्ट्रीय किसान मोर्चा ने 5 जून को केंद्र सरकार के द्वारा पारित किसान विरोधी अध्यादेश वापस लेने की मांग की है। ज्ञापन सौपने वालों में चांद सिंी मेवाड़ा, अंतर सिंी परमार,  मनोज पाटीदार, जितेंद्र मालवीय भगवान सिंह,मुकेश मीणा,सूरज सिंह, अनिल मालवीय, ओमप्रकाश, राकेश सिंह, बाला प्रसाद देवनारायण परमार आदि किसान शामिल रहे।

पीली पड़ गई सोयाबीन की फसल दोराहा ब्लाक कांग्रेस ने सौपा ज्ञापन

sehore news
सीहोर। कांग्रेस ब्लाक कमेटी कार्यकर्ताओं और किसानों ने बुधवार को कार्यवाहक अध्यक्ष राहुल गौर के नेतृत्व में दोराहा नायब तहसीलदार को ज्ञापन दिया। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सोयाबीन फसल के खराब होने से दुखी किसानों को तत्काल राहत देने और सर्वे कराकर शीघ्र वनभूमि ओर राजस्व भूमि पर काबिज गरीब किसानों को भी मुआवजा राशि देने की मांग की गई। ज्ञापन देने बालो में सतीश गौर , विश्राम गौर , नरेश साहू ,सोनू साहू , गोविंद साहू ,भगवान सिंह गौर,मनोहन गौर, ब्रजेश गौर, चंद्रभान सोलंकी आदि कांग्रेस कार्यकर्ता और किसान शामिल रहे।   


गौशालाओं के गोबर से बनेगी गणेश प्रतिमाऐं

जिले की गौशालाओं में स्वसहायता समूह की महिलाओं द्वारा गौबर से गणेश की प्रतिमाऐं बनाने का कार्य किया जा रहा है। इन प्रतिमाओं में पंच गव्य का उपयोग कर अलग-अलग आकार व रंग की गणेश प्रतिमा आजीविका बाजार लुनिया चैराहा सीहोर में उपलब्ध है।  ज्ञातव्य है कि प्रदेश सरकार ने गौशाला संचालन का कार्य म.प्र. राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के स्वसहायता समूहों को दिया है। इन स्वसहायता समूह की महिलाओं द्वारा गौशाला संचालन का कार्य किया जाकर अब गौशालाओं से निकलने वाले गोबर को आमदनी का जरिया बना लिया है। आने वाले गणेश उत्सव को देखते हुए इन महिलाओं ने जिला शाजापुर स्थित गौशाला में गोबर एवं अन्य पंच गव्य तत्वों के मेल से गणेश प्रतिमाओं को बनाने का प्रशिक्षण राष्टीय आजीविका मिशन की जिला इकाई के माध्यम से प्राप्त किया था। यहां पर उन्होने गौशालाओं के विभिन्न उत्पादों के साथ-साथ गणेश की प्रतिमाऐं बनाने का हुनर भी सीखा इस प्रकार पंचगव्य से बनी इको फ्रेन्डली प्रतिमाऐं पर्यावरण को किसी भी तरह का नुकसान नहीं पहुंचाएगी एवं धार्मिक आस्था के प्रतिक इस त्यौहार पर जन सामान्य को पर्यावरण संरक्षण का संदेश भी देगी।
    
जिले में 26 अगस्त से 11 सितम्बर तक चालाया जाएगा पेंशन, प्रकरण निराकरण अभियान

संभागायुक्त भोपाल श्री कवीन्द्र कियावत ने के निर्देशानुसार जिले 26 अगस्त से 11 सितम्बर तक पेंशन प्रकरणों के निराकरण के लिए सभी कार्यालयों में विशेष अभियान चलाया जाएगा। इस संबंध में कलेक्टर श्री अजय गुप्ता ने कहा है कि विभाग प्रमुख अपने-अपने कार्यालय/विभाग में गत् 5 वर्षों में सेवा निवृत्त हुए सभी शासकीय सेवकों की सूची बनाकर यह चिन्हित करेंगे कि उनके पेंशन प्रकरण, अवकाश नकदीकरण, जी.पी.एफ., डी.पी.एफ.,जी.आई.एस. एवं एफ.पी.एफ. आदि का भुगतान हो गया है अथवा नहीं। जिन शासकीय सेवकों के उक्त स्वत्वों का निराकरण नहीं हुआ है, उन शासकीय सेवकों की अलग-अलग श्रेणी के दावों की सूची पृथक से तैयार कर निराकरण के लिये कार्यवाही प्रारंभ करें। जिला अधिकारी द्वारा चिन्हांकित प्रकरणों में जो-जो कार्यवाही की जाना है, वह अभियान के प्रथम 2 दिवस में पूर्ण कर पेंशन प्रकरण को जिला अधिकारी एवं उनके सहयोगी व्यक्तिशः जिला पेंशन अधिकारी के पास निराकरण के लिये लेकर जाएंगे। जिला अधिकारी पेंशन प्रकरण को जिला पेंशन अधिकारी या उनके स्टाफ से समक्ष में चर्चा कर प्रकरण का परीक्षण कर यह ज्ञात करेंगे कि प्रकरण में कोई कार्यवाही शेष तो नहीं है अथवा प्रकरण अपूर्ण तो नहीं है। जिला पेशन कार्यालय द्वारा बताई गई अपूर्ण कार्यवाही को पूर्ण करवाकर जिला अधिकारी अपने शाखा प्रमुख के माध्यम से पूरा प्रकरण जिला पेंशन अधिकारी को भिजवाएंगे। जिला पेंशन अधिकारी आगामी 2 दिवस में संपरीक्षा कर उसमें स्वीकृति आदेश जारी करना सुनिश्चित करें। यदि कोई कमी भी पाई जाती है तो संबंधित जिला अधिकारी को दूरभाष पर संपर्क कर पेंशन कार्यालय में ही वह कमी पूरी करवाई जाए। जो प्रकरण जिला पेंशन अधिकारी के स्तर पर स्वीकृत किये जाकर पी.पी.ओ. जारी किये जा सकते हैं, उसके पी.पी.ओ. जारी कर दिये जाएं तथा अभियान समाप्ति के उपरांत जिला कलेक्टर के निर्देशन में पी.पी.ओ. का वितरण किया जाए ताकि जिला कलेक्टर को विभिन्न जिला अधिकारियों एवं जिला पेंशन अधिकारियों के द्वारा किये गये प्रयासों की जानकारी रहे। जिन प्रकरणों का निराकरण संभागीय पेंशन अधिकारी अथवा विभागाध्यक्ष के द्वारा किया जाना है, उन प्रकरणों को तैयार कर वे संबंधित कार्यालय को इस अभियान के दौरान प्रेषित करना सुनिश्चित करेंगे। अभियान के अंत में कलेक्टर द्वारा समीक्षा की जाएगी कि जिले में विभिन्न विभागों के पेंशन एवं देय स्वत्वों के निराकरण के लिये कितने प्रकरण निर्धारित किये गये थे, कितने निराकृत हुए और कितने निराकरण के लिये शेष हैं। कलेक्टर निराकरण के लिये शेष प्रकरणों के कारणों को भी जिला अधिकारी से प्राप्त करेंगे। इस अभियान के पश्चात जिले में किसी भी शासकीय सेवक का पी.पी.ओ./देय स्वत्व निराकरण के लिये शेष नहीं हो अथवा प्रकरण संज्ञान में नहीं आया है। यदि इसके बाद कोई आवेदन/प्रकरण जनसुनवाई, मुख्यमंत्री हेल्पलाईन या अन्य किसी माध्यम से संज्ञान में आता है और वह इस अभियान के दौरान संबंधित विभाग के अधिकारियों द्वारा चिन्हांकित कर निराकरण की श्रेणी में नहीं लाया गया है तो ऐसी दशा में कलेक्टर उस विभाग के जिला प्रमुख का उत्तरदायित्व निर्धारित करते हुए उनके विरूद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही का प्रस्ताव कमिश्नर को भिजवाया जाएगा।

कलेक्टर पहुंचे नसरुल्लागंज, किया कीटव्याधि प्रभावित, सोयाबीन फसल का निरीक्षण

sehore news
कलेक्टर श्री अजय गुप्ता बुधवार को नसरुल्लागंज क्षेत्र पहुंचे जहां उन्होंने कीट व्याधि से प्रभावित सोयाबीन फसल का जाएजा लिया। इस अवसर पर कलेक्टर श्री गुप्ता के साथ उपसंचालक कृषि, कृषि विज्ञान केन्द्र सेवनिया के कृषि वैज्ञानिक एवं स्थानीय जनप्रतिनिधि उपस्थित थे। कलेक्टर श्री गुप्ता ने कृषि वैज्ञानिकों की सलाह अनुसार कृषकों को सोयाबीन फसल पर दवाईयों का छिड़काव करने की सलाह दी। कृषि विभाग के उपसंचालक श्री एसएस राजपूत ने बताया कि सोयाबीन की बोवनी होने के पश्चात लगातार वर्षा न होने से वातावरण में आर्दता की अधिकता के कारण कीटव्याधि की समस्या उत्पन्न हुई है। जिन कृषकों ने समय सीमा के भीतर फसल बीमा योजना अन्तर्गत अपनी फसल का बीमा करवाया है उन्हें पात्रता अनुसार योजना का लाभ मिलेगा।


जिले में अब तक 619.2 मि.मी. औसत वर्षा

जिले में आज 19 अगस्त, 2020 की प्रात:8 बजे समाप्त पिछले चौबीस घन्टों में 6.1 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज की गई है। इसे मिलाकर 1 जून से अभी तक जिले में 619.2 मि.मी औसत बारिश रिकार्ड की जा चुकी है जबकि गत वर्ष इस अवधि में 937.3 मि.मी बारिश रिकार्ड की गई थी। अधीक्षक, भू-अभिलेख से मिली जानकारी के अनुसार पिछले चौबीस घन्टों में सीहोर में 1.1, श्यामपुर में 8, इछावर में 1, नसरुल्लागंज में 11, बुधनी में 8, रेहटी में 20 मिमी बारिश दर्ज की गई है। जबकि आष्टा, जावर में वर्षा की स्थिति शून्य रही। आंकड़ों के मुताबिक जिले में अभी तक सीहोर में 611.3, श्यामपुर में 432, आष्टा में 616.6, जावर में 493, इछावर में 488, नसरुल्लागंज में 656, बुदनी में 686 एवं रेहटी में 970.8 मिमी बारिश दर्ज की गई है। गत वर्ष इस अवधि में सीहोर में 1218.8, श्यामपुर में 933, आष्टा में 992, जावर में 629.9, इछावर में 950, नसरुल्लागंज में 1074, बुधनी में 771 रेहटी में 930 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई थी।

आज 9 की रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई, वर्तमान में कुल पॉजीटिव एक्टिव व्यक्तियों की संख्या 162

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकार डॉक्टर सुधीर कुमार डेहरिया ने बताया कि  आज 9 व्यक्तियों की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई है। जिसमें सीहोर के गंज से 2 तथा रानी मोहल्ला एवं इंदिरा कॉलोनी से 1-1 व्यक्ति, इछावर के वार्ड नंबर 5 एवं नसरुल्लागंज से 1-1 व्यक्ति तथा बुदनी के अदालत कॉलोनी से 2 व्यक्ति, श्यामपुर से 1 व्याक्ति की रिपोर्ट पॉजीटिव आई है। जिले में कोरोना पॉजीटिव/एक्टिव व्यक्तियों की संख्या 162 है। जिले में कोरोना संक्रमित व्यक्तियों की मृत्यु संख्या 17 है। आज 05 व्यक्तियों को डिस्चार्ज किया गया है। जिसमें से सभी स्थानीय सीहोर के हैं। जिले में अब तक स्वस्थ होने के उपरांत डिस्चार्ज किए गए व्यक्तियों की संख्या 340 है। आज  156 व्‍यक्तियों के  सैम्पल कोरोना जांच हेतु लिए गए है। सीहोर शहरी क्षेत्र से आज  54, श्यामपुर के 30, आष्टा से 28, इछावर के 26, नसरूल्लागंज के 13 एवं बुदनी के 5 व्यक्तियों के कोरोना जांच हेतु सैम्पल लिए है। आज पॉजीटिव मिले नए कंटेनमेंट जोन सहित समस्त कंटेनमेंट एवं बफर जोन में स्वास्थ्य दलों द्वारा सघन स्वास्थ्य सर्वे किया जा रहा है। वहीं पॉजीटिव मिले व्यक्तियों के करीबी संपर्क वाले व्यक्तियों की पहचान कर उनकी सूची तैयार की जा रही है। प्रत्येक कंटेनमेंट जोन में सर्वे के लिए एक से दो दल लगाए गए है। सर्वे दल के प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों को बनाया गया है तथा स्वास्थ्य सर्वे दल में ए.एन.एम., आशा कार्यकर्ता, आंगनबाडी कार्यकर्ताओं की ड्यूटी लगाई गई है।   जिले में कुल कोरोना पॉजीटिव व्यक्तियों की संख्या 519 है जिसमें से 17 की मृत्यु हो चुकी है 340 स्वस्थ्‍ होकर डिस्चार्ज हो गए है तथा वर्तमान में 162 पॉजीटिव व्यक्तियों का उपचार चल रहा है।  आज कुल 156 सैंपल जांच हेतु लिए गए। जिले से अब तक कुल 7123 सेम्पल जांच के लिए भेजे गए थे जिनमें से 5794 सेंपलों की रिपोर्ट अब तक निगेटिव प्राप्त हुई है। कुल 768 सैंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथालॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 42 है। जिले में कुल कंटेंमेंट एरिया 168 है जिनमें से 68 एक्टिव एवं 100 इनेक्टिव एरिया हैं। जिले में जो व्यक्ति होम क्वारंटाइन में है उनके निवास स्थान से सीधे संवाद हेतु जिला स्तरीय कोविड-19 काल सेंटर स्थापित किया गया है जिसका संपर्क नंबर.7247704181 है कोविड-19 से संबंधित जानकारी इस संपर्क नंबर पर ली व दी जा सकती है। वहीं जिला चिकित्सालय सीहोर में टेलीमेडिसीन के लिए संपर्क नंबर 07562-401259 जारी किया गया है तथा राज्य स्तर पर 104/181 नंबर पर काल करके भी टेलीमेडिसीन सेवा का लाभ लिया जा सकता है। 104  नंबर पर ई.परामर्श सेवा का भी लाभ लिया जा सकता है। ई.संजीवनी ओपीडी सेवा हेतु www.esanjeevaniopd.in पंजीयन कराया जा सकता है। कलेक्ट्रेट कार्यालय सीहोर में भी जिला स्तरीय काल सेंटर बनाया गया है जिसका संपर्क नंबर 07562.226470 है तथा होम क्वारंटाइन व्यक्तियों तथा उनके परिजनों के लिए हेल्पलाइन नंबर 18002330175 जारी किया गया है। जिस पर संस्थागत क्वारंटाइन अथवा होम क्वारंटाइन व्यक्ति अथवा उनके परिजन इमोशनल वेलनेस अथवा साईकोलाजिकल सपोर्ट एवं अन्य जरूरी परामर्श मानसिक सेवा प्रदाताओं से निःशुल्क प्राप्त कर सकते है।

एडीशनल स्टैडिंग गवर्मेन्ट काउंसिंल के रूप में अधिवक्ता नियुक्त

भारत सरकार मिनिटस्ट्री ऑफ लॉ एंड जस्टिस डिपार्टमेंट ऑफ लीगल अफेयर ज्यूडिशियल सेक्शन नई दिल्ली द्वारा सीहोर जिले के अन्तर्गत स्थित जिला एवं समस्त अधीनस्थ न्यायालय में भारत सरकार के मामलों में पैरवी के लिए एडीशनल स्टैंडिंग गवर्मेंट काउंसिल के रूप में तीन वर्ष की अवधि के लिए नियुक्त किया गया है। कलेक्टर श्री अजय गुप्ता द्वारा आदेश के परिपालन में सीहोर के लिए अधिवक्ता श्री शिव प्रसाद दलोद्रिया को, आष्टा के लिए श्री अर्जुन सिंह सैंधव को, नसरुल्लागंज के लिए श्री महेन्द्र सिंह सोलंकी को समस्त राजस्व क्षेत्र के लिए उनके द्वारा कार्यभार ग्रहण करने की तिथि से तीन वर्ष की काल अवधि के लिए स्टैंडिंग गवर्मेंट काउंसिल के रूप में कार्य करने के लिए निर्देशित किया गया है।   

20 अगस्त सदभावना दिवस के रूप में मनाया जाएगा

सामान्य प्रशासन विभाग म.प्र. शासन के दिशा निर्देशानुसार 20 अगस्त 2020 को सद्भावना दिवस के रूप में मनाया जाएगा। सद्भावना की प्रतिज्ञा सभी शासकीय कार्यालयों में सुबह 11 बजे दिलाई जाएगी। इस दौरान कोरोना वायरस के मद्देनजर जारी दिशा निर्देशों का पालन करते हुए उक्त आयोजन होगा। 

सोयाबीन की फसल के लिए कृषकों को उपयोगी सलाह

आर.ए.के. कृषि महाविद्यालय के कृषि वैज्ञानिकों द्वारा कृषकों को सोयाबीन फसल के लिए सलाह दी गई है कि खेतों में जहां लगातार बारिश से जल भराव हो रहा है वहां पानी की निकासी समय समय पर करें। कई क्षेत्रों में सोयाबीन की फसल में यह देखा गया है कि रिमझिम वर्षा की स्थिति में पत्ती खाने वाली इल्लियों का प्रकोप हो रहा है। इनमें हरी अर्धकुण्डलक इल्ली, तम्बाकू की इल्ली, चने वाली इल्ली के साथ ही फली खाने वाली इल्ली का प्रकोप देखा जा रहा है। ये इल्लियां पत्ती खाने के साथ फलियों में भी छेद कर नुकसान कर रही हैं। साथ ही चक्र भृंग कीट का भी प्रकोप हो रहा है। कृषक इन इल्लियों के नियंत्रण के लिए कीटनाशक इंडोक्साकार्ब 333 मिली प्रति/हैक्टे. या लेम्ब्डासायहेलोथ्रिन 4.9 सी.एस.300 मिली प्रति/हैक्टे. या फ्लूबेन्डामाइड 39.35 एस.सी.150 मिली प्रति/हैक्टे. की दर से छिड़काव करें। कीटनाशकों को प्रभावी ढंग से इल्लियों तक पहुंचने के लिए नेपसेक स्प्रेयर से 500 लीटर या पावर स्प्रेयर से 120 लीटर पानी/हैक्टेयर का उपयोग अवश्य करें। यह बात निश्चित ध्यान में रखें की दवा छिड़काव के बाद 5-6 घंटे तक वर्षा नहीं होनी चाहिए अन्यथा दवा प्रभवित नहीं होगी। उन्होंने बताया कि कई क्षेत्रों में सोयाबीन फसल पर पीला मोजेक विषाणू जनित बीमारी का प्रकोप देखा जा रहा है। अत: इसके नियंत्रण के लिए प्रभावी अवस्था में ही खेत में जगह जगह पीले पौधे उखाड़कर नष्ट करें। इसका संक्रमण फैलने वाली सफेद मक्खी के नियंत्रण के लिए पूर्व मिश्रित बीटा सायफ्यूथ्रिन+इमिडाक्लोप्रिड की 350 मिली प्रति/हैक्टे. दर से या थायमिथाक्सम + लेम्ब्डा सायहेलोथ्रिन 125 मिली प्रति/हैक्टे. की दर से छिड़काव करें। कुछ क्षेत्रों में सोयाबीन फसल पर फफूंदजनित पत्ती धब्बा रोग भी दिखाई दे रहा है नियंत्रण के लिए टेबूकोनाजोल 625 मिली प्रति/हैक्टे. अथवा टेबूकोनाजोल+सल्फर अथवा हेक्साकोनातोल 5 प्रतिशत ई.सरी 800 मिली प्रति/हैक्टे. का छिड़काव करें।   

सदभावना पुरस्कार हेतु आवेदन 30 अगस्त तक आमंत्रित

भैया श्री मिश्रीलाल गंगवाल सद्भावना पुरस्कार के लिए प्रस्ताव जिला स्तर पर 30 अगस्त तक आमंत्रित किए गए है। वर्ष 2019 के पुरस्कार हेतु आमंत्रित आवेदन सप्रस्ताव निर्धारित प्रारूप में पंजीकृत संस्थाओं तथा समाज सेवा के क्षेत्र में शासन से मान्यता प्राप्त संस्थाओं के द्वारा सामाजिक तथा सद्भावना पूर्ण कार्यो के आधार पर पुरस्कार आमंत्रित किए गए है। जिला स्तर पर प्राप्त होने वाले आवेदन पत्रों के संबंध में पुरस्कार हेतु जारी नियम अनुसार विगत पांच वर्षो से निरंतर समाज सेवा के कार्यो में संलग्न संस्थाओं से प्रस्ताव प्राप्त किए जाएंगे प्राप्त हुए आवेदनों को ही विचार क्षेत्र की परिधि में लिया जाएगा। जिला स्तरीय समिति की अनुशंसा उपरांत 5 अक्टूबर तक जिले के प्रस्तावों को सामान्य प्रशासन विभाग को प्रेषित किया जाएगा। भैया श्री मिश्रीलाल गंगवाल सद्भावना पुरस्कार के संबंध में विस्तृत जानकारी www.gad.mp.gov.in/samman.htm पर प्राप्त की जा सकती है।

आँगनवाड़ी कार्यकर्ताओं के लिए सफल गाथाओं का वीडियो संकलन प्रतियोगिता अंतिम तिथि 20 अगस्त

महिला-बाल विकास मंत्री श्रीमती इमरती देवी की पहल पर विभाग द्वारा आँगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को प्रोत्साहित करने के लिए अनूठा प्रयोग किया है। विभाग ने आँगनवाड़ी कार्यकर्ताओं के लिए सफल गाथाओं का वीडियो संकलन प्रतियोगिता रखी है जिसमें प्रत्येक जिले के एक सर्वश्रेष्ठ वीडियो के लिए आँगनवाड़ी कार्यकर्ता को 5 हजार रूपये का नगद पुरस्कार दिया जायेगा। आँगनवाड़ी कार्यकर्ता को ष्माँ के दूध का महत्व-माँ की जुबानीष् विषय पर अधिकतम 60 सेकंड का वीडियो बनाकर 20 अगस्त तक www-amrutpaan-org  पर एंट्री जमा करना होगा। आँगनवाड़ी कार्यकर्ता को अपने क्षेत्र की किसी शिशुवती माँ का एक वीडियो बनाना है जिसमें माँ अपने बच्चे के साथ हो। शिशुवती महिला ने माँ के दूध के महत्व संबंधित कोई गलत धारणा को तोड़ा हो अथवा माँ के दूध से उसके बच्चे को लाभ हुआ हो जैसी बातों को भी सम्मिलित किया गया है। एक आँगनवाड़ी कार्यकर्ता केवल एक वीडियो ही भेज सकती है। एंट्री जमा होने के बाद उसमें किसी भी तरह का संशोधन नहीं किया जा सकेगा।  

किसान क्रेडिट कार्ड को आधार से लिंक करायें- मंत्री श्री पटेल

किसान कल्याण तथा कृषि विकास मंत्री श्री कमल पटेल ने मंत्रालय में कृषि विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ किसानों को अधिक से अधिक लाभ दिलाने के लिये वित्त के उचित प्रबंधन के लिये चर्चा की। उन्होंने कहा कि किसानों को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का समुचित लाभ दिलाने के लिये किसान क्रेडिट कार्ड (केसीसी) को आधार से लिंक कराने के लिये आवश्यक सहयोग प्रदान किया जाये। श्री पटेल ने किसानों से भी आग्रह किया कि वे अपने केसीसी को आधार से लिंक करायें। मंत्री श्री पटेल ने बैठक में कृषि उत्पादन आयुक्त श्री के.के. सिंह, प्रमुख सचिव कृषि श्री अजित केशरी और संचालक कृषि श्री संजीव सिंह को विभागीय योजनाओं से संबंधित वित्तीय वर्ष 2020-21 में विभाग को आवंटित बजट को किसान हितैषी बनाये जाने के निर्देश दिये। उन्होंने विभाग की विभिन्न केन्द्र प्रवर्तित एवं राज्य शासन की योजनाओं के क्रियान्वयन की अद्यतन स्थिति की जानकारी प्राप्त की और विभिन्न योजनाओं के माध्यम से किसानों को अधिकाधिक लाभ पहुंचाये जाने हेतु निर्देशित किया।

ऑनलाइन सत्यापन से शेष विद्यार्थी निकट के शासकीय महाविद्यालय में दस्तावेजों का सत्यापन कराएं, अंतिम तिथि 20 अगस्त

उच्च शिक्षा विभाग के अंतर्गत प्रदेश के महाविद्यालयों में ई-प्रवेश प्रक्रिया जारी है, इसके अंतर्गत अभी तक लगभग 50 प्रतिशत विद्यार्थियों ने अपने डाटाबेस का ऑनलाइन सत्यापन करवा लिया है। शेष विद्यार्थी जो ऑनलाइन सत्यापन नहीं करा पाए हैं अथवा नहीं करा पा रहे हैं, वे आगामी 20 अगस्त तक अपने निकट के शासकीय महाविद्यालय में जाकर अपने दस्तावेजों का सत्यापन करा सकते हैं। वर्तमान में कोविड के चलते विद्यार्थियों से यह आग्रह किया गया है कि वे जल्दी यह कार्य कर लें, अंतिम तिथि की प्रतीक्षा न करें। इस संबंध में विद्यार्थियों को एस.एम.एस. भी भिजवाया जा रहा है।

कोई टिप्पणी नहीं: