विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 24 अगस्त - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 24 अगस्त 2020

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 24 अगस्त

आपदा प्रबंधन समिति की बैठक सम्पन्न

vidisha news
जिला क्राइसेस मैनेजमेंट कमेटी की बैठक आज कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा आहूत कर गृह विभाग के द्वारा जारी नवीन दिशा निर्देशो की जानकारी दी गई खासकर कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव हेतु आवश्यक प्रबंधों से अवगत कराया। कलेक्टर चेम्बर में हुई इस बैठक में कुरवाई विधायक श्री हरिसिंह सप्रे, विदिशा विधायक श्री शशांक भार्गव, शमशाबाद विधायक श्रीमती राजश्री, भाजपा जिलाध्यक्ष श्री राकेश जादौन, कांग्रेस के जिलाध्यक्ष श्री कमल सिलाकारी के अलावा पुलिस अधीक्षक श्री विनायक वर्मा, अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ केएस अहिरवार मौजूद थे। कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव द्वारा जारी पत्र का हवाला देते हुए बताया कि कोविड 19 महामारी की रोकथाम की दृष्टि से धार्मिक कार्य, त्यौहार का आयोजन सार्वजनिक स्थानो पर निषेधित किया गया है। सार्वजनिक स्थानों पर किसी भी प्रकार की मूर्ति, झांकी एवं ताजिए  आदि स्थापित नही करने के निर्देश दिए गए हैं। इसके अलावा कोविड महामारी के दृष्टिगत मूर्ति, ताजियों का विसर्जन विक्रेन्दीकृत रूप से कराए जाने की व्यवस्था कतिपय जिलों द्वारा की गई हैं जिलो में मूर्तियों एवं ताजियों के विसर्जन के संबंध में जिला प्रशासन मूर्तियां एवं ताजियां वार्डवार टेंकरों, वाहनों में एकत्रित कर विसर्जन का कार्य प्रशासन की टीम द्वारा किए जाने की व्यवस्था की गई है। व्यक्तिगत विसर्जन को प्रतिबंधित किया गया है। कोविड संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए सार्वजनिक रूप से नदियों, तालाबो तथा अन्य स्त्रोंतो पर आमजनों का एकत्रित होना प्रतिबंधित किया गया है। ततसंबंध में पूर्व जारी दिशा निर्देशो का कढ़ाई से पालन जिले में किया जाएगा। विधायको द्वारा सर्वसम्मति से गृह विभाग के द्वारा जारी गाइड लाइन का कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव को ध्यानगत रखते हुए पालन कराने पर सहमति व्यक्त की गई। कलेक्टर डॉ जैन ने विदिशा जिले में कोरोना वायरस कोविड 19 के संक्रमण को फैलने से रोकने में जनप्रतिनिधियों के सहयोग की अपेक्षा व्यक्त करते हुए कहा कि प्रशासन द्वारा चहुंओर प्रचार-प्रसार विभिन्न संसाधनो के माध्यम से किए जा रहे है। जिले में अब तक कोरोना वायरस के संक्रमण से प्रभावितों के इलाज हेतु कोविड केयर सेन्टरों में किए गए प्रबंधो से अवगत कराया। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ केएस अहिरवार ने कोरोना वायरस के अब तक की अपडेट जानकारी से समिति के सदस्यगणों को अवगत कराया। 


मौके पर पल्स आक्सीमीटर से परीक्षण 
जिला क्राइसेस मैनेजमेंट कमेटी की बैठक में शामिल सदस्यगणों की इच्छा पर कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा सिविल सर्जन सह अधीक्षक के माध्यम से समिति के सभी सदस्यगणों की पल्स आक्सीमीटर से आक्सीजन की मात्रा का परीक्षण कराया गया है।  

19 सेम्पल पॉजिटिव प्राप्त हुए

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ केएस अहिरवार ने बताया कि सोमवार 24 अगस्त को कोरोना वायरस कोविड 19 के जिले में कुल 19 सेम्पल पॉजिटिव प्राप्त हुए है। सर्वाधिक विदिशा विकासखण्ड में 16, बासौदा में दो तथा सिरोंज विकासखण्ड में एक सेम्पल पॉजिटिव प्राप्त हुआ है। विदिशा में प्राप्त 16 पॉजिटिव सेम्पल की क्षेत्रवार जानकारी इस प्रकार से है। हरिपुरा में 48 वर्षीय महिला, ग्राम सौराईमूडरा में कुल चार सेम्पल पॉजिटिव प्राप्त हुए है जिसमें 22 वर्षीय युवक, 46 वर्षीय युवक, 51 वर्षीय युवक तथा 17 वर्षीय युवक शामिल है। विदिशा  शेरपुरा में 42 वर्षीय युवक, किले अन्दर 31 वर्षीय युवक, बीएसएनएल ऑफिस केम्पस आफिस में 34 वर्षीय पुरूष, मेडीकल कॉलेज में 24 वर्षीय दो युवतियां तथा 36 वर्षीय युवक, किरी मोहल्ला में 12 वर्षीय बालक, पटेल गार्डन के पास 23 वर्षीय युवक, रायल सिटी में 40 वर्षीय पुरूष, होमगार्ड कार्यालय के समीप 36 वर्षीय महिला का सेम्पल पॉजिटिव प्राप्त हुआ है। बासौदा विकासखण्ड में बरेठ रोड वार्ड नम्बर सात का 20 वर्षीय युवक एवं सिरोंज रोड गंजबासौदा क्षेत्र के 60 वर्षीय महिला, सिरोंज विकासखण्ड में पामाखेडी ग्राम के 40 वर्षीय महिला का सेम्पल पॉजिटिव प्राप्त हुआ है। आज प्राप्त पॉजिटिव सेम्पल में से आरएटी परीक्षण में तीन, आरटीपीसीआर में दस तथा टू्र नॉट से छह पॉजिटिव सेम्पल प्राप्त हुए है। जिसमें फर्स्ट कांट्रेक्ट के पांच, फीवर क्लीनिक के 13 व एक अन्य इस प्रकार कुल 19 पॉजिटिव सेम्पल आज प्राप्त हुए है। 

सफलता की कहानी  : आठ मरीज स्वस्थ होकर घर की ओर रवाना 

कोरोना वायरस कोविड 19 के संक्रमण से प्रभावितों के बेहतर इलाज हेतु कोविड केयर सेन्टरों में प्रबंध सुनिश्चित किए गए है। विदिशा जिला मुख्यालय का सीसीसी अटल बिहारी वाजपेयी चिकित्सा महाविद्यालय परिसर में संचालित हो रहा है। आज आठ मरीज पूर्ण स्वस्थ होकर अपने घर की ओर रवाना हुए है। स्वस्थ होने वालो मरीजो ने कोविड केयर सेन्टर में हुई देखभाल, चिकित्सक और नर्सिंग स्टाप के मधुर व्यवहार तथा भोजन प्रबंधो की प्रशंसा कर रहे है।  बासौदा क्षेत्र का पूर्ण स्वस्थ होने पर एक मरीज ने कहा कि यहां आने से पहले बहुत डर लगा रहा था खासकर कोरोना के संक्रमण का मन में जो भय था वह दूर हुआ है। यहां के प्रबंध निजी चिकित्सालयों से बेहतर मुझे लगे है। कोविड केयर सेन्टर में मरीजो के लिए खानपान के अलावा मनोरंजन के साधनों ने कभी-कभी विस्मित करा दिया कि हम मरीज है।

सफलता की कहानी, नीति आयोग की जुबानी  आकांक्षी जिलो की सूची से विमुक्ता की ओर विदिशा

नीति आयोग के निर्धारित पैरामीटर परिधि में विदिशा सहित देश के 114 जिले आकांक्षी जिलो की सूची में शामिल है। इन जिलो में नीति आयोग के मापदण्डों, उद्वेश्यों की प्राप्ति हेतु विशेष कार्यो के सम्पादन करने हेतु समय-समय पर मार्गदर्शन दिया जा रहा है। केन्द्रीय नीति आयोग के द्वारा जून माह की जारी रैंकिंग में उत्कृष्ट कार्यो के सम्पादन क्षेत्र में विदिशा देश में अग्रणी जिला घोषित किया गया है। नीति आयोग द्वारा पत्र जारी कर बकायदा इसकी सूचना प्रेषित की गई है। पत्र में उल्लेख है कि विदिशा जिले में उत्कृष्ट कार्यो की प्रगति समय पर क्रियान्वयन व पोर्टल पर इन्ट्री करने के कारण जिले की साख में वृद्वि होना यह साबित कर रहा है कि आकांक्षी जिलो की सूची में शामिल विदिशा जिला विमुक्ति की ओर अग्रसर हो रहा है। विदिशा जिले में स्वास्थ्य शिक्षा, रोजगारमूलक योजनाओं के क्रियान्वयन में किए गए नवाचारो के फलस्वरूप पात्रताधारी हितग्राहियों को समय पर शत प्रतिशत लाभ दिलाने के प्रबंध सुनिश्चित किए गए है। महिलाओं के उन्मुखीकरण हेतु शत प्रतिशत बालिकाओं का दाखिला स्कूलों में कराया गया खासकर आठवीं के बाद ड्राप आउट लेने वाली बालिकाओं का नवमीं में प्रवेश दिलाने के लिए बुलौआ नवाचार के माध्यम से संदेश का प्रसारण घर-घर तक पहुंचा। अभिभावक बैठकों में शामिल होने लगे। ततपश्चात् शत प्रतिशत दाखिला सुनिश्चित हुआ है। इसी प्रकार समय पर टीकाकरण व गर्भवती महिलाओं के स्वास्थ्य परीक्षण की जानकारी लेने और उन्हें लाभांवित करने हेतु डोर-टू-डोर सम्पर्क कड़ी ने टीकाकरण के क्षेत्र में आशातीत सफलता हासिल की है। हितग्राहियो को मार्गदर्शन देकर स्वरोजगार योजनाओं से लाभ दिलाने के प्रबंध सुनिश्चित किए गए है वही ग्रामीण क्षेत्रों की रहवासियों की आर्थिक स्थिति में सुधार लाने के लिए कृषि, उद्यानिकी, पशुपालन तथा मत्स्य पालन के कम्पोनेट से जोड़कर उन्हें आर्थिक रूप से  सबल बनाने के प्रयास किए गए है। पशुपालकों को केसीसी जारी करने के लिए प्रत्येक ग्राम स्तर पर दो दिवसीय शिविरों के माध्यम से जानकारी देकर, दस्तावेंज संलग्न कर संबंधित बैंको से केसीसी जारी कराने के कार्य सम्पादित कराए गए है। उपरोक्त नवाचारो के फलस्वरूप विदिशा जिला आकांक्षी जिलो की जून माह की जारी रैकिंग सूची मेंं अग्रणी रहा।


सेम्पलों के लक्ष्य पूर्ति में पीछे रहने वालो को नोटिस जारी करने के निर्देश

vidish news
कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने सोमवार को खण्ड स्तरीय व्हीसी के माध्यम से अनुविभागवार समीक्षा की। जिसमें सीएम हेल्पलाइन, कोरोना वायरस कोविड 19 के सेम्पल तथा पात्रता पर्ची हेतु राशन मित्र पोर्टल पर जानकारियां दर्ज करने तथा धार्मिक आयोजनो के मद्देनजर गृह विभाग द्वारा जारी गाइड लाइन के संबंध में जानकारी दी है। कलेक्टर डॉ जैन ने कोरोना वायरस कोविड 19 के सेम्पल लेने के लक्ष्यों की पूर्ति में पीछे रहने वाले एमएमयू टीम के सदस्यों के साथ-साथ संबंधित खण्ड चिकित्सा अधिकारी को नोटिस देने के निर्देश मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को दिए है। कलेक्टर डॉ जैन ने कहा कि जिले में कम से कम हर रोज साढे चार सौ सेम्पल लिए जाएं। कलेक्टर डॉ जैन ने कहा कि कंटेनमेंट जोन, पॉजिटिव मरीजों का सेम्पल कम से कम दस से 13 दिन के बीच में लिया जाए। उन्होंने कंटनेमेंट जोन हटाने के लिए निर्धारित अवधि की जानकारी संबंधित क्षेत्र के रहवासियों को देने के लिए विभिन्न प्रचार-प्रसार संसाधनो का उपयोग करने की समझाईंश दी है। कलेक्टर डॉ जैन ने अनुविभाग स्तर पर लंबित आवेदनों के निराकरण की अद्यतन जानकारियां प्राप्त की। उन्होंने कहा कि नवीन पात्रता पर्ची एक सितम्बर से प्रभावशील हो जाएगी। अतः विदिशा जिला उपरोक्त कार्यो में पिछडे ना इसके लिए समस्त एसडीएम अनुविभाग स्तर पर शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों के लिए निर्धारित मापदण्डों के अनुसार आईडी पर जानकारियां दर्ज कराना सुनिश्चित करें खासकर पात्रताधारी व्यक्ति का आधार नम्बर जनरेट अवश्य रूप से कराएं। उन्होंने बताया कि जिले की पंचायत सचिवों को लॉगिग करने हेतु पासवर्ड आईडी प्रदाय किया गया इसी प्रकार वार्डो में गठित टीमो के द्वारा उपरोक्त कार्यो का सम्पादन किया जाना है। कलेक्टर डॉ जैन ने धार्मिक आयोजनो के मद्देनजर गृह विभाग द्वारा जारी गाइड लाइन के संबंध में विस्तृत मार्गदर्शन देते हुए संबंधितों को पालन कराने हेतु अधिकृत किया गया है। कलेक्टर डॉ जैन ने स्वरोजगारमूलक योजनाओ के अंतर्गत प्रधानमंत्री स्ट्रीट बेण्डर के लक्ष्य प्राप्ति में किसी भी प्रकार की कोताही नही बरतने की सख्त हिदायत दी है। एनआईसी के व्हीसी कक्ष में अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ केएस अहिरवार, डिप्टी कलेक्टर श्री शैलेन्द्र सिंह, एसडीएम विदिशा श्री गोपाल सिंह वर्मा, कुरवाई एसडीएम श्री आरती यादव, जिला आपूर्ति अधिकारी श्रीमती रश्मि साहू, एनआईसी के डीआईओ श्री एमएल अहिरवार, मुख्य नगरपालिका अधिकारी श्री सुधीर सिंह, बीएमओ डॉ एके उपाध्याय मौजूद रहें। 

लंबित शिकायतों का निदान करें

कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने आज लंबित आवेदनों की समीक्षा की। उन्होंने जिलाधिकारियों को निर्देश दिए है कि टीएल बैठक में शामिल शिकायती आवेदनों का निराकरण समय सीमा में कराया जाना सुनिश्चित करें। मुख्यमंत्री निवास से प्राप्त लंबित शिकायतों के निराकरण मामले में शीघ्र कार्यवाही करने के निर्देश कलेक्टर द्वारा 25 विभागों के अधिकारियों को दिए गए है। ज्ञातव्य हो कि मुख्यमंत्री निवासी कार्यालय से प्राप्त कुल 81 लंबित शिकायतों में से एल वन पर 5, एल टू पर तीन, एल थ्री पर नौ और एल फोर पर 64 शिकायतें लंबित है। जिन विभागों के अधिकारियों को आवेदनों पर शीघ्र कार्यवाही करने के निर्देश दिए गए है उनमें आदिम जाति कल्याण विभाग एवं क्षेत्रीय विकास, ऊर्जा, कृषि, चिकित्सा, शिक्षा, कलेक्ट्रेट शाखा, जय किसान फसल ऋण माफी, जल संसाधन, नजूल भूमि, पंचायती राज्य, प्राकृतिक प्रकोप राहत राशि, पुलिस, भू अभिलेख, मनरेगा, राज्य शिक्षा केन्द्र, राजस्व विभाग, लीड़ बैंक, लोक शिक्षण, लोक स्वास्थ्य, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, वन विभाग, संस्थागत वित्त, सामान्य प्रशासन विभाग, सीमांकन तथा स्थापना शाखा लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी इत्यादि शामिल है। कलेक्टर द्वारा स्वास्थ्य, शिक्षा, खाद्य, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, शहरी विकास अभिकरण, ऊर्जा, जल संसाधन, राजस्व, ग्रामीण विकास, खनिज, डीपीसी, कॉ-आपरेटिव बैंक, पीडब्ल्यूडी, आरईएस, महिला एवं बाल विकास, पशु चिकित्सा, डाईट, खेल विभाग, जिला कार्यक्रम अधिकारी, पीएमजीएसवाय, हलाली डेम तथा नगरपालिका इत्यादि के लंबित आवेदनों पर अब तक की गई कार्यवाही के साथ-साथ पेपर कंटिग पर संबंधित विभागों के अधिकारियों द्वारा अवगत कराया गया है।  नवीन कलेक्ट्रेट के बेतवा सभागार कक्ष में सम्पन्न हुई इस बैठक में जिला पंचायत सीईओ श्री मयंक अग्रवाल, अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह के अलावा समस्त विभागों के अधिकारी मौजूद थे। 

संभागायुक्त द्वारा व्हीसी की माध्यम से समीक्षा आज 

भोपाल संभागायुक्त श्री कवीन्द्र कियावत के द्वारा 25 अगस्त को वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से महिला एवं बाल विकास विभाग के माध्यम से क्रियान्वित योजनाओं, कार्यक्रमों की समीक्षा बैठक दोपहर 12 बजे से आयोजित की गई है। महिला एवं बाल विकास विभाग के संयुक्त संचालक द्वारा जिले के अधिकारियों को ततसंबंध में दिशा निर्देश प्रसारित किए गए है और विभागीय योजनाओ, कार्यक्रमों की अद्यतन प्रगति सहित वीडियो कांफ्रेसिंग हाल में नियत समय पर उपस्थित होना सुनिश्चित करें।

नवीन पात्रता पर्ची हेतु राशन मित्र पोर्टल पर दर्ज करें

जिले के पात्रताधारी राशन कार्डधारियों के लिए एक सितम्बर से पात्रता पर्ची जारी करने का कार्य किया जाएगा। उपरोक्त कार्यो के लिए परिवार के ऐसे व्यक्ति जिनका नाम से नवीन पात्रता पर्ची जनरेट की जानी है इसके लिए दो प्रक्रिया निर्धारित की गई है। जिले में सबसे पहले सभी पंचायत सचिवों को उनके आईडी से राशन मित्र पोर्टल पर लॉगिग करवाने की प्रक्रिया क्रियान्वित की गई है। ग्राम पंचायत सचिव के लॉगिग में प्रदर्शित प्रथम सूची लक्ष्य एक में वह सदस्य है जिन्हें नवीन, संशोधित पर्ची जारी की जानी है। उक्त सूची के सभी सदस्यों की आईडी में राशन मित्र पोर्टल पर आधार की जानकारी दर्ज की जानी है। लक्ष्य सूची द्वितीय में वह सदस्य है जिनको वर्तमान में खाद्यान्न की पात्रता है और पात्रता पर्ची भी है किन्तु उनके डेटाबेस में आधार या तो गलत है या डुप्लीकेट हैं उक्त सूची के सदस्यों की आईडी में आधार की सही, वास्तविक जानकारी पोर्टल पर दर्ज की जाना है। सात से 13 अगस्त (मुख्यमंत्री कर्मकार मंडल तथा सामाजिक सुरक्षा पेंशन की कुछ आईडी में बाद में भी पात्र सदस्य की आईडी दर्ज नही की गई है) तक निकाय अथवा सचिवों के लॉगिन से जो कार्य किया गया है उसमें आधार की जानकारी अधूरी होने के कारण वह डीएसओ, जेएसओ लॉगिन से स्वीकृत नहीं किए जा पा रहें है। उक्त दिनांक के बीच किए गए कार्य में भी अपडेशन किया जाना है। सचिव के कार्य  को निकाय के लॉगिन से अनुशंसित किया जाना है जो कि तत्पश्चात जेएसओ लॉगिन में स्वीकृत किए जाने हेतु प्रदर्शित किया जाएगा को प्राथमिकता के आधार पर पूर्ण करना है। 

जिले में अब तक 755.1 मिमी औसत वर्षा दर्ज

जिले में अब तक 756.5 मिमी औसत वर्षा दर्ज हुई है कि जानकारी देते हुए अधीक्षक भू-अभिलेख ने बताया कि 24 अगस्त को जिले में 1.4 मिमी औसत वर्षा दर्ज हुई है। तहसीलों में स्थापित वर्षामापी यंत्रो पर 24 अगस्त सोमवार को दर्ज वर्षा की जानकारी तदानुसार बासौदा में 4.4 मिमी, कुरवाई में एक मिमी, सिरोंज, लटेरी और नटेरन मेंं क्रमशः एक-एक मिमी वर्षा दर्ज की गई है इसके अलावा अन्य तहसीलों में वर्षा नगण्य रही।  जिले की तहसीलो में अब तक दर्ज वर्षा विदिशा में 809 मिमी, बासौदा में 652.4 मिमी, कुरवाई में 815.2 मिमी,  सिरोंज में 578.2 मिमी, लटेरी में 757 मिमी, ग्यारसपुर में 927 मिमी, गुलाबगंज में 787 मिमी तथा नटेरन में 726.2 मिमी वर्षा दर्ज की गई है। 

पेंशन एवं अन्य देयकों के भुगतान हेतु शिविर बुधवार से

भोपाल संभागायुक्त द्वारा जारी निर्देशो के अनुपालन में कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा जिले में विगत पांच वर्षो में सेवानिवृत्त शासकीय सेवकों की पेंशन एवं उन्हें देय समस्त स्वत्वों का भुगतान तत्काल सुनिश्चित कराए जाने के लिए जिले में 26 अगस्त से 11 सितम्बर तक जिला पेंशन कार्यालय में केम्प आयोजित करने के निर्देश प्रसारित किए है। कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा दिए गए निर्देशो का हवाला देते हुए जिला कोषालय अधिकारी श्री उमेश श्रीवास्तव ने बताया कि जिला कोषालय एवं जिला पेंशन कार्यालय द्वारा संयुक्त रूप से लंबित स्वामित्वों के भुगतान हेतु कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने जिले के समस्त विभागो के जिला कार्यालय अधिकारी, आहरण संवितरण अधिकारी को पत्र प्रेषित कर जानकारी तीन दिवस के भीतर जिला कोषालय अधिकारी को उपलब्ध कराने की कार्यवाही क्रियान्वित करने हेतु पत्राचार किया है।  समस्त विभागो को प्रेषित पत्र में उल्लेख है कि आपके विभाग में विगत पांच वर्षो में सेवानिवृत्त हुए शासकीय सेवकों की सूची बनाकर यह सुनिश्चित करें कि उनमें से कितने कर्मचारियों के पेंशन प्रकरण, अवकाश नगदीकरण, जीपीएफ, डीपीएफ, जीआईएस, एफबीएफ अन्य स्वत्वों के भुगतान लंबित है। इसका विवरण जिला पेंशन कार्यालय द्वारा पूर्व मेंं भेजे गए पत्र में उल्लेख किया गया है। ऐसे शासकीय सेवकों की सूची जिनका सेवानिवृत्ति उपरांत अभी तक पेंशन भुगतान आदेश जारी नही हो सका है। उन शासकीय सेवकों का नाम पदनाम, एवं सेवानिवृत्ति की तिथि सहित पेंशन निराकरण ना हो सकने का कारण भी स्पष्ट करें। ऐसे प्रकरणों की सूची जिनकी विभागीय जांच संस्थित होने के कारण अभी तक पेंशन प्रकरण का निराकरण नही किया जा सका है। इसमें विभागीय जांच कब से संस्थित है एवं जांच अधिकारी द्वारा अभी तक क्या कार्यवाही की गई है। लंबी अवधि व्यतीत होने के बाद भी जांच पूर्ण क्यो नही की जा सकी। जांच अधिकारी का नाम, पदनाम, एवं पदस्थापना कार्यालय की जानकारी भी उपलब्ध कराएं।  26 अगस्त से 11 सितम्बर तक आयोजित किए जा रहे शिविरों में पेंशन प्रकरण तथा लंबित स्वत्वों के भुगतान हेतु देयक अनिवार्य रूप से प्रस्तुत किए जाए। शिविर में संबंधित कार्यालय की स्थापना लेखा से संबंधित कर्मचारी भी प्रकरण के साथ उपस्थित हो तथा लंबित प्रकरणों के शत प्रतिशत निराकरण की कार्यवाही सुनिश्चित करेंगे। यदि इन केम्पों के आयोजन के बाद भी आपके कार्यालय से संबंधित पेंशनर के कोई स्वत्व भुगतान हेतु शेष रहते है तो उसके लिए संबंधित विभागो के अधिकारियों का उत्तरदायित्व होगा। आयोजित होने वाले शिविरों में उपस्थिति के समय कोरोना से संबंधित जारी गाइड लाइन का अनिवार्य रूप से पालन किया जाए।

कोई टिप्पणी नहीं: