बिहार : पूर्णिया के बनमनखी में भूमि से बेदखल करने की मंशा से सामंती-अपराधियों ने की हत्या. - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 5 सितंबर 2020

बिहार : पूर्णिया के बनमनखी में भूमि से बेदखल करने की मंशा से सामंती-अपराधियों ने की हत्या.

  • भोजपुर से लेकर पूर्णिया तक सामंती-अपराधियों का तांडव, नीतीश जी वर्चुअल रैली में व्यस्त: माले
  • सहार के एकवारी में नथुनी रवानी की हत्या के खिलाफ माले कार्यकर्ताओं ने आरा-सहार रोड जाम किया.
cpi-ml-protest-against-murder
पटना 05 सितम्बर,  भाकपा-माले राज्य सचिव कुणाल ने भोजपुर जिले के एकवारी में 70 वर्षीय नथुनी रवानी और पूर्णिया के बनमनखी के जानकीनगर में अनमोल रीषिदेव व सुबोध रीषिदेव की बर्बर हत्या पर कड़ा एतराज जताया है. ये हत्याएं बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा की जाने वाली वर्चुअल रैली के दो दिन पहले घटित हुई हंै. 7 सितंबर को अपनी वर्चुअल रैली में सरकार ने पूरे प्रशासन को झोंक दिया है और इधर सामंती-अपराधी दलित-गरीबों पर कहर बनकर टूट पड़े हैं. उन्होंने कहा कि चुनाव में भाजपा-जदयू सरकार को बिहार की जनता निश्चित तौर पर सबक सिखाएगी. सहार के एकवारी में घटना की जानकारी मिलते ही तरारी विधायक सुदामा प्रसाद, मनोज मंजिल, रघुवर पासवान सहित सभी वरिष्ठ नेता घटनास्थल पर पहुंच गए. माले विधायक सुदामा प्रसाद ने बताया कि रात दो बजे सोई अवस्था में नथुनी रवानी की हत्या कर दी गई. हमले में उनकी बहू को भी गोली लगी है, जो गोली चलने की आवाज सुनकर बाहर आई थीं और अभी आरा सदर अस्पताल में भर्ती हैं.



माले नेताओं ने बताया कि घटना में शामिल चार लोगों में 2 लोगों की गिरफ्तारी हुई है. माले नेताओं ने सभी घायलों को मुआवजा और मुख्यमंत्री द्वारा हाल ही में दिए गए आदेश, जिसमें उन्होंने कहा था कि किसी दलित-गरीब परिवार में हत्या होने पर एक व्यक्ति को सरकारी नौकरी दी जाएगी, के तहत नौकरी की मांग करते हुए घंटों मुख्य पथ को जाम रखा. जाम स्थल पर एएसपी के आने और यथोचित मुआवजा देने के बाद जाम समाप्त किया गया. घटना में मारे गए नथुनी रवानी के पुत्र संतोष रवानी ने घटना का कारण बताते हुए कहा कि संतोष रवानी सटरिंग का काम करते हैं. जबकि पूरी पंूजी ठेकेदार सुदर्शन सिंह की लगी हुई है. सुदर्शन सिंह ने संतोष रवानी को एक मोटरसाईकिल भी खरीद कर दी है. लेकिन 4 सितंबर को किसी विवाद को लेकर सुदर्शन सिंह का भतीजा मोटरसाइकिल छीनने आ पहुंचा, जिसको लेकर झंझट हुआ. वहां से संतोष रवानी किसी प्रकार जान बचाकर भागे. संभवतः हत्यारे संतोष रवानी की ही हत्या करने पहुंचे थे लेकिन उनके पिता को गोली मारकर चलते बने. वहीं, बनमनखी में सामंती-अपराधियों ने भूमि से रीषिदेव लोगों को बेदखल करने की मंशा से रीषिदेव टोले पर हमला किया और दो लोगों की हत्या कर दी. भाकपा-माले के स्थानीय नेता नित्यानंद रीषिदेव व चनेश्वरी रीषिदेव घटना स्थल पर पहुंचे हैं और मामले की पूरी जानकारी ले रहे हैं.

कोई टिप्पणी नहीं: