विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 20 सितम्बर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 20 सितंबर 2020

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 20 सितम्बर

ब्राह्मण बच्चों एवं युवाओं के लिए संस्कार पाठशाला ‘वैदिक शिक्षा‘

vidisha news
आज दिनाॅंक 20 सितंबर 2020 को शहर के बह्म भवन में श्री सर्व ब्राह्मण समर्पण कल्याण समिति (रजि.) विदिशा द्वारा ब्राह्मण बच्चों एवं युवाओं के लिए संस्कार पाठशाला ‘वैदिक शिक्षा‘ प्रारंभ की गई जिसकी  शुरूआत माॅं सरस्वती एवं भगवान परशुराम की पूजन से हुई। पूजन उपरांत समिति की अध्यक्ष श्रीमति कंचन नंदकिशोर शर्मा द्वारा शहर के राष्ट्रपति पुरूस्कार से सम्मानित एवं कार्यक्रम के मुख्य वक्ता धर्माधिकारी पं गिरधर गोविंद शास्त्री का तिलक, अंग वस्त्र एवं मोतियों की माला द्वारा सम्मान किया गया। तदुपरांत गिरधर गोविंद शास्त्री ने श्री सर्व ब्राह्मण समर्पण कल्याण समिति (रजि.) विदिशा द्वारा संस्कार पाठशाला प्रारंभ किए जाने पर बहुत-बहुत बधाई दी और कहा कि समिति ने आज जो अभियान प्रारंभ किया है उसमें जरूरी है कि ब्राह्मण समाज में बच्चों, युवाओं एवं परिजनों सभी को अपनी संस्कृति को बचाने के लिए इस संस्कार शिक्षा को अपनाना होगा। आयोजन में सनातन श्री हिंदु उत्सव समिति के पूर्व अध्यक्ष संजीव शर्मा एवं वर्तमान अध्यक्ष अतुल तिवारी द्वारा भी समिति की इस पहल की भूरि-भूरि प्रशंसा की और अपनी ओर से पूर्ण सहयोग देने का भरोसा दिलाया और कहा कि वे अपनी तरफ से शहर के अधिक से अधिक ब्राह्मण परिवारों को इस संस्कार पाठशाला में उपस्थित करने हेतु प्रेरित करेंगे। भारतीय संस्कृति की धरोहर को संरक्षित करने वाले संस्कार पाठशाला में शहर के पर्यावरण प्रेमी एवं मुक्तिधाम समिति के समिति सचिव मनोज पाण्डेय का जन्मदिवस भी मनाया गया जिसमें उन्होंने पर्यावरण संरक्षण की मुहिम के तहत शीघ्र ही शहर में निःशुल्क गैस आधारित शवदाह गृह की व्यवस्था प्रारंभ होने की बात कही। कार्यक्रम के दौरान समिति पदाधिकारियों में श्रीमति रागिनी शर्मा, पं हरिहर चतुर्वेदी, पं जितेन्द्र दुबे, पं विवेक शर्मा, श्रीमति नेहा पाराशर, श्रीमति सीमा पचैरी, नेहा शर्मा, श्रीमति शैलजा तिवारी, कु. शिवानी शर्मा, कु. अंजलि तिवारी, कु. नुपुर पचैरी, कु. निशिका पचैरी, पं श्रवण पचैरी, पं. निवेश शर्मा सहित अन्य सदस्यगण उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन समिति के सचिव पं मधुसूदन पचैरी द्वारा किया गया एवं अंत में आभार प्रर्दशन समिति के कोषाध्यक्ष पं सुशील शर्मा ‘सरल‘ द्वारा किया गया। 



जिले के 223 स्वसहायता समूहों के बैंक खातो में ऋण राशि जमा अतिथियों द्वारा ऋण स्वीकृति पत्रों का वितरण    

vidisha news
प्रदेश में 23 सितम्बर तक गरीब कल्याण सप्ताह मनाया जा रहा है। गरीब कल्याण सप्ताह के तहत प्रत्येक दिन अलग-अलग विभागो से संबंधित कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे है। आयोजन स्थल पर मुख्यमंत्री जी के उद्बोधन का लाइव प्रसारण देखने, सुनने के प्रबंध सुनिश्चित किए गए थे इसी कड़ी के तहत आज रविवार 20 सितम्बर को आजीविका मिशन के माध्यम से जिले के 223 स्वसहायता समूहो को सशक्तिकरण हेतु दो करोड़ 28 लाख की राशि समूहो के बैंक खातो में जमा कराई गई है। जिला मुख्यालय पर आयोजित कार्यक्रम में अतिथिगणो को समूहों के सदस्यों को ऋण स्वीकृति के प्रमाण पत्र प्रदाय किए गए है। जिला पंचायत के सभागार कक्ष में सम्पन्न हुए उक्त कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए जिला पंचायत अध्यक्ष श्री तोरण सिंह दांगी ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने महिलाओं के सर्वोगीण विकास के लिए विशेष पहल करते हुए योजनाओं का नवाचार किया है। महिलाएं आर्थिक रूप से सबल हो और रोजगारमुखी के क्षेत्र में ख्याति अर्जित करें। इस कार्य में स्वसहायता समूह की महती भूमिका है। शमशाबाद विधायक श्रीमती राजश्री सिंह ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र की महिलाओं में स्वसहायता समूह के गठन उपरांत आत्म विश्वास में वृद्वि परलिक्षित हो रही है समूहो की सदस्य अब बेधडक व्यवसाय का संचालन कर रही है। प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के द्वारा समूहो की अवधारणा को जो बल दिया गया है उसके परिणाम अब ग्रामीण क्षेत्रों में दिखने लगे है। विदिशा जनपद अध्यक्ष श्रीमती रामदेवी ठाकुर ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र के महिलाएं स्वरोजगार के क्षेत्र से परिवार की आमदनी में वृद्वि कर रही है। विदिशा नगरपालिका के पूर्व अध्यक्ष श्री मुकेश टण्डन ने कहा कि मुख्यमंत्री जी ने आत्म निर्भर मध्यप्रदेश के संदेश को चरितार्थ करने के लिए ग्रामीण क्षेत्र के परिवार उन्नति करें खासकर महिला वर्ग आश्रित ना रहें के लिए समूह गठन की अवधारणा से बल मिला है। भाजपा जिलाध्यक्ष डॉ राकेश जादौन ने कहा कि मध्यप्रदेश में महिलाओं के कल्याण हेतु संचालित योजनाओं का अनुसरण अन्य राज्यों के द्वारा किया गया है उन्होने कहा कि मुख्यमंत्री लाड़ली लक्ष्मी योजना की ख्याति से प्रदेश ही नही वरन् देश गौरवान्वित हुआ है। प्रदेश में प्रधानमंत्री जी के जन्म उत्सव को जनकल्याण सप्ताह के रूप में आयोजन कर हर रोज किसी ना किसी  विभाग की योजनाओं से हितग्राहियों को पूरे प्रदेश में एक साथ लाभांवित करने की अनुकरणीय पहल की गई हैं।कार्यक्रम में कलेक्टर डॉ पंकज जैन, जिला पंचायत उपाध्यक्ष श्रीमती गुड्डी बाई अहिरवार के अलावा अन्य जनप्रतिनिधि तथा लीड़ बैंक आफीसर श्री बीएस बघेल के अलावा अन्य बैंकर्स प्रतिनिधि, मध्यप्रदेश ग्रामीण आजीविका मिशन के जिला प्रबंधक श्री देवेन्द्र श्रीवास्तव तथा गठित स्वसहायता समूहो के सदस्यगणो के अलावा विभिन्न विभागों के अधिकारी, कर्मचारी मौजूद थे। कार्यक्रम का संचालन व आंगतुको के प्रति आभार जिला पंचायत के अतिरिक्त सीईओ श्री दयाशंकर सिंह ने व्यक्त किया। 

सर्वाधिक सिरोंज के स्वसहायता समूहो को ऋण राशि जारी    

मध्यप्रदेश ग्रामीण आजीविका मिशन के जिला प्रबंधक श्री देवेन्द्र श्रीवास्तव ने बताया कि आजीविका मिशन के तहत जिले के 223 स्वसहायता समूहों को कुल दो करोड़ 28 लाख आठ हजार रूपए के ऋण समूहों के खातो में जमा कराए गए है। विकासखण्डवार स्वसहायता समूहो को स्वीकृत ऋण राशि की जानकारी इस प्रकार से है। सिरोज विकासखण्ड में सर्वाधिक 58 स्वसहायता समूहों को 60.36 लाख, इसके पश्चात् विदिशा के 45 समूहों को 47.72 लाख, ग्यारसपुर के 35 समूहो को 35 लाख, कुरवाई के 30 समूह को 30 लाख, बासौदा के 24 समूहो को 24 लाख, लटेरी के बीस समूहो को बीस लाख तथा नटेरन विकासखण्ड के 11 समूहों को 11 लाख रूपए की ऋण राशि के स्वीकृति पत्र आज अतिथियों द्वारा प्रदाय किए गए है।

सफलता की कहानी : समूहो ने जैविक खेती से ग्राम की पहचान बनाई

विदिशा जिले में ग्रामीण आजीविका मिशन के द्वारा ग्राम बेरखेडी बिरसा में गठित राधा स्व सहायता समूह के नवाचार ने गांव को नई पहचान दी है। समूह की सदस्य श्रीमती ममता दुबे ने आज समूह के लिए स्वीकृत ऋण राशि का प्रमाण पत्र प्राप्त करने के उपरांत बताया कि हमारे समूह के सभी सदस्यों के द्वारा जैविक खेती के क्षेत्र में जो नवाचार किया गया है उससे हमारे गांव की अलग पहचान बनी हैं। फसलीय उत्पादन में वृद्वि हुई है और ऊंचे दामो पर गेंहू बेचा जा रहा है। समूह की सदस्य रबी खरीफ की फसल तक ही सीमित नही है बल्कि उद्यानिकी के क्षेत्र में नवाचार कर फलो के खेती कर रहे है। समूह की सदस्य श्रीमती ममता दुबे स्वंय जैविक खेती को बढ़ावा देने के लिए अन्य को प्रशिक्षित कर रही है। उन्होंने बताया कि प्रदेश के जिलो ही नहीं अन्य राज्यों में पहुंचकर स्थानीय समूहो को जैविक खेती करने हेतु प्रशिक्षित किया गया है जिसके परिणाम उन क्षेत्रों में भी परलिक्षित हो रहे है। समूह का रिकार्ड अपडेट होने पर समूह के द्वारा सामाजिक सरोकार व नशामुक्ति व आर्थिक सबलता के कारण विभिन्न स्तरों पर समूह के सदस्य पुरस्कृत हो रहे है। 

कोई टिप्पणी नहीं: