मुजफ्फरपुर :पुलिस सभी बिंदुओं पर अनुसंधान कर रही है : जयंतकांत - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 9 सितंबर 2020

मुजफ्फरपुर :पुलिस सभी बिंदुओं पर अनुसंधान कर रही है : जयंतकांत

police-investigation-muzaffarpur
मुजफ्फरपुर। पांच दिन के बाद भी 15 साल की अपहृत नाबालिग बच्ची को पुलिस बरामद करने में असफल है।हालांकि तेजतर्रार एसएसपी जयंतकांत ने कहा कि पुलिस सभी बिंदुओं पर अनुसंधान कर रही है। शीघ्र ही लड़की को बरामद कर लिया जाएगा। 3 सितंबर की देर रात दीघरा थाना इलाके में डकैतों ने एक कारोबारी के घर में डाका डाला। इस दौरान घर से रुपये-जेवरात तो लूटे ही गए, जाते-जाते डकैतों ने कारोबारी की 15 साल की नाबालिग बच्ची को भी हाथ-पैर बांधकर अगवा कर लिया। दीघरा में कारोबारी शंभू पांडेय की बेटी के अपहरण कांड ने 8 साल पुराने नवरुणा कांड की भयानक यादें ताजा कर दी हैं। 2012 में सितंबर के महीने में ही नवरुणा भी गायब हुई थी और फिर उसका कंकाल ही मिला। अंतर सिर्फ इतना है कि नवरुणा का अपहरण तो तब किया गया जब घर में सब लोग सोए हुए थे। लेकिन दीघरा के कारोबारी की बेटी का अपहरण तो परिवार की आंखों के सामने ही कर लिया गया है। 



कारोबारी और उनका परिवार किसी से इस बारे में कुछ बात नहीं कर रहा है। वारदात को अंजाम देने वाले डकैत आखिर कौन थे, क्या उनकी कारोबारी से पहले से कोई दुश्मनी थी? आखिर डकैती के बाद कारोबारी की बेटी को अगवा क्यों किया गया? ऐसे कई सवाल हैं जो कांड के 5 दिन बाद भी नवरूणा केस की गुत्थी की तरह ही उलझे हैं।  सदर थाने के दीघरा रामपुर साह गांव में गुरुवार की देर रात व्यवसायी के घर डकैती और बेटी के अपहरण के 40 घंटे बाद एफएसएल की टीम जांच करने पहुंची। शनिवार की दोपहर बाद एफएसएल के अधिकारी पीड़ित के घर पहुंचे। टीम के साथ सदर और काजीमोहम्मदपुर थानेदार भी थे। अधिकारियों ने पहले बारीकी से एक-एक कमरे और बिखरे हुए सामान को देखा। इसके बाद सभी कमरों में जाकर जांच की। दरवाजा, गोदरेज और बक्शा से कुछ फिंगर प्रिंट के निशान मिले। इसे जांच के लिए एकत्रित कर लिया गया। एक घंटे की छानबीन के बाद नमूना लेकर टीम वहां से लौट गई। पुलिस की मानें तो फिंगर प्रिंट से यह साफ हो जाएगा कि घटना के दौरान कितने लोग मौजूद थे। इससे पहले सुबह में सिटी एसपी नीरज कुमार सिंह भी व्यवसायी के घर पहुंचे। पीड़ित और आसपास के लोगों से घटना के संबंध में पूछताछ की। घर के भीतर जाकर वारदात वाले कमरे में गहन जांच की। बारी-बारी से व्यवसायी की पत्नी और बड़ी बेटी से भी पूछताछ की। इस दौरान बाहरी लोगों के भीतर जाने पर रोक लगा दी गई। शाम में एसएसपी जयंतकांत भी मौके पर पहुंचे। कई बिंदुओं पर घर के सदस्यों से जानकारी ली। उन्होंने भी घटनास्थल का निरीक्षण किया। बिखरे हुए सामान और कमरे में जाकर जांच की।



छानबीन के दौरान सिटी एसपी घर की छत पर पर गए। उक्त सीढ़ी को देखा, जिससे डकैत भीतर घुसे थे। फिर उस गेट को देखा, जिसे खोलकर अन्य डकैतों को प्रवेश कराया गया था। फिर पीछे जाकर छानबीन की। वे डकैतों के पैर के निशान या अन्य सुराग तलाश रहे थे। इस दौरान वे सीन को हाथ के इशारों से रिक्रिएट करते दिखे। हालांकि, घर के पीछे किसी पैर के निशान नहीं मिले हैं। कोई ऐसा सुराग भी नहीं हाथ लगा, जिससे पुलिस इस गुत्थी को सुलझा सके। संदिग्ध मोबाइल नंबरों का पता लगाने के लिए घटनास्थल का टावर डंप कराया गया। अब उस लोकेशन में घटना की रात जितने भी मोबाइल सक्रिय थे, उन सबके धारकों का सत्यापन किया जाएगा। जो भी नंबर संदिग्ध पाए जाएंगे, उसका पता लगाने में टीम जुटेगी। इसके लिए सर्विलांस सेल की अलग टीम गठित की गई है, जो सिर्फ वैज्ञानिक तरीके से अनुसंधान में जुटी है। जिस मोबाइल को डकैत ले गए थे, वह लगातार बंद आ रहा है। इससे पुलिस की परेशानी बढ़ी है। अंतिम लोकेशन शुक्रवार को सदर क्षेत्र में मिला था। पुलिस ने छापेमारी की, लेकिन कोई सुराग नहीं मिला। इसके बाद से लगातार नंबर बंद मिल रहा है। सूत्रों की मानें तो मोबाइल और लड़की जिला से बाहर निकल चुके हैं। हालांकि, इसकी पुष्टि नहीं है। पुलिस महकमे में इस बात की दिनभर चर्चा होती रही। पीड़ित व्यवसायी से मिलने पूरे दिन विभिन्न राजनितिक दल के कार्यकर्ताओं का आनाजाना लगा रहा। बढ़ते अपराध को लेकर पुलिस-प्रशासन पर जमकर निशाना साधा। कार्यकर्ताओं ने कहा कि अविलंब पुलिस लड़की को बरामद करे अन्यथा व्यापक पैमाने पर आंदोलन किया जाएगा। पुलिस सभी बिंदुओं पर अनुसंधान कर रही है। शीघ्र ही लड़की को बरामद कर लिया जाएगा।

कोई टिप्पणी नहीं: