मन की बात में छात्र खिलोनों नहीं, परीक्षा पर चाहते थे चर्चा : राहुल गाँधी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 30 अगस्त 2020

मन की बात में छात्र खिलोनों नहीं, परीक्षा पर चाहते थे चर्चा : राहुल गाँधी

students-wants-man-ki-baat-on-examination-rahul-gandhi
नयी दिल्ली, 30 अगस्त, कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा है कि इंजीनियरिंग और मेडिकल में प्रवेश के इच्छुक छात्र प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के रेडियो पर प्रसारित 'मन की बात" कार्यक्रम में इस बार खिलौनों पर नहीं बल्कि संयुक्त प्रवेश परीक्षा (जेईई) और योग्यता सह प्रवेश परीक्षा (नीट) को लेकर चर्चा चाहते थे लेकिन श्री मोदी ने उन्हें पूरी तरह से निराश किया है। श्री गांधी ने प्रधानमंत्री की मन की 'मन की बात" कार्यक्रम के प्रसारण के बाद अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए ट्वीट किया "जेईई-नीट परीक्षा में बैठने वाले छात्र चाहते थे कि प्रधानमंत्री परीक्षा पे चर्चा करें लेकिन प्रधानमंत्री ने खिलौनों पर चर्चा की। मन की नहीं छात्रों की बात।" गौरतलब है कांग्रेस जेईई और नीट परीक्षाएं कोरोना महामारी के बीच आयोजित करने के सरकार के फैसले का विरोध कर रही है । इस मुद्दे पर कांग्रेस शासित तथा उसके समर्थन वाले छह राज्यों ने उच्चतम न्यायालय में परीक्षा स्थगित करने को लेकर पुनर्विचार याचिका भी दायर की है। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भी इस मुद्दे पर इससे पहले गैर भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों से विचार विमर्श किया था और सभी ने कोरोना महामारी के प्रकोप तथा इसकी वजह से जारी यातायात की असुविधा को देखते हुए यह परीक्षा नहीं कराने का सरकार से आग्रह किया था।

कोई टिप्पणी नहीं: