बिहार : भाला फेंकने वाले सुदामा कुमार यादव की सर्जरी को लेकर सोनू सूद ने कर लिया वादा - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 14 अगस्त 2020

बिहार : भाला फेंकने वाले सुदामा कुमार यादव की सर्जरी को लेकर सोनू सूद ने कर लिया वादा

भाला फेंकने वाले एथलीट सुदामा देश के प्रतिनिधित्व करने के लिए तीसरी युवा एशियाई खेल में भाग लेने हांगकांग गये थे। आयोजित कंपटीशन से मात्र 5 मिनट पहले  वार्मअप के दौरान उसे घुटना में चोट लग गयी जिसके कारण उसका ACL पूरी तरह से टूट कर क्षतिग्रस्त हो गयी। भगवान कृष्णा के रूप में सोनू सूद आते हैं।कहते है पदक लाने को तैयार हो जाओ....
sonu-sood-come-forward-for-sudma-ydav-surgery
खैरा,14 अगस्त। बालमुकुंद यादव और बर्ती देवी दुमारकोला गांव में रहते हैं। इन दोनों का पुत्र हैं सुदामा कुमार यादव। इनका चयन भाला फेंकने के लिए द्विवार्षिक एशियन युवा एथलेटिक्स चैंपियनशिप का तीसरा संस्करण में हुआ था।बिहार से चलकर हांगकांग पहुंच गये थे। 13 से 17 मार्च 2019 तक कंपटीशन होनी थी। एथलीट सुदामा का दुर्भाग्य रहा कि कंपटीशन से मात्र 5 मिनट पहले वार्मअप के दौरान घुटना में चोट लग गयी, जिसके कारण उसका ACL पूरी तरह से टूट कर क्षतिग्रस्त हो गयी।इसके कारण देश का नुकसान हुआ।


बिहार के जमुई जिले (Jamui District) के एथलीट सुदामा कुमार यादव (Athlete Sudama Yadav) को अभिनेता सोनू सूद का साथ मिला है।ट्विटर पर जानकारी मिलने के बाद सोनू सूद (Sonu Sood) ने एथलीट सुदामा के घुटने की सर्जरी कराने का भरोसा दिया है। सोनू सूद की टीम के लोगों ने चोटिल एथलीट से बात कर इस महीने के अंत में घुटने की सर्जरी कराने की बात कही है।अभिनेता सोनू सूद के दिए भरोसे के बाद अब सुदामा और उसके साथियों में उम्मीद जगी है कि होनहार एथलीट एक बार फिर से खेल के मैदान में अपना जलवा दिखा पाएगा। दरअसल, बीते साल मार्च महीने में हांगकांग (Hong Kong) में वार्मअप के दौरान एथलीट सुदामा के घुटने में चोट (Knee Injury) लग गई थे।तब से वे घुटने के दर्द से परेशान चल रहे थे।

सुदामा खेलो इंडिया समेत देश के कई एथलेटिक्स चैंपियनशिप में अपना जलवा बिखेर चुके हैं। वे जेवलिन थ्रो में कई मेडल भी जीत चुके हैं। जमुई जिले के खैरा प्रखंड के डूमरकोला गांव के एक साधारण परिवार से आने वाले एथलीट सुदामा यादव बीते डेढ़ साल से घुटने की चोट के कारण किसी चैंपियनशिप में शामिल नहीं हो पा रहे थे।दरअसल, बीते साल द्विवार्षिक एशियन युवा एथलेटिक्स चैंपियनशिप का तीसरा संस्करण (2019) 15-17 मार्च, 2019 के मध्य हांगकांग में संपन्न हुआ। अंडर 18 आयुवर्ग में देश की तरफ से सुदामा यादव खेलने गए थे। खेल शुरू होने के ठीक 5 मिनट पहले सुदामा वार्म अप कर रहे थे।तभी उनके घुटने में चोट लग गई, जिस कारण वो खेल नहीं पाए। घुटने की चोट के कारण सुदामा बीते डेढ़ साल से किसी चैंपियनशिप में शामिल नहीं हो रहा पा रहे थे।


लॉकडाउन के दरम्यान पब्लिक हीरो बने अभिनेता सोनू सूद का कहना है कि देश का गौरव है सुदामा।मेडल लेने की तैयारी करो भाई।अगले हफ़्ते सर्जरी करेंगे। मेडल लेने की तैयारी करो भाई।हालांकि, सुदामा ने घुटने का इलाज कराने के लिए कई लोगों से मदद मांगी। इसी दौरान एक ट्वीटर यूजर प्रभात लाल यादव ने खुद को सुदामा के भाई बताते हुए अभिनेता सोनू सूद से मदद की मांग कर दी।उसने सोनू सूद से सुदामा के घुटने की सर्जरी की गुहार लगाई।इसके बाद सोनू सूद ने अपने टि्वटर हैंडल से इस बात का जवाब दिया है कि 'देश का गौरव है सुदामा, मेडल लेने की तैयारी करो भाई, अगले हफ्ते सर्जरी करेंगे।' टि्वटर पर अभिनेता सोनू सूद के जवाब मिलने के बाद सुदामा और उसके साथियों में खुशी का माहौल है।एथलीट सुदामा ने बताया कि फोन पर अभिनेता सोनू सूद की टीम के लोगों ने उनसे बातचीत की है। इस महीने के अंत में ही सर्जरी करने की बात कही गई है। सुदामा यादव के स्थानीय कोच सूरज कुमार आशुतोष ने भी बताया कि ट्विटर के माध्यम से जमुई के एक खेल प्रेमी ने सुदामा के लिए अभिनेता सोनू सूद से मदद मांगी थी, जिसके बाद सुदामा को मदद करने का आश्वासन मिला है, जिससे उम्मीद जगी है कि सुदामा एक बार फिर मेडल जीतने के लिए मैदान में उतरेगा।

बता दें कि द्विवार्षिक एशियन युवा एथलेटिक्स चैंपियनशिप का तीसरा संस्करण (2019) 15-17 मार्च, 2019 के मध्य हांगकांग में संपन्न हुआ।
चीन ने चैंपियनशिप में 12 स्वर्ण, 11 रजत एवं 8 कांस्य पदक सहित कुल 31 पदक प्राप्त कर पदक तालिका में शीर्ष स्थान प्राप्त किया।
भारत कुल 26 पदक (8 स्वर्ण, 9 रजत एवं 9 कांस्य) प्राप्त कर दूसरे स्थान पर रहा।
थाबीथ फिलिप महेश्वरन (लंबी कूद)
मेजबान हांगकांग 1 स्वर्ण और 2 रजत पदक प्राप्त कर पदक तालिका में 8वें स्थान पर रहा।

कोई टिप्पणी नहीं: