विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 13 सितम्बर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 13 सितंबर 2020

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 13 सितम्बर

राजनैतिक श्रेय लेने के लिए प्रधानमंत्री ने किया हिन्दु धर्म की भावना के साथ खिलवाड-शशांक भार्गव़  

विदिशाः- दिनांक 12.09.2020 को प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी द्वारा आॅनलाईन गृह प्रवेश कार्यक्रम पर सवाल खडे करते हुये विदिशा विधायक शशांक भार्गव ने प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुये कहा, कि सनातन धर्म में यह परम्परा रही है कि पितृपक्ष में नई बस्तु खरीदने का निषेध रहता है। इन दिनों में धार्मिक परम्पराओं का पालन करने के लिये व्यक्ति छोटी से छोटी बस्तु भी नहीं खरीदता है, गृह प्रवेश तो बहुत दूर की बात है। लेकिन हमारे प्रधानमंत्री महोदय ने आगामी विहार चुनाव व म.प्र. में होने वाले उपचुनाव में अपनी राजनैतिक प्यास बुझाने के लिए प्रधानमंत्री आवास योजना के हितग्राहियों को मजबूर कर गृह प्रवेश करवाकर देश के करोडो सनातन धर्मलंबियों की भावनाओं के साथ खिलवाड किया है, जिसके लिये देश की जनता उन्हें कभी माफ नहीं करेगी। श्री भार्गव ने प्रधानमंत्री के गृह प्रवेश कार्यक्रम के दावे पर सवाल उठाया कि जिस प्रकार प्रधानमंत्री दावा कर रहे है, कि कोरोना काल में लाखों घर तैयार करवाकर गृह प्रवेश करवाये गये है, ये देश की जनता के साथ धोखा है, जबकि सच्चाई यह है, कि ये सारे आवास विगत 2 वर्षाें में बनकर तैयार हुये है। कोरोनाकाल के समय में तो प्रधानमंत्री आवास येाजना के हितग्राही अपनी किश्त लेने के लिये दर-दर भटक रहे थे। श्री भार्गव ने बताया कि वर्ष 2011 में मनमोहनंिसह सरकार द्वारा देश के आवासहीन परिवारों को आवास मुहैया कराने के लिये राष्ट्र व्यापी आवास योजना का खाका तैयार किया गया था, पिछले 2 वर्षांे में जो आवास बनकर तैयार हुये थे उन पुराने हितग्राहियों का भी दुवारा गृह प्रवेश करवाकर प्रधानमंत्री ओर मुख्यमंत्री जी ने जनता के साथ छल किया है। प्रधानमंत्री आवास योजना के पूर्व भी कांग्रेस सरकारों के समय ग्रामीण क्षेत्रों में इंदिरा आवास योजना एवं शहरी क्षेत्रों में राजीव आवास योजना के माध्यम से देश भर में करोडो जरूरतमंद लोगों केा आवास उपलब्ध कराये गये थे, लेकिन इस प्रकार का आडम्बर नहीं किया गया था, जो प्रधानमंत्री मोदी जी के द्वारा किया गया है। श्री भार्गव ने प्रधानमंत्री महोदय से अनुरोध किया है कि कोरोना महामारी के कारण क्षतिग्रस्त हुई अर्थव्यवस्था से पीडित कमजोर वर्ग के लोगो की मजबूरी का फायदा न उठाये बल्कि बास्तविकता में जनहितकारी योजनाओं के माध्यम से देश के गरीब मजदूर मेहनतकस लोगों की वास्तविकता मे मदद करें।  



दस एएनएम को शोकॉज नोटिस जारी

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ केएस अहिरवार ने पूर्ण टीकाकरण की उपलब्धि नब्बे प्रतिशत से कम अर्जित करने वाली दस एएनएम को शोकॉज नोटिस जारी किए है ओर संबंधितों से तीन दिवस के भीतर अपना स्पष्टीकरण प्रस्तुत करने के निर्देश दिए गए है। सीएमएचओ डॉ अहिरवार ने बताया कि संभागयुक्त द्वारा जिले में क्रियान्वित स्वास्थ्य कार्यो की समीक्षा में टीकाकरण कार्यो की उपलब्धियां नब्बे प्रतिशत से कम अर्जित करने वालो को शोकॉज नोटिस जारी करने के निर्देश दिए थे के परिपालन में समीक्षा उपरांत दस सब-सेन्अर की एएनएम द्वारा निर्धारित लक्ष्य से कम टीकाकरण कार्यो की उपलब्धियां हासिल करने पर उन्हें शोकॉज नोटिस देते हुए राष्ट्रीय कार्यक्रम टीकाकरण में पूर्ण रूचि लेने हेतु निर्देशित किया गया है अन्यथा संबंधितों के खिलाफ कठोर अनुशासनात्मक कार्यवाही प्रस्तावित की जाएगी। सीएमएचओ द्वारा जिन एएनएम को शोकॉज नोटिस जारी किए गए है उनमें बीएमओ लटेरी अंतर्गत सबसेन्टर ओखलीखेडा की कुमारी संध्या पवार, सब सेन्टर सुनखेर की श्रीमती रूबीना खॉन, नटेरन विकासखण्ड अंतर्गत सबसेन्टर वर्धा की शिवकुमारी राजपूत, अमखेद सूखा की मुन्नी चावलिया, पमारिया की सविता  रघुवंशी, सेऊ की बोका रैकवार, इमलिया जागीर की मुन्नी चावलिया, बीएमओ पीपलखेडा अंतर्गत सबसेन्टर कागपुर की रचना गुप्ता, बीएमओ कुरवाई के अंतर्गत सबसेन्टर कूल्हान की श्रीमती राधा मोंगिया तथा सबसेन्टर टेन्कू की एएनएम अनुपमा सिंह शामिल है। 

सफलता की कहानी : दूसरो को रोजगार देने में सक्षम हुआ हितग्राही 

vidisha news
मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना ने साधारण परिवार से ताल्लुक रखने वाले पुष्पेन्द्र सिंह भदौरिया को स्वरोजगारमुखी ही नही बनाया बल्कि हितग्राही को दूसरो के लिए रोजगार के अवसर देने वाला बनाया है। योजना से लाभांवित हितग्राही पुष्पेन्द्र सिंह भदौरिया ने बताया उन्हें परिवार के भरण पोषण के लिए स्वरोजगार के क्षेत्र में मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना ने प्रगति के द्वार खोले है। योजना के तहत बैंक आफ बडौदा के द्वारा तीन लाख का लोन स्वीकृत किया जिससे मैंने विदिशा नगर में रायल स्टील एण्ड आयरन वर्क्स की यूनिट का संचालन किया। दिन प्रतिदिन क्षेत्र में भवनो के निर्माण होने से मेरा स्वरोजगार दिन रात फलता फूलता जा रहा  है  मेरा मोबाइल नम्‍बर 7583885526 पर आर्डर सीधे मिल रहे है, कार्य की अधिकता को देखते हुए मैंने अपने यहां तीन व्यक्तियों को काम पर रखने से उन्हें रोजगार मिला है। निश्चित ही योजना ने मुझे और मेरे परिवार को भरण पोषण का रास्ता सुगम किया है। मेरी मेहनत और योजना से मिली सहायता ने जीवन में आर्थिक सबलता की ओर बढाया है। 

22 कंटेनमेंट जोन घोषित

नेशनल पोर्टल पर प्रदर्शित जानकारी के अनुसार कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट प्राप्त होने पर जिला आरआरटी के निर्णय अनुसार विदिशा जिले में 22 नए कंटेनमेंट जोन घोषित किए गए है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ केएस अहिरवार ने घोषित कंटेनमेंट जोन की जानकारी उपलब्ध कराते हुए बताया है कि सिरोंज विकासखण्ड में वार्ड नम्बर पांच पुरानी नर्स कालोनी तथा ग्राम महादेवखेडी सिरोंज को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है उक्त दोनो कंटेनमेंट जोन के लिए नोडल अधिकारी डॉ सुरेश अग्रवाल होंगे। ग्यारसपुर विकासखण्ड में जैन मंदिर के पास 53 वर्षीय पुरूष कोरोना पॉजिटिव पाए जाने पर उक्त क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है। जोन का नोडल अधिकारी डॉ अली अब्बास होंगे। बासौदा विकासखण्ड में कुल आठ कंटेनमेंट जोन घोषित किए गए है। उपरोक्त कंटेनमेंट जोन के नोडल अधिकारी बीएमओ डॉ रविन्द्र चिड़ार को दायित्व सौंपा गया है। बासौदा में घोषित कंटेनमेंट जोनो में वार्ड नम्बर सात एसजीएस कॉलेज के सामने, प्लाट नम्बर 498 ड्रीम सिटी, वार्ड नम्बर 21 मीराबाई रोड, वार्ड नम्बर 19 धूसरपुर जैन मंदिर के पास, वार्ड नम्बर आठ न्यू बस स्टेण्ड एवं महाराणा प्रताप चौक, पलोड नगर हतौडा, वार्ड नम्बर 11 पाठशाला ग्राउण्ड शामिल है। विदिशा शहर में 11 कंटेनमेट जोन घोषित किए गए है उपरोक्त कंटेनमेंट जोन के लिए नोडल अधिकारी बीएमओ डॉ एके उपाध्याय को दायित्व सौपा गया है। विदिशा शहर में ग्रीन गोदावरी सिटी चौपड़ा किले अन्दर, विजय नगर अहमदपुर रोड़, 178 रॉयल सिटी, गली नम्बर दो बंटी नगर, गली नम्बर चार हरिपुरा, आकाश ज्योति हास्पिटल के पास दुर्गानगर, ऋषि इन्टर प्राइजेस खरीफाटक रोड़ दीप ट्रेडर्स खरी फाटक रोड, मुरैना गजक के पास तलैया एवं 77 सांई इन्क्लेव कान्वेट स्कूल के पीछे शामिल है।  

कोविड कमाण्ड एवं कंट्रोल सेन्टर 24 घंटे क्रियाशील तीन शिफ्टो में चिकित्सको एवं अन्य स्टाप की तैनाती

अटल बिहारी वाजपेयी शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय के जी-14 कक्ष में कोविड कमाण्ड एवं कंट्रोल सेन्टर का संचालन किया जा रहा है। उक्त सेन्टर का प्रभारी नोडल अधिकारी अधीक्षक डॉ प्रशांत वडगवालकर को तथा समन्वयक हेतु जिला चिकित्सालय के डॉ एके उपाध्याय को संयुक्त रूप से जबावदेंही सौंपी गई है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ केएस अहिरवार ने बताया कि चौबीस घंटे क्रियाशील रहने वाले कोविड कमाण्ड एवं कंट्रोल सेन्टर के सुव्यवस्थित संचालन हेतु तीन शिफ्टो में चिकित्सक एवं अन्य स्टाप की ड्यूटी लगाई गई है। प्रत्येक शिफ्ट में जीएमसी की दो-दो स्टॉप नर्स मौजूद रहेंगी। प्रथम शिफ्ट प्रातः आठ बजे से दोपहर दो बजे तक के लिए डॉ नैना बाकोडे, डॉ आंकाक्षा तथा डीईओ पल्लवी तिवारी मौजूद रहेगी। द्वितीय शिफ्ट दोपहर दो बजे से रात्रि आठ बजे तक के लिए डॉ इन्दू, डॉ गरिमा तथा डीईओ प्रतीक जैन को तथा तृतीय पॉली अर्थात रात्रि आठ बजे से प्रातः आठ बजे तक के लिए डॉ सुधीर जैन, डॉ विकास यादव और  दो स्टॉप नर्स मौजूद रहेगी। उपरोक्त समस्त चिकित्सक, कर्मचारी होम आइसोलेटेट कोविड 19 मरीज का चिकित्सीय पर्यवेक्षण वीडियो कांलिंग के माध्यम से करना सुनिश्चित करेंगे यह कार्य हर रोज दो बार किया जाएगा। डाटा इन्ट्री आपरेटर द्वारा होम आइसोलेट मरीजो की चिकित्सीय स्थिति संबंधित सूचकांकों की प्रविष्टि सार्थक पोर्टल पर की जाएगी। कंट्रोल सेन्टर पर उपलब्ध कराए गए मोबाइल नम्बर 8770425203 एवं 8770479133 का उपयोग केवल होम आइसोलेटेट मरीजो के कार्यो हेतु किया जाएगा। 

उत्तरा पोर्टल पर दर्ज करें

कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने समस्त विभागो के जिलाधिकारियों को निर्देश दिए है कि कार्यालयों से संबंधित लंबित समय सीमा पत्रों का प्रतिवेदन उत्तरा पोर्टल पर दर्ज करना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा है कि प्रत्येक सोमवार को आयोजित होने वाली टीएल बैठक में उत्तरा पोर्टल पर दर्ज आवेदनों के प्रतिवेदन के आधार पर ही समीक्षा की जाएगी।

सिरोंज खण्ड मुख्यालय पर रोजगार मेला आज

जिले के सभी विकासखण्ड मुख्यालयों पर एक दिवसीय रोजगार मेलो का आयोजन किया जा रहा है। इसी कडी के तहत सिरेंज विकासखण्ड मुख्यालय पर सोमवार 14 सितम्बर की प्रातः साढे दस बजे से रोजगार मेले का आयोजन किया गया है। ग्रामीण आजीविका मिशन के तत्वाधान में आयोजित होने वाले रोजगार मेलो में आठ से दस कंपनियों की सहभागिता प्रत्येक विकासखण्ड के मेले में होगी कि जानकारी  देते हुए मध्यप्रदेश डे राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के जिला प्रबंधक श्री देवेन्द्र श्रीवास्तव ने बताया कि सीआईआई मॉडल केरियर सेन्टर विदिशा द्वारा प्रवासी श्रमिकों एवं बेरोजगार युवक-युवतियों के लिए आयोजित होने वाले रोजगार मेले में न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता दसवीं पास एवं न्यूनतम आयु 18 वर्ष के युंवक युवतियां शामिल हो सकेंगे। कंपनी द्वारा योग्यता अनुसार न्यूनतम साढे छह हजार से 15 हजार रूपए के मासिक वेतन पर प्रायवेट लिमिटेड कंपनियो में रोजगार दिया जाएगा। रोजगार मेले में शामिल होने वाले सभी युवक युवतियां अपने सभी जरूरी दस्तावेंज जैसे आधार कार्ड, अंक सूची, फोटो लेकर अनिवार्य रूप से उपस्थित हो। कौशल पंजीयन के लिए लिंक https://bit.lyl/jobdostcandidate एप पर अपने मोबाइल से रजिस्टर्ड कराना अनिवार्य होगा। 

युवाजनों को स्वरोजगार योजना की जानकारी दी गई तथा  रोजगार मेले में 196 का चयन हुआ

लटेरी विकासखण्ड मुख्यालय पर आज सम्पन्न हुए रोजगार मेले में 286 युवक युवतियों के द्वारा पंजीयन कराया गया है उन्हें विभिन्न विभागो के माध्यम से क्रियान्वित स्वरोजगारमूलक योजनाओं की जानकारी देते हुए कौशल उन्नयत से अवगत कराया गया है। मध्यप्रदेश डे राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के जिला प्रबंधक श्री देवेन्द्र श्रीवास्तव ने बताया कि लटेरी में रविवार को सम्पन्न हुए रोजगार मेले में शामिल निजी कंपनियो के प्रतिनिधियों द्वारा 196 युवक युवतियों का चयन विभिन्न पदो पर किया गया है। 

कोई टिप्पणी नहीं: