विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 26 अगस्त - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 26 अगस्त 2020

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 26 अगस्त

सोयाबीन की फसल में पीला मोजेक एवं वांझपन के संबंध में मौके की स्थिति के आंकलन हेतु विदिशा विधायक शशांक भार्गव दिनांक 28 एवं 29 अगस्त को क्षेत्र के किसानों से होंगे रूबरू 

विदिशाः- विदिशा विधायक शशांक भार्गव दिनांक 28.08.2020 को तहसील गुलाबगंज क्षेत्र के विभिन्न ग्रामों में एवं दिनांक 29.08.2020 को प्रातः 10.30 बजे से विदिशा तहसील के अहमदपुर क्षेत्र के विभिन्न ग्रामों में किसानों से मौके पर सोयाबीन की फसल में पीला मोजेक एवं वांझपन के संबंध में वास्तविक स्थिति का जायजा लेने हेतु दौरे पर रहेगे। इस संबंध में विधायक भार्गव ने कलेक्टर विदिशा को पत्र लिखकर पीला मोजेक बीमारी से हो रही सोयाबीन की फसल की क्षति की रोकथाम हेतु कृषि महाविद्यालय बासौदा के विशेषज्ञों के माध्यम किसानों को आवश्यक दवाये एवं अन्य उपायो के संबंध में जानकारी दिये जाने का अनुरोध किया, साथ ही उन्होंने कहा कि कई क्षेत्रों में किसानों द्वारा बोई गई सोयाबीन की फसल वांझपन का शिकार हुई है, इन दोनो ही स्थिति का आंकलन किये जाने हेतु कृषि विभाग के विशेषज्ञ अधिकारी एव राजस्व अधिकारियों के माध्यम से मौके की वास्तविक स्थिति का आंकलन किया जाये, जिससे कि किसान तत्काल उपाय करके फसल को नष्ट होने से बचा सके एंव उन्होंने कहा कि पीला मोजेक बीमारी की रोकथाम के उपाय असफल होने पर किसानों की सोयाबीन को हुई क्षति के संबंध में यथाशीघ्र सर्वे कराया जाये एवं बीमा कंपनियों को जानकारी प्रदान की जाये ओर शासन को क्षतिपूर्ति हेतु मुआवजा राशि का प्रस्ताव तत्काल तैयार किया जाये, जिससे कि प्रभावित कृषकों को समय पर मुआवजा राशि उपलब्ध हो सके, श्री भार्गव ने कहा कि क्षेत्र में सैकडों बीघा जमीन में बोई गई सोयाबीन की फसल पीला मोजेक जैसी बीमारी का शिकार हो रही है एवं कई क्षेत्रों में सोयाबीन बोने के बाद वांझपन की स्थिति फसलों में निर्मित हुई है, जिससे किसान काफी चिंतित है ऐसी परिस्थितियों में शासन प्रशासन का दायित्व है कि वे कृषि विशेषज्ञों के माध्यम से किसानों की फसलो को हो रही क्षति के संबंध में रोकथाम के उपाय यथाशीघ्र बताये, जिससे कि किसान नष्ट हो रही फसल को कुछ हद तक बचाने में सफल हो सके। 


सोयाबीन फसल का जायजा

vidisha news
कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने बुधवार को भ्रमण कर सोयाबीन फसल में हुई क्षति का जायजा लिया है। कलेक्टर डॉ जैन ने कुरवाई तहसील के ग्राम बरेठा में कृषक श्री पुरूषोत्तम कुर्मी के खेत में पहुंचकर सोयाबीन फसल में हुई क्षति को देखा और मौके पर मौजूद तहसीलदार श्री आसुतोष शर्मा को कारणों सहित प्रतिवेदन प्रस्तुत करने के निर्देश दिए है। ज्ञातव्य हो कि भूमि स्वामी श्री पुरूषोत्तम पिता श्री कंछेदी कुर्मी के सर्वे नम्बर 103/1/2 रकवा 2.508 हेक्टेयर में सोयाबीन फसल बोई गई है। आफलन की स्थिति होने पर नियमानुसार प्रकरण दर्ज कर आरबीसी के प्रावधानो के तहत राहत राशि उपलब्ध कराई जाएगी।

टेशू कल्चर लैब को देखा 

vidisha news
कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने बुधवार को कुरवाई तहसील क्षेत्र में भ्रमण के दौरान ग्राम सीहोरा में उद्यानिकी विभाग की योजनाओं से लाभांवित हुए कृषक श्री आसुतोष शर्मा के द्वारा तैयार किए जा रहे टेशू कल्चर लैब में पहुंचकर पौधो की उन्नत किस्म कैसे तैयार की जा रही है कि जानकारी ही प्राप्त नही कि बल्कि बारीकी से अवलोकन किया है।  उद्यानिकी मिशन योजना के तहत टेशू कल्चर तैयार करने हेतु कृषक श्री आसुतोष शर्मा  को 78 लाख 76 हजार रूपए की अनुदान राशि प्रदाय की गई है कि जानकारी देते हुए उद्यानिकी विभाग के सहायक संचालक श्री केएल व्यास ने बताया कि हितग्राही श्री आसुतोष शर्मा को वर्ष 2019-20 में उद्यानिकी मिशन योजना के तहत अनुदान राशि उपलब्ध कराई गई है।  निरीक्षण के दौरान कृषक श्री आसुतोष शर्मा ने टेशू कल्चर के तहत केला, अमरूद, अनार, बांस के पौध तैयार किए गए है के संबंध में जानकारी दी। इस अवसर पर कुरवाई एसडीएम श्रीमती आरती यादव, तहसीलदार श्री आसुतोष शर्मा के अलावा अन्य अधिकारी साथ मौजूद थे।

सफलता की कहानी  : कोराना वायरस से जीते 31 मरीज स्वस्थ होकर घर की ओर रवाना 

कोरोना वायरस कोविड 19 के संक्रमण से प्रभावितों के बेहतर इलाज हेतु कोविड केयर सेन्टरों में प्रबंध सुनिश्चित किए गए है। विदिशा जिले के कोविड केयर सेन्टर में भर्ती 31 मरीज आज पूर्ण स्वस्थ होकर अपने घर की ओर रवाना हुए है। स्वस्थ होने वालो में विदिशा जिला मुख्यालय के अटल बिहारी वाजपेयी चिकित्सा महाविद्यालय परिसर में संचालित कोविड केयर सेन्टर से 26, बासौदा से चार एवं सिरोंज सीसीसी से एक मरीज डिस्चार्ज हुआ है। स्वस्थ होने वाले सभी मरीजो ने कोविड केयर सेन्टर में हुई देखभाल, चिकित्सक और नर्सिंग स्टाप के मधुर व्यवहार तथा भोजन प्रबंधो की प्रशंसा की है। 

बुधवार को 21 सेम्पल पॉजिटिव प्राप्त हुए

कोरोना वायरस कोविड 19 के प्राप्त सेम्पलों के रिजल्ट की जानकारी देते हुए मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ केएस अहिरवार ने बताया कि बुधवार 26 अगस्त को जिले में कुल 21 सेम्पल पॉजिटिव प्राप्त हुए है। पॉजिटिव प्राप्त होने वाले सेम्पलों मेंं सर्वाधिक विदिशा विकासखण्ड में 11, बासौदा में चार, कुरवाई एवं ग्यारसपुर में क्रमशः दो-दो तथा सिरोंज एवं नटेरन विकासखण्ड में क्रमशः एक-एक सेम्पल पॉजिटिव प्राप्त हुआ है।

हेल्थ बुलेटिन : 1240 को होम कोरोन्टाइन

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ केएस अहिरवार के द्वारा जारी जिले की हेल्थ बुलेटिन में उल्लेख है कि 1240 को होम कोरोन्टाइन में रखा गया है। जिले में आज दिनांक तक कोरोना पॉजिटिव मरीजो की संख्या 777 है। जिसमें से 581 कोरोना पॉजिटिव मरीज पूर्ण स्वस्थ हो चुके है वहीं 182 एक्टिव केस है।  मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ अहिरवार ने मरीजो की रिपोर्ट जानकारी के संबंध में बताया कि फीवर क्लीनिक में 334 मरीजो का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया है। जिले में होम क्यूरेन्टाइन किए गए मरीजो की संख्या 1240, कोविड केयर सेन्टर (मेडीकल कॉलेज विदिशा) में भर्ती मरीजो की संख्या 120 है। कोविड केयर सेन्टर पॉलिटेक्निक कॉलेज सिरोंज में भर्ती मरीजो की संख्या सात, कोविड केयर सेन्टर बासौदा में भर्ती मरीजो की संख्या 11, एचडीयू/आईसीयू में भर्ती एक्टिव केस की संख्या 14, जिला चिकित्सालय में कोरोन्टाइन में भर्ती मरीजो की संख्या एक, एवं आईसोलेशन में भर्ती मरीजो की संख्या आठ, संस्थागत में कोरोन्टाइन किए गए संदिग्ध व्यक्तियों की संख्या 13 है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने लैब रिपोर्ट की जानकारी के संबंध में बताया कि आज दिनांक तक जांच के लिए भेजे गए सेम्पलों की संख्या 16976 जबकि आज दिनांक को लिए गए पीसीआर सेम्पलों की संख्या 577, टू्र नाट में 20 सेम्पलों का परीक्षण हुआ है जिसमें छह पॉजिटिव पाए गए है इसी प्रकार रेपिड एन्टीजन टेस्ट किट से 533 सेम्पलों का परीक्षण हुआ है जिसमें सात पॉजिटिव पाए गए है। आज लिए कुल सेम्पलों की संख्या 1130, आज प्राप्त सेम्पलों की रिपोर्ट संख्या 1071, आज तक निगेटिव प्राप्त सेम्पलों की संख्या 15025, अप्राप्त सेम्पलों की रिपोर्ट संख्या 423, रिजेक्ट सेम्पलों की संख्या 174, वर्तमान में कोरोना पॉजिटिव एक्टिव केसों की संख्या 182 है।


जिले में गंदगी भारत छोड़ो अभियान के कार्यो की समीक्षा

vidisha news
कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने जिले में गंदगी भारत छोड़ो अभियान के तहत संपादित होने वाले कार्यो में तेजी लाने के निर्देश दिए है। कलेक्टर डॉ जैन ने बुधवार को विदिशा नगरपालिका के अधिकारियों व प्रभारियों से संवाद कर सफाई अभियान में तेजी कैसे लाएं। कार्यो के क्रियान्वयन में क्या व्यक्तिगत, शासकीय स्तर पर दिक्कते आ रही है के निदान हेतु क्या पहल की जाए पर विचार विमर्श किया है। कलेक्टर डॉ जैन ने निकाय के अधिकारियों व प्रभारियों से संवाद के दौरान कहा कि सफाई व्यवस्था से क्या वे स्वंय संतुष्ट है। हम विदिशा शहर को सफाई के मामले में और कैसे बेहतर सुधार ला सकते है इत्यादि पर एक सप्ताह के भीतर समस्या और उसका निदान तथा एक्शन प्लान तैयार कर अवगत कराने के निर्देश कलेक्टर ने निकाय के अधिकारियों व प्रभारियों को दिए है। कलेक्टर डॉ जैन ने नगरपालिका अमले की समस्याओं को भी सुना इस दौरान सफाई दरोगा एवं अन्य के द्वारा अवगत कराया गया कि कुछ वार्डो की भौगोलिक स्थिति बड़ी होने के कारण वहां सफाई कर्मचारियो की संख्या में वृद्वि की जाए। जो कचरा वाहन है उनके फेरे बढ़ाने के प्रबंध किए जाए। ड्यूटी टाइम दो शिफ्ट में है अतः दोनो शिफ्ट में कचरा वाहन की सुविधाएं सफाईकर्मियों को मिलें। घर घर से कचरा संग्रह करने वाले छोटे वाहन मैजिक को ट्रेंच ग्राउण्ड तक आने जाने में टाइम लगता है अतः शहर के समीप ही कचरा संग्रह का स्पॉट निर्धारित किया जाए जहां से बड़ी ट्रालियों में कचरा निर्धारित ट्रेंचिग ग्राउण्ड तक पहुंचाने का कार्य किया जाए। कलेक्टर डॉ जैन ने समस्याओं को खुलकर बताने की बात की। उन्होंने कहा कि शहर के नजदीक कचरा संग्रह के लिए एसडीएम द्वारा जगह चिन्हित की गई है जिसका उपयोग निकाय मापदण्डों के अनुरूप करना सुनिश्चित करें। उन्होंने निकाय के कचरा वाहनों में जीपीएस सिस्टम संचालित करने के निर्देश दिए है। कलेक्टर डॉ जैन ने निकाय के अधिकारियों व प्रभारियों के मध्य जीवंत संवाद बनें और समस्याओं का समाधान त्वरित हो ताकि कार्य करने वालो को किसी भी प्रकार की परेशानियों का सामना ना करना पडे़ और विदिशा शहर स्वच्छता की श्रेणियों में वृद्वि कर सकें इसके लिए हर रोज निकाय के अधिकारी व प्रभारी सुबह साढे़ ग्यारह बजे हर रोज बैठक करेंगे। जिसमें समन्वयक के माध्यम से समस्याओं का निदान करेंगे। ऐसी समस्या जिनका हल आपसी समन्वय से संभव नही है की जानकारी एसडीएम के संज्ञान में लाएंगे ताकि प्रशासन के माध्यम से त्वरित हल की जा सकें।  कलेक्टर डॉ जैन को अवगत कराया गया कि विदिशा नगरपालिका में कुल 524 कर्मचारी कार्यरत है जिसमें 372 सफाई कर्मचारी है। अस्सी वाहनों का उपयोग कचरो के निष्पादन में किया जा रहा है। सफाईकर्मी दो शिफ्ट क्रमशः प्रातः छह बजे से दस बजे तक और द्वितीय शिफ्ट दोपहर दो से पांच बजे तक सफाई कार्यो का सम्पादन करते है। 

वार्डो का भ्रमण 
कलेक्टर डॉ जैन ने निकाय के अधिकारियों कर्मचारियों से कहा कि मैं स्वंय वार्डो का भ्रमण करूंगा। शुरूआत में अमले के द्वारा दिए गए सुझाव पर कलेक्टर ने सहमति व्यक्त करते हुए वार्ड एक का भ्रमण 27 अगस्त गुरूवार की प्रातः भ्रमण करने पर सहमति दी है। नवीन कलेक्ट्रेट के सभाकक्ष में सम्पन्न हुई इस बैठक में अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह, एसडीएम श्री गोपाल सिंह वर्मा, लोक निर्माण विभाग के कार्यपालन यंत्री श्री योगेन्द्र सिंह के अलावा विदिशा नगरपालिका के इंजीनियर सहित अन्य अधिकारी एवं तकनीकी व सफाई प्रभारी अधिकारी मौजूद थे।

नोडल अधिकारियों के कार्यो का जायजा

vidish news
कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने नोडल अधिकारियों के कार्यो की समीक्षा बुधवार को नवीन कलेक्ट्रेट के बेतवा सभागार कक्ष में की। इस बैठक में जिला पंचायत सीईओ श्री मयंक अग्रवाल, अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह के अलावा समस्त नोडल अधिकारी तथा कोविड केयर सेन्टरों के नोडल मौजूद थे। कलेक्टर डॉ जैन ने कंटेनमेंट जोनो में अभी भी आवागमन कर रहे है कि सूचनाएं प्राप्त हो रही है। अतः इस और सुरक्षात्मक दृष्टि से सावधानी बरती जाए ओर उल्लघंनकर्ताओं को संस्थागत कोरोनटाइन में रखने के प्रबंध सुनिश्चित किए जाए। उन्होंने कंटेनमेंट जोनो में विभिन्न संसाधनो के माध्यम से इस बात का संदेश दिया जाए कि जोन के अंतर्गत आने  वाले घरो में रहवासी अपने ही घर में रहना है बाहर नही निकलना है। कलेक्टर डॉ जैन ने सेम्पलों की संख्या बढ़ाने के पुनः मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देश दिए है। उन्होंने कहा कि प्रत्येक विकासखण्ड के लिए हर रोज के लक्ष्य निर्धारित किए जाए और उनके द्वारा उन लक्ष्यों की पूर्ति की गई है कि नही समीक्षा एसडीएम स्तर पर हर रोज हो। कलेक्टर डॉ जैन ने कोविड केयर सेन्टर विदिशा बासौदा, एवं सिरोंज में भर्ती मरीजो के संबंध में जानकारियां संबंधित नोडल अधिकारियों से जानी है। 

लिपिक प्रशासन की महत्वपूर्ण कड़ी-अपर कलेक्टर 

कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा दिए गए निर्देशो के अनुपालन मेंं आज अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह ने कम्पोजिट नवीन कलेक्ट्रेट भवन परिसर में संचालित होने वाले विभिन्न विभागों के शाखावाहको की संयुक्त बैठक आहूत कर उन्हें नस्तियां (फाइल) त्वरित वरिष्ठों को प्रेषित कर निर्णात्मक कार्य प्रणाली को अपनाएं। अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह ने लिपिको को सम्बोधित करते हुए कहा कि आप सभी प्रशासन की महत्वपूर्ण कडी है जो भी आवेदन आते है अधिकारी के द्वारा मार्क करने के उपरांत उस पर कार्यवाही सुनिश्चित कराने का प्रमुख दायित्व आप सभी कहा है। समय पर नोटशीट प्रस्तुत कर निराकरण के प्रतिशत में वृद्वि कर सकते है। अपर कलेक्टर ने कहा कि समयावधि में निराकृत होने वाले आवेदनों को शाखावाहक अपने पास लंबित ना रखें। इसी प्रकार कोरोना वायरस कोविड 19 के संक्रमण के निदान हेतु क्रियान्वित होने वाले कार्यो में विलम्बता करने पर हम मानव जीवन को कष्टों में डालने का काम करेंगे। अतः ऐसे महत्वपूर्ण मुद्दो पर अधिकारी के संज्ञान मेें लाकर अविलम्ब कार्यवाही करें।  अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह ने कहा कि प्रशासन की साख में वृद्वि करने में शाखावाहकों की भूमिका को नकारा नही जा सकता है। उन्होंने कहा कि समय पर उपस्थित होकर अपने दायित्वों का निर्वहन करें। कलेक्ट्रेट में आने वाले आवेदकों द्वारा पहले निचले स्तर पर आवेदन दिए जाते है वहां सुनवाई नही होने के कारण उनकी आस कलेक्टर के प्रति बढ़ जाती है और ऐसे समय लिपिकों व शाखावाहकों द्वारा ढीला रवैया अपनाया जाने पर आवेदन के निराकरण में विलम्बता तो होती है साथ ही संबंधित शाखावाहक की कार्यप्रणाली पर प्रश्न चिन्ह अंकित होते है। अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह ने शाखावाहको की समस्याओं से भी अवगत हुए। उन्होंने निराकरण कराए जाने का आश्वासन दिया। नवीन कलेक्ट्रेट के बेतवा सभागार कक्ष में सम्पन्न हुई उक्त बैठक में संयुक्त कलेक्टर श्रीमती अंजलि शाह, डिप्टी कलेक्टर श्री शैलेन्द्र सिंह, जिला नाजिर एवं रीडर टू कलेक्टर श्री उदय हजारी, अधीक्षक के अलावा समस्त शाखावाहक लिपिक मौजूद थे।

13 हजार 981 सेम्पल निगेटिव प्राप्त हुए

विदिशा जिले में कोरोना वायरस कोविड 19 के सेम्पल अधिक से अधिक लिए जाएं के लिए जिला एवं खण्ड मुख्यालयों पर गठित एमएमयू टीम के द्वारा सेम्पल लिए जा रहे है।  मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ केएस अहिरवार ने बताया कि मंगलवार 25 अगस्त तक जिले में कुल 15 हजार 846 सेम्पल संकलित किए गए है। जिसमें से 14 हजार 906 सेम्पलों का परीक्षण हुआ है। कुल में से 765 पॉजिटिव प्राप्त हुए है। जबकि निगेटिव सेम्पलों की संख्या 13 हजार 981 है। 160 सेम्पल रिजेक्ट हुए है।

14 कंटेनमेंट जोन मुक्त हुए

विदिशा अनुविभाग क्षेत्र के अंतर्गत आज 14 कंटेनमेंट जोन मुक्त करने का आदेश अनुविभागीय दण्डाधिकारी श्री गोपाल सिंह वर्मा के द्वारा जारी कर दिया गया है। उक्त जोनो में पुनः सर्वे कराया गया जिसमें कोरोना बीमारी से संबंधित वर्तमान में कोई भी व्यक्ति नही पाया गया। अतः जारी गाइड लाइन के अनुपालन में समयावधि समाप्ति के उपरांत कंटेनमेंट जोन मुक्त हुए है।  विदिशा अनुविभाग क्षेत्र के अंतर्गत आज मुक्त हुए 14 कंटेनमेट जोनो में मुखर्जीनगर में शर्मा किराना स्टोर के पीछे वाली गली, किरी मोहल्ला में जैन मंदिर के पास वाली गली एवं मुरैना गजक वाली गली, निकासा में चूना वाली गली, किले अन्दर वीणा वादिनी स्कूल वाली गली, हरिपुरा में भवानी सिंह का बगीचा के पास, पीतल मील चौराहा, न्यू बस स्टेण्ड धोबी मोहल्ला वाली गली, नीमताल वाल्मिकी मोहल्ला बालक दास की तलैया, डंडापुरा मैनरोड, गांधीनगर कॉलोनी रायल सिटी के पास वाली गली, स्वर्णकार कालोनी में शक्ति विला वाली गली, बक्सरिया में झील कुंआ वाली गली तथा तलैया मोहल्ला में गली नम्बर तीन शामिल है।

केलीग्राफी एंड ग्राफिक डिजाइन सेंटर में प्रवेश की अंतिम तिथि आज

मध्यप्रदेश उर्दू अकादमी द्वारा संचालित केलीग्राफी एंड ग्राफिक डिजाइन सेंटर में प्रवेश की प्रक्रिया प्रारंभ हो चुकी है। निःशुल्क दी जाने वाली इस दो वर्षीय ट्रेनिंग में प्रवेश सीमित संख्या में किये जायेंगे। प्रथम-आवे प्रथम-पावे के आधार पर प्रवेश दिया जाएगा। प्रवेश की अंतिम तिथि 27 अगस्त रखी गई है। आवेदन उर्दू अकादमी कार्यालय मुल्ला रमूजी संस्कृति भवन से प्राप्त किया जा सकेगा। सचिव उर्दू अकादमी ने बताया कि 15 से 35 वर्ष आयु वर्ग के लोग ही आवेदन कर सकेंगे।

जिला स्तरीय बाढ़ आपदा कंट्रोल रूम स्थापित

विदिशा जिला मुख्यालय पर बाढ़ नियंत्रण कक्ष संचालित हो रहा है जिसका दूरभाष क्रमांक 07592-237880 है। कंट्रोल रूम के सुव्यवस्थित संचालन हेतु अधिकारी, कर्मचारियों की ड्यूटी समय अंतराल पर लगाई गई है। जिला मुख्यालय की तर्ज पर सभी तहसीलों, निकाय मुख्यालयों पर भी कंट्रोल रूम गठित किए गए है।  

नदियों, तालाबों, अन्य स्त्रोतों पर आमजन का एकत्रित होना प्रतिबंधित

गृह विभाग द्वारा जारी दिशा निर्देशानुसार कोविड-19 महामारी के रोकथाम की दृष्टि से धार्मिक कार्यध्त्यौहार का आयोजन सार्वजनिक स्थानों पर निषेधित किया गया है तथा सार्वजनिक स्थानों पर किसी प्रकार की मूर्ति, झांकी एवं ताजिये आदि स्थापित नही किये जाने के निर्देश दिए गए हैं। कोविड महामारी के दृष्टिगत मूर्ति, ताजियों का विसर्जन विकेन्द्रीकृत रूप से कराये जाने की व्यवस्था की गई हैं। 

तकनीकी पाठ्यक्रमों के अंतिम वर्ष की परीक्षाएँ ऑनलाइन प्रारंभ

तकनीकी पाठ्यक्रमों के अंतिम वर्ष की परीक्षाएँ ऑनलाइन  24 अगस्त से आयोजित हो गई है।  वैश्विक महामारी कोविड-19 के कारण उत्पन्न परिस्थितयों और छात्रों के सर्वव्यापी हितों को देखते हुए यह निर्णय लिया गया है। इसके अतिरिक्त अन्य सेमेस्टर 2 से 7 तक के विद्यार्थियों को अंतरिक मूल्यांकन एवं गत वर्ष में उनके प्रदर्शन के आधार पर आगामी कक्षा में प्रोन्नत करने का भी निर्णय लिया गया है। जो छात्र ऑनलाइन परीक्षा में सम्मिलित नहीं हो सकेंगे उनके लिए बाद में विशेष परीक्षा 15 से 23 सितम्बर के मध्य आयोजित की जायेगी। प्रमुख सचिव तकनीकी शिक्षा एवं कौशल विकास ने बताया कि बीए की सैद्धांतिक परीक्षाएँ 26, 28 एवं 31 अगस्त को आयोजित होगी। बी.फार्मेसी की सैद्धांतिक परीक्षाएँ 26, 28 एवं 31 अगस्त एवं 2 सितम्बर को होंगी। इन विषयों की प्रायोगिक परीक्षाएँ 4 सितम्बर से 9 सितम्बर के मध्य होंगी। डिप्लोमा कोर्सेस की सैद्धांतिक परीक्षाएँ 27 अगस्त से 7 सितम्बर और प्रायोगिक परीक्षाएँ 8 सितम्बर से 14 सितम्बर तक होंगी। शैक्षणिक सत्र 2020-21 के प्रथम सेमेस्टर के छात्रों की कक्षाएँ 15 अक्टूबर 2020 से प्रारम्भ होंगी।

बच्चों में रीडिंग हैबिट विकसित की जाएगी हमारा घर-हमारा विद्यालय के अंतर्गत शुरू हुआ श्श्ख़ूब पढ़ो अभियानश्श्

जिले की समस्त शासकीय प्राथमिक एवं माध्यमिक शालाओं के बच्चों में रीडिंग हैबिट विकसित करने के उद्देश्य से ष्हमारा घर-हमारा विद्यालयश्श् अंतर्गत ष्ख़ूब पढ़ोश्श् अभियान प्रारंभ किया गया है। भाषा की समझ समस्त विषयों को समझने का प्रमुख आधार है। अभियान का प्रथम चरण 24 अगस्त  से 24 सितंबर 2020 तक संचालित किया जा रहा है। कोविड-19 की परिस्थिति को ध्यान में रखते हुए घर में ही उपलब्ध सीखने के संसाधनों जैसे पाठ्य-पुस्तक, अख़बार, गीत-कहानी की पुस्तकें, उपन्यास आदि का उपयोग करते हुए भाषा-कौशल को विकसित करने व उसे नियमित रखने के लिये प्रत्येक बच्चे के अभिभावक, बड़े भाई-बहन द्वारा पढ़ने की गतिविधियाँ संपन्न कराई जा सकती हैं। इस संबंध में आयुक्त, राज्य शिक्षा केंद्र, श्री लोकेश कुमार जाटव ने सभी जिला अधिकारियों को निर्देशित किया है कि ष्ख़ूब पढ़ो अभियानश्श् की प्रमुख गतिविधियों सुनना-बोलना, लिखना-पढ़ना और एक मिनट के खेल को प्राथमिकता के आधार पर करवायें।

सुनना-बोलना
बच्चे अपने घर में बड़ों से कहानी सुनें और उसे दोहराने का अभ्यास करें ताकि बच्चों की याददाश्त तेज़ हो सके। कहानियों के जरिये बच्चे नवीन शब्दों से परिचित होते हैं तथा उनका शब्दों का उच्चारण बेहतर होता है।

पढ़ना
विद्यार्थी अपनी पाठ्य-पुस्तक से प्रतिदिन कोई एक कहानी या कविता पढ़ें। पढ़ते समय घर के सदस्य उपस्थित रहें। उच्चारण की शुद्धता पर ध्यान दें। नवीन शब्दों के अर्थ खोजें, कहानी आगे बढ़ाएँ, कहानी पर चर्चा या प्रश्न करें, कहानी के पात्र के रूप में स्वयं को रखें और कहानी पर अभिनय करें।

लिखना
कहानी में आए नवीन शब्दों के अर्थ लिखें। बच्चे घर पर बड़े भाई-बहन या आस-पड़ोस के लोगों के सहयोग से प्रतिदिन एक पेज का हिंदी एवं अंग्रेजी में श्रुतलेख (इमला) एवं सुलेख करें। इसके साथ-साथ एक पेज हिंदी एवं एक पेज अंग्रेजी का प्रतिदिन देखकर लिखने का भी अभ्यास करें।

एक मिनट का खेल
बच्चे आपस में मिलकर एक मिनट के खेल में शब्दों की समझ बढ़ा सकते हैं। सभी बच्चे एक मिनट में अधिकतम कितने शब्द पढ़कर समझ सकते हैं, इसकी जाँच करें। घड़ी या मोबाइल पर समय देखकर यह खेल बारी-बारी से सभी बच्चे खेल सकते हैं। बच्चे गणित सीखने के लिये संबंधित खेल भी खेल सकते हैं। जैसे आकृति पहचानने का खेल बच्चे अपने घर में पाई जाने वाली वस्तुओं जैसे बर्तन, फल, सब्ज़ी इत्यादि लेकर उनकी आकृति पहचानकर परिवार के अन्य सदस्यों से इसकी जाँच करवा सकते हैं।  आयुक्त, राज्य शिक्षा केंद्र, श्री लोकेश कुमार जाटव ने कहा है कि इस प्रकार की गतिविधियों से बच्चे के उच्चारण में सुधार होगा, उसका शब्दकोश बढ़ेगा और उसके आत्मविश्वास में भी वृद्धि होगी। 

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना का खाद्यान्न आवंटन जारी

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के अंतर्गत जुलाई, तथा अगस्त का नियमित खाद्यान्न का कलेक्टर द्वारा पुर्नवंटन जारी किया गया है कि जानकारी देते हुए जिला आपूर्ति अधिकारी श्रीमती रश्मि साहू ने बताया कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के अंतर्गत माह जुलाई एवं अगस्त के लिए प्रति सदस्य चार किलो ग्राम गेंहू, एक किलो चावल एवं एक किलो साबुत चना, प्रति परिवार के मान से जारी किया गया है। इसी प्रकार अगस्त माह के नियमित आवंटन का विवरण ही शासकीय उचित मूल्य दुकानो से किया जा रहा है। इस प्रकार माह अगस्त में तीन आवंटन माह अगस्त का नियमित आवंटन, प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना अंतर्गत माह जुलाई एवं अगस्त का आवंटन वितरण किया जा रहा है। अतः सार्वजनिक वितरण प्रणाली के अंतर्गत समस्त पात्र हितग्राही माह अगस्त में उपरोक्त तीनो आवंटन का खाद्यान्न अनिवार्यतः संबंधित उचित मूल्य दुकान से प्राप्त कर लें। 

वर्षाकाल के दौरान फैलने वाली बीमारियों की रोकथाम हेतु निर्देश

कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने वर्षाकाल के दौरान फैलने वाली बीमारियों की रोकथाम के लिए आवश्यक तैयारियां सुनिश्चित करने के निर्देश दिए है। कलेक्टर ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देशित किया कि वर्तमान में वर्षा का दौर जारी है। ऐसे समय में आमजन में सामान्यतः मलेरिया, डेंगु, डायरिया, हैजा, मौसमी बुखार आदि के फैलने की आषंका रहती है। इन बीमारियों को रोकने के लिए स्वास्थ्य विभाग की टीम पूरी तैयारी के साथ सतर्क रहे। उन्होंने जिले के सभी नगर निकायों के अधिकारियों को भी निर्देश दिए हैं कि मैदानी अमले के माध्यम से पर्याप्त सुरक्षात्मक कार्यवाही यथा आवश्यक टीकाकरण, कीटाणु नाशक दवाईयों का छिड़काव आदि किया जाये। साथ ही मैदानी अमले को निर्देशित करें कि वे अपने क्षेत्रान्तर्गत निरंतर भ्रमण करें और स्थिति पर सतत् निगरानी रखें तथा आवश्यक दवाईयों का वितरण, ब्लिचिंग पावडर का छिड़काव करें।

कोई टिप्पणी नहीं: