सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 01 अगस्त - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 1 अगस्त 2020

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 01 अगस्त

आज 10 की रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई
  • 4 व्यक्ति स्वस्थ होने के उपरांत डिस्चार्ज किए गए, आज 1 पॉजीटिव महिला की मृत्यु हुई, मृत्यु संख्या 11 हुई
sehore news
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकार डॉक्टर सुधीर कुमार डेहरिया ने बताया कि आज 10 व्यक्तियों की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई है। सीहोर के 6 व्यक्ति शहरी क्षेत्र से है, जिसमें नेहरू कालोनी से 3, गंज से 2 तथा तिलक पार्क से 1 व्यक्ति शामिल है। बुदनी के 2 व्यक्ति मधुबन कालोनी के है। नसरूल्लागंज के वासुदेव निवासी 1 महिला की रिपोर्ट आज पॉजीटिव प्राप्त हुई और आज ही उसकी मृत्यु हो गई। आष्टा के बुधवारा से 1 व्यक्ति की रिपोर्ट आज पॉजीटिव आई है। जिले में वर्तमान में पॉजीटिव /एक्टिव व्यक्तियों की संख्या 168 है। आज 4 व्यक्तियों को कोविड केयर सेंटर से डिस्चार्ज किया गया है। डिस्चार्ज किए गए व्यक्तियों में से आष्टा के 2 तथा सीहोर एवं नसरूल्लागंज का 1-1 व्यक्ति शामिल है। जिले मे अब तक 107 व्यक्तियों को स्वस्थ होने के उपरांत डिस्चार्ज किया गया है। नसरूल्लागंज के ग्राम वासुदेव निवासी एक महिला की आज सुबह मृत्यु हो गई।  इसका कोरोना जांच सैम्पल 30 जुलाई को लिया गया था जिसकी  रिपोर्ट आज ही पॉजीटिव प्राप्त हुई थी।  जिले में अब तक 11 कोरोना पॉजीटिव व्यक्तियों की मृत्यु हो चुकी  है। आज 86 व्यक्तियों के  सैम्पल कोरोना जांच हेतु लिए गए है। जिसमें  सीहोर के कुल 41 सैम्पल, बुदनी से 02,श्यामपुर के 13, आष्टा के 5, इछावर के 17, नसरूल्लगंज के 08 सैम्पल शामिल है।   आज पॉजीटिव मिले नए कंटेनमेंट जोन सहित समस्त कंटेनमेंट एवं बफर जोन में स्वास्थ्य दलों द्वारा सघन स्वास्थ्य सर्वे किया जा रहा है। वहीं पॉजीटिव मिले व्यक्तियों के करीबी संपर्क वाले व्यक्तियों की पहचान कर उनकी सूची तैयार की जा रही है। प्रत्येक कंटेनमेंट जोन में सर्वे के लिए एक से दो दल लगाए गए है। सर्वे दल के प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों को बनाया गया है तथा स्वास्थ्य सर्वे दल में ए.एन.एम., आशा कार्यकर्ता,आंगनबाडी कार्यकर्ताओं की ड्यूटी लगाई गई है। जिले में कुल कोरोना पॉजीटिव व्यक्तियों की संख्या 286 है जिसमें से 11 की मृत्यु हो चुकी है 107 स्वस्थ्‍ होकर डिस्चार्ज हो गए है तथा वर्तमान में 168 पॉजीटिव व्यक्तियों का उपचार चल रहा है। आज कुल 41सैंपल जांच हेतु लिए गए। जिले से अब तक कुल 4902 सेम्पल जांच के लिए भेजे गए थे जिनमें से 4056 सेंपलों की रिपोर्ट अब तक निगेटिव प्राप्त हुई है। आज 68 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। कुल 531 सैंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथालॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 29 है। जिले में जो व्यक्ति होम क्वारंटाइन में है उनके निवास स्थान से सीधे संवाद हेतु जिला स्तरीय कोविड-19 काल सेंटर स्थापित किया गया है जिसका संपर्क नंबर.7247704181 है कोविड.19 से संबंधित जानकारी इस संपर्क नंबर पर ली व दी जा सकती है। वहीं जिला चिकित्सालय सीहोर में टेलीमेडिसीन के लिए संपर्क नंबर 07562-401259 जारी किया गया है तथा राज्य स्तर पर 104/181 नंबर पर काल करके भी टेलीमेडिसीन सेवा का लाभ लिया जा सकता है। 104  नंबर पर ई.परामर्श सेवा का भी लाभ लिया जा सकता है। ई.संजीवनी ओपीडी सेवा हेतु www.esanjeevaniopd.in पंजीयन कराया जा सकता है। कलेक्ट्रेट कार्यालय सीहोर में भी जिला स्तरीय काल सेंटर बनाया गया है जिसका संपर्क नंबर 07562.226470 है तथा होम क्वारंटाइन व्यक्तियों तथा उनके परिजनों के लिए हेल्पलाइन नंबर 18002330175 जारी किया गया है। जिस पर संस्थागत क्वारंटाइन अथवा होम क्वारंटाइन व्यक्ति अथवा उनके परिजन इमोशनल वेलनेस अथवा साईकोलाजिकल सपोर्ट एवं अन्य जरूरी परामर्श मानसिक सेवा प्रदाताओं से निःशुल्क प्राप्त कर सकते है।

24 अगस्त से ऑनलाइन होंगी तकनीकी पाठ्यक्रमों के अंतिम वर्ष की परीक्षाएँ
सेमेस्टर 2 से 7 तक के विद्यार्थियों को प्रोन्नत किया जायेगा 
तकनीकी पाठ्यक्रमों के अंतिम वर्ष की परीक्षाएँ ऑनलाइन मोड पर 24 अगस्त से आयोजित होंगी। तकनीकी-शिक्षा एवं कौशल विकास मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया ने कहा है कि वैश्विक महामारी कोविड-19 के कारण उत्पन्न परिस्थितयों और छात्रों के सर्वव्यापी हितों को देखते हुए यह निर्णय लिया गया है। इसके अतिरिक्त अन्य सेमेस्टर 2 से 7 तक के विद्यार्थियों को अंतरिक मूल्यांकन एवं गत वर्ष में उनके प्रदर्शन के आधार पर आगामी कक्षा में प्रोन्नत करने का भी निर्णय लिया गया है। श्रीमती सिंधिया ने बताया कि जो छात्र ऑनलाइन परीक्षा में सम्मिलित नहीं हो सकेंगे उनके लिए बाद में विशेष परीक्षा 15 से 23 सितम्बर के मध्य आयोजित की जायेगी।प्रमुख सचिव, तकनीकी शिक्षा एवं कौशल विकास श्रीमती कोरोलिन खोंगवार देशमुख ने जानकारी देते हुए बताया कि बी.ई. की सैद्धांतिक परीक्षाएँ 24,26,28 एवं 31 अगस्त को आयोजित होगी। बी.फर्मिसी की सैद्धांतिक परीक्षाएँ 24,26,28 एवं 31 अगस्त एवं 2 सितम्बर को होंगी। इन विषयों की प्रायोगिक परीक्षाएँ 4 सितम्बर से 9 सितम्बर के मध्य होंगी। डिप्लोमा कोसर्स की सैद्धांतिक परीक्षाएँ 27 अगस्त से 7 सितम्बर और प्रायोगिक परीक्षाएँ 8 सितम्बर से 14 सितम्बर तक होंगी। शैक्षणिक सत्र 2020-21 के सेमेस्टर 3,5 एवं 7 तक के विद्यार्थियों की नियमित ऑनलाइन कक्षाएं 17 अगस्त 2020 तथा सत्र 2021 के प्रथम सेमेस्टर के छात्रों की कक्षाएँ 15 अक्टूबर 2020 से प्रारम्भ होंगी।

04 अगस्त से अभिलेखों की प्रमाणित प्रतिलिपि तत्काल ऑनलाइन माध्यम से प्राप्त हो सकेगी

कलेक्टर  श्री अजय गुप्ता ने बताया कि म.प्र. भू-राजस्व संहिता (भू-सर्वेक्षण तथा भू-अभिलेख) नियम 2020 के नियम 94 एवं 105 के अधीन इलेक्ट्रानिक स्वरूप में उपलब्ध अभिलेखों की प्रमाणित प्रतिलिपियों को प्राधिकृत वेबपोर्टल एवं प्राधिकृत सेवा प्रदाता के माध्यम से 04 अगस्त से जारी किया जाना है। इस कार्य में नए अभिलेख वे होंगे, जिन्हें रिकार्ड रूम से स्केन कर भूलेख पोर्टल पर अपलोड किया जा चुका है तथा आर.सी.एम.एस. पोर्टल पर उपलब्ध राजस्व प्रकरणों में पारित आदेश की प्रति होगी। यह सेवा प्रारंभ होने से आमजन को पुराने अभिलेखों की प्रमाणित प्रतिलिपि तत्काल कहीं से कभी भी ऑनलाइन प्राप्त हो सकेगी। प्राधिकृत वेबसाईट  www.mpbhulekh.gov.in  पर पब्लिक यूजर, पंजीकृत होकर अभिलेखों की डिजीटल हस्ताक्षरित प्रतिलिपि निर्धारित शुल्क का भुगतान कर प्राप्त कर सकता है। प्राधिकृत सेवा प्रदाता लोक सेवा केंद्र, एमपी ऑनलाइन, तहसील कार्यालय स्थित आईटी सेंटर तथा ऑनलाइन सुविधा के माध्यम से अभिलेखों की प्रतिलिपि प्राप्त की जा सकती है।

अभिलेखों की प्रतिलिपि हेतु निर्धारित दरें
कलेक्टर श्री गुप्ता ने बताया कि मध्यप्रदेश शासन द्वारा निर्धारित दरों पर अभिलेखों की प्रतिलिपि प्राप्त की जा सकती है। खसरा एक साला/खसरा पांच साला खाता जमाबंदी (खतौनी)/अधिकार अभिलेख/खेवट, वाजिब-उल-अर्ज, ए-4 साइज में नक्शे की प्रतिलिपि, नामांतरण पंजी की प्रति (ए-4 आकार में), किसी राजस्व प्रकरण में आदेश की प्रतिध्किसी राजस्व प्रकरण में आदेश पत्रिका की प्रतिध्राजस्व प्रकरण पंजी की प्रति (ए-4 आकार में), हस्तलिखित खसरा पंचसाला (स्केन की गई प्रति) (ए-4 आकार में) तथा हस्तलिखित राजस्व प्रकरण पंजी (स्केन की गई प्रति) (ए-4 आकार में) के पहले पृष्ठ के लिए फीस 30 रु. तथा प्रत्येक पश्चात्वर्ती पृष्ठ के लिए फीस 15 रु. निर्धारित की गई है।  

नगरीय निकायों में एक से 15 अगस्त तक चलेगा मास्क लगाने के लिये जागरूकता अभियान 

नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री भूपेन्द्र सिंह ने कहा कि नगरीय निकायों की आय बढ़ाने के सुझाव देने के लिये आयुक्त नगरीय प्रशासन एवं विकास की अध्यक्षता में समिति गठित करें। समिति में भोपाल और इंदौर नगर निगम के कमिश्नर सहित अन्य सदस्य होंगे। श्री सिंह ने 15 दिन में सुझाव संबंधी रिपोर्ट देने के निर्देश दिये। उन्होंने नगरीय निकायों के मास्टर प्लान में सुधार  करने के संबंध में विचार के लिये नगर एवं ग्राम निवेश के अधिकारियों की एक समिति बनाने के निर्देश भी दिये। श्री सिंह ने कहा कि यह समिति नगरीय क्षेत्रों में आने वाली कृषि भूमि सहित अन्य विषयों पर विचार कर रिपोर्ट देगी।

नगरीय निकायों की ग्रेडिंग
श्री सिंह ने कहा कि पथ-विक्रेताओं को लोन देने के संबंध में नगरीय निकायों द्वारा किये जा रहे कार्यों की प्रति सप्ताह ग्रेडिंग करें। लगातार पीछे रहने वाले नगरीय निकायों के अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस जारी करें।

एक से 15 अगस्त तक चलेगा मास्क लगाने के लिये जागरूकता अभियान
नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री भूपेन्द्र सिंह ने कहा कि एक अगस्त से 15 अगस्त तक सभी नगरीय निकायों में नागरिकों को मास्क लगाने के लिये प्रेरित करने के लिये जागरूकता अभियान चलायें। अभियान में स्वयंसेवी संस्थाओं का भी सहयोग लिया जाये। श्री सिंह ने कहा कि शहर के प्रमुख चौराहों पर स्टाल लगाकर वालेंटियर्स की मदद से मास्क नहीं लगाने वालों को रोककर समझाइश दें। नगरीय विकास एवं आवास मंत्री ने कहा कि नवगठित 30 नगरीय निकायों में भी विकास कार्य प्रारंभ किये जायें। उन्होंने अवैध कॉलोनियों के नियमितीकरण की कार्यवाही समय-सीमा में करने के निर्देश दिये। श्री सिंह ने कहा कि सीवरेज सिस्टम के सभी कार्यों की मॉनीटरिंग कर इन्हें समय-सीमा में पूरा कराएँ। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना में रुके हुए कार्य शुरू कराए जाएं। श्री सिंह ने कहा कि स्मार्ट सिटी के कार्यों की सतत समीक्षा की जरूरत है। बैठक में प्रमुख सचिव नगरीय विकास एवं आवास श्री नीतेश व्यास और आयुक्त नगरीय प्रशासन एवं विकास श्री निकुंज कुमार श्रीवास्तव उपस्थित थे।  

बच्चों के सर्वांगीण मानसिक एवं शारीरिक विकास हेतु स्तनपान अत्यंत महत्वपूर्ण

बच्चों के सर्वांगीण मानसिक एवं शारीरिक विकास हेतु स्तनपान अत्यंत महत्वपूर्ण हैं, यह शिशु मृत्यु दर एवं बाल मृत्यु दर के प्रकरणों मे कमी लाने में सहायक हैं। साथ ही आजीवन सामाजिक व आर्थिक विकास में सुधार हेतु स्तनपान प्रमुख पड़ाव हैं यह साक्ष्य आधारित हैं कि जन्म के एक घंटे के भीतर शीघ्र सुरक्षित स्तनपान कराने व प्रथम छः माह केवल स्तनपान करानें में नवजात शिशु में आम बाल्यकालीन बीमारियों जैसे दस्त रोग एवं निमोनिया के खतरे मे क्रमशः 11 प्रतिशत व 15 प्रतिशत कमी लाई जा सकती हैं। कोविड-19 महामारी काल में चुनौतियों से स्वास्थ्य एवं पोषण गतिविधियां बाधित हुई हैं, प्रसव उपरांत माँ और शिशु को एक साथ रख,त्वचा से त्वचा के संपर्क एवं सुरक्षित स्तनपान कराने से नवजात में कोरोना संक्रमण एवं अन्य बीमारियों के जोखिम में काफी हद तक कमी संभव है। विश्व स्वास्थ्य संगठन अनुसार कोरोना से संक्रमित/संदिग्ध माँ के दूध के माध्यम से कोरोना संक्रमण के फैलाव की पुष्टि नहीं हुई हैं,इसलिए ऐसी स्थिति में नवजात ‍शिशु को स्तनपान नहीं कराना या रोकने का कोई औचित्य नहीं है। 01अगस्त से 07 अगस्त तक, विष्व स्तनपान सप्ताह का आयोजन किया जा रहा हैं इस वर्ष की थीम सपोर्ट ब्रीस्टफीडिंग फार ए हेल्थीयर प्लानेट,कोविड-19 इज एन अपारचुनीटि टू स्ट्रीनथ एक्षन आन ब्रीस्टफीडिंग, हैं इस थीम का मुख्य उद्देश्य  माँ और नवजात शिशु के लिए स्तनपान की सुरक्षात्मक भूमिका, पर्यावरण पर डिब्बा बंद दूध के हानिकारक प्रभावों तथा स्तनपान को बढ़ावा देने एवं संरक्षित करने हेतु भारत सरकार द्वारा इनफन्ट मिल्क सबस्टीयूट फीडिंग बॉटल एंड इनफट फूडस अधिनियम 2003 के पालन हेतु विभिन्न स्तरों पर सामुदायिक जागरूकता लाना है। डॉ.एम.एस.सागर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी सागर ने बताया कि स्तनपान सप्ताह 1 से 7 अगस्त तक आयोजित किया जाना हैं इस के तहत  कोविड-19 के दिशा-निर्देशों का पालन कराते हुये सामुदायिक एवं वर्चुअल मीडिया एवं वाटस्एप ग्रुप का महिला एवं बाल विकास विभाग संयुक्त रूप से उपयोग करगें ,टीकाकरण में स्तनपान की जानकारी माँ को देना,एएनएम/आगनबाडी/आशा कार्यकर्ता संयुक्त रूप से कार्य करेगी । एवं शासकीय एवं निजी अस्पतालों में प्रसव पष्चात स्तनपान हेतु परामर्श दिया जावें। सप्ताहित कार्ययोजना अनुसार क्षेत्र में स्तनपान को प्रोत्साहन दिये जाने से प्रदेश की शिशु एवं बाल मृत्यु दर को प्रभावी रूप से नियंत्रित की जा सकती है।  

किल कोरोना अभियान-2 एक से 14 अगस्त तक किया जायेगा आयोजित 

शासन द्वारा निर्णय लिया गया है कि प्रदेश में एक से 14 अगस्त तक किल कोरोना अभियान-2 आयोजित किया जायेगा। यह अभियान संकल्प की चेन जोडो, संक्रमण की चेन तोडो से प्रेरित है। इस अभियान के दौरान संक्रमण रोकने के लिए मास्क फेस कवर पहनने की अनिवार्यता एवं सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों के पालन तथा भीड़-भाड़ से बचने हेतु सतत रूप से जनजागरूकता प्रचार - प्रसार किया जाएगा। साथ ही इस अवधि में जनप्रतिनिधियों द्वारा सार्वजनिक दौरा कार्यक्रम आयोजित नहीं किए जाये। इस दौरान क्षेत्र में जाकर विकास कार्यो के शिलान्यास, भूमिपूजन , लोकार्पण आदि आयोजन प्रतिबंधित रहेंगे । यह स्पष्ट किया गया है कि शिलान्यास भूमिपूजन, लोकार्पण आदि वीसी के माध्यम से सोशल डिस्टेंसिंग के मापदण्डों का पालन करते हुए आयोजित किये जा सकते हैं। इस अवधि में सभी प्रकार की राजनैतिक रैलियों का आयोजन भी पूरी तरह प्रतिबंधित रहेगा । जनप्रतिनिधिगण अपने क्षेत्र में ऑनलाईन वर्चुअल रैलियों का आयोजन कर सकते है। जनप्रतिनिधि अपने कार्यालय अथवा निवास स्थान पर आम जनता से मिलकर उनकी समस्याएं, शिकायतें सुन सकते है, किन्तु इस बात का विशेष ध्यान रखा जाये कि एक समय में 05 से अधिक लोग इकट्ठे न हो। मास्क एवं फिजिकल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन किया जाना सभी के लिए अनिवार्य होगा। जो इन नियमों का पालन नहीं करेगा। उनके विरूद्ध जुर्माने तथा अन्य विधिक कार्यवाही की जाए । किल कोरोना अभियान के दौरान निगरानी एवं रामनाय के लिए गृह विभाग , नोडल विभाग के रूप में कार्य करेगा । नगरीय विकास , पचायत एवं ग्रामीण विकास , स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण तथा चिकित्सा शिक्षा विभाग द्वारा भी कार्यवाही की जाएगी । मास्क न पहनने वाले व्यक्तियों को लिए संचालनालय स्वास्थ्य सेवाएं उनके पत्र में प्रसारित रोको - टोको की कार्यवाही सतत रूप से जारी रखी जायेगी। साथ ही नगरीय विकास एवं आवास विभाग द्वारा उनको पत्र दिनाक 30 जुलाई 2020 द्वारा जारी एक मास्क - अनेक जिंदगी  जन जागरूकता अभियान को भी सतत रूप से संचालित किया जायेगा। 03 अगस्त 2020 के पश्चात आर्थिक गतिविधियों के संचालन की आवश्यकता को दृष्टिगत रखते हुए जिला स्तर से किसी भी तरह के लॉकडाउन का आदेश बिना गृह विभाग की पूर्व अनुमति से जारी नहीं किये जा सकेंगे । उपरोक्त निर्देशों का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करने के निर्देश जारी किए गए है।

कोई टिप्पणी नहीं: