सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 25 अगस्त - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 25 अगस्त 2020

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 25 अगस्त

सरपंच के साथ कलेक्ट्रेट पहुंचे थूनाकला के किसान

sehore news
सीहोर। अल्प बारिश  से थूनाकला ग्राम पंचायत अंतर्गत आनी वाली सैकड़ों एकड़ कृषि भूमि में बोया गया सोयाबीन खराब हो गया है। ग्रामीणों ने मंगलवार को सरपंच अखिलेश मेवाड़ा के नेतृत्व  में शीघ्र सर्वे कराने और मुआवजा राशि देने की मांग को लेकर डिप्टी कलेक्टर विजय कुमार मंडलोई को ज्ञापन दिया। ज्ञापन देने वालों  में राय सिंह, मोहन सिंह, नारायण सिंह, सवाई सिंह, मांगीलाल, दुर्गेश मेवाड़ा,राजा सिंह आदि कई किसान शामिल रहे।

आजीविका का सहारा है कृषि चौपट हो गई फसल सिराड़ी,रासलाखेड़ी के कृषकों ने लगाई मदद की गुहार  

sehore news
सीहोर। कलेक्ट्रेट पहुंचे ग्राम  सिराड़ी और रासलाखेड़ी के किसानों ने डिप्टी कलेक्टर विजय कुमार मंडलोई से कहा साहब हमारी आजीविका का सहारा कृषि है कोई दूसरा काम हमें आता नही है सरकार ने कर्ज माफी का  वादा किया लेकिन नहीं किया सोसायटी में डिफाल्टर हो गए। ब्याज पर पैसा लेकर सोयाबीन की फसल बोई अतिकम वर्षा से खराब हो गई। किसानों ने कहा  की अब घर भी चलाना है और कर्ज का पैसा भी चुकाना है। जिस कारण से हम दुखी है समय पर सर्वे करा लीजिए और मुआवजा दे दीजीए ज्ञापन सौपने वालों  में भेरू सिंह, जीवन सिंह, ओमप्रकाश दांगी,भागीरथ मीना, मनोज, प्रेमनारायण,  तखत सिंह, प्रहलाद सिंह, नर्बदा प्रसाद, जितेंद्र यादव, भगवान सिंह आदि किसान शामिल रहे।


सोयाबीन के साथ मक्का फसल ने भी तोड़ा दम, अतिकम बारिश के बाद अधिक से भी नुकसान
खराब सोयाबीन लेकर कलेक्ट्रेट पहुंचे ग्राम चितोडिय़ा हेमा के कास्तकार
sehore news
सीहोर। ग्राम चितोडिय़ा हेमा के कास्तकार खराब सोयाबीन फसल के पौधे लेकर कलेक्ट्रेट पहुंचे। किसानों ने जय जवान जय किसान के नारे लगाते  हुए  डिप्टी कलेक्टर को ज्ञापन दिया। कास्तकारों ने कहा की पहले अतिकम बारिश हुई जिस से सोयाबीन की फसल सूख गई मक्का को भी पर्यापत पानी नहीं मिला जिस से भुटटों में दाने मर गए संभल पाते इस के पहले तेज मूसलादार बारिश हो गई और खेतों में पानी भराने से बाकी बची सोयाबीन और मक्का की फसल भी पूरी तरह से गलकर खराब हो गई। कास्तकारों ने मुख्यमंत्री के नाम दिए ज्ञापन में जिला प्रशासन से  जल्दी सर्वे कार्य शुरू कराने और नुकसान के मुताबिक  मुआवजा राशि और बीमा राशि का  वितरण शीघ्र कराए जाने की मांग। कलेक्ट्रेट में शिव चरण,दौलतराम, मांगीलाल, मुकेश  वर्मा, हजारीलाल, लखन सिंह,दीप सिंह, रमेश  मेवाड़ा, प्रेम सिंह, कपिल वर्मा,  सुरेश,  मुकेश, सवाई सिंह, राम सिंह आदि किसान उपस्थित रहे।

अजनाल नदी का पानी हैदरगंज में घुसा   ग्रामवासियों को हजारों रूपये का नुकसान
कलेक्ट्रेट पहुंचकर पीडि़तों ने बाढ़ राहत कोष से मांगी मदद
sehore news
सीहोर। हैदरगंज में अजनाल नदी की बाढ़ से ग्रामीणों को लाखों रूपये का नुकसान हो गया। बाढ़ का पानी घरों और दुकानों के साथ खेतों में भी घुस गया। ग्रामीणों के घरों में रखी खाद्य सामग्री दुकानों में रखा विक्रय का समान और खेतों में खड़ी सोयाबीन की फसल पानी कें कारण खराब हो गई। ग्राम    पंचायत  हैदारगंज  के ज्ञापन पत्र के माध्यम   से  डिप्टी कलेक्टर  विजय  कुमार  मंडलोई को ग्रामीणों  ने बताया  की शुक्रवार की रात से शलिवार दोपहर तक तेज मूसलाधार बारिश हुई जिस से अजनाल नदी में बाढ़ आ गई थी बाढ़ का  पानी घरों में घुस गया था। पानी घुसने से गेंहू चावल शकर सब कुछ खराब हो गया सोयाबीन और मक्का की फसल को भी नुकसान पहुेेंचा। ग्रामीणों ने बाढ़ प्रभावित हैदरगंज का सर्वे कराने और मुआवजा  राशि प्रदान करने की मांग  की है। मांग करने वालों  में देवी सिंह, मनोज राठौर,  धनराज सिंह, दिनेश  सिंह, सुधीर,रामकिशन, दिनेश  गंगा बाई आदि ग्रामीण बाढ़ पीडि़त शामिल है।

संस्कृत विषय का ONLINE प्रशिक्षण आरम्भ कराने के संबंध में ज्ञापन ।

sehore news
 "कोविड-19" के कारण विद्यालयों में पठन-पाठन कार्य प्रभावित हुआ है। वर्तमान में प्रदेश के विद्यालयों में DigiLEP के माध्यम से छात्रों को online प्रशिक्षण  प्रदान किया जा रहा है, जो माननीय मुख्यमंत्री जी की सराहनीय पहल है। जिस प्रकार सभी विषयों जैसे- विज्ञान , गणित , अंग्रेजी इत्यादि का प्रशिक्षण DigiLEP के माध्यम से नियमित रूप से प्रदान किया जा रहा है, उसी प्रकार संस्कृत विषय का प्रशिक्षण भी  कक्षा 6वीं से 8वीं तक एवं कक्षा 9वीं से 12वीं तक नियमित रूप से होना चाहिए। किन्तु खेद का विषय है कि 9वीं के सभी छात्रों को अभी तक संस्कृत की न तो पुस्तकें ही प्राप्त हो सकीं हैं और न ही संस्कृत का Online प्रशिक्षण प्रदान किया जा रहा है। इस प्रकार संस्कृत के साथ पक्षपात कर भारतीय  संस्कृति को भी चोट पहुंचाई जा रही है। जबकि संस्कृत भाषा छात्रों के नैतिक एवं भाषागत विकास के लिए अनिवार्य है।  अतः मुख्यमंत्री जी से हमारी मांग है कि अन्य विषयों के समान ही संस्कृत विषय का भी Online प्रशिक्षण सभी कक्षाओं (6 से 12) के लिए प्रारम्भ किया जावे ताकि सभी छात्रों को समान अवसर मिल सके।

किसानों से 31 अगस्त तक प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में बीमा कराने की भाजपा ने की अपील

सीहोर। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना अन्तर्गत अऋणी डिफाल्टर कृषकों की फसलों का बीमा कराने के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सासंद प्रज्ञा सिंह ठाकुर,सासंद रमाकांत भार्गव, सासंद महेंद्र सोलंकी के अनुरोध पर जिले के किसानों को एक मौका और दिया है। किसानों की परेशानियों को ध्यान में रखते हुए प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की अंतिम तिथि 31 अगस्त सोमवार तक बढ़ा दी गई है। सीहोर विधायक सुदेश राय,इछावर विधायक करण सिंह वर्मा, आष्टा विधायक रघुनाथ मालवीय ने किसानों से प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना अन्तर्गत अऋणी डिफाल्टर कृषकों से फसल का बीमा कराने की अपील की है। भाजपा जिला प्रवक्ता राजकुमार गुप्ता ने बताया की अल्प वर्षा, कीटव्याधि एवं भारी वर्षा से सोयाबीन एवं अन्य फसलें प्रभावित हुई हैं। प्रभावित फसलों में बीमा लाभ के लिए अऋणी एवं डिफाल्टर कृषकों को बीमा कराए जाने के लिए अपना आवेदन भरकर आधार कार्ड की छायाप्रति, बही की छायाप्रति बचत बैंक खाता की छायाप्रति, बुवाई प्रमाण पत्र के साथ कियोस्क सेंटर या जिला सहकारी बैंक शाखा या राष्ट्रीय बैंक शाखा में जमा कर सकते हैं। जल्दी हीं प्रशासनिक अमले के द्वारा ग्राम स्तर किसान हितैशी शिविरों का आयोजन किया जाएगा।

लॉ कॉलेज के लिए एनएसयूआई एवं युका का हस्ताक्षर आंदोलन प्रारम्भ ।                                                

sehore news
सीहोर/ जिले मैं संचालित एकमात्र महाविद्यालय में विधि संकाय को सन 2017 में बंद कर दिया गया।लॉ कॉलेज को पुनः प्राररम्भ कराने के लिए एनएसयूआई एवं युवा कांग्रेस का हस्ताक्षर आंदोलन प्रारम्भ किया ।   आंदोलन के प्रथम दिन आज एनएसयूआई युकां उन अभिभाषको के बीच पहुची जिन्होंने नगर में बिधि के पढ़ाई करके आज सेवा दे रहे है। अभिभषाको ने भी एनएसयूआई एवं युकां की विधि महाविद्यालय को पुनः प्रारम्भ कराने की मांग का पूर्ण रूप से समर्थन करते  हुए हस्ताक्षर किए। एनएसयूआई ज़िलाध्यक्ष देवेंद्र ठाकुर ने बताया कि पिछली सरकार में पीजी कॉलेज के जनभागीदारी समिति के अध्यक्ष राजीव गुजराती एवं एनएसयूआई की मांग पर 2 नियमित शिक्षक विधि के शासन ने सीहोर पीजी कॉलेज को दिए थे। आज  आज जब विधि महाविद्यालय प्रारंभ होने की स्थिति में है तो शासन  के द्वारा उसकी ओर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। विधि संकाय को पुनः प्रारम्भ कराने की मांग को लेकर भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन  समस्त जिले में चारों विधानसभा बुधनी, आष्टा, इछावर एवं सीहोर में हस्ताक्षर अभियान चलाएगा। इस अभियान को एनएसयूआई अभिभाषक गण, छात्र-छात्राएं एवं शहर के गणमान्य नागरिकों के बीच चला कर शासन से मांग करेगी। युवा कांग्रेस जिलाध्यक्ष राजीव गुजराती ने कहा है  कि विधि महाविद्यालय को फिर से प्रारंभ किया जाए और उन बच्चों के सपने पूरे हो जो आर्थिक रूप से कमजोर हैं और विधि के क्षेत्र में जाकर अपना भविष्य बनाना चाहते हैं। पूरे जिले में हज़ारों  हस्ताक्षर कराने के बाद एनएसयूआई एवं युवा कांग्रेस द्वारा एक मांग पत्र सरकार  को सौपा जाएगा। एनएसयूआई जिला अध्यक्ष देवेंद्र ठाकुर ने कहा है कि यदि इसके बाद भी विधि संकाय को प्रारम्भ करने की मांग नही मानी गई तो संगठन आगे उग्र आंदोलन चलाएगा। इस दौरान सोनू विश्वकर्मा, यश यादव ,सुमित नारे, प्रिंस यादव, अनुभव सेन,हरिओम सिसोदिया, अमन लाला,आनंद यादव, विवेक परिहार, ब्लॉक अध्यक्ष यमन यादव,राहुल भावसार, राहुल कुशवाह ,रितिक महोबिया,अमित यादव, सुयश प्रताप सिंह, नईम खान , अंकित शर्मा, अदनान खान,हनीफ खान, सोहेल खान आदि उपस्थित रहे

आज 6 की रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई, वर्तमान में कुल पॉजीटिव एक्टिव व्यक्तियों की संख्या 151

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकार डॉक्टर सुधीर कुमार डेहरिया ने बताया कि  आज 6 व्यक्तियों की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई है। जिसमें सीहोर के खजांची लाईन तथा नेहरु कॉलोनी से 1-1, आष्टा अन्तर्गत ग्राम मैना एवं स्थानीय मालवीय नगर से 1-1, नसरुल्लागंज के स्थानीय एवं ग्राम सीलकंठ से 1-1 व्यक्ति की रिपोर्ट पॉजीटिव आई है। जिले में कोरोना पॉजीटिव/एक्टिव व्यक्तियों की संख्या 151 है। जिले में कोरोना संक्रमित व्यक्तियों की मृत्यु संख्या 18 है। आज 10 व्यक्तियों को डिस्चार्ज किया गया है। जिसमें सीहोर के 7, नसरुल्लागंज के 2, बुदनी से 1 व्यक्ति शामिल है।  जिले में अब तक स्वस्थ होने के उपरांत डिस्चार्ज किए गए व्यक्तियों की संख्या 419 है। आज 622 व्‍यक्तियों के  सैम्पल कोरोना जांच हेतु लिए गए है। सीहोर शहरी क्षेत्र से आज  89 श्यामपुर के 196 आष्टा से 110 इछावर के 64  नसरूल्लागंज के 102 एवं बुदनी के 61 व्यक्तियों के कोरोना जांच हेतु सैम्पल लिए है। आज पॉजीटिव मिले नए कंटेनमेंट जोन सहित समस्त कंटेनमेंट एवं बफर जोन में स्वास्थ्य दलों द्वारा सघन स्वास्थ्य सर्वे किया जा रहा है। वहीं पॉजीटिव मिले व्यक्तियों के करीबी संपर्क वाले व्यक्तियों की पहचान कर उनकी सूची तैयार की जा रही है। प्रत्येक कंटेनमेंट जोन में सर्वे के लिए एक से दो दल लगाए गए है। सर्वे दल के प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों को बनाया गया है तथा स्वास्थ्य सर्वे दल में ए.एन.एम., आशा कार्यकर्ता, आंगनबाडी कार्यकर्ताओं की ड्यूटी लगाई गई है।  जिले में कुल कोरोना पॉजीटिव व्यक्तियों की संख्या 588 है जिसमें से 18 की मृत्यु हो चुकी है 419 स्वस्थ्‍ होकर डिस्चार्ज हो गए है तथा वर्तमान में 151 पॉजीटिव व्यक्तियों का उपचार चल रहा है।  आज कुल 622 सैंपल जांच हेतु लिए गए। जिले से अब तक कुल 9823 सेम्पल जांच के लिए भेजे गए थे जिनमें से 6690 सेंपलों की रिपोर्ट अब तक निगेटिव प्राप्त हुई है। आज 188 सैंपलों की रिपोर्ट निगेटिव प्राप्त हुई है। कुल 2500 सैंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथालॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 45 है। जिले में कुल कंटेंमेंट एरिया 184 है जिनमें से 62 एक्टिव एवं 122 इनेक्टिव एरिया हैं। जिले में जो व्यक्ति होम क्वारंटाइन में है उनके निवास स्थान से सीधे संवाद हेतु जिला स्तरीय कोविड-19 काल सेंटर स्थापित किया गया है जिसका संपर्क नंबर.7247704181 है कोविड-19 से संबंधित जानकारी इस संपर्क नंबर पर ली व दी जा सकती है। वहीं जिला चिकित्सालय सीहोर में टेलीमेडिसीन के लिए संपर्क नंबर 07562-401259 जारी किया गया है तथा राज्य स्तर पर 104/181 नंबर पर काल करके भी टेलीमेडिसीन सेवा का लाभ लिया जा सकता है। 104  नंबर पर ई.परामर्श सेवा का भी लाभ लिया जा सकता है। ई.संजीवनी ओपीडी सेवा हेतु www.esanjeevaniopd.in पंजीयन कराया जा सकता है। कलेक्ट्रेट कार्यालय सीहोर में भी जिला स्तरीय काल सेंटर बनाया गया है जिसका संपर्क नंबर 07562.226470 है तथा होम क्वारंटाइन व्यक्तियों तथा उनके परिजनों के लिए हेल्पलाइन नंबर 18002330175 जारी किया गया है। जिस पर संस्थागत क्वारंटाइन अथवा होम क्वारंटाइन व्यक्ति अथवा उनके परिजन इमोशनल वेलनेस अथवा साईकोलाजिकल सपोर्ट एवं अन्य जरूरी परामर्श मानसिक सेवा प्रदाताओं से निःशुल्क प्राप्त कर सकते है।

प्रधानमंत्री फसल योजना अन्तर्गत किसान 31 अगस्त तक करवा सकते हैं अपनी फसल का बीमा 

किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग उपसंचालक श्री एसएस राजपूत ने जानकारी देते हुए बताया कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना अन्तर्गत अऋणी/डिफाल्टर कृषकों की फसलों का बीमा कराने के लिए कलेक्टर श्री अजय गुप्ता की अध्यक्षता में बैठक आयोजित की गई। बैठक के दौरान प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की अंतिम तिथि 31 अगस्त तक बढ़ाई गई है। श्री राजपूत ने बताया कि अल्प वर्षा, कीटव्याधि उवं भारी वर्षा से सोयाबीन एवं अन्य फसलें प्रभावित हुई हैं। प्रभावित फसलों में बीमा लाभ के लिए अऋणी एवं डिफाल्टर कृषकों को बीमा कराए जाने के लिए अपना आवेदन भरकर आधार कार्ड की छायाप्रति, बही की छायाप्रति बचत बैंक खाता की छायाप्रति, बुवाई प्रमाण पत्र के साथ कियोस्क सेंटर या जिला सहकारी बैंक शाखा या राष्ट्रीय बैंक शाखा में जमा कर सकते हैं। जिले में अऋणी डिफाल्टर कृषकों को बीमा शतप्रति हो सके, इसके लिए उप संचालक कृषि, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पसहकारी केन्द्रीय बैंक, लीड बैंक मैनेजर तहसीलदार, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत को विस्तृत निर्देश दिए गए कि मैदानी अमला इसका ग्रामों में डोंडी, मुनादी करवाएं, मैदानी अमले द्वारा ग्राम स्तर पर विशेष बैठक या शिविरों का आयोजन कर कार्यवाही 30 अगस्त के पूर्व संपादित करा कर अधिक से अधिक कृषकों का बीमा कराएं।      

जिले में अब तक 926 मि.मी. औसत वर्षा 

जिले में आज 25 अगस्त, 2020 की प्रात:8 बजे समाप्त पिछले चौबीस घन्टों में 0.3 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज की गई है। इसे मिलाकर 1 जून से अभी तक जिले में 926 मि.मी औसत बारिश रिकार्ड की जा चुकी है जबकि गत वर्ष इस अवधि में 1010.3 मि.मी बारिश रिकार्ड की गई थी। अधीक्षक, भू-अभिलेख से मिली जानकारी के अनुसार पिछले चौबीस घन्टों में सीहोर में 1.2, आष्टा में 1 मिमी बारिश दर्ज की गई है। जबकि श्यामपुर, नसरुल्लागंज, बुधनी, रेहटी, जावर एवं इछावर में वर्षा की स्थिति शून्य रही। आंकड़ों के मुताबिक जिले में अभी तक सीहोर में 1107.7, श्यामपुर में 652, आष्टा में 908.6, जावर में 750, इछावर में 818, नसरुल्लागंज में 832, बुदनी में 1008 एवं रेहटी में 1331.6 मिमी बारिश दर्ज की गई है। गत वर्ष इस अवधि में सीहोर में 1313.4, श्यामपुर में 967, आष्टा में 1087, जावर में 670, इछावर में 1040, नसरुल्लागंज में 1149, बुधनी में 867 रेहटी में 987.7 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई थी।

वाहक जनित रोग नियंत्रण कार्यक्रम के अंतर्गत हुआ अंतर विभागीय कार्यशाला का आयोजन

sehore news
जिला मलेरिया अधिकारी श्रीमती क्षमा बर्वे ने जानकारी दी कि मंगलवार को वाहक जनित रोग नियंत्रण कार्यक्रम के अंतर्गत अंतर विभागीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। इसके अंतर्गत विकास खंड शिक्षा अधिकारी श्री आर सी वर्मा से समन्वय  स्थापित कर उन के माध्यम से जन शिक्षकों को वेक्टर बोर्न डिजीज कंट्रोल प्रोग्राम के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई। कार्यशाला में  डेंगू के मच्छर एडिज के लारवा का डेमोंसट्रेशन किया गया एवं मलेरिया डेंगू चिकनगुनिया बीमारीया किस प्रकार फैलती है और इस पर किस प्रकार नियंत्रण किया जा सकता है उन सभी उपायों पर विस्तृत रूप से चर्चा की गई। जन शिक्षकों के माध्यम से समुदाय में विद्यार्थियों एवं उनके परिजनों को जन जागरूक करने के लिए प्रोत्साहित किया गया तथा जन शिक्षकों के द्वारा प्रत्येक रविवार को बच्चों के द्वारा मच्छरों के लारवा  खात्मा करने हेतु गतिविधियां किया जाने हेतु आश्वासन दिया गया। इस दौरान जिला मलेरिया अधिकारी श्रीमती क्षमा बर्वे, खंड शिक्षा अधिकारी, श्री आरसी वर्मा एवं बीआरसी संयोजक श्री सुरेन्द्र  यादव  सहित समस्त जन शिक्षक विकासखंड सीहोर एवं जिला मलेरिया कार्यालय के अन्य कर्मचारी गण उपस्थित थे।

प्री-मैट्रिक, पोस्ट मैट्रिक एवं मेरिट कम मीन्स छात्रवृत्ति योजनान्तर्गत ऑन लाईन आवेदन करने की अंतिम तिथि 31 अक्टूबर 

सहायक संचालक पिछड़ा वर्ग तथा अल्पसंख्यक कल्याण विभाग ने बताया कि अल्पसंख्यक समुदाय के छात्र-छात्राओं को शैक्षणिक सत्र 2020-21 में दी जाने वाली प्री-मैट्रिक पोस्ट मैट्रिक एवं मेरिट कम मीन्स छात्रवृत्ति योजनान्तर्गत नवीन एवं नवीनीकरण छात्रवृत्ति प्रकरणों के लिये विद्यार्थियों द्वारा ऑन लाईन आवेदन करने की अंतिम तिथि 31 अक्टूबर 2020 है। विद्यार्थी छात्रवृत्ति के लिए भारत सरकार के National Scholarship Portal, www.scholarships.gov.in से ऑनलाइन आवेदन कर सकते है।

आदतन अपराधी छह माह के लिए जिला बदर 

कलेक्‍टर एवं जिला दण्‍डाधिकारी श्री अजय गुप्ता ने असामाजिक गतिविधियों में लिप्त एवं विभिन्न धाराओं में अपराध दर्ज होने के कारण 1 आदतन अपराधी को पुलिस अधीक्षक की अनुशंसा पर छह माह के लिए सीहोर जिले से जिला बदर कर दिया है। जिला दण्‍डाधिकारी ने आदेश जारी किया है कि मप्र राज्य सुरक्षा अधिनियम 1990 की धारा 5 के तहत अनावेदक 35 वर्षीय गुलखान पिता इब्राहिम खां बेलदार निवासी ग्राम पांगरी थाना आष्टा जिला सीहोर के खिलाफ जिलाबदर की कार्रवाई की है। कलेक्‍टर श्री गुप्ता ने पुलिस अधीक्षक से प्राप्‍त प्रतिवेदन से संतुष्‍ट होकर अनावेदक को सीहोर एवं उसके सीमावर्ती जिले भोपाल, रायसेन, होशंगाबाद, हरदा, देवास, शाजापुर एवं राजगढ़ जिलों की राजस्‍व सीमाओं से छह माह के लिए निष्‍कासित कर दिया है। अनावेदक जहां भी रहेगा वहां के पुलिस अधीक्षक को उस क्षेत्र में उपस्थिति की निरंतर सूचना देनी होगी। यदि अनावेदक के विरुद्ध किसी भी न्यायालय में प्रकरण विचाराधीन हो तो उसकी सुनवाई में उपस्थित रहने के लिए पुलिस अधीक्षक सीहोर तथा थाना प्रभारी आष्टा को सूचित करना होगा। यह आदेश तत्‍काल प्रभावशील हैं।

जिले के आष्टा विकासखंड अन्तर्गत 6 अशासकीय शालाओं की मान्यता निलंबित
छात्र हित की योजनाओं और संचालन में घोर लापरवाही बरतने पर हुई कार्यवाही
जिला सीहोर में समग्र छात्रवृत्ति वितरण में अनियमितता, छात्र हित की योजनाओं और शाला संचालन में घोर लापरवाही बरतने पर छह अशासकीय शालाओं की मान्यता निलंबित कर दी गई है। उल्लेखनीय है कि संभागायुक्त ने विगत दिनों संयुक्त संचालक शिक्षा को इन विद्यालयों की जांच के निर्देश दिए थे। संयुक्त संचालक ने बताया कि सीहोर जिले की अशासकीय सनशाइन कान्वेंट स्कूल गुराडिया रूपचंद आष्टा, अशासकीय तक्षशिला हाई स्कूल माली खेड़ी आष्टा, अशासकीय डायमंड पब्लिक स्कूल हराज खेड़ी आष्टा, अशासकीय नवोदित विद्या मंदिर आष्टा, अशासकीय रेड क्रॉस कन्वेंट अकेडमी रामपुर और अशासकीय ज्ञान दायिनी विद्या मंदिर भोरा विकासखंड आष्टा की एक समिति द्वारा कराई गई जांच मे अनियमितता प्रमाणित होने पर मान्यता तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दी गई है । संयुक्त संचालक लोक शिक्षण  श्री आर. एस. तोमर ने शालाओं के प्रकरणों के परीक्षण हेतु दल गठित कर, प्रत्येक प्रकरण में प्रवेश की वस्तु स्थिति का परीक्षण विद्यालय की प्रवेश पंजी, उपस्थिति पंजी आदि एवं छात्रवृत्ति भुगतान का परीक्षण बैंक खाता, अकाउंट स्टेटमेंट, देयक आदि से मामले का सूक्ष्म परीक्षण करने के उपरांत यह कार्यवाही की है। उल्लेखनीय है कि मध्य प्रदेश माध्यमिक एवं उच्चतर माध्यमिक शालाओं की मान्यता नियम 2017 की कंडिका वन वन 12 एवं मान्यता संशोधन नियम 2020 के प्रावधान अनुसार इन अशासकीय संस्थाओं में शाला संचालन कार्य नहीं किया जाना पाया गया है। उन्होंने इस मामले में सभी तथ्यों से कमिश्नर को अवगत करवा दिया है।

सोयाबीन की फसल के लिए कृषकों को उपयोगी सलाह 

आर.ए.के. कृषि महाविद्यालय के कृषि वैज्ञानिकों द्वारा कृषकों को सोयाबीन फसल के लिए सलाह दी गई है कि खेतों में जहां लगातार बारिश से जल भराव हो रहा है वहां पानी की निकासी समय समय पर करें। कई क्षेत्रों में सोयाबीन की फसल में यह देखा गया है कि रिमझिम वर्षा की स्थिति में पत्ती खाने वाली इल्लियों का प्रकोप हो रहा है। इनमें हरी अर्धकुण्डलक इल्ली, तम्बाकू की इल्ली, चने वाली इल्ली के साथ ही फली खाने वाली इल्ली का प्रकोप देखा जा रहा है। ये इल्लियां पत्ती खाने के साथ फलियों में भी छेद कर नुकसान कर रही हैं। साथ ही चक्र भृंग कीट का भी प्रकोप हो रहा है। कृषक इन इल्लियों के नियंत्रण के लिए कीटनाशक इंडोक्साकार्ब 333 मिली प्रति/हैक्टे. या लेम्ब्डासायहेलोथ्रिन 4.9 सी.एस.300 मिली प्रति/हैक्टे. या फ्लूबेन्डामाइड 39.35 एस.सी.150 मिली प्रति/हैक्टे. की दर से छिड़काव करें। कीटनाशकों को प्रभावी ढंग से इल्लियों तक पहुंचने के लिए नेपसेक स्प्रेयर से 500 लीटर या पावर स्प्रेयर से 120 लीटर पानी/हैक्टेयर का उपयोग अवश्य करें। यह बात निश्चित ध्यान में रखें की दवा छिड़काव के बाद 5-6 घंटे तक वर्षा नहीं होनी चाहिए अन्यथा दवा प्रभवित नहीं होगी। उन्होंने बताया कि कई क्षेत्रों में सोयाबीन फसल पर पीला मोजेक विषाणू जनित बीमारी का प्रकोप देखा जा रहा है। अत: इसके नियंत्रण के लिए प्रभावी अवस्था में ही खेत में जगह जगह पीले पौधे उखाड़कर नष्ट करें। इसका संक्रमण फैलने वाली सफेद मक्खी के नियंत्रण के लिए पूर्व मिश्रित बीटा सायफ्यूथ्रिन+इमिडाक्लोप्रिड की 350 मिली प्रति/हैक्टे. दर से या थायमिथाक्सम + लेम्ब्डा सायहेलोथ्रिन 125 मिली प्रति/हैक्टे. की दर से छिड़काव करें। कुछ क्षेत्रों में सोयाबीन फसल पर फफूंदजनित पत्ती धब्बा रोग भी दिखाई दे रहा है नियंत्रण के लिए टेबूकोनाजोल 625 मिली प्रति/हैक्टे. अथवा टेबूकोनाजोल+सल्फर अथवा हेक्साकोनातोल 5 प्रतिशत ई.सरी 800 मिली प्रति/हैक्टे. का छिड़काव करें।   

मध्यप्रदेश के स्किल्ड युवाओं को ग्लोबल पहचान मिले, यह सरकार की प्राथमिकता है - श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया

आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश की परिकल्पना को पूरा करने के लिए युवाओं को आत्मनिर्भर बनाना होगा। युवाओं के कौशल को विकसित कर उन्हें आत्मनिर्भर बनाना राज्य शासन की प्राथमिकता है। ग्लोबल स्किल पार्क की स्थापना का उद्येश्य है कि मध्यप्रदेश के स्क्ल्डि युवाओं को ग्लोबल (अन्तर्राष्ट्रीय) पहचान मिले। यह बात तकनीकी शिक्षा एवं कौशल विकास मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया ने ग्लोबल स्किल्स पार्क-सिटी कैंपस के निरीक्षण के पश्चात् अधिकारियों के साथ चर्चा के दौरान कही। मंत्री श्रीमती सिंधिया ने कहा कि वर्तमान में युवाओं को आधुनिक कौशल तकनीकी में हुनरमंद बनाना समय की आवश्यकता है। पढ़ाई के साथ उनमें ऐसी स्किल्स को विकसित करना है जिससे वे रोजगार प्राप्त कर सके और आगे रोजगार दे भी सकें। युवाओं में जब तक तकनीकी कौशल का विकास नहीं होगा तब तक वे रोजगार प्राप्त नहीं कर पाएंगे। श्रीमती सिंधिया ने कहा कि ग्लोबल स्किल पार्क में ऐसी विधाओं का प्रशिक्षण भी हो जिसमें अर्धकुशल प्रवासी मजदूरों, किसानों तथा अकुशल मजदूरों को भी अपने हुनर को सवॉरने का मौका मिले। प्रमुख सचिव तकनीकी शिक्षा एवं कौशल विकास श्रीमती कैरोलिन खोंगवार देशमुख ने मध्यप्रदेश कौशल विकास परियोजना की जानकारी देते हुए बताया कि इसका मुख्य उद्येश्य प्रदेश के युवाओं, महिलाओं और समाज के वर्गों को अन्तर्राष्ट्रीय स्तर का तकनीकी एवं व्यावसायिक प्रशिक्षण दिया जाना है। उन्होंने बताया कि ग्लोबल स्किल्स पार्क में हर वर्ष लगभग 6500 प्रशिक्षणार्थियों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। मध्यप्रदेश स्किल्स डेवेलोपमेंट प्रोजेक्ट के प्रोजेक्ट डायरेक्टर श्री हरजिंदर सिंह ने बताया कि ग्लोबल स्किल्स पार्क का एक अंश सिटी कैंपस के रूप में गोविंदपुरा भोपाल में स्थापित किया गया है, जिसमें प्रदेश की आईटीआई, पॉलिटेक्निक तथा इंजीनियरिंग कॉलेजों के उत्तीर्ण प्रशिक्षणार्थियों को प्रिसीजन इंजीनियरिंग का एक वर्षीय कोर्स में प्रवेश दिया जा रहा है, जिसमें प्रति वर्ष 240 प्रशिक्षणार्थियों को प्रशिक्षण दिया जायेगा। वर्तमान में एक वर्षीय एडवांस सर्टिफिकेट कोर्स प्रारम्भ किया गया है। इसमें जुलाई 2019 एवं जनवरी 2020 सत्र में कुल 194 प्रशिक्षणार्थी प्रशिक्षणरत हैं। तकनीकी शिक्षा मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया ने ग्लोबल स्किल्स पार्क सिटी कैंपस में स्थित सैद्धांतिक कक्ष, पारंपरिक व आधुनिक लीथ एवं मीलिंग मशीन, मेटरोलॉजी लैब आदि का निरीक्षण किया।

कोई टिप्पणी नहीं: