मधुबनी : अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति का रोषपूर्ण प्रतिरोध - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 14 सितंबर 2020

मधुबनी : अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति का रोषपूर्ण प्रतिरोध



मधुबनी 14 जुन , भारत सरकार द्वारा किसान विरोधी पारित तीन अध्यादेश जिसमे कृषि उपज, वाणिज्य एव व्यापार संवर्धन व सुविधा अध्यादेश  2020 मुल्य आश्वस्ती वंदोवस्ती एवं सुविधा किसान सेवा अध्यादेश तथा आवश्यक वस्तु कानून  1955 मे संशोधन अध्यादेश एवं विजली बिल अध्यादेश  2020, डीजल के मुल्य मे वृद्धि, पर्यावरण अनापत्ति नियमो मे परिवर्तन मुक्त व्यापार संघियो जिसमे आरसीइपी सहित किसानो की कर्जमुक्ति ,10000 मासिक पेंशन सीटू के आधार पर लागत का डेढ गुणा दाम तथा प्रीमियम मुक्त खेसरा के आधार पर सभी फसलो के लिए पुनः बीमा योजना लागू करने, बाढ सुखाड एवं बिजली संकट के स्थायी समाधान हेतु हाईडैम निर्माण सहित अन्य मांगो को लेकर  14सित 2020 को संसद सत्र के प्रथम दिन संपूर्ण देश मे किसानो का राष्ट्रव्यापी प्रतिरोध का आयोजन किया गया । मधुबनी रेलवे स्टेशन पर जयनगर, राजेंद्रनगर इंटरसिटी एक्सप्रेस को रोका गया एवं जिला समाहरणालय के मुख्य द्वार को बंद कर विरोध जताया गया ।कार्यक्रम का नेतृत्व किसान नेता कृपानन्द आजाद, मनोज मिश्र, मिथिलेश झा,सूर्य नारायण महतो, लक्ष्मण चौधरी, अशेश्वर यादव, राकेश कुमार पांडेय, सत्यनारायण राय, रामनारायण यादव, मोतीलाल शर्मा, आनंद ठाकुर, विंदेश्वर यादव, मो0 फारूक, बद्रीनारायण झा ने किया ।

कोई टिप्पणी नहीं: