खेल कोच टांग रहे थे बैनर, सोशल मीडिया पर कड़ी आलोचना - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 14 सितंबर 2020

खेल कोच टांग रहे थे बैनर, सोशल मीडिया पर कड़ी आलोचना

coach-hanging-bainner-post-viral
जम्मू, 13 सितंबर, केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह और केंद्रीय खेल मंत्री किरेन रिजिजू शनिवार को कठुआ जिले के हीरानगर में अरुण जेटली मेमोरियल स्पोटर्स काम्पलेक्स की वर्चुअल समारोह के जरिए आधारशिला रख रहे थे और इस इवेंट के लिए जम्मू-कश्मीर खेल परिषद के कोचों के जम्मू शहर के विभिन्न हिस्सों में बैनर लगाने की तसवीरें वायरल होने के बाद इसकी सोशल मीडिया पर कड़ी आलोचना हो रही है। अरुण जेटली मेमोरियल स्पोटर्स काम्पलेक्स के वर्चुअल समारोह के लिए विभिन्न कोच, वरिष्ठ अधिकारी और अन्य स्टाफ जम्मू शहर के विभिन्न हिस्सों में में बैनर लगाते नजर आए थे जिसके बाद सोशल मीडिया पर यह फोटो वायरल होने लगी और इसकी कड़ी आलोचना की गयी। 29 अगस्त को कोचों के लिए प्रतिष्ठित द्रोणाचार्य अवॉर्ड से सम्मानित किए गए भारतीय वुशु टीम के कोच कुलदीप हांडू ने कहा, “यह देखकर काफी दुख हो रहा है कि कोच बैनर लगा रहे थे। कोच गुरु होते हैं और खेल की दुनिया में उनका काफी सम्मान होता है। किसी महान इंसान ने कहा है कि कोच, माता-पिता और खिलाड़ी दुनिया बदल सकते हैं। कोचों का सम्मान होना चाहिए।” कई लोगों ने इस हरकत पर खेल विभाग को आड़े हाथों लेते हुए कहा है कि कोच मेंटर, गुरु और शिक्षक होते हैं तथा उनके साथ इस तरह का व्यवहार करना अशोभनीय है और इसे स्वीकार नहीं किया जा सकता है।

कोई टिप्पणी नहीं: