सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 02 सितम्बर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 2 सितंबर 2020

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 02 सितम्बर

किसानों ने डिप्टी कलेक्टर को दिया ज्ञापन  मांगा खराब हुए सोयाबीन का मुआवजा

sehore news
सीहोर। ग्राम लसूडिया धाकड़ और विशन खेड़ा के किसानों ने कलेक्ट्रेट पहुंचकर सरपंच विक्रम सिंह मेवाडा के नेतृत्व में ज्ञापन दिया। ग्राम वासियों ने कहा की पूर्ण तरीके से सोयाबीन की फसल नष्ट हो गई है। खराब हुई फसल को पशु भी नहीं खाते है। वापस खेतों से खराब हुई फसल को कटवाना होगा जिस में काफी पैसा खर्च होगा। किसानों ने जल्दी सर्वे कराने और बीमा कराने के सााथ मुआवजा राशि देने की मांग की है। ग्राम के विक्रम सिंह,  सरदार सिंह, सरदार सिंह, जीतेंद्र सिंह, मुकेश सिंह, कुमार प्रजापति, संदीप, नजीर भाई, जय सिंह मेवाडा, कमल प्रजापत, केसर सिंह प्रजापत, बूंदा लाल आदि ने प्रशासन से दुख की घड़ी में मदद करने की अपील की है।

किसानों ने डिप्टी कलेक्टर को दिया ज्ञापन  मांगा खराब हुए सोयाबीन का मुआवजा

sehore news
सीहोर। ग्राम लसूडिया धाकड़ और विशन खेड़ा के किसानों ने कलेक्ट्रेट पहुंचकर सरपंच विक्रम सिंह मेवाडा के नेतृत्व में ज्ञापन दिया। ग्राम वासियों ने कहा की पूर्ण तरीके से सोयाबीन की फसल नष्ट हो गई है। खराब हुई फसल को पशु भी नहीं खाते है। वापस खेतों से खराब हुई फसल को कटवाना होगा जिस में काफी पैसा खर्च होगा। किसानों ने जल्दी सर्वे कराने और बीमा कराने के सााथ मुआवजा राशि देने की मांग की है। ग्राम के विक्रम सिंह,  सरदार सिंह, सरदार सिंह, जीतेंद्र सिंह, मुकेश सिंह, कुमार प्रजापति, संदीप, नजीर भाई, जय सिंह मेवाडा, कमल प्रजापत, केसर सिंह प्रजापत, बूंदा लाल आदि ने प्रशासन से दुख की घड़ी में मदद करने की अपील की है।



बेरोजगार हुए खटीक समाज के सैकड़ों लोग नगर पालिका ने लगाई सुअर पालन पर रोक
प्रशासन से मांगा रोजगार के लिए दस लाख रूपये का लोन
sehore news
सीहोर। खटीक समाज के नागरिकों का जीवन यापन मुश्किल हो गया है।  नगर पालिका ने शहर में सुअर पालन पर प्रतिबंध लगा दिया है। जिस के चलतेे वर्षो से सुअर पालन कर रोजी रोटी कमा रहे खटीक समाज के  नागरिक बेरोजगार हो गए है। खटीक सोनकर समाज के नागरिकों  ने  मंगलवार को सेवादल कांग्रेस के जिलाध्यक्ष नरेंद्र खंगराले के नेतृत्व में कलेक्ट्रेट पहुंचकर डिप्टी कलेक्टर प्रगति वर्मा को ज्ञापन देकर जिला प्रशासन से रोजगार उपलब्ध कराने की मांग की है। खटीक समाज  के प्रत्येक  परिवार को दस  दस लाख  रूपये  का ऋण  और पांच  पांंच  एकड़  कृषि  भूमि एवं   खटीक समाजके  शिक्षिक सदस्यों को  शासकीय  नौकरी दने की मांग की गई।   सोनकर खटीक समाजसेवी दीपक सोनकर ने कहा की नगर पालिका के  कर्मचारियों के द्वारा केवल खटीक समाज के सुअर  पालक नागरिकों  के  हीं सुअरों  को  पकड़ा जा रहा है जबकी उन सुअरों  को  पकड़ कर क्या   किया जा रहा है बताया नहीं जा रहा है नगर पालिका के कुछ कर्मचारी सुअरों  का  अवैधानिक व्यावसाय भी कर रहे है लेकिन  उन पर कार्रवाहीं नहीं की जा  रहीं है। खटीक समाज सुअर पालन छोडऩे को तैयार है जिला  प्रशासन समाज  के लोगों  को  अन्य रोजगार  करने  के लिए कृ़षि  उपयोगी जमीन  और दस लाख रूपये का शासकीय ऋण  उपलब्ध  कराए औक्र समाज  के  शिक्षित नागरिकों  को  शासकीय  नौकरी उपलब्ध कराई जाए। ज्ञापन सौपने वालों में राम दुलारे सोनकर गंगाराम सोनकर, ताराचंद सोनकर, शेखर सोनकर, जानी सोनकर गोपाल खटीक, अभिषेक  सोनकर, मुकेश  खटीक,  सोनू सोनकर,  सतीष खटीक, अक्षय  सोनकर, जीतू  सोनकर, दिलीप  खटीक, ग्हरिलाल खटीक,आकाश सोनकर, शनि खटीक, धमेंद्र सोनकर, राहुल खटीक,  संदीप सोनकर, मोनू सोनकर, अशोक खटीक आदि खटीक सोनकर समाज के  नागरिक शामिल रहे।

पार्षद खंगराले की मांग पर नपाध्यक्ष अरोरा ने डॉ अम्बेडकर धर्मशाला में पावरसेवा लाईट के साथ पानी की दो टंकी की प्रदान की

sehore news
सीहोर। नगर पालिका परिषद सीहेार की क्षेत्रीय पार्षद श्री मति आरती नरेंद्र खंगराले के द्वारा नगर पालिका परिषद सीहेार की अध्यक्ष श्रीमति अमिता जसपाल अरोरा से डॉ अम्बेडकर धर्माशाला में दो छा: हजार लीटर फाईवर पानी की टंकी र्तथा से मांग के साथ नवीन पोलों पर ट्यूवलाईट लगाए जाने की मांग की गई थी मांग को गुंभरता पूर्वक लेते हुए नपाध्यक्ष श्रीमति अमिता अरोरा के द्वारा धर्मशाला के सामने बिजली के नये पोलों पर बिजली सफलाई के लिए विद्युत केबल डाली जाने के लिए शरद महोबिया सहायंक यंत्री को निर्देशित किया। जिस पर श्री महोबिया के द्वारा नये विजली पोलों पर केबल लाईन डलवाई गई। साथ हीं नगर पालिका के द्वारा छ: लीटर क्षमता की दो फाईवर की पानी की टंकी डॉ अम्बेडकर धर्मशाला में प्रदान की गई। साथ हीं धर्मशाला के सामने नवीन पोलों पर पावरसेवा लाईट लगाई गई। उक्त व्यवस्था नगर पालिका अध्यक्ष श्रीमति अमिता जसपाल सिंह अरोरा एवं क्षेत्रीय पार्षद श्रीमती आरती नरेंद्र खंगराले का नागरिकों के द्वारा आभार व्यक्त किया गया।  

लंबे समय से बीमारियों से गस्त ग्रामीण ने की आत्महत्या

अनुविभागीय अधिकारी श्री आदित्य जैन ने जानकारी देते हुए बताया कि जिले के ग्राम गुड़भेला निवासी बाबूलाल वर्मा ने अनेक बीमारियों से परेशान होकर मानसिक तनाव में आत्महत्या कर ली। ग्रामीण लंबे समय से बीमारियों से ग्रसित था। बीमारी के चलते उसने भोपाल और इंदौर में अपने ऑपरेशन भी करवाये थे, यह व्यक्ति मानसिक रूप से भी अस्वस्थ था। संभवत इन्हीं परेशानियों के चलते बाबूलाल ने आत्महत्या की है।

अतिवर्षा एवं बाढ़ से हुए नुकसान के संबंध में मुख्यमंत्री ने ली अधिकारियों की बैठक    

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने सीहोर के शाहगंज में बाढ़ पीड़ितों से चर्चा करने के उपरांत अधिकारियों की बैठक ली। उन्होंने सभी संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि सभी रेस्क्यू सेंटर में बाढ़ से प्रभावितों के लिए यथा संभव सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएं। पहले घरों का फिर फसलों का सर्वे कराकर शीघ्र ही राहत राशि वितरण का कार्य प्रारंभ करना है। उन्होंने निर्देशित किया है कि सोयाबीन के साथ-साथ धान की फसल जो बाढ़ से प्रभावित हुई है उसका भी सर्वे किया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने अतिवर्षा से आई बाढ़ से हुए नुकसान को लेकर अधिकारियों की बैठक ली एवं आवश्यक निर्देश निर्देश। बैठक में कलेक्टर श्री अजय गुप्ता ने बताया कि बुदनी एवं नसरुल्लागंज विकासखंड में लगभग 8 हजार 300 घर बाढ़ की चपेट में आए हैं। उन्होंने यह भी बताया कि घर के साथ-साथ कुएं जो धंस गए है पाईप लाईन क्षतिग्रस्त हो गई है आदि का भी सर्वे कराया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने विद्युत विभाग के अधिकारी को निर्देश दिए कि जहां-जहां विद्युत लाईन प्रभावित हुई है वहां-वहां बिजली की व्यवस्था कराई जाए। बिजली के खंबे एवं लाईन की मरम्मत कराई जाए। उन्होंने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों से जानकारी ली कि सड़क मार्ग एवं पुलिया कितने क्षतिग्रस्त हुए हैं। साथ ही निर्देशित किया कि जल्दी ही प्रस्ताव बनाकर भेजे जिससे राशि स्वीकृत कर मरम्मत कार्य जल्द से जल्द दुरुस्त कराया जाए। उन्होंने निर्देशित किया कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में आधा-आधा क्विंटल गेंहू हर घर को जल्द से जल्द वितरित कराया जाए। बैठक में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ सुधीर कुमार डेहरिया ने बताया कि पानी को शुद्ध करने के लिए क्लोरीन की गोलियां, बुखार एवं मलेरिया की दवाईंया एवं ओआरएस पावडर आदि वितरति किया जा रहा है। इस मौके पर संभाग आयुक्त श्री कवीन्द्र कियावत, आईजी, कलेक्टर श्री अजय गुप्ता, पुलिस अधीक्षक श्री शशीन्द्र चौहान, क्षेत्रीय सांसद श्री रमाकांत भार्गव, श्री राजेन्द्र सिंह राजपूत, श्री रवि मालवीय, श्री रामनारायण साहू सहित अन्य जनप्रतिनिधि एवं अधिकारी उपस्थित थे।



बाढ़ से प्रभावित सभी को दी जाएगी हर संभव राहत रू मुख्यमंत्री श्री चौहान
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने शाहगंज के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का निरीक्षण किया रेस्क्यू सेंटर पहुँचकर वितरित की खाद्यान्न सामग्री
sehore news
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि बाढ़ और अतिवर्षा से प्रभावित सभी परिवारों की हर संभव सहायता कर संकट से हर हाल में बाहर लेकर आएंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहानए आज सीहोर जिले के शाहगंज में सोमलवाढ़ाए बमोरीए देहरीए नानभेट बाढ़ प्रभावितों से चर्चा कर रहे थे। उन्होंने कहा किसानों को आरबीसी 6 (4) के साथ प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से भी मदद की जाएगी। प्रभावित परिवारों को गेहूँ के साथ 5 लीटर केरोसीन भी दिया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने शाहगंज में बने रेस्क्यू सेंटर्स में पहुँच कर खाद्यान्न सामग्री वितरित की। इस अवसर पर विदिशा सांसद श्री रमाकांत भार्गवए जनप्रतिनिधि और अधिकारीगण उपस्थित थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने ग्रामीणों से कहा कि उन्हें चिंता करने की जरूरत नहीं है। सरकार आपके साथ हैए उन्होंने कहा कि मेरी पहली प्राथमिकता थी कि बाढ़ से किसी को जान का नुकसान नहीं हो। मैंने स्वयं रातभर जागकर राहत और बचाव कार्यों पर निगरानी रखी। प्रधानमंत्रीए रक्षामंत्री और सेना से बात कर बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में लोगों को हेलीकॉप्टर से सुरक्षित स्थानों पर पहुँचाया। उन्होंने कहा कि उनके पास हर क्षेत्र की जानकारी है और उन्होंने प्रशासन को सभी क्षेत्रों में तत्काल सर्वे कर मदद पहुँचाने के निर्देश दिये। मुख्यमंत्री ने कहा कि चाहें नर्मदा की बाढ़ हो या नदी नालों कीए धान और अन्य फसलों को हुए नुकसान की भरपाई की जाएगी। जिनके घरों को क्षति पहुँची हैए उन्हें भी हरसंभव राहत दी जाएगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कलेक्टर को निर्देश दिये कि बाढ़ से जिन घरों को नुकसान हुआ हैए उन परिवारों को तत्काल आधा-आधा क्विंटल गेहूँ उपलब्ध कराएं। मुख्यमंत्री ने सभी बाढ़ प्रभावितों से अलग से भी बात की। शाहगंज में स्थापित रेस्क्यू सेंटर और तीन राहत शिविरों में भी मुख्यमंत्री पहुँचे, उन्होंने वहां खाद्य सामग्री वितरित की। उन्होंने आश्वस्त किया कि उनके पुनर्वास की सभी व्यवस्थाएँ की जाएंगी। सांसद श्री भार्गव ने भी सरकार के प्रयासों को सराहा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि उन्होंने जब सरकार संभाली तब कोरोना का संकट था और इस संकट से लड़ने के कोई भी इंतजाम नहीं थे। अल्प समय में ही हमने न सिर्फ सुविधाओं की व्यवस्थाएं की और साथ ही कोरोना जांच को बढ़ाया जाकर रिकवरी रेट को भी काफी बढ़ाया है। इसी क्रम में अतिवृष्टि और बाढ़ के कारण आये संकट का भी हम बहुत जल्द समाधान कर लेंगे। सभी प्रभावित परिवारों एवं किसानों को हर संभव सहायता उपलब्ध करवाई जाएगी।

बाढ़ से जिंदगी बच गईए अन्य कष्टों की चिंता न करें हम आपके साथ हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान

sehore news
मुख्यमंत्री ने सभी बाढ़ पीड़ितों को आश्वस्त किया कि वह चिंता नहीं करेए प्रदेश सरकार द्वारा हरसंभव सहायता प्रदान की जायेगी। श्री चौहान ने कहा कि हमें एक बात का संतोष है कि इस बाढ़ के तांडव में किसी भी प्रकार से जनहानि नहीं हुई है। दूसरे कष्टों की चिंता न करें किसी को भी परेशान होने की जरूरत नहीं हैए प्रदेश सरकार आपके साथ खड़ी है। इस मौके पर संभाग आयुक्त श्री कवीन्द्र कियावत, आईजी, कलेक्टर श्री अजय गुप्ता, पुलिस अधीक्षक श्री शशीन्द्र चौहान, क्षेत्रीय सांसद श्री रमाकांत भार्गव, श्री राजेन्द्र सिंह राजपूत, श्री रवि मालवीय, श्री रामनारायण साहू सहित अन्य जनप्रतिनिधि एवं अधिकारी उपस्थित थे।

आज 11 की रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई वर्तमान में कुल पॉजीटिव एक्टिव व्यक्तियों की संख्या 208

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकार डॉक्टर सुधीर कुमार डेहरिया ने बताया कि  आज 11 व्यक्तियों की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई है। जिसमें सीहोर के 7 व्यक्ति की रिपोर्ट पॉजीटिव आई है जिनमें स्वदेश नगर, दांगी कॉलोनी, लुनिया मोहल्ला के निवासी हैं। आष्टा के 3 व्यक्तियों की रिपोर्ट पॉजीटिव आई है जो मेहतवाड़ा, कोठरी एवं बुधवारा वार्ड निवासी हैं। नसरुल्लागंज के छोटा बाजार निवासी 1 की रिपोर्ट पॉजीटिव आई है। जिले में कोरोना पॉजीटिव/एक्टिव व्यक्तियों की संख्या 208 है। आज 8 व्यक्तियों को डिस्चार्ज किया गया है। जिले में अब तक स्वस्थ होने के उपरांत डिस्चार्ज किए गए व्यक्तियों की संख्या 484 है। जिले में कोरोना संक्रमित व्यक्तियों की मृत्यु संख्या 20 है। आज 521 व्‍यक्तियों के  सैम्पल कोरोना जांच हेतु लिए गए है। सीहोर शहरी क्षेत्र से आज  60 श्यामपुर के 123 आष्टा से 100 नसरूल्लागंज के 85 एवं बुदनी के 104 इछावर के 49 व्यक्तियों के कोरोना जांच हेतु सैम्पल लिए है। आज पॉजीटिव मिले नए कंटेनमेंट जोन सहित समस्त कंटेनमेंट एवं बफर जोन में स्वास्थ्य दलों द्वारा सघन स्वास्थ्य सर्वे किया जा रहा है। वहीं पॉजीटिव मिले व्यक्तियों के करीबी संपर्क वाले व्यक्तियों की पहचान कर उनकी सूची तैयार की जा रही है। प्रत्येक कंटेनमेंट जोन में सर्वे के लिए एक से दो दल लगाए गए है। सर्वे दल के प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों को बनाया गया है तथा स्वास्थ्य सर्वे दल में ए.एन.एम., आशा कार्यकर्ता, आंगनबाडी कार्यकर्ताओं की ड्यूटी लगाई गई है।  जिले में कुल कोरोना पॉजीटिव व्यक्तियों की संख्या 712 है जिसमें से 20 की मृत्यु हो चुकी है 484 स्वस्थ्‍ होकर डिस्चार्ज हो गए है तथा वर्तमान में 208 पॉजीटिव व्यक्तियों का उपचार चल रहा है।  आज कुल 521 सैंपल जांच हेतु लिए गए। जिले से अब तक कुल 13673 सेम्पल जांच के लिए भेजे गए थे जिनमें से 10612 सेंपलों की रिपोर्ट अब तक निगेटिव प्राप्त हुई है। आज 800 सैंपलों की रिपोर्ट निगेटिव प्राप्त हुई है। कुल 2290 सैंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथालॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 59 है। जिले में कुल कंटेंमेंट एरिया 215 है जिनमें से 71 एक्टिव एवं 144 इनेक्टिव एरिया हैं। जिले में जो व्यक्ति होम क्वारंटाइन में है उनके निवास स्थान से सीधे संवाद हेतु जिला स्तरीय कोविड-19 काल सेंटर स्थापित किया गया है जिसका संपर्क नंबर.7247704181 है कोविड-19 से संबंधित जानकारी इस संपर्क नंबर पर ली व दी जा सकती है। वहीं जिला चिकित्सालय सीहोर में टेलीमेडिसीन के लिए संपर्क नंबर 07562-401259 जारी किया गया है तथा राज्य स्तर पर 104/181 नंबर पर काल करके भी टेलीमेडिसीन सेवा का लाभ लिया जा सकता है 104  नंबर पर ई.परामर्श सेवा का भी लाभ लिया जा सकता है। ई.संजीवनी ओपीडी सेवा हेतु www.esanjeevaniopd.in पंजीयन कराया जा सकता है। कलेक्ट्रेट कार्यालय सीहोर में भी जिला स्तरीय काल सेंटर बनाया गया है जिसका संपर्क नंबर 07562.226470 है तथा होम क्वारंटाइन व्यक्तियों तथा उनके परिजनों के लिए हेल्पलाइन नंबर 18002330175 जारी किया गया है। जिस पर संस्थागत क्वारंटाइन अथवा होम क्वारंटाइन व्यक्ति अथवा उनके परिजन इमोशनल वेलनेस अथवा साईकोलाजिकल सपोर्ट एवं अन्य जरूरी परामर्श मानसिक सेवा प्रदाताओं से निःशुल्क प्राप्त कर सकते है।

ऑनलाइन वेबिनार के माध्यम से मनाया जायेगा शिक्षक दिवस तीन स्तर पर होंगी शिक्षक संगोष्ठी

प्रतिवर्ष भारत के राष्ट्रपति डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्म-दिवस 5 सितम्बर को शिक्षक दिवस का आयोजन समारोहपूर्वक किया जाता है। कोविड संक्रमण के चलते इस वर्ष शिक्षक दिवस समारोह वेबिनार के माध्यम से ऑनलाइन आयोजित किया जायेगा।

शिक्षक संगोष्ठी - शिक्षक दिवस के उपलक्ष्य में जिला, संभाग और राज्य स्तर पर शिक्षक संगोष्ठी का वेबिनार के माध्यम से ऑनलाइन आयोजन किया जायेगा। प्रदेश में जिला, संभाग एवं राज्य स्तर पर म.प्र. में नई शिक्षा नीति के क्रियान्वयन विषय पर संगोष्ठी आयोजित की जायेगी। जिला स्तर पर 31 अगस्त को, संभाग स्तर पर एक सितम्बर को एवं राज्य स्तर पर 4 सितम्बर को संगोष्ठी आयोजित की जायेगी। संगोष्ठी में जिला स्तर पर चयनित प्रथम एवं द्वितीय स्थान पर चयनित शिक्षकों द्वारा संभाग स्तरीय संगोष्ठी में एवं संभाग स्तर पर चयनित प्रथम एवं द्वितीय स्थान पर चयनित शिक्षक राज्य स्तरीय संगोष्ठी में सहभागिता करेंगे। राज्य स्तरीय संगोष्ठी में प्रथम एवं द्वितीय स्थान प्राप्त शिक्षकों द्वारा 5 सितम्बर को शिक्षक दिवस के अवसर पर वेबिनार के माध्यम से हो रहे समारोह में सहभागिता की जायेगी।

राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार प्राप्त शिक्षकों का सम्मान-   शिक्षक दिवस पर राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार-2019 से सम्मानित अध्यापक डॉ. ललित मेहता को जिला स्तरीय कार्यक्रम में शाल-श्रीफल एवं 11 हजार रुपये का ड्रॉफ्ट प्रदान कर सम्मानित किया जायेगा।

राज्य स्तरीय शिक्षक पुरस्कार-   राज्य स्तरीय शिक्षक पुरस्कार प्राप्त शिक्षकों का सम्मान शिक्षक दिवस पर जिला मुख्यालयों पर आयोजित समारोह में किया जायेगा। राज्य स्तरीय शिक्षक पुरस्कार प्राप्त शिक्षकों को प्रशस्ति-पत्र, शाल-श्रीफल एवं 25 हजार रुपये नगद राशि प्रदान कर सम्मानित किया जायेगा। 

फसल गिरदावरी के लिए दावे-आपत्ति 10 सितंबर तक

मौसम खरीफ फसल गिरदावरी से संबंधित दावे-आपत्ति किसानों से 10 सितम्बर तक स्वीकार्य किए जाएंगे। उप आयुक्त भू-अभिलेख एवं बन्दोबस्त मध्यप्रदेश द्वारा समस्त कलेक्टर्स को जिलों में फसल गिरदावरी संबंधी इस कार्यवाही का किसानों के बीच अधिक से अधिक प्रचार-प्रसार कराया जाना सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए हैं। 

रियायतों के साथ अनलॉक 4 की गाइडलाइन्स जारी

एक से 30 सितंबर तक की अवधि के लिये भारत सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन्स के पालन  हेतु प्रदेश सरकार ने आदेश जारी कर दिये हैं। अपर मुख्य सचिव गृह डॉ. राजेश राजौरा ने आदेश जारी करते हुए बताया है कि रियायतों के साथ अनलॉक 4 की गाइडलाइन्स जारी की गई हैं। उन्होंने बताया कि कोरोना की चेन-ब्रेकिंग के लिये आवश्यकताओं को दृष्टिगत रखते हुए पुख्ता प्रबंध कर निश्चित लोगों की उपस्थिति में 21 सितंबर के बाद कार्यक्रम आयोजित हो सकेंगे। गाइडलाइन्स का उल्लंघन होने पर कानूनी कार्यवाही की जाएगी। केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जाने वाली एसओपी के बाद 21 सितंबर से अधिकतम 100 लोगों की उपस्थिति में विभिन्न सामाजिक अकादमिक, स्पोर्ट्स, मनोरंजन, सांस्कृतिक, धार्मिक, राजनैतिक और अन्य सामुहिक कार्यक्रम किये जा सकेंगे। इसमें भी फेस मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग, थर्मल स्केनिंग और सेनेटाइजेशन के प्रबंध रखना अनिवार्य रहेगा। 21 सितंबर 2020 से कन्टेंमेंट जोन के बाहर के स्कूलों में ऑनलाइन और डिस्टेंस लर्निंग की गतिविधियाँ संचालिक हो सकेंगी। स्कूलों में 50 प्रतिशत टीचिंग और नॉन-टीचिंग स्टाफ को बुलाया जा सकेगा। कक्षा 9 वीं से 12 वीं तक के विद्यार्थी पालकों की सहमति से स्कूलों में शिक्षकों से मार्गदर्शन प्राप्त करने के लिये आ सकेंगे। राष्ट्रीय संस्थानों और इससे पंजीकृत संस्थानों में लघु कौशल शिक्षण की अनुमति रहेगी। उच्च शिक्षा विभाग गृह मंत्रालय की सहमति से शोधार्थियों और तकनीकि और व्यावसायिक कार्यक्रमों में स्नातकोत्तर कक्षाओं में अध्ययनरत छात्रों को कोविड-19 की गाइडलाइन्स अनुसार अनुमति प्रदान कर सकेगा। 30 सितंबर तक स्कूल, कॉलेज, शैक्षणिक और कोचिंग संस्थान बंद रहेंगे। इनमें नियमित संचालित होने वाली गतिविधियाँ नहीं होंगी। केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के निर्देशानुसार जिला कलेक्टर कोरोना की चेन को तोड़ने के लिये माइक्रो लेवल पर कंटेनमेंट जोन को चिन्हांकित कर सकेंगे। जिला कलेक्टरों को इन जोन्स को वेबसाइट पर अधिसूचित करना होगा। राज्य में कहीं भी आने-जाने पर कोई पाबंदी नहीं रहेगी। आने-जाने के लिये किसी प्रकार की अनुमति, अनुमोदन या ई-परमिट की जरूरत नहीं होगी। अनलॉक 4 की गाइडलाइन्स में 65 वर्ष से अधिक उम्र के वृद्धजनों और 10 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को अत्यावश्यक नहीं होने पर घरों में रहने की सलाह दी गई है। भारत सरकार द्वारा जारी अनलॉक 4 की गाइडलाइन्स में राज्य स्तर से किसी भी प्रकार का बदलाव नहीं किया जा सकेगा। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराने के लिये राज्य सरकार धारा 144 का प्रयोग कर सकती हैं। गाइडलाइन का उल्लंघन करने पर आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 के अन्तर्गत कानूनी कार्यवाही की जाएगी।

कोई टिप्पणी नहीं: