सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 13 ऑक्टूबर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 13 अक्तूबर 2020

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 13 ऑक्टूबर

साहब नहीं मिले तो नाराज हुए किसान सीडिय़ों पर दो घंटे बैठकर दिया धरना

  • सेवा सहकारी समिति लौरासखुर्द में हुए भ्रष्टाचार की शिकायत लेकर कलेक्ट्रेट पहुंचे थे खातेदार किसान  
  • डिप्टी कलेक्टर ने आकर लिया ज्ञापन तब हुए शांत

sehore news
सीहोर। लौरासखुर्द से पहुंचे किसानों से कलेक्टर अजय गुप्ता ने व्यस्त होने  के कारण मिलने से इंकार कर दिया। कलेक्टर के द्वारा समय नहीं दिए जाने से नाराज किसानों ने कलेक्ट्रेट भवन की सीडिय़ों पर दो घंटे बैठकर सांकेतिक धरना दिया। डिप्टी कलेक्टर रवि वर्मा ने सीडिय़ों पर धरना दे रहे किसानों से ज्ञापन लेकर उनकी समस्याओं को सुना और किसानों को संतोषजनक जबाव देकर संतुष्ट किया। जय किसान कर्जा माफ योजना की राशि वितरण में सेवा सहकारी समिति लौरासखुर्द के अधिकारियों   कर्मचारियों  के द्वारा   किए  गए  लाखोंं  रूपये  के  भ्रष्टाचार के मामले  में कार्यवाहीं नहीं होने  की शिकायत को लेकर मंगलवार को खातेदार किसान कलेक्टर से मिलने कलेक्ट्रेट पहुंचे थे महत्वूर्ण मिटिंग होने से कलेक्टर श्री गुप्ता ने किसानों को मिलने से इंकार कर दिया  था। किसानों ने डिप्टी कलेक्टर को  बताया की सेवा सहकारी समीति लौरासखुर्द के प्रबंधक एवं स्टॉफ के द्वारा अनियमितताओं की जाँच का के  लिए  किसान चार बार शिकायत कर चुके है।  लेकिन अबतक कोई जॉच दल नहीं पहुंचाया गया है। किसान हकाई जुताई बोनी में लगा  है और किसानों को समय पर खाद की अति आवश्यकता है सोयाबिन की फसल पूरी की पूरी चौपट हो चुकी है। इधर सेवा सहकारी समिति लौरासखुर्द ने  अनेक किसानों  को  डिफाल्टर घोषित कर रखा है  सोसायटी के द्वारा खाद  बीज  नहीं दिया जा   रहा है  जबकी सूची के मुताबिक  सौड़ों  किसानों   का    कर्जा माफ हो  चुका  है लेकिन  सोसायटी  के  द्वारा  खातों  में  राशि   हीं नहीं डाली गई है।    लोरासखुर्द , पटारिया गोयल , कमालपुर खेडी , हुसैनपुरखेडी , गोदी , कुमडाउदा , बनवीरपुरा , मुंडला गांव राहुल पटारिया, मनोहर सिंह, राजेंद्र   सिंह, सजन सिंह, केदार सिंह,  जीवन सिंह, भागीरथ सिंह, अनिल आदि ने इस  मामले की शीघ्र जाँच करने और दोषियों को सजा देने किसानों को सोयायटी से खाद बीज दिलाने की मांग की है।

कसात महिने से नहीं मिली जिले के 80 छात्रावासों में कार्यरत रसोईया, अतिथि शिक्षक,चौकीदार सफाईकर्मी और जल वाहकोंं को तनख्वाह
  • आदिम जाति,अनुसूचितजाति कल्याण विभाग को किया करोड़ों रू का आवंटन
sehore news
सीहोर। आदिम जाति एवं अनुसूचित जाति कल्याण विभाग के विभिन्न छात्रावासों में अंशकालीन रसोईकर्मीं,अतिथि शिक्षक,चौकीदार सफाई कर्मी और जल वाहकों के पद पर कार्यरत कर्मचारी बीते सात माह से वेतन को  तरस रहे है।  जबकी आयुक्त आदिवासी विकास मध्यप्रदेश ने छात्रावासों में कार्यरत दैनिक वेतन भोगी ,अंशकालीन एवं स्थाई कर्मीयों की मजदूरी के लिए 18 जिलों को बीते 28 सिंतबर को सौलह करोड़ सत्रह लाख सैतीस हजार तीन सौ इक्कयासी रूपये का आवंटन किया है।  रसोईकर्मीं,अतिथि शिक्षक,चौकीदार सफाई कर्मी और जल वाहकों का कहना है की विभाग के सभी अधिकारियों स्थाई कर्मचारियों को नियमित वेतन का भुगतान किया जा रहा है केवल दैनिक वेतन भोगियों जिन का वेतन दो से पांच हजार तक है को बीते सात माह से रोका जा रहा है। जिले में 80 से अधिक शासकीय आवासीय छात्रावास बालकवास है जिन में 300 सौ से अधिक महिला पुरूष रसोईकर्मीं,अतिथि शिक्षक,चौकीदार सफाई कर्मी और जल वाहकों के रूप में कार्यरत है।   कलेक्ट्रेट पहुंचे आदिम जाति,अनुसूचितजाति कल्याण विभाग के छात्रावासों में  कार्र्यरत रसोईकर्मीं,अतिथि शिक्षक,चौकीदार सफाई कर्मी और जल वाहकों ने बताया की रसोईकर्मियो को 5  हजार रू वेतन मिलता है उससे उनका स्वयं का व परिवार का भरण पोषण होता है । अतिथि शिक्षकों  चौकीदार सफाई कर्मी और जल वाहकों को  दो  से चार  हजार रूपये  माह वेतन  दिया  जा  जाता  है लेकिन  बीते सात  माह से उसका भुगतान विभाग द्वारा नही किया गया है। कोरोनाकाल में  भी कर्मचारियों  ने निरंतर कार्य किया है।  जबकी  अन्य सभी शासकीय कर्मचारियो को एवं प्राइवेट संस्थाओ में कार्यरत लोंगो को कोरोना संकट माहमारी के चलते नियमित वेतन दिया जाता रहा है  लेकिन  सीहेार जिले  के आदिम जाति,अनुसूचितजाति कल्याण विभाग के छात्रावासों में कार्र्यरत रसोईकर्मीं,अतिथि शिक्षक,चौकीदार सफाई कर्मी और जल वाहकों को अबतक वेतन नहीं दिया गया है।  हमारे साथ जानबुझकर अन्याय किया  जा रहा है। वरिष्ठ लेखाधिकारी आदिवासी विकास म.प्र के द्वारा  पत्र क्रमांक 058152163496 / 2020-21 / 17033 के  माध्यम  से 28/09/2020 को  रसोईकर्मीं,अतिथि शिक्षक,चौकीदार सफाई कर्मी और जल वाहकों के लिए सौलह करोड सत्रह लाख सैतीस हजार तीन सौ इक्कयासी रूपये  की राशि  आवंटन कर दी गई है। बीते 7 माह से वेतन नहीं मिलने से रसोईकर्मीं,अतिथि शिक्षक,चौकीदार सफाई कर्मी और जल वाहकों के सामने काफी आर्थिक संकट खडा हो गया है परिवार भूखे मरने की स्थिति में आ गये है । दशहरा दीपावली भी आ रही है हमारे भी बच्चे है हमारी तकलीफ  को ध्यान में रखकर वेतन  का  भुगतान कराए जाए। डिप्टी कलेक्टर विष्णू प्रसाद यादव  को ममता गोहर, कृष्णा बाइर्, मीना बाई,  रजनी बाई, शोभा बाई,  सुनीता बाई, शुभम बाई,  संतोषी, सतीश, चंदर सिंह, राकेश कुमार नागल,े राहुल तेवर, राजू मांझी, महेश, जयराम, प्रेम गोपाल, रेखा राठौड़, राहुल, विनोद, असोमोर, शिवपाल, मंगल, धनपाल, जितेंद्र मालती, संगीता, तेज कुंवर, सुनता सिंधी, जमुना बाई ,लाल कुंवर, संजू, आयुषा बाई, गणपति, लीला बाई आदि रसोईकर्मीं,अतिथि शिक्षक,चौकीदार सफाई कर्मी और जल वाहकों ने वेतन  की मांग को  लेकर ज्ञापन दिया।

46 व्‍यक्तियों की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई,वर्तमान में कोरोना एक्टिव/पॉजीटिव की संख्या 406 है, दो व्यक्तियों की मृत्यु की सूचना प्राप्त हुई कुल मृत्यु संख्या 41

sehore news
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. सुधीर कुमार डेहरिया ने बताया कि 46 व्यक्तियों की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई है। सीहोर से 13 व्यक्तियों की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई है। संक्रमित व्यक्ति गुलजारी का बगीचा, बह्रमपुरी, वार्ड नं 2, नवजीवन कॉलोनी, संजय नगर, मंडी, आराकस मोहल्ला, चाण्क्यपुरी, सिंधी कॉलोनी, गुलाब विहार के निवासी है। श्यामपुर अन्तर्गत 8 व्यक्तियों की रिपोर्ट पॉजीटिव आई है जो जमुनिया, विछिया, सुलतानपुर, खजुरिया, सिराड़ी, शेखपुरा, के निवासी हैं। आष्टा विकासखंड से 13 व्यक्तियों की रिपोर्ट पॉजीटिव आई है जो अंजली नगर, बैदाखेड़ी, मैना, रुपेटा, कन्नोद मिर्जी, इंदिरा कॉलोनी, अतरालिया के निवासी हैं। इछावर से 4 व्यक्ति पॉजिटिव आए हैं जो, विसनखेड़ी, धामन्दा, रामनगर, लसुड़िया कांगर के निवासी हैं। नसरूल्लागंज अंतर्गत छापरी, श्रषिनगर, तिलाड़िया, बालागांव, इंदौर रोड़, के 8 व्यक्तियों की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई है। जिले में एक्टिव/ पॉजीटिव की संख्या 406 है। आज 23 व्यक्तियों को रिकवर होने के डिस्चार्ज किया गया है। जिले में अब तक डिस्चार्ज किए गए व्यक्तियों की संख्या 1477 है। आज कोरोना संक्रमित दो व्यक्तियों की मृत्यु की सूचना प्राप्त हुइ है। संक्रमित व्यक्तियों की मृत्यु संख्या 41 है। आज 347 सैम्पल लिए गए है। सीहोर शहरी क्षेत्र से 28 सैम्पल लिए गए, नसरूल्लागंज 79, आष्टा से 91, इछावर से 75, श्यामपुर से 43, बुदनी के 31 सैम्पल लिए गए है। आज पॉजीटिव मिले नए कंटेनमेंट जोन सहित समस्त कंटेनमेंट एवं बफर जोन में स्वास्थ्य दलों द्वारा सघन स्वास्थ्य सर्वे किया जा रहा है। वहीं पॉजीटिव मिले व्यक्तियों के करीबी संपर्क वाले व्यक्तियों की पहचान कर उनकी सूची तैयार की जा रही है। प्रत्येक कंटेनमेंट जोन में सर्वे के लिए एक से दो दल लगाए गए है । सर्वे दल के प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों को बनाया गया है तथा स्वास्थ्य सर्वे दल में ए.एन.एम. आशा कार्यकर्ता, आंगनबाडी कार्यकर्ताओं की ड्यूटी लगाई गई है। जिले में कुल कोरोना पॉजीटिव व्यक्तियों की संख्या 1924 है जिसमें से 41 की मृत्यु हो चुकी है 1477 स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हो गए है तथा वर्तमान में एक्टिव/ पॉजीटिव की संख्या 406 है। आज 347 सैंपल जांच हेतु लिए गए। जिले से अब तक कुल 28324 सेम्पल जांच के लिए भेजे गए थे जिनमें से 25223 सेंपलों की रिपोर्ट अब तक निगेटिव प्राप्त हुई है। आज 58 सैंपलों की रिपोर्ट निगेटिव प्राप्त हुई है। कुल 1106 सैंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथालॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 71 है। जिले में जो व्यक्ति होम क्वारंटाइन में है उनके निवास स्थान से सीधे संवाद हेतु जिला स्तरीय कोविड-19 काल सेंटर स्थापित किया गया है जिसका संपर्क नंबर-7247704181 है कोविड-19 से संबंधित जानकारी इस संपर्क नंबर पर ली व दी जा सकती है। वहीं जिला चिकित्सालय सीहोर में टेलीमेडिसीन के लिए संपर्क नंबर 07562-401259 जारी किया गया है तथा राज्य स्तर पर 104/181 नंबर पर काल करके भी टेलीमेडिसीन सेवा का लाभ लिया जा सकता है। 104 नंबर पर ई-परामर्श सेवा का भी लाभ लिया जा सकता है। ई-संजीवनी ओपीडी सेवा हेतु www.esanjeevaniopd.in पंजीयन कराया जा सकता है। कलेक्टेट कार्यालय सीहोर में भी जिला स्तरीय काल सेंटर बनाया गया है जिसका संपर्क नंबर 07562-226470 है तथा होम क्वारंटाइन व्यक्तियों तथा उनके परिजनों के लिए हेल्पलाइन नंबर 18002330175 जारी किया गया है। जिस पर संस्थागत क्वारंटाइन अथवा होम क्वारंटाइन व्यक्ति अथवा उनके परिजन इमोशनल वेलनेस अथवा साईकोलाजिकल सपोर्ट एवं अन्य जरूरी परामर्श मानसिक सेवा प्रदाताओं से निःशुल्क प्राप्त कर सकते है।

फर्जीं दस्तावेजों से खेत पर रखवाया घरेलू अटल ज्योति योजना ट्रांसफार्मंर
  • मगरदीकलॉ तहसील श्यामपुर के ग्रामीणों ने की शिकायत  
sehore news
सीहोर। फर्जी दस्तावेजों से घरेलू अटल ज्योति योजना ट्रांसफार्मंर विघुत वितरण कंपनी के कर्मचारियों से सांग गांठ कर अवैधानिक रूप से खेत पर लगवाने का मामला सामने आया है। मगरदीकलॉ तहसील श्यामपुर में वर्षो से कृषि कार्य के लिए खेतों पर रहने वाले ग्रामीणों ने मंगलवार को डिप्टी कलेक्टर विष्णू प्रसाद यादव को ज्ञापन देकर मामले की जांच कराने और सिंचाई के लिए उचित विद्युत ट्रांसफार्मंर लगवाने की मांग की है।    ग्रामीणों ने कलेक्टर को बताया की विगत 10 वर्षो से खेतों पर ही अपना मकान बनाकर रह रहे है। बिजली नहीं होने से फसल मं सिंचाई नहीं करपाते है गांव के जगन्नाथ पुत्र नन्नूलाल गुर्जर ने सामुहिम रूप से सभी किसानों के  लिए ट्रांसफार्मंर रखवाने और सिंचाई के लिए बिजली कनेक् शन दिलाने  के लिए आधार कार्ड ऋण पुस्तिका बैंक पासबुक सहित अन्य दस्तावेज की फोटो कापी किसानों  से ली गई। संबंधित  किसान  ने कृषि मोटर पंप लोड ट्रांसफार्मंर नहीं लगवाकर स्वयं के खेत में घरेलू बिजली कनेक् शन अटल ज्योति योजना का ट्रांसफार्मंर रखवा लिया। किसान उसी ट्रांसफार्मंर से बिजली उपयोग कर खेतीबाड़ी कर रहा है जबकी अटल ज्योति ट्रांसफार्मंर केवल घरेलू बिजली उपयोग के लिए होता है इधर विघुत  वितरण कंपनी के द्वारा अटल ज्योति ट्रांसफार्मंर को केवल घरेलू  उपयोग का बताकर अन्य  किसानों  को बिजली कनेक् शन नहीं दिये जा रहे है और नया ट्रांसफार्मंर भी नहीं रखा जा रहा है और विघुत मंडल ने बिना बिजली दिये की बिल भेजना  शुरू कर दिया है। राधेलाल, धूरसिंह, जगन्नाथ,  महेश, भंवरलाल, विक्रमसिंह, बद्रीलाल, जमनाप्रसाद, चम्पालाल, आमप्रकाश, नाथूराम आदि अनेक किसानों ने  जिला प्रशासन से संबंधित किसान पर सख्त   कार्यवाहीं कराने और बिजली कनेशन दिलाने की मांग की है।

विश्व हाथ धुलाई दिवस 15 अक्टूबर को

इस वर्ष 15 अक्टूबर को विश्व हाथ धुलाई दिवस पर “सभी के लिए स्वच्छ हाथ“ थीम पर विभिन्न गतिविधियां आयोजित की जाएगी। इस संबंध में  समस्त कलेक्टर्स को पत्र जारी किया है।  कोविड-19 संक्रमण के दौरान बीमारी को रोकने के लिए विभिन्न उपायों में सबसे प्रभावी तथा सरल है। विभिन्न अवसरों पर साबुन से हाथ धुलाई व सेनिटाईजर से हाथों को स्वच्छ रख सकते है। इस वर्ष अंतर्राष्ट्रीय हाथ धुलाई दिवस पर “सभी के लिए स्वच्छ हाथ“ की थीम रखी गई है तथा समुदायें, संस्थाओं सभी शालाओं से अपेक्षा की जा रही है। सभी के लिए स्वच्छ हाथों को बनाए रखने के लिए विभिन्न स्तरों पर विशेष प्रयास एवं संसाधनों को उपलब्ध कराए जाएं। स्वच्छ हाथों द्वारा कोविड-19 जैसे वायरस को फैलने से रोकथाम के साथ-साथ अन्य बीमारियों से व्यक्ति की रक्षा होती है। शालाओं में हाथ धुलाई हैंड सेनिटाईजर की उपलब्धता बच्चों के स्वास्थ्य सुरक्षा के लिए अति आवश्यक है। विश्व हाथ धुलाई दिवस पर विभाग द्वारा संचालित विभिन्न ऑनलाईन प्रशिक्षण गतिविधियों, “हमारा घर हमारा विद्यालय“ एवं सीएम राईस कार्यक्रम, संचालित प्रशिक्षण कार्यक्रमों में 15 अक्टूबर एवं निकटतम तिथियों में होने वाले गतिविधियों/प्रशिक्षणों में “सभी के लिए स्वच्छ हाथ“ के लिए हैंडवासिंग के स्टेप्स का डेमों किया जाएं। हैंडवासिंग गतिविधि के पश्चात स्वच्छ हाथों के साथ प्रतिभागियों/विद्यार्थियों की एक सेल्फी ली जाएं। स्वच्छ भारत मिशन के स्वच्छाग्राही समुदायों में “सभी के लिए स्वच्छ हाथ“ डोमों एवं सहयोग कर रहे है। हमारा घर हमारा विद्यालय के स्थान पर उनके समन्वय यथासंभव विद्यार्थियों को शामिल कर हैंडवासिंग डेमों एवं साबुन से हाथ धुलवाएं जाएं। साथ ही शालाओं के प्रारंभ होने के पश्चात साबुन से हाथ धुलाई ईकाई की व्यवस्था शालाओं में उपलब्ध अवश्य होना चाहिए।

एमबीए/एमसीए की काउंसलिंग में पूर्व वर्षों के परिणामों के आधार पर होगा प्रवेश

अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद् नई दिल्ली द्वारा अनुमोदित एमबीए तथा एमसीए पाठ्यक्रम की ऑनलाइन ऑफ कैम्पस काउंसलिंग में स्नातक पाठ्यक्रमों के पूर्व वर्षों के परीक्षा परिणामों के आधार पर प्रवेश की कार्यवाही की जाएगी। यह व्यवस्था केवल शैक्षणिक वर्ष 2020-21 के लिए ही लागू होगी। राज्य शासन द्वारा यह निर्णय कोविड-19 के कारण उत्पन्न परिस्थितियों के दृष्टिगत लिया गया है। स्नातक पाठ्यक्रम के अंतिम वर्ष के परीक्षा परिणाम घोषित नहीं हो सके हैं। ऐसे में उन सभी विद्यार्थियों के स्नातक पाठ्यक्रमों के अंतिम वर्ष के पूर्व वर्षों के परीक्षा परिणामों के आधार पर प्रावधिक प्रवेश दिया जायेगा।

ऑनलाईन भाषण प्रतियोगिता के उत्कृष्ट प्रतियोगियों को किया गया पुरस्कृत

sehore news
राष्ट्रीय वेक्टरजनित रोग नियंत्रण कार्यक्रम के अंतर्गत मलेरिया, डेंगू,चिकनगुनिया की जनजागरूकता के लिए छोटा डंक, बड़ा खतरा विषय पर ऑनलाईन भाषण प्रतियोगिता का आयोजन किया गया था। जिसके उत्कृष्ट प्रतियोगियों को आज सीएमएचओ कार्यालय में मुख्य चिकित्सा एंव स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. सुधीर कुमार डेहरिया के हाथों पुरस्कृत किया गया। इस अवसर सभी उत्कृष्ट पुरस्कृत प्रतियोगी के साथ ही जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.टीआर उईक उपस्थित थे। जिला मलेरिया अधिकारी श्रीमती क्षमा बर्वे ने जानकारी दी कि प्रतियोगिता में प्रथम स्थान केन्द्रीय विद्यालय सीहोर की छात्रा कुमारी श्रुति सक्सेना द्वारा प्राप्त किया गया उन्हें एक हजार रूपए एवं प्रशस्ति पत्र प्रदान दिया । द्वित्त्तीय स्थान कु.सुहानी वर्मा शास.माडल स्कूल तथा कु.खुशी खरे केन्द्रीय विद्यालय सीहोर ने प्राप्त किया दोनों ही छात्राओं को 500-500 रूपए की राशि एवं प्रशस्ति पत्र प्रदान किए गए।  तृतीय स्थान शासकीय उत्कृष्ट उच्च.माध्यमिक विद्यालय की छात्रा कु.ईशा राठौर द्वारा प्राप्त किया गया इन्हें 300 की राशि प्रदान गई। प्रोत्साहन पुरस्कार हाईस्कूल ग्वालटोली की छात्रा कुमारी प्रेरणा यादव, उत्कृष्ट विद्यालय के छात्र संजय भारती तथा महारानी लक्ष्मी बाई स्कूल की छात्रा कु.पूजा मेवाड़ा ने प्राप्त किया उक्त छात्राओं को 200-200 की राशि एवं प्रशस्ति पत्र जिला मलेरिया विभाग द्वारा प्रदान किया गया। प्रतियोगिता में 5 शासकीय स्कूलों के 22 छात्र/छात्राओं ने हिस्सा ने लिया था। प्रतियोगिता के लिए ऑन लाईन प्रतियोगिता संपन्न कराने में जिला आई.ईस.सी.सलाहकार श्री शैलेष कुमार द्वारा महत्वपूर्ण भूमिका अदा की गई। प्रतिभागियो ने मच्छरों का उन्मूलन, मलेरिया डेंगू से बचाव एवं जन जागरूकता पर विस्तार से ऑनलाईन विचार रखे थे। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.सुधीर कुमार डेहरिया एवं डीएमओ श्रीमती क्षमा बर्वे ने समस्त पुरस्कार प्राप्त विजेता छात्रों तथा प्रतिभागी छात्रों को ऑनलाईन भाषण प्रतियोगिता में हिस्सा लेने के लिए बधाई दी।

आपसी सुलह से हुआ पूर्वजों के मकान का वर्षो पुराने विवाद का निराकरण

अधिवक्ता श्री याद मोहम्मद ग्राम कोडियाछितू द्वारा 25 सितंबर 2020 को जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सीहोर में उपस्थित होकर अपने पूर्वजों के मकान का वर्षो पुराना विवाद का आपसी समझौते के माध्यम से निराकरण के लिए आवेदन प्रस्तुत किया गया था। जिस हेतु विवाद के सभी पक्षकारों श्री शेख मोहम्मद, शेर मोहम्मद, लाल मोहम्मद, ताज मोहम्मद, फेज मोहम्मद एंव याद मोहम्मद को आज 13 अक्टूबर 2020 को जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सीहोर में संचालित परिवार परामर्श केन्द्र में उपस्थित किया गया। सभी पक्षकार सगे भाई होकर ग्राम कोडियाछितू तहसील व जिला सीहोर मे निवासरत् है। पक्षकारों के मध्य अपने पूर्वजों के मकान का वर्षो पुराना विववाद था। जिस हेतु सगे भाईयों में कई बार झगड़ा भी हुआ और उनके द्वारा पुलिस में रिपोर्ट भी लिखाई गई, परंतु उनके विवाद का समुचित समाधान नहीं हो पा रहा था। सभी जगह से परेशान होकर आवेदक श्री याद मोहम्मद अधिवक्ता द्वारा जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सीहोर में आवेदन पत्र प्रस्तुत कर मामला समझौता के आधार पर निपटाने की गुहार लगाई गई। मामला आज अपर जिला न्यायाधीश/सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण श्री शैलेन्द्र कुमार नागोत्रा द्वारा आवेदक एवं अनावेदकगण को पृथक-पृथक व साथ में बैठाकर समझाईश दी गई। समझाईश की कार्यवाही लगभग दो घण्टे तक जारी रही जिसमें श्री नागोत्रा द्वारा उपस्थित पक्षकारों को उनके मामले से सम्बंधित कानूनी प्रावधानों के बारे मे अवगत कराया और पक्षकार सभी सगे भाईयों को राजीनामा के आधारों पर प्रकरण निराकृत कराने हेतु प्रेरित किया गया। जिस पर सभी पक्षकार श्री नागोत्रा द्वारा सुझाए गए बिन्दुओं पर राजीनामा करने हेतु सहमत हुए। इस प्रकार श्री शैलेन्द्र कुमार नागोत्रा अपर जिला न्यायाधीश/सचिव जिविसेप्रा जिला न्यायालय सीहोर के परिवार परामर्श केन्द्र के अंतर्गत सगे भाईयों के पूर्वजों के मकान के वर्षो पुराने विवाद का निराकरण आपसी समझौते के आधार पर एक ही बैठक में किया गया। वर्षो पुराने विवाद एक ही दिन में सुलझ जाने से पक्षकारों के चेहरे पर खुशी की झलक देखी गई और सभी भाई खुशी-खुशी एक साथ अपने घर गए।

सेवानिवृत्त शासकीय सेवकों के लंबित पेंशन करणों का 31 अक्टूबर तक निराकरण करने के निर्देश

आयुक्त भोपाल सम्भाग द्वारा सम्भाग के सभी कार्यालय प्रमुखों को निर्देशित किया गया है कि वे अपने कार्यालय के सेवानिवृत्त शासकीय सेवकों के पेंशन एवं परिवार पेंशन के लंबित प्रकरणों का निराकरण 31 अक्टूबर 2020 को अंतिम रूप से करें एवं म.प्र. वेतन पुनरीक्षण नियम 2017 के अतंर्गत सातवें वेतनमान में लंबित शासकीय सेवको की सुची उपलब्ध करायें। आयुक्त द्वारा अगस्त और सितंबर  माह में भी यह अभियान चलाया था। सेवानिवृत्त शासकीय सेवकों के पेंशन व परिवार पेंशन के लंबित प्रकरणों की समीक्षा की गई। जिसमें बहुत से कार्यालयों के अंतर्गत पेंशन व परिवार पेंशन प्रकरण लंबित पाये जाने पर नाराजगी व्यक्त की गई और लंबित प्रकरणों का शीघ्र निराकरण करने के लिए निर्देशित किया गया है।  कार्यालय प्रमुखों से कहा कि वे अपने कार्यालय के लंबित पेंशन प्रकरणों के निराकरण हेतु व्यक्तिगत रूचि लेकर संबंधित शाखा लिपिक को जिला पेंशन कार्यालय में उपस्थित होकर लंबित पेंशन प्रकरण का अंतिम रूप से निराकरण कराया जाना सुनिश्चित करें। इसके साथ ही म.प्र. वेतन पुनरीक्षण नियम 2017 के अतंर्गत सातवें वेतनमान में लंबित शासकीय सेवको की सूची भी जिला पेंशन कार्यालय को हार्ड कापी में तथा साफ्ट कापी में उपलब्ध कराने कहा गया है।

कोरोना काल में अभिनव नवाचारों के साथ शिक्षा के क्षेत्र में हुआ कार्य- मुख्यमंत्री श्री चौहान
  • 497 करोड़ की लागत से निर्मित 145 शैक्षणिक भवनों का लोकार्पण
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि शैक्षणिक वातावरण बेहतर बनाने के लिये स्कूल भवनों का होना जरूरी है। स्कूल भवनों में बच्चों को अच्छी शिक्षा मिले यह हमारे प्रयास है। कोरोना काल में शैक्षणिक गतिविधियाँ प्रभावित हुई हैं, लेकिन सरकार ने वैकल्पिक व्यवस्था के साथ अभिनव नवाचार करते हुए ऑनलाइन बच्चों को शिक्षा से जोड़ने का कार्य किया है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आज भोपाल के मिन्टो हॉल में 497 करोड़ 70 लाख रूपये की लागत से नवनिर्मित 145 शैक्षणिक भवनों का वर्चुअल लोकार्पण कर कार्यक्रम को संबोधित किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आज जिन शैक्षणिक भवनों का लोकार्पण किया, उनमें आदिम-जाति कल्याण विभाग के 357 करोड़ 9 लाख रुपये लागत के 13 विशिष्ट आवासीय विद्यालयों (कन्या शिक्षा परिसर), 4 करोड़ 63 लाख रुपये के 3 छात्रावास के नवीन भवनों और स्कूल शिक्षा विभाग के 135 करोड़ 98 लाख रुपये लागत के 129 हाई स्कूल एवं हायर सेकेण्डरी शाला भवन शामिल है। इन भवनों का निर्माण आदिमजाति कल्याण विभाग एवं स्कूल शिक्षा विभाग के लिए लोकनिर्माण विभाग द्वारा किया गया। लोकार्पण कार्यक्रम में लोकार्पित हुई सभी शैक्षणिक अधोसंरचनाएँ चुनाव अप्रभावित जिलों की हैं। लोक निर्माण एवं कुटीर ग्रामोद्योग, मंत्री श्री गोपाल भार्गव, सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री श्री ओमप्रकाश सकलेचा, स्कूल शिक्षा राज्यमंत्री, स्वतंत्र प्रभार श्री इंदर सिंह परमार उपस्थित थे। प्रोटेम स्पीकर श्री रामेश्वर शर्मा एवं आदिम जाति कल्याण एवं अनुसूचित जाति कल्याण सुश्री मीना सिंह वर्चुअल रूप में कार्यक्रम में शामिल हुई। प्रमुख सचिव शिक्षा, प्रमुख सचिव स्कूल आदिम जाति कल्याण, प्रमुख सचिव लोक निर्माण विभाग एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

10 हजार गुणवत्तापूर्ण नये विद्यालय भवन बनाये जायेंगे
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि आगामी 3 वर्षों में ऐसे दस हजार विशाल भवनयुक्त विद्यालयों का निर्माण किया जायेगा जिसमें एक ही स्थान पर कई बच्चे गुणवत्तापूर्ण शिक्षा हासिल कर सकें। अत्याधुनिकता से परिपूर्ण इन स्कूल परिसरों में शिक्षकों के निवास, लायब्रेरी, खेल परिसर एवं आसपास 25 से 30 कि.मी. की परिधि में रहने वाले बच्चों के लिए स्कूल आने-जाने के लिए वाहन सुविधा उपलब्ध रहेगी। वर्चुअल रूप से कार्यक्रम में उपस्थित प्रोटेम स्पीकर श्री रामेश्वर शर्मा ने इस कल्पना को शिक्षा के क्षेत्र में क्रांति बताया। उन्होंने कहा कि इस प्रकार के शिक्षण संस्थान से एक ही भवन में एक ही स्थान पर गुणवत्तापूर्ण शिक्षा देना संभव हो सकेगा।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने किया सीधा संवाद
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने उमरिया जिले के कन्या शिक्षा परिसर प्रांगण में उपस्थित अभिभावक श्री पुरूषोत्तम से नवनिर्मित भवन में उपलब्ध सुविधाओं के बारे चर्चा की। मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा कोविड काल में शिक्षा संचालन के संबंध में प्राचार्य से जानकारी ली। प्राचार्य ने बताया कि कोरोना संक्रमण काल में 33 प्रतिशत बच्चों को ऑनलाइन शिक्षा प्रदान की जा रही है। इसके अलावा सभी बच्चों को उनके घरों में पुस्तकें उपलब्ध करवाई गई हैं। शिक्षक भी स्टूडेंट के निरंतर सम्पर्क में बने हुए हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने स्कूल खोले जाने के संबंध में बताया कि परिस्थितियों को देखते हुए दीपावली के बाद स्कूल प्रारंभ किये जायेंगे।

पंचायत प्रधान ने कहा करेंगे समय-समय पर रख-रखाव
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने शाजापुर जिले के शुजालपुर करवाला शाला भवन में उपस्थित पंचायत प्रधान श्री नंदकिशोर पाटीदार से पूछा कि शाला भवन के बन जाने के बाद अब उसके रख-रखाव के लिए आपकी क्या कार्य योजना है। श्री पाटीदार ने बताया कि स्कूल भवन में 195 बच्चों के लिए पर्याप्त स्थान है। जनप्रतिनिधि के रूप में हम स्वयं समय-समय पर रख-रखाव पर निगाह रखेंगे। प्राचार्य श्री धर्मेन्द्र यादव ने बताया कि स्कूल 2002 में हाई स्कूल था। वर्ष 2013 में हायर सेकेण्ड्री स्कूल के रूप में परिवर्तित किया गया। पर्याप्त कक्ष हैं एवं स्टॉफ रूम, टॉयलेट आदि व्यवस्थित रूप से बनाये गये हैं। अकबरपुर भोपाल के शासकीय हायर सेकेण्डरी स्कूल में जनप्रतिनिधि के रूप में उपस्थित प्रोटेम स्पीकर श्री रामेश्वर शर्मा ने स्कूल में बच्चों को संख्या को देखते हुए स्कूल भवन में एक मंजिल और बनाए जाने का अनुरोध किया।

सुरक्षा ने कहा पटवारी बनूँगी
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने शाजापुर जिले की मेधावी छात्रा कुमारी सुरक्षा पाटीदार से चर्चा की। उन्होंने मेधावी छात्रा के रूप में शासन द्वारा लैपटॉप के लिये उपलब्ध कराई गई राशि के संबंध में जानकारी ली। छात्रा सुरक्षा पाटीदार ने मुख्यमंत्री श्री चौहान से कहा कि शासन द्वारा जो मदद की गई है, उसे वे अपनी आगे की पढ़ाई में उपयोग करेंगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने पूछा कि आगे क्या बनना चाहती हो, छात्रा सुरक्षा ने बड़ सहज रूप से कहा कि मेरी इच्छा पटवारी बनने की है। आदिम-जाति कल्याण विभाग के लोकार्पित होने वाले 13 कन्या शिक्षा परिसरों में जन-जातीय वर्ग के 6 हजार 370 बालिकाओं और 3 छात्रावास भवनों में 150 छात्रों को बेहतर आवासीय सुविधा उपलब्ध हो सकेगी। स्कूल शिक्षा विभाग के नव-निर्मित 129 हाई एवं हायर सेकेण्डरी स्कूल 26 जिलों के अलग-अलग स्थानों पर निर्मित हैं। इन शाला भवनों के निर्माण से करीब 21 हजार विद्यार्थी लाभान्वित होंगे।

कोई टिप्पणी नहीं: